Spiritual

मार्गशीर्ष मास की शिवरात्रि आज, इस तरह पाएं जीवन के कष्टों से मुक्ति

मार्गशीर्ष मास की शिवरात्रि आज, इस तरह पाएं जीवन के कष्टों से मुक्ति

न्युज डेस्क (एजेंसी)। हर माह की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि का व्रत किया जाता है और इस समय मार्गशीर्ष माह चल रहा है। भगवान शिव को समर्पित यह तिथि इस बार 22 नवंबर दिन मंगलवार को है। मासिक शिवरात्रि का व्रत परिवार के कल्याण और जीवन के कष्टों से मुक्ति के लिए रखा जाता है। इस शिवरात्रि का मार्गशीर्ष माह में पड़ने के कारण इसका महत्व और भी बढ़ गया है क्योंकि इस मास में शिवरात्रि का व्रत करने से मोक्ष की भी प्राप्ति होती है। ज्योतिष शास्त्र में मार्गशीर्ष मास में पड़ने वाली मासिक शिवरात्रि का महत्व बताते हुए कुछ उपाय भी बताए गए हैं।

शिवपुराण में बताया गया है कि भगवान शिव सबसे जल्दी प्रसन्न होते हैं इसलिए शिवरात्रि के दिन 108 बेलपत्रों पर चंदन से ऊँ नम शिवाय लिखें और फिर शिव के बीज मंत्र का जप करते हुए एक-एक करके चढ़ाएं। ऐसा करने से आपकी मनोकामना जल्द ही पूरी होती है और घरेलू परेशानियों से निजात मिलती है

मार्गशीर्ष मास की शिवरात्रि के दिन बेलपत्र के पेड़ के नीचे स्नान करने से कई जन्मों के पाप क्षय हो जाते हैं, ऐसा शिवपुराण में बताया गया है। मासिक शिवरात्रि के दिन घर में सुख-शांति के लिए पारद शिवलिंग की स्थापना कर विधिपूर्वक अभिषेक कर सकते हैं। ऐसा करने से भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है और जल्द ही मनोकामना पूरी होती है।

Related Topics