Relation

इन आदतों से बिगड़ने लगता है परिवार का माहौल

इन आदतों से बिगड़ने लगता है परिवार का माहौल

न्युज डेस्क (एजेंसी)। व्यक्ति को अपने जीवन में कर्मों के अनुसार ही फल की प्राप्ति होती है। व्यक्ति यदि जीवन में सद्कर्म करता है तो उसे सदा सुख ही मिलता है। लेकिन वह कुकर्म में लिप्त रहता है तो वह पाप का भोगी होता है और उसे जीवन में व मृत्यु के उपरांत भी कई प्रकार के कष्टों को भोगना पड़ता है। हिंदू धर्म में 18 महापुराण हैं जिनमें से गरुड़ पुराण को भगवान विष्णु का रूप माना जाता है। मान्यता है कि जो व्यक्ति समय रहते गरुड़ पुराण में दी गई शिक्षा का पालन करता है, वह न केवल इस जीवन में सुख भोगता है, बल्कि मृत्यु के उपरांत उसे स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

जिस घर में स्वच्छता पर ध्यान नहीं दिया जाता है, वहां सदैव बीमारियां बनी रहती है। जिससे परिवार का माहौल बिगड़ने लगता है। साथ ही ऐसे घर में माता लक्ष्मी वास नहीं करती हैं। जिसके कारण आर्थिक स्थिति भी खराब होने लगती है। फिजूलखर्ची बढ़ने के कारण परिवार में मतभेद भी बढ़ने लगता है। इसलिए घर को हमेशा साफ रखें।

जिस घर में रात के समय झूठे बर्तन छोड़ दिए जाते हैं, वहां समस्याएं और मतभेद उत्पन्न होने लगता है। साथ ही ऐसे घर से माता लक्ष्मी रूठ जाती है और व्यक्ति को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखें कि सोने से पहले जूठे बर्तन जरूर साफ करें और रसोईघर को भी पूरी तरह साफ करें।

लोग घर में कबाड़ इकट्ठा करते हैं। लेकिन ऐसा करना व्यक्ति के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि गरुड़ पुराण में बताया गया है कि जिस घर में कबाड़ का जमावड़ा होता है, वहां नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ जाता है। जिससे आर्थिक स्थिति खराब हो जाती है और परिवार में मतभेद बढ़ने लगता है। इसलिए घर में कभी भी जंग लगे लोहे या कबाड़ हो चुके सामान को ना रखें।

Related Topics