Top News

भारत में जल्द बढ़ेगा चीतों का कुनबा, नामीबिया से आई फीमेल चीता हुई गर्भवती

भारत में जल्द बढ़ेगा चीतों का कुनबा, नामीबिया से आई फीमेल चीता हुई गर्भवती

ग्वालियर (एजेंसी)। वन्यप्राणी प्रेमियों के लिए अच्छी खबर हैं। भारत में चीतों की आबादी बढ़ाने को लेकर केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है।  इसी के मद्देनजर 17 सितंबर को नामीबिया से आठ चीते मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल उद्यान लाए गए थे।  इनमें से 3 फीमेल चीता थीं।  अब खबर आ रही है कि इन्हीं में से एक फीमेल चीता 'आशा' ने गर्भधारण किया है।  सूत्रों के मुताबिक वन अधिकारी फीमेल चीता की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।  हालांकि, अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। 

बता दें कि नामीबिया से लाए गए 8 चीतों में तीन मेल चीते हैं। इनकी उम्र 2 से 5 साल के बीच बताई जा रही है। पिछले 70 सालों से भारत से चीते विलुप्त हो गए थे।  एक समझौते के तहत नामीबिया से चीते भारत लाए गए हैं।  चीतों के बारे में जागरुकता फैलाने के लिए मध्यप्रदेश सरकार 450 से अधिक चीता मित्र नियुक्त किए हैं।  बताया जा रहा है कि कूनो नेशनल पार्क 16 अक्टूबर से खोला जाएगा।  चीतों के भ्रमण वाले क्षेत्रों में पर्यटकों के आने की अनुमति नहीं रहेग। 

पीएम मोदी ने अपने 72 वें जन्मदिन पर इन चीतों को बाड़े से आजाद किया था।  यह चीते एक विशेष विमान से पहले मध्य प्रदेश के ग्वलियर पहुंचे थे।  इसके बाद इन्हें कुनो नेशनल पार्क ले जाया गया। 

देश में अंतिम चीते की मौत 1947 में छत्तीसगढ़ में हो गई थी. बाद में सरकार की ओर 1952 में चीते को भारत में विलुप्त घोषित कर दिया गया था. देश में चीतों को बसाने के लिए ‘अफ्रीकन चीता इंट्रोडक्शन प्रोजेक्ट इन इंडिया’ 2009 में शुरू हुआ था. चीतो के लाने के लिए भारत ने नामीबिया सरकार के साथ समझौता ज्ञापन (MOU) पर हस्ताक्षर किए थे.

Related Topics