Top News

पुलिस ने 36 घंटे के अंदर नंदौरी हत्याकांड व चोरी की वारदात का किया खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने 36 घंटे के अंदर नंदौरी हत्याकांड व चोरी की वारदात का किया खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

भिलाई। पुलिस ने 36 घंटे के अंदर भिलाई-3 थाना इलाके में हुए नंदौरी हत्याकांड और चोरी की वारदात का खुलासा कर दिया। आरोपी नितीश कुमार बंजारे (21 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी से सेवा सहकारी समिति (सोसाइटी) से चौकीदार की हत्या के बाद चुराये गए 8 लाख 510 रुपए बरामद कर लिया गया।

आज दोपहर पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित एक पत्रकारवार्ता में एएसपी शहर संजय ध्रुव ने मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि आरोपी नितीश कुमार बंजारे ने महंगे दुपहिया वाहन और फैशनेबल कपड़े पहनने के शौक को पूरा करने नंदौरी सेवा सहकारी समिति में चोरी की वारदात को अंजाम देेने का ताना बाना बुना। आरोपी युवक का पिता ओमप्रकाश बंजारे सेवा सहकारी समिति में कैशियर कम क्लर्क है। सेवा सहकारी समिति के जिस आलमारी में रकम रखी जाती है उसकी चाबी ओमप्रकाश बंजारे के पास रहती थी। इसी चाबी का इस्तेमाल कर नितीश ने वारदात को अंजाम दिया। आरोपी से पुलिस ने घटना में इस्तेमाल दो मोटर साइकिल जब्त किया है। दोनों वाहन को एक ही नंबर से आरोपी चला रहा था। जिसमें से एक वाहन चोरी की है।

एएसपी शहर संजय ध्रुव ने बताया कि 17 जून को नंदौरी निवासी सरपंच पति शशीकांत वर्मा ने भिलाई-3 पुलिस को सेवा सहकारी समिति भवन में चौकीदार हरिशंकर वर्मा की हत्या हो जाने की सूचना दी थी। समिति भवन के आलमारी में रखे 8 लाख 510 रुपए गायब मिलने से हत्या की वजह के पीछे रकम की चोरी करने के इरादे को मानते हुए पांच जांच टीम गठित की गई। पहली टीम मृतक के परिवार व ग्राम नंदौरी में पूछताछ, दूसरी टीम सोसाइटी से जुड़े लोगों से पूछताछ, तीसरी टीम सायबर व तकनीकी चौथी टीम बाहरी अज्ञात तत्वों के बारे में जानकारी तथा पांचवी टीम भिलाई-3 थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल के नेतृत्व में गठित की गई थी जो सभी चार टीमों के बीच सामंजस्य बनाकर काम कर रही थी। सभी संभावनाओं पर जांच केन्द्रित रहने के दौरान सोसायटी के कैशियर कम क्लर्क ओमप्रकाश बंजारे से पूछताछ की गई तो मामले का खुलासा होते देर नहीं लगी।

ओमप्रकाश सोसाइटी के आलमारी की चाबी रखता था। इसी चाबी को नितीश ने पिता की पेंट के जेब से निकालकर दूसरी चाबी बना ली। इसी चाबी के साथ अपनी मोटर साइकिल में लोहे का सब्बल बांधकर नितीश वारदात को अंजाम देेने 16 व 17 जून की दरम्यानी रात सोसाइटी पहुंचा। बाहर के ग्रिल गेट को तोड़कर नितीश अंदर घूसा तो चौकीदार हरिशंकर वर्मा जाग गया। चिल्लाने पर नितीश ने हरिशंकर पर सब्बल से हमला बोल दिया। पहला प्रहार पेट पर होने के बाद भी हरिशंकर शोर करने लगा तो नितीश ने फिर उसके सिर पर सब्बल मार दिया। जिसके बाद वह पलंग पर गिरकर बेहोश हो गया। इसके बाद आरोपी ने हरिशंकर के मोबाइल फोन का बैटरी निकालकर वहीं फेंक दिया और आलमारी का ताला तोड़ 8 लाख 510 रुपए की रकम लेकर भाग निकला। पत्रकारवार्ता में सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर एवं भिलाई-3 टीआई विनय सिंह बघेल विशेष रूप से उपस्थित थे।

00 डॉग स्क्वाड से मिला अहम सुराग
नंदौरी के सोसाइटी में चौकीदार के अंधेकत्ल और 8 लाख रुपए की चोरी के आरोपी का अहम सुराग डॉग स्क्वाड से मिला है। घटना की जांच में डॉग स्क्वाड का सहारा लिया गया। घटना स्थल पर लाया गया पुलिस डॉग चलता हुआ ओमप्रकाश बंजारे के घर में जा पहुंचा। चूंकि ओमप्रकाश सोसाइटी का कैशियर कम क्लर्क था। इसलिए पुलिस डॉग का घटना स्थल से उसके घर जाकर रुकने से पुलिस को जांच की दिशा मिल गई। पूछताछ में पता चला कि ओमप्रकाश का छोटा बेटा नितीश घर पर नही है।

बड़े बेटे रविशंकर बंजारे से पूछताछ करने पर उसने बताया कि नितीश ने 16 जून की शाम को सोसाइटी में कितने रुपए होने के बारे में उससे पूछा था। नितीश जुआ खेलने का भी आदी है। इस आधार पर उसकी खोजबीन की गई और जब वह हिरासत में आया तो कड़ी पूछताछ के बाद अपराध करना कबूल लिया। इस सफलता में टीआई विनय सिंह बघेल, सहित एसआई प्रकाश शुक्ला, दुर्गेश वर्मा, पेट्रोलिंग स्टाफ एएसआई राजेश पांडेय, आरक्षक राकेश सिंह, संदीप सिंह, कृष्णा सिंह, विजय सिंह, हरीश राव, मो. हफीज साबारी, प्रकाश साहू, राकेश चन्द्रौल, नंदलाल सिंह, ईश्वर लाल भारद्वाज, निखिल गुप्ता, सिविल टीम के रिंकू सोनी, सत्येन्द्र मढरिया, अरविंद मिश्रा की अहम भूमिका रही।

Related Topics