Chhattisgarh

 प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री ने सी.मार्ट व पुलिस कन्ट्रोल रूम में सिटी सर्विलांस सिस्टम का किया शुभारंभ

प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री ने सी.मार्ट व पुलिस कन्ट्रोल रूम में सिटी सर्विलांस सिस्टम का किया शुभारंभ

रायपुर। प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री ने जिला मुख्यालय बलौदाबाजार के बुनियादी स्कूल परिसर में स्थित सी-मार्ट एवं पुलिस कन्ट्रोल रूम में सिटी सर्विलांस सिस्टम का शुभारंभ किया। उन्होंने सी-मार्ट में रखें उत्पादों को देखकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यह सी-मार्ट आत्मनिर्भरता की पहचान बनकर उभरेगा। इससे महिला स्व-सहायता समूहों के सदस्यों की आमदनी में निश्चित रूप से बढ़ोतरी होगा।

सी-मार्ट में हल्दी, मिर्च, पापड़, चिप्स, बड़ी, आचार, मिक्चर, फिनाइल, हैंडवॉश, वॉशिंग पाउडर, अगरबत्ती, धूप, दोना पत्तल, झाड़ू एवं मिट्टी के बर्तन उपलब्ध रहेंगे। यह उत्पाद जिले के विभिन्न गौठान में स्थित आजीविका सेंटर में कार्य करनें वाली महिला स्व-सहायता समूहों के द्वारा तैयार किए गए हैं। इसी के साथ ही सी-मार्ट में वन विभाग के मशहूर ब्रांड छत्तीसगढ़ हर्बल के भी विभिन्न उत्पाद विक्रय के लिए उपलब्ध होंगे।

इस अवसर पर संसदीय सचिव चन्द्रदेव राय, अध्यक्ष कृषक कल्याण परिषद सुरेंद्र शर्मा, पूर्व राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा, जिला कलेक्टर  रजत बंसल, पुलिस अधीक्षक दीपक झा सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

सिटी सर्विलांस सिस्टम अपराधों को रोकने में होगा मददगार

मंत्री उमेश पटेल ने सिटी सर्विलांस सिस्टम का अवलेाकन किया। इसके लिए उन्होंने पुलिस प्रशासन की सराहना की। सिटी सर्विलांस सिस्टम के तहत शहर के सभी प्रमुख चौक चौराहों एवं प्रवेश मार्गों में उच्च क्वालिटी के सीसीटीवी कैमरा स्थापित किया गया है। जिससे शहर के अंदर प्रवेश करने एवं बाहर जाने वाले सभी लोगों, वाहनों आदि पर सतत सूक्ष्म निगाह रखी जा सकती है। इसके अलावा शहर की यातायात व्यवस्था को भी इसी सिस्टम के माध्यम से संपादित किया जा सकता है।

सर्विलांस सिस्टम स्थापित होने से शहर के प्रमुख मार्ग अथवा चौक चौराहा में किसी भी प्रकार की चोरी, लूट, हत्या जैसे गंभीर अपराधों की सूचना तुरंत पुलिस को मिल जाएगी एवं इस सिस्टम के जरिए अपराधियों की भी पहचान करने में बहुत आसानी होगी। साथ ही किसी धरना, जुलूस आदि की भीड़ में शामिल होकर किसी भी प्रकार के उपद्रव अथवा अशांति फैलाने वाले असामाजिक तत्वों की पहचान कर कानून व्यवस्था बनाए रखने में भी अत्यंत सहायक सिद्ध होगा।

Related Topics