Trend News

डॉक्टरों व अस्पताल प्रशासन की लापरवाही, आधार कार्ड न होने पर गर्भवती को डॉक्टरों ने भेजा वापस, बच्चों को जन्म देते समय मौत

डॉक्टरों व अस्पताल प्रशासन की लापरवाही, आधार कार्ड न होने पर गर्भवती को डॉक्टरों ने भेजा वापस, बच्चों को जन्म देते समय मौत

बेंगलुरू (एजेंसी)। कर्नाटक में डॉक्टरों व अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण एक महिला व उसके दो जुडवां नवजात बच्चों की मौत का मामला सामने आया है। घटना तुमकुरू जिले की बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक, महिला के पास कथित तौर पर आधार या मातृत्व कार्ड न होने के कारण अस्पताल प्रशासन से उसे भर्ती करने से इनकार कर दिया, जिससे प्रसव के दौरान महिला व उसके दो नवजातों की मौत हो गई।

महिला के पड़ोसियों ने बताया कि मृतक महिला का नाम कस्तूरी था। वह भारती नगर स्थित एक घर में एक अन्य लड़की के साथ रह रही थी। महिला का पति कहीं और रहता था। बताया गया कि बुधवार शाम महिला को प्रसव पीड़ा हुई तो पड़ोसी उसे एक ऑटोरिक्शा से तुमकुरू जिला अस्पताल ले गए। हालांकि, अस्पताल प्रशासन ने आधार व मातृत्व कार्ड न होने पर महिला को भर्ती करने से इनकार कर दिया और उसे वापस घर भेज दिया।

घर में हुआ प्रसव

पड़ोसियों ने बताया, घर लौटने के बाद कस्तूरी की प्रसव पीड़ा तेज हो गई और उसने एक बच्चे को जन्म दिया। हालांकि, दूसरे बच्चे को जन्म देते समय उसकी मौत हो गई। महिला की मौत के कुछ देर बाद उसके पहले बच्चे की भी मौत हो गई। पड़ोसियों ने बताया, कस्तूरी की एक छह साल की बेटी भी है।

ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर के निलंबन की सिफारिश

घटना सामने आते ही कांग्रेस व अन्य विपक्षी दल सरकार पर हमलावर हैं। उधर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मंजूनाथ ने ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर को निलंबित करने की सिफारिश की है। उन्होंने कहा, यह कर्तव्य की अवहेलना है। मैं निलंबन का आदेश नहीं दे सकता, इसलिए तुमकुरू जिला उपायुक्त से डॉक्टर के निलंबन की सिफारिश की गई है।

Related Topics