Spiritual

सौभाग्य सुंदरी व्रत आज, जानें पूजा विधि

सौभाग्य सुंदरी व्रत आज, जानें पूजा विधि

आज 11 नवंबर दिन शुक्रवार है. आज मार्गशीर्ष माह के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि है. आज के दिन अखंड सौभाग्य और सौंदर्य प्रदान करने वाला सौभाग्य सुंदरी व्रत है. सुहागन महिलाएं पति की लंबी आयु, संतान के सुखी जीवन के लिए यह व्रत रखती हैं. आज माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा की जाती है. माता पार्वती के आशीर्वाद से अखंड सौभाग्य और सौंदर्य प्राप्त होता है. पूजा के समय व्रत कथा सुनते हैं. पूजा में माता पार्वती को सुहाग और श्रृंगार की सामग्री चढ़ाते हैं.

 

न्युज डेस्क (एजेंसी)। आज शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी की पूजा के लिए भी है. आज शाम को माता लक्ष्मी को कमल का फूल, लाल गुलाब अर्पित करें. पूजा में पीली कौड़ी, शंख, कमलगट्टा, बताशा आदि चढ़ाना चाहिए. आज के दिन माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाना चाहिए. इससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. आज आप घी के दीपक से माता लक्ष्मी की आरती करें और श्रीसूक्त का पाठ करें. इससे धन संबंधी समस्याएं दूर होती हैं.

शुक्रवार को व्रत रखने और शुक्र ग्रह के बीज मंत्र का जाप करने से शुक्र ग्रह का दोष दूर होता है. शुक्र को प्रसन्न करने के लिए आज सफेद वस्त्र, सुगंधित पदार्थ जैसे इत्र आदि, मोती, चांदी आदि का दान कर सकते हैं. 

आज प्रात: स्नान आदि के बाद सौभाग्य सुंदरी व्रत और पूजा का संकल्प करें.

2. अब आप पूजा के शुभ मुहूर्त में भगवान शिव, माता पार्वती और गणेश जी की मूर्ति या तस्वीर को चौकी पर स्थापित कर दें.

3. अब आप सबसे पहले गणेश जी को फूल, अक्षत्, दूर्वा, कुमकुम, पान का पत्ता, सुपारी, मोदक, धूप, दीप आदि अर्पित करें. गणेश जी प्रथम पूज्यनीय हैं, इसलिए उनकी पहले पूजा करते हैं.

4. अब आप भगवान शिव को बेलपत्र, अक्षत्, भांग, धतूरा, फूल, शहद, गंगाजल आदि अर्पित करके पूजा करें.

5. इसके बाता माता पार्वती की पूजा करें. उनको सिंदूर, लाल फूल, फल, अक्षत्, कुमकुम, नैवेद्य, लाल साड़ी, एक चुनरी, मेहदी, महावर, श्रृंगार की सामाग्री, सुहाग का सामान, मिठाई आदि अर्पित करें.

Related Topics