Sports

ओलंपिक संघ से मान्यता प्राप्त 11 अन्य खेल होंगे शामिल

ओलंपिक संघ से मान्यता प्राप्त 11 अन्य खेल होंगे शामिल

रायपुर। जैन समाज धर्म और व्यापार के क्षेत्र में काफी उन्नत समाज माना जाता है किंतु पेशेवर खेलों में समाज अन्य समाजों से काफी पीछे है, खेल ना केवल बौद्धिक, शारीरिक, मानसिक रूप से मजबूत बनाता है बल्कि आज के युवा खेल को करियर भी बना रहे हैं। कोविड 19 संक्रमण की वजह से समाज में काफी नुकसान हुआ है, लोग अवसाद में हैं तथा शारीरिक व मानसिक रूप से अनफिट भी।

खेल शरीर को ना केवल चुस्त दुरुस्त करता है बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। छत्तीसगढ़ में खेल और खिलाड़ियों को बढ़ावा देने काम कर रहे वीर स्पोर्ट्स क्लब के अध्यक्ष प्रवीण जैन ने बतलाया कि उनकी जिम्मेदारी समाज के प्रति भी है इस लिए समाज के नवोदित व युवाओं को खेल संस्कृति से जोड़ने के उद्देश्य से क्लब के पदाधिकारियों की बैठक आज सम्पन्न हुई जिसमें छत्तीसगढ़ के इतिहास का पहला जैन ओलंपिक कराने का निर्णय लिया गया है, जो 15 दिसंबर से सुभाष स्टेडियम रायपुर में आयोजित किया जायेगा।

इस प्रतियोगिता में जैन प्रीमियर लीग क्रिकेट प्रतियोगिता के अलावा ओलंपिक संघ से मान्यता प्राप्त 11 अन्य खेलों को भी शामिल किया जा रहा है। हमारा सभी अभिभावकों से अनुरोध है कि अपने बच्चों को खेलने के लिए प्रोत्साहित करें तथा उन्हें नियमित खेल मैदान भेजें।

प्रतिभाशाली खिलाड़ी को पेशेवर खेलों में आगे बढ़ने का अवसर दिया जायेगा। पंजीयन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर निर्धारित की गई है। बैठक में प्रमुख रूप से मनोज बोथरा, राहुल जैन, पीयूष डागा, शीतल कोटडिया, चित्रांक चोपड़ा, विवेक सांखला, राहुल रामपुरिया, जय लुनिया, दिलीप बोरार, मयूर बैद, धीरज लोढ़ा, तन्मय जैन, शेखर बैद, यशवंत जैन, पंकज मुणोत विकास कोचेटा सहित संस्था के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

Related Topics