Chhattisgarh

कापसी वार्ड 3 पंच के लिए समर्थन मांगने पर वार्डवासी करेंगे जुतो चप्पलों से स्वागत ।

कापसी वार्ड 3 पंच के लिए समर्थन मांगने पर वार्डवासी करेंगे जुतो चप्पलों से स्वागत ।

कापसी - पंचायत चुनाव नजदीक आते ही कापसी में राजनीतिक माहौल बनना शुरू हो गया। कई लोग वार्ड पंच बनने के सपने देख रहे है , तो कोई जुगाड़ से उपसरपंच बनकर पंचायत का बागडोर संभालने के सपने में खोए हुए है। बता दे कि वार्ड क्रमांक 3 ऐसा वार्ड है जिसमें लगातार अनुसूचित जनजाति (महिला ) सीट से प्रत्याशी नामंकन भरकर कभी निर्विरोध तो कभी व्यापक जनसमर्थन में पंचायत के बॉडी में शामिल होकर अपना स्वार्थ चमकाने का काम किया है। वार्ड क्रमांक 3 में सामान्य मतदाता है। इस वार्ड में एसटी के कोई भी मतदाता नही है। लेकिन इस बार वार्डवासियों ने ठाना है कि वार्ड 3 में वार्ड पंच सीट खाली रखी जायेगी।। किसी भी बाहरी प्रत्याशी को वार्ड 3 में नामंकन भरने नही दिया जाएगा न ही उसका समर्थन किया जाएगा। ऐसे में अगर कोई वार्डवासी नामंकन भरने वाले फार्म पर हस्ताक्षर कर उसका समर्थन करता है तो उसको वार्डवासी के कोपभाजन का शिकार होना पड़ेगा। इसके लिए वार्डवासियों ने पहले से वार्ड में इस बार पंच का पद रिक्त रखने का फैसला रखा है। वार्ड क्रमांक 3 के निवासी दिपेश साहा ,राजदीप शर्मा ,राजेश साहा, गुरुदास विश्वास , दीपक साहा, दिलीप साहा ,सोनू साहा , सत्यनारायण शर्मा, अमित सरकार, अलका सरकार ने बतलाया कि हमारे वार्ड में कभी भी चुनाव जीतकर वार्डपंच ने कदम नही रखा ,न ही वार्ड में कुछ भी विकास का काम हुआ । बाजार के पीछे से बहने वाली नाली बने 20 साल हो गए कभी भी इसकी सफाई पंचायत ने नही करवायी जो कचरे से जाम हो गयी हमने कई दफे वार्ड पंच से लेकर पंचायत को अवगत कराया लेकिन किसी ने भी सुध नही ली । वार्ड क्रमांक 3 के स्ट्रीट पोल पर एक भी लाइटे नही लगी है। सोलर चलित लाइट के सभी खम्बे बंद पड़े हुए है। अन्य समस्याओं से अवगत कराते हुए वार्डवासियों ने बड़े सख्त लहज़े में बताया कि अगर कोई भी वार्ड पंच का नामंकन फार्म भरकर समर्थन के लिए आता है तो उसे जूते चपल्लो की माला पहनाकर स्वागत करेंगे । वर्तमान में अम्रता ताराम पंच के पद पर आसीन है। जो प्राइवेट शिक्षण संस्थान में शिक्षिका के पद पर है। उनके पति उपस्वास्थ्य केंद्र बडेकापसी में स्वास्थ्य कार्यकर्ता के पदस्त है। वार्ड पंच अम्रता ताराम भी बड़ेकापसी में रहती है। पंचायत के कार्यक्रमों में भी वार्ड पंच अक्सर नदारद रहती है। ऐसे में वार्ड 3 के पद को रिक्त रखने की बात कही गयी ताकि वार्ड भविष्य में सामान्य सीट आरक्षित हो।

Related Topics