Chhattisgarh

किशोर के जगह अब अर्जुन को कोयलीबेड़ा की कमान , अर्जुन सर्फे को बीईओ की कुर्शी।

किशोर के जगह अब अर्जुन को कोयलीबेड़ा की कमान , अर्जुन सर्फे को बीईओ की कुर्शी।

कापसी (दिपेश साहा ):- कोयलीबेड़ा ब्लॉक के बदहाल शिक्षा व्यवस्था को दुरूस्त करने किशोर यादव को जिम्मेदारी सौपी गयी थी पर बीईओ पद की जिम्मेदारी को किशोर यादव बखूबी से निभा नही पाए। उनके कार्यकलापो से कई शिक्षक संघ काफी नाराज चल रहे थे। उनका कमजोर स्कूलों का मॉनिटरिंग न करना बेहद बड़ा प्रश्नचित वाक्या रहा। स्कूलों के समस्याओं को कभी गंभीरता से नही लिया केवल सरकारी सिस्टम का हवाला देकर बचते रहे। कई अखबारों व न्यूज चैनलों ने शिक्षा व्यवस्था की बदतर स्थिति के बारे में बीईओ को संज्ञान कराया पर विभागीय कार्यवाही के केवल खानापूर्ति ही रही। अखबारों में विभाग के नकारात्मक खबर प्रकाशित होने पर हमेशा पत्रकारों के खबर को गलत ठहराने के लिए तरह - तरह के तर्क वितर्क देगे रहे। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की फोटो फ्रेम जो स्कुलो में बाटी जानी थी उसे विभाग ने लापरवाही से कचरे की तरह परिसर में रखवाया इस पर भी बीईओ यादव गोलमाल जबाब देते रहे। कभी अपनी गलती नही स्वीकारी स्वच्छ्ता अभियान के तहत लाखो रुपये की खरीदी की प्रक्रिया पर बीईओ पर कई लोग सवाल उठा रहे है जो जांच का विषय है। वर्तमान में बीईओ का पदभार अर्जुन सर्फे को मिली जिनका प्रथम नियुक्ति वर्ष 1984 रहा । शिक्षक अर्जुन सर्फे बेहद अनुभवी मिलनसार है । पूर्व में बीआरसी जैसे पदों पर रहकर शिक्षा विभाग में बड़े दावित्व को संभाल चुके है। अब कोयलीबेड़ा ब्लाक के शिक्षा अधिकारी बनकर सेवा देने तत्पर रहेंगे । बता दे की अपने ज्वाईनिंग के बाद बीईओ सर्फे अति संवेदनशील प्रभावित इलाकों में संचालित स्कुलो का औचक निरीक्षण किया।

Related Topics