Chhattisgarh

Previous123456789...621622Next

मुख्यमंत्री बघेल ने जिन 4 नए जिलों की घोषणा की है, वे एक जनवरी से आ जाएंगे अस्तित्व में

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। मुख्यमंत्री बघेल ने जिन 4 नए जिलों की घोषणा की है, वे एक जनवरी से अस्तित्व में आ जाएंगे। सूत्रों के अनुसार सरकार ने अफसरों से कह दिया है कि नए साल में नए जिले की तैयारी करें। इसी दृष्टि से नए जिले के गठन की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है।

20 अक्टूबर को नए जिले का राजपत्र में प्रकाशन हो गया। इसके अगले दिन 21 अक्टूबर को राजस्व विभाग ने राजनांदगांव, जांजगीर, बलौदाबजार और रायगढ जिले के कलेक्टरों को पत्र भेज कहा है कि नए जिले के संबंध में दावा आपत्ति मंगा कर उसका निराकरण कर 21 दिसंबर तक अपना अभिमत भेजे।

ज्ञातव्य है, मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त को चार नए जिले बनाने का ऐलान किया था। इनमें सक्ती, मनेंद्रगढ़, मानपुर-मोहला और सारगंढ शामिल हैं। इनमें से मनेंद्रगढ़ का अभी प्रक्रियाधिन है। राजस्व विभाग के अफसरों का कहना है, कुछ प्रक्रियाओं के चलते मनेंद्रगढ़ जिले का नोटिफिेशन नहीं हो पाया है। जल्द ही राजपत्र में प्रकाशित कर उसकी भी कार्रवई प्रारंभ हो जाएगी।

जनवरी में चार नए जिले बनने के बाद छत्तीसगढ़ में नए जिलों की संख्या बढ़कर 32 हो जाएगी।

View More...

राज्यपाल उइके ने छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के नवनिर्मित भवन ष्विद्यानिलयम का किया लोकार्पण

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के नवनिर्मित भवन ‘‘विद्यानिलयम्’’ का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल एवं आयोग के अध्यक्ष शिववरण शुक्ला उपस्थित थे। राज्यपाल ने नवनिर्मित भवन के लिए शुभकामनाएं दी। राज्यपाल ने कहा कि उच्च शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए सारे विश्वविद्यालय एकजुट होकर प्रयास करें। हम सबका दायित्व है कि हम उस स्थिति को पुनः प्राप्त करें जैसे प्राचीन समय में हमारा देश शिक्षा के क्षेत्र में जाना जाता था।

राज्यपाल ने कहा कि सारे निजी विश्वविद्यालय अपने कैरियर प्रकोष्ठ और रोजगार मेले का आयोजन करे, जिससे यहां के विद्यार्थियों को रोजगार के विभिन्न क्षेत्रों की जानकारी मिले। इससे वे पढ़ाई के साथ-साथ कौन से कैरियर का चुनाव करें, उस संबंध में जागरूक हो सके। उन्होंने कहा कि सारे सरकारी विश्वविद्यालय और निजी विश्वविद्यालय मिलकर आपस में एक बैठक करें और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे कार्यों की जानकारी साझा करें। उन्होंने नई ग्रेडिंग के लिए समिति बनाने तथा विद्यार्थियों की काउंसलिंग के लिए मनोवैज्ञानिकों की सेल बनाने का सुझाव दिया। राज्यपाल ने कहा कि सभी विश्वविद्यालय नैतिक शिक्षा से संबंधित विषयों को पाठ्यक्रम में शामिल करें। इससे विद्यार्थी डिग्री प्राप्त करने के साथ-साथ संस्कारवान बनेंगे।

उन्होंने कहा कि हम नये भारत की ओर बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारा देश निरंतर प्रगति की राह में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने नई शिक्षा नीति की घोषणा की थी, अब उसका क्रियान्वयन भी शुरू हो गया है। नई शिक्षा नीति में हम अपनी पुरातन परंपराओं से जुड़ने के साथ-साथ नवीनता को भी अपनाएंगे। हमारी शिक्षा व्यवस्था पहले से अधिक लचीली और प्रासंगिक होगी। विद्यार्थियों के लिए नये अवसरों में वृद्धि होगी। वे वैज्ञानिक और वैश्विक परिवर्तनों के अनुरूप अध्ययन कर पाएंगे।

राज्यपाल ने सभी विश्वविद्यालयों से आग्रह किया कि नई शिक्षा नीति के अनुरूप पाठ्यक्रम तैयार करें। मैं आयोग से अपेक्षा करूंगी कि वे विश्वविद्यालयों को प्रेरित करते हुए जल्द उन्हें नई शिक्षा नीति का खाका तैयार करने में मदद करेंगे।

उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि जिस दिन हमारे प्रदेश के विद्यार्थी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्थान बनाएगा, उस दिन मेरा छत्तीसगढ़ को सर्वोच्च स्थान पर देखने का सपना पूरा होगा। हम प्रयास करें कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर अच्छा करें। श्री पटेल ने कहा कि हमें यह प्रयास करना चाहिए कि शिक्षा के क्षेत्र को सिर्फ शिक्षा के रूप में ही देखा जाए, इसे व्यवसाय के रूप में परिभाषित नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकारी कॉलेजों में करीब 02 लाख 63 हजार विद्यार्थी प्रवेश लेते हैं। इनके आसपास के संख्या के विद्यार्थी प्राइवेट रूप से परीक्षा में बैठते हैं। यह प्रदेश में महाविद्यालय के कमी की ओर संकेत करता है। उन्होंने प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में निजी विश्वविद्यालयों के सहयोग से पी.पी.पी. मॉडल पर महाविद्यालय खोलने का सुझाव दिया। छत्तीसगढ़़ के सभी विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों को वर्ष 2022 तक नैक ग्रेडिंग के प्लेटफार्म में लाने का लक्ष्य रखा है। इसके बाद हम ग्रेडिंग में वृद्धि के लिए प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा विद्यार्थियों के लिए ई-लाईब्रेरी का प्रावधान भी किया जा रहा है, जिससे वे महाविद्यालय आकर या अपने मोबाईल के जरिए भी पुस्तकों का अध्ययन कर सके।

आयोग के अध्यक्ष श्री शुक्ला ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग की स्मारिका ‘‘वागीशा’’ का विमोचन किया गया। साथ ही आयोग के वेबसाईट का भी उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम में राज्यपाल को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किया गया। इस अवसर पर आयोग के सदस्यगण एवं अधिकारीगण, निजी विश्वविद्यालयों के कुलाधिपतिगण एवं कुलपतिगण उपस्थित थे।

View More...

कवर्धा के 26 लोगों ने कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर से मुलाकात कर कांग्रेस किया प्रवेश

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। कवर्धा विधानसभा क्षेत्र के सहसपुर लोहारा ब्लाॅक के ग्राम सहसपुर लोहारा, भैसबोड़ एवं बोडला ब्लाॅक के ग्राम उसरवाही तथा ग्राम तारो के 26 लोगों ने शुक्रवार को रायपुर आकर कवर्धा के विधायक और राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर से मुलाकात कर कांग्रेस प्रवेश किया। यही नहीं इन पुरुषों के साथ तकरीबन 70 महिलाएं भी आई थी, जो कांग्रेस प्रवेश करना चाहती थीं। लेकिन मंत्री अकबर ने उन पर गृह कार्य की जिम्मेदारी को समझाते हुए इन महिलाओं को तिरंगा गमछा भेटकर उनका स्वागत और सम्मान किया गया।

मंत्री निवास में जब बड़ी संख्या में कवर्धा क्षेत्र के लोग पंहुचे तो उनसे मंत्री अकबर ने उनसे बेहद खुशनुमा माहौल में आत्मीय तरीके से भेंट की। मंत्री निवास के लाॅन में अकबर जमीन पर बैठे उनके साथ पुरुष और महिलाएं घेरा बनाकर बैठीं। इस दौरान क्षेत्र की समस्याओं और मांगों पर चर्चा की गई। बताया गया है कि कुछ मामले पर चर्चा के दौरान मंत्री अकबर ने वहीं से संबंधित अधिकारियों से फोन पर बात की और ग्रामीणों की समस्याओं के तुरंत निराकरण के निर्देश दिए। अन्य प्राप्त आवेदन को संबंधित अधिकारियों के कार्यालय में त्वरित कार्रवाई के निर्देश के साथ भेजा जा रहा है।

इस दौरान कवर्धा विधानसभा क्षेत्र के गांवों के जिन लोगों ने कांग्रेस प्रवेश किया है, उनके गोप पटेल, संतोष मेरावी, जागृत पटेल, बजरहा पटेल, खेलूराम पटेल, जयकरण मिर्चे, रमन चतुर्वेदी, हेमचंद जांगड़े, सुरेश साहू, हंसराज चतुर्वेदी, रामकुमार तिलोक, धनवा मात्रे, लोकचंद पटेल, गिरधर, लोकचंद पटेल धन्नु, खेलन पटेल, ओरी लाल पटेल, कृपा राम पटेल, नूलम राम पटेल, सुरज श्रीवास, रामअवतार झारिया, रामप्रसाद पटेल, गौकरण रात्रे, नरेश टंडन, नरेंद्र चतुर्वेदी, चंद्रिका रात्रे (पूर्व सरपंच) शामिल हैं।

इन लोगों के कांग्रेस प्रवेश के दौरान विशेष रूप से रामचरण पटेल, अध्यक्ष, ब्लाक कांग्रेस कमेटी, सहसपुर लोहारा, चोवा साहू एवं नीलकंठ साहू शामिल थे।

View More...

आईटीबीपी व सीएएफ के 26 जवान फ़ूड पॉयजिनिंग से पीड़ित, इलाज जारी, सभी खतरे से बाहर

Date : 23-Oct-2021

राजनांदगांव। खैरागढ़ स्थित मलौदा कैम्प में आईटीबीपी व सीएएफ के 26 जवान फ़ूड पॉयजिनिंग से पीड़ित हो गए। इसकी जानकारी मिलते ही कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा ने स्वास्थ्य विभाग को उचित उपचार के निर्देश दिए। कलेक्टर जवानों के स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी लगातार ले रहे हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी खैरागढ़ में निरंतर जवानों के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले के मलैदा कैम्प में आईटीबीपी व सीएएफ के 26 जवानों के फूड पायजनिंग से पीडि़त होने पर सभी का इलाज खैरागढ़ स्थित अस्पताल में किया जा रहा है। सभी जवान खतरे से बाहर है।

एसडीएम लवकेश ध्रुव ने बताया कि सिविल हॉस्पिटल खैरागढ़ में भर्ती 26 जवानों का स्वास्थ्य ठीक है। मलैदा कैम्प में स्वास्थ्य विभाग की टीम उपचार के लिए भेजी है।

View More...

पत्रकारिता में निरंतर बढ़ रही करियर की सम्भावनाएं

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। अग्रसेन महाविद्यालय (पुरानी बस्ती) में पत्रकारिता विभाग आज पत्रकारिता में करियर की संभावना”- विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। इसमें आकाशवाणी रायपुर के वरिष्ठ उद्घोषक परेश राव ने वर्तमान समय में प्रिंट मीडिया के अलावा, इलेक्ट्रोनिक मीडिया और सोशल मीडिया में करियर की नई संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा की।

राव ने कहा कि बदलते दौर में तकनीकी विकास के कारण अब पत्रकारिता का विस्तार उन क्षेत्रों में ज्यादा होने की सम्भावना है, जहां तकनीक का इस्तेमाल अधिक से अधिक हो रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से ज्यादातर टीवी चैनल, रेडियो या अन्य संचार माध्यम अब मोबाइल एप पर भी आने लगे हैं। इसलिए बहुत से पत्रकारिता का एक बड़ा हिस्सा अब मोबाइल ऐप के भीतर सिमट गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में पत्रकारिता का विस्तार सोशल मीडिया के अलावा इंटरनेट मोबाइल फोन और स्काइप जैसी नई तकनीकों के जरिए और भी तेजी से हो सकेगा। उन्होंने पत्रकारिता के महाविद्यालयो से पूछे गए प्रश्नों के उत्तर देते हुए कहा कि अब जो युवा एक साथ बहुत तरह के तकनीकी और रचनात्मक कार्य कर सकते हैं, पत्रकारिता में उनके सफल होने की सम्भावना अधिक रहेगी। उन्होंने यह भी कहा कि नई पीढ़ी के पत्रकार साथी जो भी कार्य करें, उसमें तकनीकी कौशल तो अनिवार्य है। साथ ही उन्हें ईमानदार और असरदार भी होना पड़ेगा। राव ने मीडिया में अच्छी भाषा और संवेदनशील प्रस्तुति को भी अनिवार्य आवश्यकता बताया। इस दौरान उन्होंने अपने लम्बे करियर के अनुभव भी साझा किये। इस मौके पर महाविद्यालय के डायरेक्टर डॉ वी.के. अग्रवाल ने कहा कि मीडिया में करियर की अपार सम्भावना है। क्योंकि कोरोना जैसे कठिन समय में भी मीडिया की जरुरत लगातार बनी रही।

महाविद्यालय के एडमिनिस्ट्रेटर प्रो अमित अग्रवाल ने कहा कि पत्रकारिता के छात्रों के प्रायोगिक अध्ययन और तकनीकी प्रशिक्षण के लिए ही महाविद्यालय में टेलीविजन और रेडियो का अत्याधुनिक स्टूडियो बनाया गया है। अनुभवी विशेषज्ञों के सहयोग से यहाँ विद्यार्थियों के कौशल विकास के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। कार्यक्रम के आरम्भ में पत्रकारिता संकाय के विभागाध्यक्ष प्रो. विभाष कुमार झा ने अतिथि वक्ता परेश राव का परिचय दिया और विषय की प्रस्तावना रखी। कार्यक्रम में पत्रकारिता विभाग के सहयोगी प्राध्यापक प्रो. राहुल तिवारी और प्रो. कनिष्क दुबे भी सक्रिय रूप से शामिल हुए।

View More...

चिटफंड कंपनियों के फरार डायरेक्टर व पदाधिकारियों को तत्काल गिरफ़्तार करने के पुलिस अधिकारियों को सीएम बघेल ने दिए निर्देश

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। प्रदेश में अब तक चिटफंड कंपनियों के 774 डायरेक्टर/पदाधिकारी गिरफ़्तार किए जा चुके हैं। इसके साथ ही फरार डायरेक्टर और पदाधिकारियों को तत्काल गिरफ़्तार करने के निर्देश मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पुलिस अधिकारियों को दिए हैं। वहीं चिटफंड कंपनियों की अन्य सम्पत्तियों को चिंहांकित कर कुर्क करने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिए हैं।

View More...

महिलाओं.बेटियों से कांग्रेस का प्रेम भी पाखंड : डॉ रमन सिंह

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य में कांग्रेस सरकार की तरफ से भाजपा सरकार के वक्त शुरू की गई स्मार्ट फ़ोन वितरण योजना (स्काई) को कांग्रेस का दोहरा चरित्र बताया है।

डॉ. रमन ने ट्वीट कर लिखा, कांग्रेस का `चरित्र` देखिए!

उत्तरप्रदेश में कांग्रेस सत्ता में नहीं हैं तो बेटियों को `स्मार्टफोन` देने का वादा कर रही है।

छत्तीसगढ़ में सत्ता में आते ही बेटा-बेटियों को मिलने वाले `स्मार्टफोन और लैपटॉप` देने की योजना ही बंद कर दी।

महिलाओं-बेटियों से इनका प्रेम भी पाखंड है।

View More...

प्रदेश में सवा दो करोड़ पहुंचा वैक्सीनेशन का आंकड़ा

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगवाने वालों की संख्या डेढ़ करोड़ को पार कर गई है। प्रदेश में अब तक (21 अक्टूबर तक) एक करोड़ 55 लाख 77 हजार 521 लोग कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन की पहली खुराक ले चुके हैं। वहीं 66 लाख आठ हजार 855 नागरिकों को दोनों टीके लगाए जा चुके हैं। राज्य में पहली और दूसरी, दोनों खुराकों को मिलाकर अब तक कुल दो करोड़ 21 लाख 86 हजार 376 टीके लगाए गए हैं।

प्रदेश में तीन लाख दस हजार 393 स्वास्थ्य कर्मियों, तीन लाख 18 हजार 635 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 45 वर्ष से अधिक के 62 लाख 18 हजार 488 और 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के 87 लाख 30 हजार 005 नागरिकों को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है। वहीं दो लाख 65 हजार 580 स्वास्थ्य कर्मियों, दो लाख 57 हजार 020 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 45 वर्ष से अधिक के 33 लाख 69 हजार 146 तथा 18 से 44 आयु वर्ग के 27 लाख 17 हजार 109 लोगों को दोनों टीके लगाए जा चुके हैं।

View More...

मुख्यमंत्री बघेल आज दुर्ग जिले के प्रवास पर, इन कार्यक्रमों में होंगे शामिल

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। मुख्यमंत्री बघेल 23 अक्टूबर को दुर्ग जिले के प्रवास पर रहेंगे। निर्धारित दौरा कार्यक्रम के तहत वे 23 अक्टूबर को दोपहर 01 बजे मुख्यमंत्री निवास रायपुर से सड़क मार्ग द्वारा प्रस्थान कर 01.30 बजे एस. एन. जी स्कूल ऑडिटोरियम, सेक्टर-4, भिलाई पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री बघेल वहां एस. एन. जी स्कूल के ऑडिटोरियम में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी / पत्रकारिता अलंकरण एवं सम्मान समारोह में भाग लेंगे। वे इसके पश्चात दोपहर 02.30 बजे भिलाई से मुख्यमंत्री निवास के लिए प्रस्थान करेंगे।

View More...

प्रदेश में नशे के कारोबार को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई करें : सीएम बघेल

Date : 23-Oct-2021

रायपुर। मुख्यमंत्री बघेल ने शुक्रवार को पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों को कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रदेश में नशे के कारोबार को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने दो टूक कहा कि- प्रदेश में हुक्का बार पूरी तरह प्रतिबंधित हों। मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरे राज्यों से आ रहे नशीले पदार्थ छत्तीसगढ़ में नहीं घुसने चाहिए। उन्होंने कहा कि गांजे की एक पत्ती भी दूसरे राज्य से छत्तीसगढ़ में नहीं घुसने देना चाहिए। श्री बघेल ने कहा कि साम्प्रदायिक और धर्मान्तरण जैसे संवेदनशील मामलों में पुलिस अधिकारी सतर्कता और सजगता के साथ त्वरित कार्रवाई करें और आम जनता को वास्तविक स्थिति की जानकारी दें।

मुख्यमंत्री बघेल की अध्यक्षता में आज यहां न्यू सर्किट हाऊस ऑडिटोरियम में पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों की कॉन्फ्रेंस आयोजित हुई। कॉन्फ्रेंस में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रवींद्र चौबे, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, पुलिस महानिदेशक डी. एम. अवस्थी, गृह विभाग के वरिष्ठ अधिकारी और मुख्यमंत्री सचिवालय की उपसचिव सौम्या चौरसिया उपस्थित रहीं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कॉन्फ्रेंस में कहा कि -कोविड महामारी के दौरान हमारी सरकार, प्रशासन और पुलिस ने अभूतपूर्व कार्य किया है। आपने प्रवासी मजदूरों के हित में बेहतरीन कार्य किया है। उन्होंने इसके लिए सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को बधाई और शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री बघेल ने पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों से कहा कि छोटी-छोटी घटनाओं को साम्प्रदायिक और अराजक तत्व बड़ा रूप देने की चेष्टा कर रहे हैं। सभी पुलिस अधीक्षक उन्हें पहचानें, अपना आसूचना तंत्र विकसित करें क्यूंकि ऐसी घटनाओं का सीधा असर प्रदेश की शांति व्यवस्था और सरकार की छवि पर होता है। ऐसे मामले में पुलिस अधिकारी संवेदनशीलता, सजगता और सतर्कता के साथ कार्य करें और वास्तविक स्थिति की जानकारी आमजनता को दें। उन्होंने कहा कि आम जनता का पुलिस पर भरोसा होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर स्तर पर, थाना, अनुविभाग, ज़िला और रेंज लेवल पर सूचना तंत्र विकसित करें। पुलिस अधीक्षक हर जिले में सोशल मीडिया मॉनिटरिंग की स्पेशल टीम बनाएं जो सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने वालों का चिन्हांकन कर कार्रवाई करें।

भूपेश बघेल ने कहा कि छोटी घटनाओं का राजनीतिक लाभ लेने अवसरवादी तत्व अफवाह, दुष्प्रचार और भ्रामक समाचार फैलाते हैं, उनकी पहचान कर कार्रवाई करना जरूरी है। सोशल मीडिया अफवाह फैलाने का सबसे बड़ा साधन बन गया है। सोशल मीडिया में भी एक सुदृढ़ आसूचना तंत्र विकसित करना जरूरी है। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि हत्या के प्रकरणों में 2011 की तुलना में आज की स्थिति में 32 प्रतिशत कमी आई है तथा हत्या के प्रयास में 2011 की तुलना में आज की स्थिति में 37 प्रतिशत कमी आई है।

सीएम बघेल ने नशीले पदार्थों की तस्करी पर प्रभावी रोकथाम हेतु सीमावर्ती राज्यों ओडिशा, मध्य प्रदेश एवं राजस्थान के अधिकारियों के साथ आईजी-एसपी को बैठक करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में अब तक चिटफंड कंपनियों के 774 डायरेक्टर और पदाधिकारी गिरफ्तार किए गए हैं। मुख्यमंत्री बघेल ने सभी एसपी-आईजी को चिट फंड कम्पनी के शेष फ़रार डायरेक्टर और पदाधिकारियों को तत्काल गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी एसपी को इसके लिए एक समय सीमा तय कर कार्रवाई करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कलेक्टर और एसपी आपसी समन्वय कर चिट फंड कंपनियों की अन्य सम्पत्तियों को चिंहांकित कर करें उन्हें तत्काल कुर्क करने की कार्रवाई करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि फील्ड स्तर के अधिकारी (आईजी/एसपी) हर सप्ताह आम जनता, जनप्रतिनिधियों और मीडिया कर्मियों से मुलाकात करें। जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए पहल करें, जरूरतमंद लोगों को शासन की विभिन्न योजनाओ का लाभ दिलाएं। पुलिस का जनता से जुड़ाव अत्यंत आवश्यक। उन्होंने कहा कि पुलिसिंग में कड़ाई और आचरण में मानवीय संवेदना झलकनी चाहिए।

महिलाओं और बच्चों का पुलिस पर भरोसा होना चाहिए। सरकार का फ़ोकस महिला सुरक्षा पर है। उन्होंने कहा कि ढाई वर्षों से एक ही स्थान पर पदस्थ पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों की सूची तैयार की जाए और उनका तबादला अन्य स्थानों पर किया जाए। आम जनता जिन पुलिस कर्मचारियों से नाराज़ है, उनका चिन्हांकन कर आईजी उनका तबादला करें। फ़ील्ड के अधिकारी शाम को फ़ील्ड में निकलें, इससे जनता का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा। श्री बघेल ने कहा कि शहरों में ट्रैफ़िक सुचारु रूप से व्यवस्थित हो, इस बात का ध्यान रखें। सड़क हादसों की समीक्षा कर उसमें कमी लाने का प्रयास गंभीरता से करें। उन्होंने आदिवासियों के विरुद्ध दर्ज प्रकरण की वापसी की कार्यवाही को त्वरित गति से पूर्ण करने के निर्देश दिए।

View More...
Previous123456789...621622Next