National

नगर निगम पर लग रहा आरोप, अवैध रूप से जमीनों की रजिस्ट्री बनाने का कार्य कर रहे हैं।

नगर निगम पर लग रहा आरोप, अवैध रूप से जमीनों की रजिस्ट्री बनाने का कार्य कर रहे हैं।

मध्यप्रदेश :- नगर निगम पर लगा बड़ा आरोप। इंदौर के अधिवक्ता प्रमोद द्विवेदी ने इंदौर नगर निगम पर बड़ा आरोप लगाया है द्विवेदी ने कहा कि नगर निगम में बैठे कुछ लोग फोन कार्यालयों में बैठकर अवैध रूप से जमीनों की रजिस्ट्री बनाने का कार्य कर रहे हैं। अधिवक्ता प्रमोद द्विवेदी ने कहा कि नगर निगम जोन काका संपादन के लिए है लेकिन उन्हें जानकारी लगी थी कि नगर निगम के कई जनों पर निगम के कर्मचारी बिल कलेक्टर ने मध्य प्रदेश सरकार की महती योजना स्वामित्व पर पलीता लगाने के लिए फर्जी रूप से रजिस्ट्री दफ्तर खोल रखे हैं वहां पर रजिस्ट्री आ तैयार की जा रही है वहीं नगर निगम कर्मचारी रजिस्ट्री की रसीद भी काट रहे हैं द्विवेदी के मुताबिक हजारों रुपयों की रिश्वत लेते हुए ताजे खाते भी खोले जा रहे हैं। अधिवक्ता द्विवेदी ने बताया कि रजिस्टर ऑफिस में जहां पांच से सात रजिस्ट्री या टाइप हो रही है तो वहीं कार्यालय पर 70 - 70 रजिस्ट्री या बाहर से बंद कर आ रही है। संबंधित अधिकारियों को इस मामले में अंदेशा हुआ तो उन्होंने राजमोहल्ला के जोन कार्यालय पर पहुचे जहा एक महिला रजिस्ट्री बनाते हुए पाई गई। एडवोकेट प्रमोद द्विवेदी का आरोप है कि इंदौर नगर निगम की महापौर व अन्य अधिकारी सफाई के नाम पर सुबह से शाम तक व्यस्त रहते हैं वही उनके ही निगम जोन ऊपर निजी तौर पर रजिस्ट्री कार्यालय संचालित हो रहे हैं। साथी द्विवेदी ने कहा कि इस मामले की जांच होना चाहिए और इसमें नगर निगम के कर्मचारियों के साथ ही उपायुक्त जोनल ऑफिसर सहित कार्यों में संलिप्त जिम्मेदारों को सजा होना चाहिए द्विवेदी ने उपायुक्त लता अग्रवाल का जिक्र करते हुए उन पर भी कार्रवाई करने की प्रशासन से मांग की है दिवेदी के मुताबिक वह पहले भी इस अधिकारी को लेकर शिकायत कर चुके हैं।

Related Topics