Sports

Previous123456789...2526Next

भारत के महान खिलाड़ियों में से एक महान खिलाड़ी की कमीं : छत्तीसगढ़ सिख समाज

Date : 20-Jun-2021

रायपुर। छत्तीसगढ़ सिख समाज के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत के गोल्ड मेडलिस्ट विश्व विख्यात एथलीट्स फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह के निधन पर अफसोस करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की है। छत्तीसगढ़ सिख समाज के प्रदेश अध्यक्ष ने इसे भारत के महान खिलाड़ियों में से एक महान खिलाड़ी की कमीं बताया। छत्तीसगढ़ शिक्षा मार्च के प्रदेश अध्यक्ष के अनुसार यह राष्ट्र के साथ-साथ सिख समाज की बहुत बड़ी क्षति है। मिल्खा सिंह देश की विरासत के साथ-साथ समाज की विरासत भी थे।

उल्लेखनीय है कि भारत के उड़न सिख यानी फ्लाइंग सिख के नाम से विख्यात महान धावक मिल्खा सिंह का एक महीने तक कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद शुक्रवार देर रात 11:30 बजे चंडीगढ़ में निधन हो गया। इससे पहले रविवार को उनकी 85 वर्षीया पत्नी और भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान निर्मल कौर ने भी कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया था।

परिवार के अनुसार कोरोना वायरस से संक्रमित होने के करीब एक महीने बाद 91 वर्षीय इस महान धावक का निधन हो गया। 1958 के राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन और 1960 के ओलिंपियन ने चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में अंतिम सांस ली। मिल्खा 20 मई को कोरोना वायरस की चपेट में आए थे। उनके पारिवारिक रसोइए को कोरोना हो गया था, जिसके बाद मिल्खा और उनकी पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह कोरोना पॉजिटिव हो गए थे।

इसके बाद उन्हें 24 मई को उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्हें 30 मई को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। इसके बाद 03 जून को ऑक्सीजन स्तर में गिरावट के बाद उनहें पीजीआईएमईआर के नेहरू हॉस्पिटल एक्सटेंशन में भर्ती करवाया गया। गुरुवार को उनकी कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। उनकी हालत शुक्रवार शाम को ज्यादा खराब हो गई थी और बुखार के साथ आक्सीजन भी कम हो गई थी। हालांकि, गुरुवार की शाम से पहले उनकी हालत स्थिर हो गई थी। उनके परिवार में उनके बेटे गोल्फर जीव मिल्खा सिंह और तीन बेटियां हैं।

एशियाई खेलों के चार बार स्वर्ण पदक विजेता
चार बार के एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता मिल्खा ने 1958 राष्ट्रमंडल खेलों में भी पीला तमगा हासिल किया था। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हालांकि 1960 के रोम ओलंपिक में था जिसमें वह 400 मीटर फाइनल में चौथे स्थान पर रहे थे। उन्होंने 1956 और 1964 ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया। उन्हें 1959 में पद्मश्री से नवाजा गया था ।

पद्मश्री पिता-पुत्र की पहली जोड़ी
जीव मिल्खा सिंह को पद्मश्री सम्मान से नवाजा जा चुका है। ऐसे में मिल्खा सिंह और उनके बेटे जीव मिल्खा सिंह देश के ऐसे इकलौते पिता-पुत्र की जोड़ी है, जिन्हें खेल उपलब्धियों के लिए पद्मश्री मिला है। छत्तीसगढ़ सिख समाज उन्हें हमेशा याद रखेंगा।

View More...

देश के महान धावक मिल्खा सिंह कोरोना से निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

Date : 19-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद शुक्रवार देर रात 11ः30 बजे चंडीगढ़ में देश के महान धावक मिल्खा सिंह ने हम सभी को अलविदा कह दिया है। भले ही फ्लाइंग सिख हम सभी के बीच में अब नहीं रहे लेकिन उनके विचार आज भी युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। पद्मश्री सम्मानित मिल्खा सिंह के जाने का गम देश के हर नौजवान, राजनेता व सभी को है। जब से ‘उड़न सिख’ कि निधन की खबर सुर्खियों में आई है तब से ही सोशल मीडिया पर हर तरह के लोग अपनी प्रतिक्रिया जाहिर कर रहे हैं।

इस शोक को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी ट्विटर के माध्यम से शोक व्यक्त करते हुए कहा कि-
‘‘मिल्खा सिंह के निधन से हमने एक महान खिलाड़ी को खो दिया, जिनका असंख्य भारतीयों के हृदय में विशेष स्थान था। अपने प्रेरक व्यक्तित्व से वे लाखों के चहेते थे। मैं उनके निधन से आहत हूॅं’’। पीएम ने आगे लिखते हुए कहा कि ‘‘मैंने कुछ दिन पहले ही मिल्खा सिंह से बात की थी। मुझे नहीं पता था कि यह हमारी आखिरी बात होगी। उनके परिवार और दुनिया भर में उनके प्रशंसकों को मेरी संवेदनाएं’’।

मिल्खा सिंह के निधन से बाॅलीवुड में भी कई सितारे अपना शोक जाहिर कर रहे हैं ऐसे ही खिलाड़ियों के खिलाड़ी कहे जाने वाले अभिनेता अक्षय कुमार ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि ‘‘मिल्खा सिंह के निधन के बारे में सुनकर बेहद दुखी हूॅं। ऐक ऐसा किरदार जिसे मैंने अभी तक परदे पर नहीं निभाया और जिसका पछतावा मुझे हमेशा रहेगा! शायद आपके पास अब स्वर्ग में सुनहरी दौड़ है। ओम शांति, सर’’।

भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े-बड़े राजनेताओं ने भी मिल्खा सिंह के जाने का दुख व्यक्त किया है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजय वर्गीय ने भी अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से दुख जाहिर करते हुए लिखा है कि ‘‘ विनम्र श्रध्दांलि!!! ‘पद्मश्री’ से सम्मानित ‘फ्लाइंग सिख’ मिल्खा सिंह का खेल जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। ईशवर दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान व परिजनों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

देश की आम जनता व युवाओं के लिए आज भी प्ररेणा स्त्रोत रहे मिल्खा सिंह के जाने का दुख सभी को है। हर व्यक्ति अपने-अपने तरीके से यह दुख बंया कर रहा है। ऐसे ही ट्वीटर पर एक शख्स ने कहा कि ‘‘सर आपसे मिलना संभव नहीं हो पाया। आप हमेशा ही मेरे विचारों में रहेगें’’। दूसरा यूजर लिखता है कि ‘‘आपकी कमी शायद अब कोई पूरी नहीं कर पाएगा’’। ऐसे ही ट्वीटर पर मिल्खा सिंह के निधन पर ट्रेंड चलते हुए लोग अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

View More...

दो साल बाद टीम इंडिया और केन विलियमसन की कप्तानी में न्यूजीलैंड ने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में बनाई जगह

Date : 18-Jun-2021

नईदिल्ली (एजेंसी)।  करीब दो साल का लंबा सफर करके वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप अब अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच गया है। दो साल बाद विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया और केन विलियमसन की कप्तानी में न्यूजीलैंड ने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई।

अब साउथैम्पटन के एजिस बाउल मैदान पर आज से टेस्ट इतिहास का सबसे बड़ा मुकाबला खेला जाएगा। क्रिकेट का यह अल्टीमेट टेस्ट वर्ल्ड नबर 1 टेस्ट टीम न्यूजीलैंड और वर्ल्ड नंबर 2 भारतीय टीम के बीच। शुरुआत में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल की मेजबानी के लिए लिए लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान को चुना गया था लेकिन कोरोना के बाद बदले हालात में इस ऐतिहासिक मुकाबले की मेजबानी एजिस बाउल को दे दी गई।

आपकों बता दें कि भारत को फाइनल मैच से पहले यहां मैच अभ्यास का भी अवसर नहीं मिला। यह भी एक वजह है कि टीम इंडिया ने प्लेइंग 11 में अपने सभी अनुभवी खिलाड़ियों को ही मौका दिया है। न्यूजीलैंड हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ हाल ही में दो टेस्ट मैच खेलकर प्रैक्टिस के मामले में इंडिया से बेहतर स्थिति में नज़र आती है।

भारत ने डब्ल्यूटीसी पीरियड में न्यूजीलैंड के साथ पिछले साल की शुरूआत में टेस्ट सीरीज खेली थी जहां उसे 0-2 से पराजय का सामना करना पड़ा था। उस सीरीज में कीवी गेंदबाजों ने भारतीय बल्लेबाजी क्रम को बिखेर दिया था।

न्यूजीलैंड के लिए मददगार साबित हो सकती है पिच

डब्ल्यूटीसी फाइनल को देखते हुए इस बारे में चर्चा चली थी कि न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज किस तरह भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकते हैं। लेकिन गावस्कर और पनेसर जैसे दिग्गज खिलाड़ियों का मानना है कि साउथैम्पटन में फिलहाल जो गर्मी पड़ रही है वह भारत के स्टार स्पिनर्स अश्विन और जडेजा को पिच से मदद दिला सकती है।

लेकिन न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों को स्विंग के लिए जाना जाता है और ड्यूक बॉल से उनका यह काम आसान भी हो जाता है। भारत के दिग्गज बल्लेबाज रोहित शर्मा और विराट कोहली को अक्सर न्यूजीलैंड के स्विंग गेंदबाजों के सामने परेशान होते देखा गया है। पिच क्यूरेटर साइमन ली ने कहा था कि वह चाहते हैं कि इस पिच पर पेस और बाउंस रहे।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच अबतक 59 टेस्ट मुकाबले खेले गए हैं जिसमें भारत ने 21 जीते हैं और उसे 12 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि, भारत ने कीवी टीम के खिलाफ 16 मुकाबले घर में जीते हैं।

View More...

सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने दूसरी बार फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट में पुरुष सिंगल्स का जीता खिताब

Date : 15-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने दूसरी बार फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट में पुरुष सिंगल्स का खिताब जीत लिया है। वर्ष के दूसरे ग्रेंड स्लेम फाइनल में कल जोकोविच ने दुनिया के नंबर पांच खिलाड़ी यूनान के स्टीफानोस सितासिपास को संघर्षपूर्ण मुकाबले में 6-7, 2-6, 6-3, 6-2, 6-4 से हराया। जोकोविच का यह 19वां ग्रेंड स्लेम खिताब है।

वह रोजर फेडरर और राफेल नडाल के 20 ग्रेंड स्लेम खिताबों से एक खिताब पीछे हैं। जोकोविच ओपन युग के ऐसे पहले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने चारों ग्रेंड स्लेम खिताब कम से कम दो बार जीते हैं। सेमीफाइनल में जोकोविच ने स्पेन के राफेल नडाल का पिछले चार वर्षों से चला आ रहा दबदबा समाप्त करते हुए छठी बार फ्रेंच ओपन के फाइनल में प्रवेश किया था।

सितसिपास ने जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव को हरा कर खिताबी मुकाबले में जगह बनाई थी। सितसिपास किसी ग्रेंड स्लेम फाइनल में पहुंचने वाले पहले ग्रीक खिलाड़ी बन गए हैं।

महिला सिंगल्स का खिताब जीतने वाली चेकगणराज्य की बारबोरा क्रायसिकोवो ने महिला डबल्स का खिताब भी जीत लिया है। फाइनल में कल बारबोरा और चेकगणराज्य की ही कैटरीना सिनियाकोवा की जोड़ी ने इगा स्विएटेक और बेथानी माटेक सेंड्ज की जोड़ी को 6-4, 6-2 से हराया।

फ्रांस की मेरी पियर्स के बाद क्रायसिकोवा ऐसी महिला टेनिस खिलाड़ी बन गई हैं, जिन्होंने फ्रेंच ओपन में सिंगल्स और डबल्स दोनों खिताब जीते हैं। मेरी पियर्स ने वर्ष 2000 में यह उपलब्धि हासिल की थी। गैर वरीयता प्राप्त क्रायसिकोवा ने सिंगल्स फाइनल में रूस की अनास्तासिया पावल्यूचेनकोवा को हराकर पहली बार ग्रेंड स्लेम खिताब जीता था।

View More...

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में पहले गोल से नीदरलैंड ने यूरोपीय चैंपियनशिप के रोमांचक मैच में उक्रेन को 3-2 से हराया

Date : 14-Jun-2021

स्पोर्ट डेस्क (एजेंसी)। डेंजेल डमफ्राइज के अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में पहले गोल से नीदरलैंड ने यूरोपीय चैंपियनशिप के रोमांचक मैच में उक्रेन को 3—2 से हराया। पहले हॉफ में गोल करने के दो मौके गंवाने के बाद डमफ्राइज ने दूसरे हाफ में दो गोल करने में मदद की और फिर 85वें मिनट में विजयी गोल दागा।

डमफ्राइज ने कहा, ''मुझे विश्वास था कि मौका आएगा और तब आपको सही जगह पर होना होगा। यह मेरा सबसे अच्छा मैच नहीं था लेकिन यह सबसे सुंदर मैच था।'' नीदरलैंड के कार्यवाहक कप्तान जियोर्जिनियो विजनालदम ने 52वें मिनट में टीम को बढ़त दिलायी जो दूसरे हाफ के पांच गोल में से पहला गोल था। वॉउट वेगहार्स्ट ने 59वें मिनट में स्कोर 2—0 कर दिया।

लेकिन इसके बाद नीदरलैंड को पांच मिनट के अंदर रक्षापंक्ति में दो गलतियों का खामियाजा भुगतना पड़ा। उक्रेन के कप्तान आंद्रे यार्मोलेंको ने 75वें मिनट में उक्रेन की तरफ से पहला गोल दागा जबकि इसके पांच मिनट बाद रोमन यारेमचुक ने बराबरी का गोल दाग दिया।

View More...

पूर्व कप्तान धोनी क्रिकेट से सन्यास के बाद भी करते है करोड़ों की कमाई, जानिए कितनी है संपत्ति

Date : 13-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी) । भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) किसी परिचय के मोहताज नहीं है. उन्होंने क्रिकेट से काफी दौलत और शौहरत कमाई है. धोनी की कुल आमदनी 111 मिलियन डॉलर है. लेकिन बेहद कम लोग जानते होंगे की धोनी के कई और कारोबार भी हैं, जिनसे वो करोड़ों की कमाई करते हैं आइए जानते हैं कि क्रिकेट के अलावा उनके पास और कहां से कमाई आती है।

जिम के मालिक हैं धोनी

स्पोर्ट्सफिट वर्ल्ड प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी के मालिक है धोनी (MS Dhoni). इस कंपनी ने पूरे देश में 200 से ज्यादा जिम हैं. भारत के पूर्व कप्तान धोनी (MS Dhoni) की ब्रांड एंडॉर्समेंट्स में भी भारी मांग रही है. ऐसे में इस खिलाड़ी को एंडॉर्समेंट्स से मोटी रकम मिलती है. इन ब्रांड्स में से मास्‍टरकार्ड, नेटमेड्स, कार्स 24, इंडियन टेरेन, रेडबस, पेनेराई, अशोक लेलैंड, पावरेड, स्निकर्स, ड्रीम11, इंडिगो पेंट्स इत्‍याद‍ि शामिल हैं।

धोनी का होटल

इन सबके अलाना धोनी होटल के कारोबार से भी अच्छी खासी कमाई करते हैं. झारखंड में उनका एक पांच सितारा होटल है, जिसका नाम ‘होटल माही रेजिडेंसी’ है. यह धोनी का एकमात्र होटल है और इसकी कोई और ब्रांच नहीं है।

फुलबॉल और हॉकी टीम के मालिक हैं धोनी

धोनी (MS Dhoni) का कभी फुटबाल में गोलकीपर बनने का सपना था. लेकिन वो क्रिकेट की दुनिया के चैंपियन बन गए. अब धोनी इंडियन सुपरलीग टीम ‘Chennaiyin FC’ के मालिक हैं. इतना ही नहीं वो एक हॉकी टीम (रांची रेज) के भी मालिक हैं. दुनिया जानती है कि धोनी को गाड़ियों और बाइक्स का फाफी शौक है. ऐसे में उन्होंने इसमें भी अपना बिजनेस बना लिया है. धोनी सुपरस्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियनशिप में ‘माही रेसिंग टीम इंडिया’ के मालिक हैं. वो इस टीम को एक्टर अक्कीनेनी नागार्जुन के साथ पार्टनरशिप में मालिक हैं।

View More...

एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता डिंको सिंह का कैंसर से निधन

Date : 10-Jun-2021

स्पोर्ट डेस्क (एजेंसी)। एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता और भारतीय मुक्केबाजी को नयी दिशा देने वाले डिंको सिंह का कैंसर से लंबे समय तक जूझने के बाद गुरुवार को निधन हो गया। वह 42 साल के थे और 2017 से इस बीमारी से जूझ रहे थे। उनके परिवार में पत्नी बाबइ नगानगोम तथा एक पुत्र और पुत्री है।

यह बैंथमवेट (54 किग्रा भार वर्ग) मुक्केबाज कैंसर से पीड़ित होने के अलावा पिछले साल कोविड-19 से भी संक्रमित हो गए थे। वह पीलिया से भी पीड़ित रहे। ओलंपिक की तैयारियों में लगे मुक्केबाज विकास कृष्णन ने कहा, हमने एक दिग्गज खो दिया। खेल मंत्री कीरेन रीजीजू ने ट्वीट किया, मैं डिंको सिंह के निधन से बहुत दुखी हूं। वह भारत के सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाजों में से एक थे। डिंको के 1998 बैकाक एशियाई खेलों में जीते गये स्वर्ण पदक ने भारत में मुक्केबाजी क्रांति को जन्म दिया। मैं शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

मणिपुर के इस सुपरस्टार ने 10 वर्ष की उम्र में अपना पहला राष्ट्रीय खिताब (सब जूनियर) जीता था। वह भारतीय मुक्केबाजी के पहले स्टार मुक्केबाज थे जिनके एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक से छह बार की विश्व चैंपियन एम सी मैरीकॉम सहित कई इस खेल से जुड़ने के लिये प्रेरित हुए थे। मैरीकॉम ने पीटीआई से कहा, वह रॉकस्टार थे, एक दिग्गज थे, एक योद्धा थे। मुझे याद है कि मैं मणिपुर में उनका मुकाबला देखने के लिये कतार में खड़ी रहती थी। उन्होंने मुझे प्रेरित किया। वह मेरे नायक थे। यह बहुत बड़ी क्षति है। वह बहुत जल्दी चले गये।

View More...

इटली में मोटोजीपी बाइक रेस के दौरान दुर्घटना का शिकार हुए 19 साल के जेसन, अस्पताल में मौत, सोशल मीडिया पर दी जानकारी

Date : 31-May-2021

मिलान (एजेंसी)। इटली में मोटोजीपी बाइक रेस के दौरान एक 19 साल का बाइक रेसर जेसन डुपासक्वियर दुर्घटना का शिकार हो गया और अस्पताल में उसकी मौत हो गई। मोटोजीपी रेस प्रतियोगिता के आयोजकों ने रविवार को कहा कि स्विस मोटो 3 राइडर जेसन डुपासक्वियर की शनिवार (28 मई) को मुगेलो सर्किट में इटैलियन ग्रैंड प्रीक्स के क्वालीफाइंग सेशन के दौरान एक दुर्घटना के बाद मृत्यु हो गई।

जानकारी के अनुसार दुर्घटना के बाद डुपासक्वियर को एयरलिफ्ट कर फ्लोरेंस के एक अस्पताल में ले जाया गया था। एयरलिफ्ट किए जाने से पहले लगभग 30 मिनट के लिए ट्रैक पर उसका इलाज भी किया गया, लेकिन वह बच न सका। डुपासक्वियर अपनी बाइक से गिरते समय एक अन्य राइडर आयुमु सासाकी की बाइक से टकरा गए। इस घटना में आयुमु सासाकी और जेरेमी अल्कोबा भी मामूली रूप से चोटिल हुए। मोटोजीपी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से कहा, हमें बहुत दुख के साथ यह सूचित करना पड़ रहा है कि मोटो 3 में इटैलियन ग्रैंड प्रीक्स के दो सत्रों को क्वालीफाई करने के बाद एक गंभीर दुर्घटना में राइडर जेसन डुपासक्वियर का निधन हो गया।`

00 सोशल मीडिया पर दी निधन की जानकारी
इसके अलावा मोटो जीपी के ट्विटर हैंडल से भी इस घटना की जानकारी दी गई। मोटो जी पी ने लिखा, `जेसन डुपासक्वियर की मौत की खबर देते हुए हमें गहरा दुख हो रहा है। पूरे मोटोजीपी परिवार की ओर से हम डुपासक्वियर की टीम, उनके परिवार और प्रियजनों को अपना प्यार भेज रहे हैं। आप बहुत याद आएंगे, जेसन। आपकी आत्मा को शांति मिले।`

00 अब तक 270 मौतें दर्ज
बताते चलें कि मोटो जीपी इवेंट में अब तक 270 मौतें दर्ज की गई हैं। इधर, जेसन की मौत पर तीन बार के मोटो जीपी विश्व चैंपियन जॉर्ज लोरेंजो ने ट्विटर पर उनके प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने लिखा, `जेसन डुपासक्वियर के परिवार, दोस्तों और टीम के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। राइड इन पीस जेसन।`

View More...

यूएई में खेली जाएंगी अब बचे हुए आईपीएल मैच

Date : 29-May-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। बीसीसीआई ने शनिवार को हुई स्पेशल जनरल मीटिंग (एसजीएम) में आईपीएल 2021 के बचे हुए मैचों को यूएई में कराने के फैसले पर मुहर लगा दी है। बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने इस बात की जानकारी दी है। गौरतलब है कि बायो बबल में कई खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद 4 मई को बोर्ड ने इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन को अनिश्चितकाल समय के लिए स्थगित कर दिया था।

View More...

कोरोना की मदद के लिए बीसीसीआई ने बढ़ाया हाथ, 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स करेगा दान

Date : 25-May-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में लगातार कोरोना के नए नए केस सामने आ रहे हैं। हालांकि अब रोजाना आने वाले केसों की संख्या दो लाख के नीचे आ गई है, लेकिन इसके बाद भी लगातार लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। इस बीच लगातार लोग मदद के लिए भी आगे आ रहे हैं। देश में इस वक्त क्रिकेट बंद है।

आईपीएल चल रहा था, लेकिन इसे कोरोना वायरस के कारण ही सस्पेंड कर दिया गया था। अब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने बताया है कि वह कोरोना महामारी से लड़ने में सहायता करेगी, जिसके तहत बोर्ड 10 लीटर के 2000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स दान किया जाएगा। देश इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर से प्रभावित है जिसके कारण ऑक्सीजन अन्य मेडिकल उपरकरणों की मांग तेज हो गई है। अगले कुछ महीने भारतीय क्रिकेट बोर्ड देश भर में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स बांटेगा, ताकि जरूतमंदों को इसे उपलब्ध कराया जा सके।

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि बोर्ड इस बारे में अवगत है कि मेडिकल स्वास्थ्यकर्मी इस महामारी से जंग में कितनी अहम भूमिका निभा रहे हैं। ये लोग सच्चे फ्रंटलाइन वर्कर हैं लोगों को बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। बोर्ड ने हमेशा स्वास्थ्य सुरक्षा को सबसे अधिक प्राथमिकता दी है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स से लोगों को तुरंत राहत मिलेगी मरीज को स्वस्थ होने में मदद मिलेगी।
बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने कहा है कि इस वायरस के खिलाफ हमें कंधा से कंधा मिलाकर चलना है।

बीसीसीआई को पता है कि इस वक्त मेडिकल उपकरणों की कितनी जरूरत है। हम उम्मीद करते हैं इससे देशभर में इसकी मांग पूरी हो सकेगी। हम सबने इस महामारी के कारण काफी कुछ सहा है लेकिन वैक्सीन के होने से कुछ राहत मिली है। मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि वह वैक्सीन लें। बीसीसीआई दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है 2018-18 की बैलेंस शीट के अनुसार, इसकी कुल आय 14,489.80 करोड़ रुपये थी।

View More...
Previous123456789...2526Next