Chhattisgarh

उपचुनाव के प्रचार-प्रसार के लिए नियमों की अनदेखी कर रहे नेताजी, बिना अनुमति नक्सल इलाके में कर रहे एंट्री

उपचुनाव के प्रचार-प्रसार के लिए नियमों की अनदेखी कर रहे नेताजी, बिना अनुमति नक्सल इलाके में कर रहे एंट्री

किरंदुल। प्रतिनिधियों की सुरक्षा पर कड़ी नजर रख रही है. पुलिस इस बार किसी भी तरह की कोई चूक नहीं करना चाहती है. इसके लिए पुलिस कप्‍तान अभिषेक पल्‍लव ने नेताओं की बैठक ली है. पल्‍लव ने बैठक के दौरान नेताओं को बिना सुरक्षा कहीं न जाने की सख्त हिदायत दी है. चुनाव के मद्देनजर नेताओं की सुरक्षा अहम है. बिना अनुमति या सूचना के नेता दौरे पर या कहीं जाते हैं तो उन्‍हें नाके पर रोककर सुरक्षित रास्‍ते से जाने की गुजारिश की जा रही है. नेताओं की सुरक्षा के लिए पुलिस ने 9 जगह नाकेबंदी की गई है. इन जगह पर की गई नाकेबंदी जिला मुख्‍यालय से निकलते ही कटेकल्‍याण मार्ग, भांसी, फरसपाल, गीदम, कच्‍चेघाटी, बचेली, कुआकोंडा, भैंसा जोड़ी और कच्‍चेघाटी में डीआरजी के जवान तैनात किए गए हैं. बता दें कि मंगलवार को बीजापुर विधायक विक्रम मंडावी बिना सूचना के दंतेवाड़ा से फरसपाल-कच्‍ची घाटी होते हुए बीजापुर के लिए रवाना हुए थे. डीआरजी के जवानों की टुकड़ी ने उनका पीछा किया और भैरमगढ़ के पास रोक लिया और उनको ससम्‍मान सुरक्षित रास्‍ते से बीजापुर जाने का आग्रह किया. इधर भाजपा नेता नंदलाल मुड़ामी भी पुलिस को बिना सूचना दिए सुरक्षा को नजरअंदाज करते हुए किरंदुल से चोलनार होते हुए अंदरूनी इलाके से पालनार जा रहे थे. इन्हें बाद में डीआरजी की टीम ने रोककर उन्‍हें किरंदुल से भांसी- सातधार होते हुए नकुलनार के रास्‍ते भेजा गया.

Related Topics