Health

KGMU की टीम ने सिर्फ एक छेद से किया आहार नली के कैंसर का आपरेशन

KGMU की टीम ने सिर्फ एक छेद से किया आहार नली के कैंसर का आपरेशन

लखनऊ (एजेंसी)। मरीजों का आपरेशन तो कई प्रकार का होता है, लेकिन कुछ आपेरशन ऐसे होते हैं जो बड़ी कठिनाई और सावधानी से किए जाते हैं ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है केजीएमयू के सर्जिकल आंकोलॉजी विभाग में, जो महज एक छेद के माध्यम से आहार नली के कैंसर की सफल सर्जरी की गई। मरीज को अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है।

मीडिया खबरो के अनुसार उत्‍तरप्रदेश के अयोध्या मंदिर के एक पुजारी (60 साल) को कुछ समय से ठोस आहार लेने में दिक्कत होती थी, लेकिन धीरे-धीरे यह परेशानी बढ़ने लगी और फिर तरल आहार लेने में भी कठिनाई होने लगी। जांच कराई गई तब पता चला कि बुजुर्ग मरीज को आहार नली का कैंसर है और वो भी स्टेज थ्री का कर्क रोग ऐसे में कीमोथेरेपी और रेडियोथेरेपी के करके पहले गांठ को छोटा किया गया और फिर मरीज को ऑपरेशन के लिए किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के कैंसर सर्जरी विभाग में रेफर किया गया। इस संबंध में कैंसर डिपार्टमेंट के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. शिव राजन का कहना है कि इसका इलाज दूरबीन से ही होना संभव था और इसी के मद्देनजर ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया।

उनका कहना है कि सामान्यत: इस ऑपरेशन में छाती को 15 से 20 सेंटीमीटर के चीरे से खोला जाता है या फिर दूरबीन से छाती में 4-5 छेद किए जाते हैं, और छाती में गैस भरी जाती है। वहीं, आहार नली को निकालने के लिए किसी एक छेद को लगभग 5 सेंटीमीटर बड़ा किया जाता है फिर उसे ऑपरेट किया जाता है, लेकिन देश में पहली बार डॉ. शिव राजन ने केवल 4 सेंटीमीटर के एक ही छेद से दूरबीन द्वारा इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक कर दिया।

Related Topics