Chhattisgarh

धूमधाम से की गई  साँपो की देवी मनसा माँ की पूजा

धूमधाम से की गई साँपो की देवी मनसा माँ की पूजा

दीपेश शाहा ( कापसी  )।माँ मनसा देवी की पूजा बड़े धूमधाम से परलकोट अंचल में मनायी गयी । कापसी में इसकी बानगी देखी गयी ।महिलाओं द्वारा व्रत रखा गया । आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में मंगलवार को घट स्थापन व मूर्ति स्थापित कर साँपो की देवी मां मनसा की पूजा बड़े धूमधाम से की गई।बंगाली समाज मे साँपो की देवी माँ मनसा की पूजा का विशेष महत्व है । मां मनसा की पूजा-अर्चना में श्रद्धालु  दिन भर व्यस्त दिखे । परलकोट अंचल में मां मनसा पूजा पारंपरिक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। बंगला पंजिका ( केलिन्डर ) के अनुसार माघ पूर्णिमा , श्रावण संक्रांति, भादो संक्रांति एवं अश्विन संक्रांति को मां मनसा की पूजा की जाती है। मान्यता है कि मां मनसा साँपो की देवी है। मां मनसा की पूजा से हम सर्पदंश से सुरक्षित रह सकते हैं। इसलिए लोग मनसा देवी की प्रतिमा को दुध केला अर्पित करते है । माँ भक्तो की मुरादे पूरी करती है । भक्त वृन्द मनसा माँ से मनोकामना करते है। । इसी प्रकार कापसी में मनसा पूजा का आयोजन किया गया है। जहां पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। कापसी  व आसपास के ग्रामीण क्षेत्र पिव्ही 130 , pv 16 पिव्ही 5 ,पिव्ही 56 ,पखांजुर ,संगम ,कालोनी कापसी ,बांदे ,पिव्ही 1 ,पिव्ही 2 ,पिव्ही 7 ,पिव्ही 6 ,पिव्ही 112 ,गोंडाहूर में भी माघ पूर्णिमा चरण की मनसा पूजा का आयोजन किया गया । मूर्ति विसर्जन तक मनसा पूजा की धूम रहेगी।

Related Topics