Health

बढ़ते प्रदूषण से फेफड़ों को रखना चाहते हैं सुरक्षित, तो डाइट में इन्हें करें शामिल

बढ़ते प्रदूषण से फेफड़ों को रखना चाहते हैं सुरक्षित, तो डाइट में इन्हें करें शामिल

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण से लोगों का बुरा हाल है। इस जहरीली हवा का सबसे ज़्यादा असर हमारे फेफड़ों पर पड़ा है जिस कारण सांस लेने में लोगों को दिक्कत हो रही है। दरअसल, आजकल ज़्यादातर लोग फेफड़ों से जुड़ी बीमारियों से परेशान है। फेफड़े अस्वस्थ होने से सांस से जुड़ी कई तरह की गंभीर बीमारियां जैसे-अस्थमा, खांसी, ब्रोंकाइटिस, सिस्टिक और निमोनिया का खतरा बढ़ गया है। इसलिए अपनी सेहत को स्वस्थ बनाए रखने के लिए और हेल्दी फेफड़ों के लिए एक्सरसाइज के साथ साथ हेल्दी डाइट पर भी ध्यान दें। चलिए हम आपको बताएंगे कि फेफड़ों को हेल्दी रखने के लिए आप किन फलों का सेवन कर सकते हैं?

फेफड़ों को हेल्दी रखने के लिए इन फलों का करें सेवन-

सेब –

सेब में विटामिन सी और विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है. ये फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करता है. ये शरीर की अन्य बीमारियों को भी दूर करने में मदद करता है. बदलते मौसम में सेब का सेवन शरीर को कई फायदे पहुंचाता है.

अनार

अनार के सेवन से शरीर में खून की कमी को आसानी से दूर किया जा सकता है। इसलिए अपने फेफड़ों को हेल्दी रखने के लिए अनार का सेवन एक बेहतर विकल्प है। दरअसल, अनार फेफड़ों का सही तरीके से फिल्ट्रेशन करता है। इसलिए अगर आप अपने फेफड़ों को इस जहरीली हवा से हेल्दी और सुरक्षित रखना चाहते हैं तो अब अनार का सेवन शुरू करें।

संतरा है हेल्दी

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर संतरा फेफड़ों को ऑक्सीजन ट्रांसफर करने में मदद करते हैं। विटामिन सी और विटामिन बी 6 से भरपूर संतरा फेफड़ों की सुरक्षा करने में बेहद असरदार हैं। इसमें मौजूद विटामिन सी फेफड़ों की सूजन और संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। इसलिए रोजाना एक संतरा खाने से एलर्जी, अस्थमा जैसी बीमारियों में राहत मिलती है।

ब्लू बेरीज –

ब्लू बेरीज में एंथोसायनिन होता है. ये फेफड़ों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है. ये आपको फ्री रेडिकल्स के नुकसान से बचाने का काम करता है. फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए आप नियमित रूप से ब्लू बेरीज का सेवन भी कर सकते हैं. ये स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छी होती हैं.

नोट– उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सिर्फ सामान्‍य सूचना के लिए है हम इसकी जांच का दावा नहीं करते हैं. इन्‍हें अपनाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें.

Related Topics