Top News

प्रदेश में कोरोना संक्रमण से रोकथाम के प्रयासों में तेजी लाने राज्य आपदा मोचन निधि से 50 करोड़ की राशि स्वीकृत

Date : 12-Apr-2021

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण से रोकथाम के प्रयासों में और तेजी लाने के लिए राज्य आपदा मोचन निधि से 50 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत की है। यह राशि पूर्व में दी गई 192.37 करोड़ रुपये के अतिरिक्त है।

श्री बघेल ने वर्ष 2021- 22 के लिए प्रावधानित राशि में से उपरोक्त पचास करोड़ रुपये की राशि तत्काल स्वीकृत कर स्वास्थ्य विभाग को देने का निर्णय लेते हुये यह निर्देश दिया है कि स्वास्थ्य विभाग कोविड संक्रमण की रोकथाम हेतु नमूनों के संकलन, स्क्रीनिंग, नवीन प्रयोग शालाओं की स्थापना, कोविड अस्पतालों में आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने के लिये किया जाएगा ।

उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व विभिन्न मदों से विगत एक वर्ष में 853 करोड़ रुपये से अधिक राशि का आबंटन श्री बघेल के निर्देश पर कोविड नियंत्रण से संबंधित विभिन्न कार्यो के लिए किया जा चुका है। इसमें जांच एवं उपचार के साथ ही विभिन्न स्तरों पर अधोसंरचना का विकास शामिल हैं। श्री बघेल ने समस्त जिला कलेक्टरों और विभिन्न विभागों को निर्देश दिए हैं कि आर्थिक तथा विभिन्न संसाधनों की किसी भी हालत में कोई कमी न होने दी जाए। मुख्य सचिव तथा अतिरिक्त मुख्य सचिव से निरंतर मॉनीटरिंग के लिए कहा गया है।

View More...

देश में टीका उत्सव की शुरुआत, लोग ले रहे बढ़.चढ़ कर हिस्सा, 27 लाख से ज्यादा लोगों लगवाई कोरोना वैक्सीन

Date : 12-Apr-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। इस बीच 11 अप्रैल यानी ज्योतिबा फुले जयंती से देश में `टीका उत्सव` की शुरुआत की गई है। पहले ही दिन देशवासियों ने कोविड-19 की वैक्सीन लगवाने के लिए बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि पहले दिन 27 लाख से ज्यादा लोगों ने वैक्सीन की डोज ली। इसके साथ ही देश में कुल 10,43,65,035 लोग कोरोना वैक्सीन की डोज ले चुके हैं। देश में 11 से 14 अप्रैल के बीच चल रहे टीकाकरण अभियान को `टीका उत्सव` नाम दिया गया है।

मंत्रालय ने का कहना है कि देशभर में टीका उत्सव अभियान के पहले दिन कई कार्यस्थल टीकाकरण केंद्रों का संचालन हुआ। देश में औसतन 45,000 टीकाकरण केंद्रों का संचालन हो रहा है। लेकिन रविवार को 63,800 केंद्रों का संचालन हुआ।

इसके अलावा मत्रालय ने कहा, कोरोना वैक्सीन की डोज देने की संख्या 16 लाख होती है। पर टीका उत्सव के पहले दिन रात आठ बजे तक 27 लाख से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई।
आपको बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि 11 अप्रैल यानी ज्योतिबा फुले जयंती से हम देशवासी `टीका उत्सव` की शुरुआत कर रहे हैं। ये `टीका उत्सव` 14 अप्रैल यानी बाबा साहेब आंबेडकर जयंती तक चलेगा। ये उत्सव, एक प्रकार से कोरोना के खिलाफ दूसरी बड़ी जंग की शुरुआत है। इसमें हमें व्यक्तिगत स्वच्छता के साथ ही सामाजिक स्वच्छता पर विशेष बल देना है। हमें ये चार बातें, जरूर याद रखनी है।

-जो लोग कम पढ़े-लिखे हैं, बुजुर्ग हैं, जो स्वयं जाकर टीका नहीं लगवा सकते, उनकी मदद करें।
-जिन लोगों के पास उतने साधन नहीं हैं, जिन्हें जानकारी भी कम है, उनकी कोरोना के इलाज में सहायता करें।
-मैं स्वयं भी मास्क पहनूं और इस तरह स्वयं का भी बचाव करूं और दूसरों को भी बचाने का काम करूं, इस पर बल देना है।
-किसी को कोरोना होने की स्थिति में माइक्रो कन्टेनमेंट जोन बनाने का नेतृत्व समाज के लोग करें। जहां पर एक भी कोरोना का पॉजिटिव केस आया है, वहां परिवार के लोग, समाज के लोग माइक्रो कन्टेनमेंट जोन बनाएं।

View More...

जिले में ग्राम सीताकसा की 98 वर्षीय बुजुर्ग सुरूज बाई साहू ने लगवाई कोरोना वैक्सीन

Date : 12-Apr-2021

राजनांदगांव। छुरिया विकासखंड के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गैंदाटोला में ग्राम सीताकसा की 98 वर्षीय बुजुर्ग सुरूज बाई साहू ने कोरोना वैक्सीन लगवाया। कोरोना से बचाव के लिए बड़ी संख्या में ग्रामवासी कोरोना वैक्सीनेशन करवा रहे हैं। बुजुर्गों में वेक्सीनेशन के प्रति जागरूकता बढ़ी है। शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना सुरक्षा के लिए नागरिक लगातार कोरोना वैक्सीन लगवा रहे हैं।

View More...

सुप्रीम कोर्ट का 50 फीसदी स्टाफ कोरोना से संक्रमित, अब सभी न्यायाधीश अपने घर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे सुनवाई

Date : 12-Apr-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। देशभर में बढ़ रहे कोरोना के मामलों के साथ-साथ अब एक और बड़ी खबर सामने आई है। जानकारी मिली है कि सुप्रीम कोर्ट का 50 फीसदी स्टाफ कोरोना से संक्रमित हो गया है। ऐसे में अब सभी न्यायाधीश अपने घर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई करेंगे। वहीं पीठ भी निर्धारित समय से एक घंटा देरी से बैठेंगी।

कोरोना के मामलों को देखते हुए कोर्ट रूम सहित पूरे कोर्ट परिसर को सैनेटाइज किया जा रहा है। हालांकि आधिकारिक तौर पर सुप्रीम कोर्ट प्रशासन ने कोरोना पॉजिटिव कर्मचरियों का कोई आंकड़ा नहीं जारी किया है।
एक जज ने इस मामले में जानकारी दी है। जज ने साफतौर पर कहा है क‍ि मेरा अधिकांश स्‍टाफ और क्‍लर्क कोरोना संक्रमित हैं। कुछ जज भी पहले कोरोना संक्रमित हुए थे, लेकिन अब वह ठीक हो चुके हैं। जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट जजों को सीधे सेवाएं देने वाले करीब 50 प्रतिशत कर्मचारी अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। ऐसे में जज आज अपने-अपने घर से मामलों की सुनवाई करेंगे।

इसी के साथ बताया गया है कि जिन मामलों की सुनवाई 10.30 बजे शुरू होनी थी वो अब 11.30 बजे होगी वहीं जिन मामलों की सुनवाई 11 बजे होनी थी वो 12 बजे होगी।

View More...

कोरोना अपडेट : देशभर में कोरोना हुआ बेलगाम, पिछले 24 घंटों में मिले 1 लाख 68 हजार 912 नए कोरोना संक्रमित मरीज, 904 लोगों की हुई मौत

Date : 12-Apr-2021

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। देशभर में कोरोना बेलगाम हो चुका हैं और पिछले 24 घंटे में जो आंकड़े सामने आए हैं, वह वाकई में डराने वाले हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में देश में 1 लाख 68 हजार 912 केस सामने आए हैं। कोरोना फैलने के बाद अब तक ये पहली बार है, जब एक दिन के अंदर इतने लोग संक्रमण की चपेट में आए हैं।

देश में कुल कोरोना संक्रमण के मामले 1,35,27,717 पहुंच गए हैं, जबकि इस बीमारी से ठीक होने वालों की तादाद 1,21,56,529 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अपडेट के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में 904 ताजा मौतें दर्ज की गईं, जिससे मरने वालों की कुल संख्या 1,70,179 हो गई है। सक्रिय मामलों की संख्या में हाल के सप्ताहों में काफी वृद्ध‍ि देखी गई है। देश में कोविड-19 का सक्रिय केसलोड बढ़कर 12,01,009 हो गया है। हालांकि पिछले 24 घंटे में 75,086 लोग इस महामारी से ठीक हो चुके हैं।

904 नई मौतों में में महाराष्ट्र के 349, पंजाब के 59, छत्तीसगढ के 122, केरल के 16, कर्नाटक के 40 और तमिलनाडु के 22, दिल्‍ली के 48, हरियाणा के 16, मध्‍य प्रदेश के 24 और यूपी के 67 लोग शामिल हैं। देश में अब तक कुल 1,70,179 मौतें हुई हैं, जिनमें महाराष्ट्र से 57987, पंजाब से 7507, छत्तीसगढ़ से 4899, केरल से 4783, कर्नाटक से 12889, तमिलनाडु से 12908, दिल्ली से 11283, पश्चिम बंगाल से 10400, उत्तर प्रदेश से 9152 और आंध्र प्रदेश से 7300 मौतें हुई हैं।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 25,78,06,986 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 11,80,136 लाख सैंपल कल टेस्ट किए गए।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बताया कि 16 जनवरी को शुरू किया गया राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत कल 29,33,418 लोगों को टीका लगाया गया। जबकि देश में कुल 10,45,28,565 वैक्सीनेशन किया जा चुका है।

View More...

रायपुर के नालंदा परिसर में भी कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य शुरु

Date : 12-Apr-2021

रायपुर। कोरोना के रोकथाम ओर नियंत्रण की दृष्टि से रायपुर के नालंदा परिसर में भी कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य शुरु किया गया। नोडल अधिकारी पदमिनी भोई ने बताया कि कोरोना पाजिटिव आए लोगों से उनके संपर्क में आए कम से कम 20 लोंगो की कांटेक्ट हिस्टी ली जा रही है। कान्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए सिविल लाईन के न्यू सर्किट हाउस में पूर्व से ही 24 घंटे कंट्रोल रूम संचालित किया जा रहा है।

नोडल अधिकारी पदमिनी भोई ने बताया कि कांटेक्ट ट्रैसिंग के जरिए कोरोना नावायरस के संक्रमण के फैलाव काफी हद तक रोका जा सकता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोरोना टेस्टिंग के समय अपना नाम, पता और मोबाइल नम्बर की सही जानकारी दी जाए। कोरोना की सर्वाधिक संभावना, उन लोगों में होती है जो या तो संक्रमित व्यक्ति के साथ रह रहे हो या उसके आसपास हो अर्थात उसके संपर्क में आने वाले सभी व्यक्तियों में संक्रमण के फैलाव की संभावना बहुत ज्यादा होती है।

नोडल अधिकारी ने बताया कि कोरोना की रोकथाम और नियंत्रण के लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य काफी महत्तवपूर्ण है। कांटेक्ट टैस्टिंग के दौरान सही जानकारी देने से कोरोना के चेन को तोड़ने मे मदद मिलती है। कुछ लोग कोरोना टेस्ट के दौरान जानबूझकर अपना सही टेलिफोन नम्बर एवं पता नहीं देते हैं जो समाज के लिए भी खतरनाक है। उन्होंने कहा कि टेस्ट के दौरान अपना नाम पता और मोबाइल नंबर की सही जानकारी न देने पर पुलिस विभाग से कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया की सही जानकारी ना देने वाले कुछ लोगों की सूची भी पुलिस को दी जाकर कार्यवाही के लिए कहा गया है।

View More...

शोपियां मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने दो और आतंकियों को किया ढेर

Date : 11-Apr-2021

जम्मू (एजेंसी)। शोपियां मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने दो और आतंकियों को मार गिराया है। अभी इन मारे गए आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है। कल एक आतंकी मारा गया था। मुठभेड कल से जारी थी।

जानकारी मिली है कि नए भर्ती आतंकी का समर्पण कराने के लिए पुलिस और सुरक्षा बलों ने गंभीरता से प्रयास किया। घिरे हुए आतंकी के माता-पिता ने उससे सरेंडर के लिए कहा भी लेकिन अन्य दहशतगर्दों ने ऐसा होने नहीं दिया। बता दें कि कल सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि कुलगाम के हाटीपोरा इलाके में आतंकी मौजूद है। इसी सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी शुरू किया। इसी दौरान आतंकियों ने फायरिंग करनी शुरू कर दी।

इससे पहले गुरुवार और शुक्रवार को दो ऑपरेशन (शोपियां और त्राल) में सुरक्षाबलों ने सात आतंकियों का खात्मा किया था। त्राल में गजवा-तुल-हिंद(आइजीएच) का सरगना इम्तियाज शाह भी मारा गया था।इम्तियाज घाटी में अंसार गजवा-तुल-हिंद का सरगना था। बुरहान कोका के मारे जाने के बाद से यह आइजीएच की कमान संभाल रहा था। उसे अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इम्तियाज जुलाई 2019 से सक्रिय था।
पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार वो ए कैटेगरी का आतंकी था, लेकिन हाल ही में इसे ए प्लस में शामिल करने के लिए डाला गया था। शोपियां में ऑपरेशन की शुरुआत में कुछ शरारती तत्वों ने ऑपरेशन में खलल डालने की कोशिश की थी, जिसके चलते पुलिस को पंप एक्शन का इस्तेमाल करना पड़ा था। इसमें तीन स्थानीय लोग घायल भी हुए थे, जो खतरे से बाहर हैं।

00 दक्षिणी कश्मीर में पैर पसार रहे आतंकियों पर कहर बनकर बरसेंगे सुरक्षाबल
अमरनाथ यात्रा से पहले दक्षिणी कश्मीर में पैर पसार रहे आतंकियों पर सुरक्षाबल कहर बनकर बरसेंगे। सुरक्षा एजेंसियों ने रणनीति बनाई है कि दक्षिणी कश्मीर जहां से यात्रा मार्ग गुजरता है वहां आतंकियों का सफाया करते हुए उन्हें गड़बड़ी फैलाने का कोई मौका नहीं दिया जाए।

सुरक्षा बलों का पूरा फोकस दक्षिणी कश्मीर में आतंकियों के सफाये के साथ ही उत्तरी कश्मीर से घुसपैठ रोकने पर होगा। इसके लिए गांव-गांव में व्यापक पैमाने पर कासो तथा ऑपरेशन ऑलआउट चलाने की भी रणनीति बनाई गई है। यही वजह है कि पिछले कुछ दिनों से दक्षिणी कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ जबर्दस्त ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं।

कोरोना संकट की वजह से दो साल बाद होने वाली अमरनाथ यात्रा को सकुशल तथा सुरक्षित बनाने के लिए पिछले दिनों उप राज्यपाल मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में हुई यूनिफाइड कमांड की बैठक में सभी सुरक्षा एजेंसियों के साथ आतंकवाद से निपटने की रणनीति बनाई जा चुकी है। इसके तहत आतंकियों पर कहर बनकर बरसने, उन्हें मांद से खोज निकालने, अवांछनीय तत्वों पर नकेल कसने और घुसपैठ रोकने की रणनीति बनाई गई है।

सूत्रों ने बताया कि यात्रा मार्ग पर कुलगाम, अनंतनाग, पुलवामा जिले के साथ ही शोपियां जिले को भी आतंकियों से मुक्त रखने के लिए लगातार ऑपरेशन चलाने का फैसला किया गया है। ताकि आतंकियों में खौफ पैदा हो और वह या तो समर्पण कर दें या फिर भूमिगत हो जाएं। इस कदर दबाव बनाना है कि उन्हें हमले की साजिश करने का मौका नहीं मिल सके।

सूत्रों के अनुसार आतंकियों के निशाने पर हर बार अमरनाथ यात्रा रहती है। इस आशंका के मद्देनजर अभी से सुरक्षा एजेंसियां तैयार हैं ताकि कोई मौका आतंकी संगठनों को न मिलने पाए। त्रिस्तरीय घेरा में पूरी यात्रा को संपन्न कराया जाएगा। ड्रोन तथा हेलीकॉप्टर से भी निगरानी रहेगी।

View More...

कोरोना का कहर : इंदौर, जबलपुर, उज्जैन सहित 12 शहरों में बढ़ाया गया लॉकडाउन

Date : 11-Apr-2021

भोपाल (एजेंसी)। मध्य प्रदेश में एक दिन में करीब 5 हजार कोरोना संक्रमित मिलने के बाद इंदौर, जबलपुर, उज्जैन सहित 12 शहरों में लॉकडाउन बढ़ाया गया है। यह निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया।

अपर मुख्य सचिव गृह डा. राजेश राजौरा ने बताया कि कोरोना महामारी की रोकथाम के क्रम में बड़वानी, राजगढ़, विदिशा ज़िलों में (शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में) 19 अप्रैल सुबह 6 बजे तक लाॅकडाउन निरंतर रहेगा। इसी तरह बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी ज़िलों (शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों) और जबलपुर शहर में 12 अप्रैल की रात से 22 अप्रैल की सुबह तक तथा । इंदौर शहर, राऊ नगर, महू नगर, शाजापुर शहर और उज्जैन शहर (एवं उज्जैन ज़िले के सभी नगरों) में 19 अप्रैल सुबह 6 बजे बजे लाॅकडाउन निरंतर रहेगा।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की ज़िला आपदा प्रबंध समितियों के साथ हुई बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है। इसको लेकर देर शाम तक आदेश जारी किया जाएगा। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि एक दिन में 5 हजार केस आना चिंताजनक है।

View More...

पश्चिम बंगाल चुनाव : कूचबिहार के सितलकुची में वोट देने के लिए बूथ पर कतार में खड़े एक वोटर की फायरिंग में 4 की मौत

Date : 10-Apr-2021

कूचबिहार (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के मतदान के साथ ही हिंसा किए जाने की बात भी सामने आने लगी है। जानकारी के अनुसार कूचबिहार के सितलकुची में वोट देने के लिए बूथ पर कतार में खड़े एक वोटर की फायरिंग में मौत हो गई। मृतक की पहचान 18 वर्ष के आनंद बर्मन के रूप में की गई है। उसके परिजनों ने हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगाया है। उनका कहना है कि आनंद भाजपा का समर्थक था, इसलिए उसे गोली मारी गई। 

इधर, तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि इस हत्या के पीछे भाजपा का हाथ है। वहीं, भाजपा ने युवक की मौत का जिम्मेदार टीएमसी को ठहराया। भाजपा दावा कर रही है कि मृतक मतदान केंद्र पर पोलिंग एजेंट था। इस पूरे मामले पर एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कूचबिहार के सितलकुची इलाके में चुनाव के दौरान हिंसक झड़प के दौरान फायरिंग हो गई। फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई, जिनमें से एक आनंद बर्मन भी था। इसके अलावा चार लोग जख्मी भी हुए हैं। सूत्र ने बताया कि सिताल्कुची में सीआईएसएफ ने अपने ऊपर हमले के बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए गोलियां चलाई, जिसमें चार लोग मारे गए। समाचार लिखे जाने तक मारे जाने वालों की पहचान उजागर नहीं हो पाई थी।

उन्होंने आगे बताया कि आनंद बर्मन को सितलकुची के पठानतुली इलाके में बूथ नंबर 85 के बाहर घसीटकर लाया गया और गोली मार दी गई। घटना के वक्त मतदान चल रहा था। इस घटना के बाद तृणमूल और भाजपा समर्थकों में झड़प शुरू हो गई और मतदान केंद्र के बाहर बम फेंके जाने के कारण कई लोग घायल हो गए। ऐसे में केंद्रीय बलों को स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। 

गौरतलब है कि बंगाल में चौथे चरण की वोटिंग के दौरान कूचबिहार के अलावा कई जगहों से हिंसा की खबरे सामने आईं हैं। कहीं पर भाजपा कार्यकर्ता मारपीट का शिकार हुए हैं तो कहीं पर टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हमले किए गए हैं। लोगों के घरों तक पर हमले हो रहे हैं। बीच चुनाव में हथियार व बम तक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन वारदातों को लेकर भाजपा और टीएमसी एक दूसरे पर आरोप लगाने से पीछे नहीं हट रहे हैं।

View More...

हवाई यात्रा के माध्यम से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों के लिए कोविड टेस्ट के संबंध में दिशा.निर्देश जारी, 72 घंटे के भीतर कराये गये आरण्टीण्पीण्सीण्आरण् जांच की निगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य

Date : 10-Apr-2021

रायपुर। सामान्य प्रशासन विभाग छत्तीसगढ़ द्वारा हवाई यात्रा के माध्यम से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों के लिए कोविड टेस्ट के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने इस संबंध में राज्य के सभी संभागायुक्तों, पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टरों एवं पुलिस अधीक्षकों को पत्र जारी कर दिशा-निर्देश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने को कहा है।

सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशानुसार नोवेल कोरोना वायरस के नये वेरियन्ट के संक्रमण पर नियंत्रण के परिप्रेक्ष्य में हवाई यात्रा के माध्यम से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों के लिए एयरपोर्ट पहुंचने से पूर्व 72 घंटे के भीतर कराये गये आर.टी.पी.सी.आर. जांच टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य होगा।

जारी दिशा-निर्देश के अनुसार ऐसे यात्री जिनके पास निर्धारित समयावधि की आर.टी.पी.सी.आर. जांच टेस्ट रिपोर्ट नहीं होगी, उनकी कोविड टेस्ट जांच एयरपोर्ट पर की जाएगी। कोविड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव होने पर उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एसओपी अनुसार संस्थागत क्वारेंटीन, कोविड केयर सेन्टर, अस्पताल में रखा जाएगा। यदि किसी यात्री द्वारा कोविड टेस्ट के लिए सहमति नहीं दी जाती है तो ऐसी स्थिति में उसे स्वयं के व्यय पर 7 दिवस के लिए क्वारेंटीन होना होगा। छोटे बच्चों की कोविड टेस्टिंग के बारे में उनके पालकों की सहमति से टेस्टिंग के निर्देश दिए गए हैं। फ्लाइट में पॉजीटिव यात्री के कान्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए निर्धारित एसओपी के अनुसार कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

हवाई यात्रा से आने वाले ऐसे यात्री जिनकी कोविड-19 जांच की रिपोर्ट नेगेटिव है उन्हें भी 7 दिवस होम आइसोलेशन में रहने तथा होम क्वारेंटीन नियम का पालन करने की सलाह दी जाएगी। ऐसे यात्रियों के फॉलोअप के लिए भी संबंधित जिलों के कलेक्टर आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। एयरपोर्ट स्थल पर आवश्यक व्यवस्था एवं कोरोना जांच एवं नियंत्रण के संबंध में आवश्यक जानकारी आगमन स्थल पर प्रदर्शित करने के भी निर्देश दिए गए हैं। गौरतलब है कि अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के माध्यम से आने वाले यात्रियों के लिए भारत सरकार द्वारा पूर्व में जारी एसओपी का पालन सुनिश्चित करने कहा गया है।

View More...