Chhattisgarh

राजधानी रायपुर में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने पर उक्त क्षेत्र को किया गया कंटेनमेंट जोन घोषित

Date : 25-Sep-2020

रायपुर। विश्वभर में कोरोना की रफ़्तार तेजी बढ़ रही, वही राजधानी में भी लगातार संक्रमण बढ़ रहा है बीती रात 621 पॉजिटिव मिले। जिन जगहों से कोरोना मरीज मिले हैं, उसकी सूची निम्नानुसार है -

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, लाखे नगर, दलदल सिवनी (6 लोग), एयरपोर्ट कॉलोनी, देवेंद्र नगर (14 लोग), शिवम विहार, शंकर नगर (10 लोग), अवंति विहार (8 लोग), स्टील सिटी गायत्री नगर, पंडरी (7 लोग), टैगोर नगर (3 लोग), बिरगांव, कंकाली हॉस्पिटल-ब्रम्हणपारा, श्री नारायणा हॉस्पिटल-देवेंद्र नगर (2), हनुमान नगर-कालीबाड़ी, कृष्णा नगर-डंगनिया, वल्लभ नगर, पार्थिव नगर-हीरापुर, बैरनबाजार 2, ब्रम्हपुरी, गोबरा-राजिम, मोवा-सड्डू (9 लोग), सेल्स टैक्स कॉलोनी-कचना, रविशंकर, संतोषी नगर (5 लोग), सुंदर नगर (5 लोग), शांति नगर, कोटा (5 लोग), कबीर नगर 3, आदर्श नगर (5 लोग), तेलीबांधा (6 लोग), अमलीडीह (8 लोग), चंगोराभाठा (8 लोग), टाटीबंध (10 लोग), माना कैंप, पचपेड़ीनाका (5 लोग), आदिवासी कॉलोनी, डीडीयू नगर (5 लोग), गीतांजली नगर, आमा सिवनी-विधानसभा रोड, अविनाश आशियाना कबीर नगर, फूल चौक-नवीन मार्केट, बंधवापारा (2 लोग), सरोना 2, समता कॉलोनी (4 लोग), सीआरपीएफ-आरंग, नुरानी चौक-राजातालाब (4 लोग), गायत्री नगर, सुभाष नगर-कुकरीपारा, टिकरापारा (5 लोग), रावतपुरा, एश्वर्या रेसीडेंसी (5 लोग), शीतला मंदिर, सीजी नगर, बसंत विहार, शिव नगर (4 लोग), राधा-स्वामी नगर-भाठागांव, दोंदेखुर्द (8 लोग), हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी (4 लोग), महामाया चौक-चरौदा, बजरंग पारा-लालपुर, पियूष कॉलोनी (8 लोग), सीआरपीएफ-चंदखुरी (20 लोग), वीआईपी रोड, विजय नगर, डब्ल्यूआरएस कॉलोनी 2, एचबी-कुरूद, आयुर्वेदिक कॉलेज-कैंपस, गोंदवारा उरकुरा 2, जागृति चौक, सुयश हॉस्पिटल, फाफाडीह, बूढ़ापारा, डंगनिया, गांधी चौक-राजातालाब, पंचशील नगर-सिविल लाइन, वी केयर हॉस्पिटल, खरोरा, भावना नगर, स्टेशन रोड, पुलिस लाइन (3 लोग), बंजारी, सोनडोंगरी, आमासिवनी, चौबे कॉलोनी (4 लोग), सिविल लाइन, माना कैंप, लोधीपारा, विपरौद होटल ग्रीन इंपीरिया, इंदिरा नगर, स्टेशन रोड-लोधीपारा, महावीर नगर (4 लोग), विधानसभा, श्याम नगर 2, बोरियाखुर्द 2, शिवानंद नगर (4 लोग), भाठागांव (5 लोग), संतोषी पारा, ताज नगर-संतोषी नगर, चौरसिया कॉलोनी, फूल चौक, रामेश्वर नगर, अग्रवाल चौक, महादेवघाट, संयासी पारा-खमतराई, चूना भट्ठी, गोकुल अपार्टमेंट, पचपेड़ी नाका, खमतराई, मोवा, माना बस्ती, बोरियाकला, मेट्रो ग्रीन-सड्डू, शक्ति नगर, मदरसा रोड, काशीराम नगर, विशाल नगर, राजीव नगर, सत्यम विहार, तिल्दा (10 लोग), अवधपुरी, पाटीदार भवन, नवीन मार्केट, नया रायपुर, डीडी नगर (3 लोग), पंचशील नगर, जेई रोड-मोहबाबाजार (3 लोग), दीनदयाल नगर, खरसिया, आमापारा, न्यू राजेंद्र नगर (5 लोग), आमानाका, रावणभाठा, अभनपुर, मंदिरहसौद, दलदल सिवनी, उदय सोसायटी, डीडीयू नगर, दीनदयाल नगर, मारूति रेसीडेंसी, मुर्रा भट्टी, खरोरा (3 लोग), बहेसरा (9 लोग), पुरानी बस्ती नेवरा-तिल्दा, अदानी पॉवर, गीता नगर, प्रेम नगर, पीजी बॉयज हॉस्टल (3 लोग), धरसींवा (7 लोग), अविनाश कैपिटल होम, दीनदयाल कॉलोनी-चरोदा, कैलाश नगर, बजरंग चौक-उरला, वीर सावरकर नगर, रोहणीपुरम (6 लोग), आरंग (7 लोग), लक्ष्मण नगर, कोटेश्वर नगर, कुकुरबेड़ा, बीएसयूपी कॉलोनी, विकास नगर, अटल आवास (8 लोग), परसदा (5 लोग), गोबरा नवापारा (15 लोग), अनमोल नगर-मोवा, भनपुरी, भगत सिंह चौक, गोगांव, गुरूद्वारा, कचना (4 लोग), लाभांडी, भनपुरी, राम नगर, प्रोफेसर कॉलोनी, वीवाय हॉस्पिटल, जैनम विहार, वॉलफोर्ड सिटी, संकल्प हॉस्पिटल, शैलेंद्र नगर।

View More...

ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव भोपाल में संयुक्त प्रेस वार्ता करेंगे कल

Date : 25-Sep-2020

रायपुर। छत्तीसगढ़ के ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस.सिंहदेव कल भोपाल में संयुक्त प्रेस वार्ता करेंगे । विगत दिनों राज्य सभा में पारित हुए कृषि बिल की खामियों को उजागर करने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने इसे कृषक विरोधी बताया एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए इस बिल को वापिस लेने की बात कही। कांग्रेस नेताओं ने मोदी सरकार के इस बिल को कृषि-विरोधी ‘काले क़ानून’ पर सवाल उठाते हुए कहा कि किसानों के लिए मार्केट ख़त्म होने पर उन्हें MSP कैसे मिलेगा एवं इस कानून में MSP के लिए केंद्र सरकार क्या गारंटी निर्धारित करेगी।

छत्तीसगढ़ के ग्रामीण विकास मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य टी एस सिंहदेव ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसानों को पूँजीपतियों का ‘ग़ुलाम` बना रही हैं और देश अब इस बात को भलीभांति समझ चुका है एवं अब भाजपा को इस मार्ग पर सफल नहीं होने देगा। किसानों के हितों को ध्यान में रखकर टी एस सिंहदेव ने कहा कि किसान देश के अन्नदाता हैं, हमारी अर्थव्यवस्था की बुनियाद हैं। यह कृषि विधेयक उन लाखों किसानों का निरादर है जो दिन-रात अथक परिश्रम करते हैं इस विधेयक से केंद्र सरकार उनके अधिकारों का हनन कर रही है। भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार मेहनतकश किसानों की रोज़ी छीन कर अपने कुछ बड़े व्यापारी मित्रों का घर भरने पर आमदा है। किसानों पर यह अत्याचार हिंदुस्तान कभी नहीं भूलेगा।

View More...

नवरात्रि के दौरान प्रसिद्ध डोंगरगढ़ देवी मंदिर में नहीं लगेगा मेला, राज्य शासन ने लिया फैसला

Date : 25-Sep-2020

राजनांदगांव। राज्य में कोराना वायरस से बचाव के लिए नवरात्रि के दौरान प्रसिध्य डोंगरगढ़ देवी मंदिर में मेला नहीं लगाने का फैसला किया है। जिले के अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से नागरिकों की सुरक्षा के लिए राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में नवरात्रि पर्व पर होने वाले मेले सहित जिले में होने वाले सभी आयोजन स्थगित कर दिया गया है।

कोरोना छत्तीसगढ़ के हर जिलों में पैर पसार चुका है क्वारं नवरात्रि में लगने वाले मेले पर आज कलेक्ट्रेट में अफसरों के साथ जनप्रतिनिधियों और मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों की बैठक हुई। बैठक में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले पर चिंता जताते हुये क्वांर नवरात्रि में लगने वाला मेला नहीं लगेगा। साथ ही रोपवे भी बंद रहेगा। माँ बम्लेश्वरी मंदिर में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर भी प्रतिबंध रहेगा। केवल पंडित-पुजारियो एवं ट्रस्ट के पदाधिकारियों को हो मन्दिर में जाने की अनुमति है। मंदिर में केवल पूजा पाठ की इजाजत दी गई है गौरतलब है। कि राजनांदगांव जिले की तो यहां हर रोज कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं।

View More...

बिलासपुर के सिम्स में कोरोना पॉजिटिव दो महिलाओं ने दिया स्वस्थ बच्चे को जन्म

Date : 25-Sep-2020

बिलासपुर। सिम्स में कोरोना पॉजिटिव दो महिलाओं ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। अब तक यहां 9 कोरोना संक्रमित महिलाओं का सुरक्षित प्रसव कराया गया है। आज शहर के मंगला चैक निवासी 28 वर्षीय पॉजिटिव महिला की डिलीवरी कराई गयी। उन्हें प्रसव पीड़ा के साथ आज सिम्स में लाया गया। उन्हें हॉस्पिटल लाते ही तुरन्त ऑपरेशन किया गया। बच्चे के गले में दो नाल फंसी हुई थी। बच्चे की स्थिति नाजुक थी। नॉर्मल डिलीवरी संभव नहीं थी। बच्चे की स्थिति को देखते हुए सिम्स के डॉक्टरों ने ऑपेरशन कर महिला की सुरक्षित डिलीवरी आज 25 सितंबर को करवाई ।

इसी प्रकार तखतपुर ब्लॉक के ग्राम गनियारी में रहने वाली 26 वर्षीय पॉजिटिव गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा के साथ गंभीर हालत में 24 सितंबर को सिम्स लाया गया था। डॉक्टरों ने जांच किया तो मालूम चला कि उनकी भी नॉर्मल डिलीवरी संभव नहीं है,इस विपरीत परिस्थिति में भी सिम्स के काबिल डॉक्टरों ने सभी सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखते हुए गर्भवती महिला का ऑपरेशन कर उसी दिन दोपहर में सुरक्षित डिलीवरी करायी। डॉक्टर तस्नीम एवं डॉक्टर बिवेडकर की टीम द्वारा ऑपरेशन किया गया एवं डॉक्टर आरती पांडेय ने सुचारू व्यवस्था करवाई। दोनों महिला एवं बच्चे स्वस्थ हैं। बच्चे के जन्म पर परिवार के सदस्य बहुत खुश हैं और इसके लिए उन्होंने सिम्स प्रबंधन के प्रति आभार व्यक्त किया।

View More...

राजभवन ने ग्राम पंचायत मरवाही को नगर पंचायत में सम्मिलित करने पर जताई आपत्ति

Date : 25-Sep-2020

रायपुर। राजभवन ने नवगठित जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में ग्राम पंचायत मरवाही को नगर पंचायत में सम्मिलित करने पर आपत्ति उठाई है। इस संबंध में नगरीय प्रशासन विकास विभाग को पत्र जारी कर परीक्षण कराने के निर्देश देते हुए राजभवन सचिवालय को प्रतिवेदन देने को कहा गया है। साथ ही राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने इस विषय पर तत्काल संज्ञान लेते हुए आगामी कार्यवाही स्थगित करने के निर्देश दिए गए हैं।

गत दिनों छत्तीसगढ़ के राजपत्र में 18 अगस्त 2020 को नगर पंचायत मरवाही की गठन की अधिसूचना प्रकाशित की गई है। इस संबंध में कुछ नागरिकगणों नेे राजभवन को एक पत्र लिख मरवाही नगर पंचायत के गठन पर आपत्ति जताते हुए निराकरण के अभिलेख उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है। चूंकि नवगठित जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही पांचवी अनुसूची के अन्तर्गत आता है। इसलिए इस विषय पर राज्यपाल ने तत्काल संज्ञान लेते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

इस विषय पर जारी पत्र में उल्लेख किया गया है कि भारत के संविधान की भाग 9 क नगर पालिकाएं अनुच्छेद 243 यग(क) के अनुसार इस भग की कोई बात अनुच्छेद 244 के खण्ड(1) में निर्दिष्ट अनुसूचित क्षेत्रों में लागू नहीं होता। अतः नगर पालिका अधिनियम 1961 का प्रावधान इस कानून के तहत् अनुच्छेद 244(1) में निर्दिष्ट अनुसूचित क्षेत्रों में लागू नहीं होगा। उल्लेखनीय है कि राज्यपाल ने पूर्व में छत्तीसगढ़ में करीब 27 ग्राम पंचायतों को नगर पंचायत में परिवर्तन किये जाने पर आपत्ति जताई थी। साथ ही पत्र लिखकर शासन को कार्यवाही करने को कहा था।

View More...

नगर पंचायत गौरेला व नगर पंचायत पेन्ड्रा को नगर पालिका का दर्जा देने मुख्यमंत्री ने की घोषणा

Date : 25-Sep-2020

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के नवगठित जिले गौरला-पेण्ड्रा-मरवाही के नगर पंचायत गौरेला और नगर पंचायत पेण्ड्रा को नगर पालिका का दर्जा देने की घोषणा की है।

गौरतलब है कि प्रदेश के राजस्व मंत्री और गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने इन नगर पंचायतों के भ्रमण के दौरान वहां के नागरिकों की इस संबंध में भावनाओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया जिस पर मुख्यमंत्री ने जनभावनाओं को देखते हुए इन दोनों ही नगर पंचायतों को नगर पालिका का दर्जा देने की घोषणा की है।

View More...

एडीएम ने पूरी की तैयारी, फल-सब्जियों के अलावा अब सीजी-हाट में घर बैठे मिलेंगीं दवाई

Date : 25-Sep-2020

रायपुर। लॉक डाउन के समय में आम लोगों को घर बैठे फल-सब्जी की जरुरत को पूरा करने सीजी हाट एप की शुरुआत की गई थी। इस एप के जरिये लोग घर बैठे ही जरुरत के मुताबिक फल, सब्जी घर बैठे ही ऑनलाइन आर्डर कर सकते है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते विस्तार को देखते हुए रायपुर एडीएम व होम आइसोलेशन प्रभारी विनीत नंदनवार ने इस एप में एक और महत्वपूर्ण फीचर जोड़ने की पहल की है। कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन से चर्चा के बाद श्री नंदनवार ने इस एप में अब दवाओं की होम डिलीवरी की सुविधा भी जोड़ दी है। इसका फायदा होम आइसोलेटेड कोरोना संक्रमितों के अलावा बुजुर्गों को मिलेगा।

सीजी हाट के माध्यम से लोगों को 24 घंटे दवाओं की होम डिलिवरी मिल पाएगी। एडीएम विनीत नंदवार ने इसके लिए तैयारी लगभग पूरी कर ली है। दवा व्यापारियों से बैठक कर दवाओं की होम डिलिवरी के लिए राजी कर लिया है। इस ऐप के माध्यम से जिले के पांच सौ से ज्यादा व्यापारियों को जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे लोगों को घर पहुंच दवा, मास्क व छोटे उपकरण भी मिल पाएं। ऐप को चिप्स के माध्यम से बनवा लिया है, व इसे आम लोगों के लिए सरल बनाने का काम चल रहा है। जल्द ही सीजी हाट में ही दवा खरीदी का विंडो ओपन हो जाएगा। यह सुविधा उन लोगों के लिए भी काम आएगी, जिनके घरों में बुजुर्ग और बच्चे है। जिनके पास डॉक्टर का प्रिस्क्रिशन है और रेग्युलर दवाएं खरीदनी पड़ती है। इस सुविधा से उन्हें घर बैठे दवाएं मिल पाएंगी। वैसे तो होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना मरीजों को स्वास्थ्य विभाग से समय पर दवाएं दी जा रही है, लेकिन यह सुविधा आपातकाल के लिए दी जा रही है।

होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों के घर के बाहर एक झोला लटकाने की व्यवस्था करनी होगी। जिसमें दवा के बिल की बराबर की राशि डालनी होगी। होम डिलिवरी करने आए डिलिवरी बॉय पैसे झोले से ले लेगा और दवा डाल देगा। इस प्रक्रिया में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखना होगा।

View More...

बलौदाबाजार जिले में कृषि दवाई दुकानों को खोलने की मिली छूट, आदेश जारी

Date : 25-Sep-2020

बलौदाबाजार। जिले में विगत दो तीन दिनो से बारिश के चलते धान की फसलों में कीट लगने की संभावनाएं अधिक बढ़ गयी है। जिससे फसलों को और अधिक नुकसान हो सकता है। किसानों के अनुरोध पर आज कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने केवल कृषि दवाई दुकानों को सम्पूर्ण लॉकडाउन से छूट प्रदान किये है। यह दुकाने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सुबह 8 से 10 बजे तक खोले जा सकते है।

View More...

जिला दंतेवाड़ा में पूर्णतः लॉकडाउन घोषित, कलेक्टर ने किया आदेश जारी

Date : 25-Sep-2020

दंतेवाड़ा। जिला कलेक्टर ने कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा के संपूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। महामारी रोग अधिनियम के अंतर्गत दी गई शक्तियों का प्रयोग करते हुए सीमा क्षेत्र के अंतर्गत संक्रमण से बचाव एवं स्वास्थ्य गत आपातकालीन स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए 23 सितम्बर 2020 प्रातः 7 बजे से 2 अक्टूबर 2020 मध्य रात्रि 12 बजे तक लॉकडाउन घोषित किया है और विभिन्न गतिविधियों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई है।

आदेश के अनुसार दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा में प्रतिदिन लगातार कोरोनावायरस मरीज चिन्हित किए जा रहे हैं। कोरोनावायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए भारत सरकार, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी गाईडलाइन अनुसार कोरोनावायरस पाए जाने वाले क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। दंतेवाड़ा में कंटेनमेंट जोन बनाए जा चुके हैं जो अभी भी प्रभावशील है। दंतेवाड़ा क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोड़कर उक्त नगर पालिका की सभी सीमाओं को एददद्वारा सील किया जा रहा है। इस अवधि में केवल मेडिकल दुकानों को अपने निर्धारित समय में खुलने की अनुमति होगी। मरीज एवं मेडिकल दुकान संचालक दवाओं की होम डिलीवरी व्यवस्था को प्राथमिकता देगें। पेट्रोल पम्प संचालको द्वारा केवल शासकीय वाहनों एवं शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, मेडिकल इमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन/एम्बुलेंस तथा एल.पी.जी. परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहनों को ही पी.ओ.एल. प्रदान किया जायेगा अन्य सभी वाहनों के लिए पी.ओ.एल प्रदान करना पूर्णतः प्रतिबंधित होगा। दुग्ध पार्लर व वितरण की समयावधि प्रातः 6 बजे से प्रातः 8 बजे तक एवं संध्या 5 बजे से संध्या 6.30 तक ही होगी। केवल दुकान/पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध वितरण की अनुमति होगी।

पैट शॉप/एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने के लिए प्रातः 6 बजे से प्रातः 8 बजे तक एवं सायं 5 बजे से सायं 6.30 बजे तक शॉप खुली रहेंगीं। एलपीजी गैस सिलेण्डर की एजेंसिया केवल टेलिफोनिक या ऑनलाईन आर्डर लेंगे तथा ग्राहको को सिलेण्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध करायेंगे। औधोगिक संस्थानों एवं निर्माण ईकाईयों को अपने कैम्पस के भीतर मजदूरों को रखकर एवं अन्य आवश्यक व्यवस्था करते हुए उद्योगों के संचालन व निर्माण कार्यो की अनुमति होगी। इस अवधि के दौरान नगरीय निकाय बचेली किरन्दुल क्षेत्र के अंतर्गत संचालित समस्त शराब दुकाने बंद रहेंगी। सभी धार्मिक, सास्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। नगर पालिका बचेली एवं किरन्दुल क्षेत्र के समस्त शासकीय, अर्धशासकीय, अशासकीय कार्यालय बंद रहेंगे। सभी पदाधिकारी एवं कर्मी अपने घर से शासकीय कार्य का निष्पादन करेंगे। आवश्यकता पड़ने पर कार्यालय प्रमुख उन्हें कार्यालय में बुला सकते है। सभी प्रकार के सभा, जूलूस आयोजन आदि प्रतिबंदित रहेंगे।

होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड पॉजिटिव मरीजों को भोजन की समस्या उत्पन्न होने पर कोविड केयर सेंटर आवश्यकतानुसार भेजा जाएगा, आपात स्थिति में 07856-252412, 9302706669 नंबर में आवश्यकतानुसार संपर्क किया जा सकता हैै। कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए कार्य जैसे- कॉन्टेक्ट, टेªसिंग, ऐक्टिव सर्विलांस, होम आईसोलेशन, दवाई वितरण आदि पूर्वानुसार चलते रहेंगे। इन कार्य में संलग्न सभी शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति पूर्वानुसार अनिवार्य होगी। कोविड केयर सेन्टर से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के परिवहन में संलग्न वाहन पूर्वानुसार संचालित रहेंगे। अपरिहार्य परिस्थितयों में से अन्यत्र जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। आपात स्थिति में यात्रा के दौरान 4 पहिया वाहनों में ड्राईवर सहित अधिकतम 3 एवं 2 पहिया वाहन में केवल दो व्यक्तियों को यात्रा की अनुमति होगी। इस निर्देश का उल्लंघन किये जाने पर 15 दिवस के लिए वाहन जप्त करते हुए चालानी व अन्य कानूनी कार्यवाही की जावेगी।

नगर में आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोड़कर निगम क्षेत्र की सभी सीमाओं को एतद द्वारा सील किया जाता है। सिर्फ वाणिज्यिक कार्गो परिवहन की अनुमति ही इस प्रतिबंधित क्षेत्र में (रात में भी) होगी। नगर पालिका बचेली, किरंदुल, की सभी दुकानें, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, गोदाम, साप्ताहिक हाट-बाजार आदि अपनी सम्पूर्ण गतिविधियों को बंद रखेंगे।

नगर के अंतर्गत आने वाले फैक्ट्री, निर्माण एवं श्रम कार्य संचालित करने वाली इकाईयों को निम्न शर्तों के अधीन छूट रहेगी। यथासंभव श्रमिकों के रहने की व्यवस्था फैक्ट्री या इकाईयों के अंदर करनी होगी। आवश्यकता पडने पर कर्मचारियों के परिवहन की व्यवस्था फैक्ट्री या ईकाईयों को स्वयं करनी होगी। संक्रमण विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार, राज्य शासन तथा समय-समय पर अन्य संस्थानों द्वारा महामारी से सुरक्षा के लिए जारी समस्त निर्देशों का अक्षरशः पालन सुनिश्चित करना होगा। इन इकाईयों से धनात्मक मरीजों की पहचान होने पर ईलाज पर होने वाले समस्त व्ययों का वहन इन इकाईयों को ही करना होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के अंतर्गत स्थित फैक्ट्री, निर्माण एवं श्रम कार्य संचालित करने वाले संस्थान या इकाईयों को इस प्रतिबंध से छूट रहेगी। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णतः बंद रहेंगे। मिडिया कर्मी यथासंभव वर्कफ्राम होम द्वारा कार्य सम्पादित करेंगे अत्यावश्यक स्थिति में कार्य के लिए बाहर निकलने पर अपना आई-कार्ड साथ रखेंगे तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधि निर्देशों का कड़ाई से पालन करेंगे।

यह आदेश अनुविभागीय अधिकारी (रा0), उप पुलिस अधीक्षक, कोषालय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधिनस्त समस्त कार्यालय, तहसील, थाना, एवं चौकी पर लागू नहीं होंगे। इसके अतिरिक्त कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मी, बिजली, पेयजल आपूर्ति एवं नगर पालिका सेवायें, जिसमें सफाई, सिवरेज एवं कचरे का डिस्पोजल इत्यादि भी शामिल है, तथा अग्निशमन सेवायें के अधिकारी/कर्मचारी पर लागू नहीं होगा। इन शासकीय कार्यालयों में उपरोक्त अवधि में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित होगा।

आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, प्रतिष्ठान, भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 तथा अन्य सुसंगत विधि के तहत् दण्डनीय होंगे। इन वर्णित गतिविधियों में संशय उत्पन्न होने पर जिला दण्डाधिकारी का निर्णय अंतिम होगा। पूर्व में जारी समस्त आदेशों को अधिक्रमित करते हुए यह आदेश जारी किया गया है। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा।

View More...

राजधानी रायपुर सहित कई जिले लॉकडाउन, फिर भी होंगी परीक्षाएं, रविवि की परीक्षाएं 25 से

Date : 25-Sep-2020

रायपुर। छत्तीसगढ़ में सबसे बड़े विश्वविद्यालय की परीक्षाएं 25 सितम्बर से शुरु हो रही है, इसके लिए पहले ही रविवि ने समय सारिणी जारी कर दी है, लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि प्रदेश के कई जिले इस दौरान पूर्ण लॉकडाउन में है। वहीं यदि विवि के गाइडलाइन की बात करें तो परीक्षार्थियों को उत्तर-पुस्तिका स्वयं बाजार से खरीदकर परीक्षा के बाद नियत तिथि में परीक्षा केन्द्र में जमा कराना है। वहीं प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी परीक्षा फीस के नाम पर विवि ने परीक्षार्थियों से करोड़ों रुपए लिए हैं, इसमें विवि का मुख्य खर्च परीक्षाथिर्यों के लिए स्टेशनरी, परीक्षा हॉल की व्यवस्था, परीक्षा हॉल में पर्यवेक्षकों की नियुक्ति और उत्तर पुस्तिका जांच में लगने वाली शिक्षकों की ड्यूटी का खर्च शामिल है। ऐसे में यदि इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते परीक्षार्थियों से घर बैठे परीक्षा आयोजित कर रहा है तो परीक्षार्थियों से लिए गए परीक्षा फीस का विवि क्या उपयोग करेगा?

उल्लेखनीय है कि रविशंकर शुक्ल विवि ने 10 सितम्बर को स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की परीक्षाएं आयोजित करने तीन पालियों में समय-सारिणी जारी की, जारी समय सारिणी के अनुसार परीक्षा 25 सितम्बर से शुरू होंगी, जो 13 अक्टूबर तक चलेगी। इसके बाद विवि ने परीक्षार्थियोंं को घर से परीक्षा दिलाने की दूसरी गाइड लाइन जारी की, जिसमें परीक्षार्थियों को उत्तर पुस्तिका विवि की ओर से मुहैया कराई जा रही थी, लेकिन सीमित समय व परीक्षा केन्द्रों में विद्यार्थियों के उमड़ते सैलाब के चलते आनन-फानन में रविवि ने उत्तर पुस्तिका का प्रथम पृष्ठ जारी कर विद्यार्थियों को ही उत्तर पुस्तिका ए-4 साइज में बनाने की जिम्मेदारी दे दी। अब लॉकडाउन के पहले जिन परीक्षार्थियों ने उत्तर पुस्तिका की व्यवथ्सा कर ली वे तो ठीक हैं, पर जिन्होंने व्यवस्था नहीं कर पाई उनका अब क्या होगा।

विवि की विवरणिका के अनुसार यह प्रदेश के 143 कॉलेजों से सम्बद्ध व 28 स्थानों पर अध्ययन शालाओं का संचालन कर रहा है। इसके साथ देश के अन्य 7 राज्यों में भी अध्ययन केन्द्रों का संचालन कर रहा है, जिसमें महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, ओडिसा, झारखंड, पश्चिम बंगाल, और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह है। जहां स्नातक और स्नातकोत्तर सहित शोध के पाठ्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं।
यहां पर सबसे बड़ा सवाल यह भी है कि मध्य एशिया के सबसे बड़े विवि का गौरव प्राप्त रविशंकर शुक्ल विवि अपने करोड़ों छात्रों के भविष्य के प्रति कितना सजग है। यहां पर विवि प्रबंधन और राज्य के उच्च शिक्षा विभाग को चिंतन कर छात्र हित मेंं निर्णय लेने की आवश्यकता है।

View More...