Relation

क्या महिलाओं के लिए हस्तमैथुन लाभप्रद है या हानिकारक ?

क्या महिलाओं के लिए हस्तमैथुन लाभप्रद है या हानिकारक ?

पुरुषों का हस्तमैथुन करना बहुत आम बात मानी जाती है पर लड़कियों के लिए इसे असामान्य माना जाता है. हालांकि सच्चाई यह नहीं है. महिलाएं में भी कामुकता होती है और कई बार यह पुरुषों से ज्यादा होती है. हस्तमैथुन को अक्सर अश्लीलता के नजरिए से देखा जाता है जबकि इसके स्वास्थ्य के नजरिए से इस पर गौर कम ही किया जाता है. महिलाओं के लिए हस्तमैथुन लाभप्रद है या फिर खतरनाक, यह जानना जरूरी है.
एक रिसर्च के मुताबिक, 18 से ऊपर उम्र की अधिकतर महिलाओं ने कम से कम एक बार हस्तमैथुन किया था, लेकिन कुछ महिलाएं इसे नियमित तौर पर करती हैं. इंडियाना यूनिवर्सिटी के नैशनल सर्वे के अनुसार, 25 से 29 के बीच 7.9 प्रतिशत महिलाएं एक सप्ताह में 2-3 बार हस्तमैथुन करती हैं.  वहीं 23.4 प्रतिशत पुरुष एक सप्ताह में 3-4 बार हस्तमैथुन करते हैं.हस्तमैथुन सामान्य, आनंददायक और हेल्दी एक्सपीरियंस है. ऑर्गैजम से एंडॉरफिन्स डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन रिलीज होता है जिससे आपके मूड को अच्छा बनाने में मदद मिलती है. 
ऑर्गैजम से शारीरिक और भावानात्मक तनाव से मुक्ति मिल जाती है जिससे आपको बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है. बिस्तर पर जाते ही आपको नींद आ जाती है. डॉक्टरों के मुताबिक, एक किताब पढ़ने से जिस तरह अच्छी नींद लेने में मदद मिलती है, उतनी ही मदद हस्तमैथुन करने से भी मिलती है. आप बिल्कुल शांत और तनावरहित हो जाते हैं.
कई लोगों को हस्तमैथुन करने से पीरियड्स के दौरान कम दर्द होता है. अगर आपके साथ भी ऐसा है तो हस्तमैथुन आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है.

Related Topics