Trend News

प्रदेश के इस जिले में मिला दुर्लभ प्रजाति के डुमरील ब्लैक हेडेड सांप, देखने लोगों की उमड़ी भीड़

प्रदेश के इस जिले में मिला दुर्लभ प्रजाति के डुमरील ब्लैक हेडेड सांप, देखने लोगों की उमड़ी भीड़

कवर्धा । कवर्धा का जंगल दुर्लभ प्रजाति के वन्यजीवों के लिये जाना और पहचाना जाता है। यहाँ के जंगलों में पहले भी दुर्लभ वन जीव देखें जा चुके है। वहीँ अब कवर्धा के जंगलों में दुर्लभ प्रजाति का सर्प मिला है।जिसका नाम डुमरील ब्लैक हेडेड स्नैक बताया जा रहा है।

दरअसल नोवा नेचर वेलफेयर सोसाइटी के सदस्य अविनाश ठाकुर को फोन कॉल आया की जोराताल के एक घर में एक दुर्लभ प्रजाति का सर्प दिखाई दिया है। जो सामान्य सर्पों से अलग है,तभी सर्पमित्र अविनाश ने जाकर देखा तो वह एक दुर्लभ प्रजाति का मिलने वाला सर्प निकला, जिसका नाम डुमरिल ब्लैक हेडेड स्नेक बताया गया। जिसे लेकर सर्पमित्र ने लोगों को जानकारी दी।यह एक बिना जहर वाला सर्प है, जिसका मुख्य आहार कीट, पतंगे है।और इसे छत्तीसगढ़ के कुछ ही जिलों में देखा गया है। कवर्धा के स्वस्थ प्रकृति तंत्र का एक सूचक है। जहाँ पहले भी दुर्लभ छिपकली सतपुड़ा लियोपैड गेको की खोज भोरमदेव अभ्यारण से की गई है।

Related Topics