Science

नागपंचमी पर कैसे करें पूजा जानें

नागपंचमी पर कैसे करें पूजा जानें

नाग पंचमी का पर्व बहुत ही विशेष पर्व है. इस पर्व का संबंध सुख समृद्धि से भी है. नाग पंचमी पर नाग देव की पूजा की जाती है. भगवान शिव और भगवान श्रीकृष्ण की पूजा का भी विधान है. भगवान शिव और भगवान श्रीकृष्ण को सृष्टि का कल्याण करने वाला पालन हार कहा गया. शिव का अर्थ ही कल्याण है. इस दिन भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है. क्योंकि भगवान शिव के गले में नाग देव विराजते हैं. इनका वासुकि है. वहीं श्रीकृष्ण ने कालिया नाग का घमंड चूर-चूर किया था.

नाग पंचमी पर ऐसे करें पूजा

इस दिन घर के दरवाजें पर सांप की आठ आकृति बनाएं. इसके बाद इनकी पूजा करें और मिष्ठान का भोग लगाएं. नाग पूजा में हल्दी का प्रयोग करें. नाग पंचमी के दिया जाने वाला दान भी उत्तम माना गया है.

इसलिए नाग को दिया जाता है दूध

एक कथा के अनुसार जब एक श्राप के कारण नागलोक के सांप अग्नि में जलने लगे. दूध शीतल होता है. तब नागों को इस दर्द और पीड़ा से बचाने के लिए कच्चे दूध से स्नान कराया गया. मान्यता है कि जो व्यक्ति नाग पंचमी के दिन पूरी श्रद्धा से पूजा करता है उसकी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

नाग पंचमी के दिन नहीं करने चाहिए ये काम

नाग पंचमी के दिन लोहे की कढ़ाई में भोजन नहीं बनाना चाहिए. वहीं इस दिन भूमि की खुदाई करना भी शुभ नहीं माना गया है.

ये कार्य करने चाहिए

इस दिन सांपों की सुरक्षा का प्रबंध करना चाहिए. जिन लोगों के पास आवास नहीं होते हैं ऐसे लोगों की इस दिन मदद करनी चाहिए.