Top News

कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने यहां 14 दिनों तक पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का ऐलान

Date : 24-Jul-2021

ढाका (एजेंसी)। बांग्लादेश ने कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए पूरे देश में 14 दिनों के लिए कठोर प्रतिबंध वाला राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू लगाने का फैसला लिया है। दरअसल, यह आशंका बढ़ रही है कि बकरीद से पहले प्रतिबंधों में ढील दिये जाने से कोविड-19 के मामलों में वृद्धि हो सकती है क्योंकि लाखों की संख्या में लोग यह त्योहार मनाने अपने गांवों में लौटे थे।

सरकार ने कहा कि हर किसी को अवश्य ही घरों के अंदर ही रहना है क्योंकि कार्यालय, अदालतें, वस्त्र फैक्टरी और निर्यातोन्मुखी उद्योग बंद रहेंगे। मंत्रिमंडल संभाग के प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया, कठोर लॉकडाउन का आदेश अगले 14 दिनों के लिए दिया गया है। पूर्व के प्रतिबंधों के उलट इस बार निर्यातोन्मुखी फैक्टरी भी इसके दायरे में आएंगी।

लोक प्रशासन मामलों के कनिष्ठ मंत्री फरहाद हुसैन ने कहा कि यह लॉकडाउन पिछली बार की तुलना में कहीं अधिक कठोर होगा। सेना के जवानों और अर्द्धसैनिक बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) तथा एलिट अपराध रोधी रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) के कर्मियों के पुलिस के साथ राजधानी ढाका और अन्य शहरों की सड़कों पर तथा उनके प्रवेश द्वारों पर बंद लागू करने के लिए उतरने के बीच उनका यह बयान आया है। स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशालय के मुताबिक देश में शुक्रवार को कोविड-19 से 166 लोगों की मौत हुई जबकि संक्रमण के 6,364 नये मामले सामने आए।

View More...

महाराष्ट्र : मूसलधार बारिश ने मचाया कहर, भारी बारिश से पिछले दो दिनों में 129 लोगों की मौत

Date : 24-Jul-2021

मुंबई (एजेंसी)। महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से हो रही मूसलधार बारिश ने कहर मचा दिया है। भारी बारिश राज्य के लोगों पर मुसीबत बनकर टूटी है। इसके चलते पिछले दो दिनों में 129 लोगों को जान गंवानी पड़ी है। पिछले 24 घंटों में रायगढ़, रत्नागिरी और सतारा में हुई इन घटनाओं में कई लोग अब भी मलबे में दबे हैं। बाढ़ग्रस्त इलाकों में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ के अलावा नौसेना ने भी मोर्चा संभाल रखा है।

बारिश से प्रभावित पुणे में पिछले दो दिनों में 84,452 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ की टीम युद्धस्तर पर राहत व बचाव कार्य में जुटी हुई है। कोल्हापुर में एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को खाना वितरित किया।

महाराष्ट्र के समुद्रतटीय कोंकण, रायगढ़ और पश्चिम महाराष्ट्र में पिछले तीन दिनों से मूसलधार बारिश हो रही है। इसी क्षेत्र में स्थित प्रसिद्ध पर्यटनस्थल महाबलेश्वर में पिछले तीन दिनों में 1500 मिमी. बारिश रिकार्ड की गई है। भारी बारिश के कारण रत्नागिरी जिले के चिपलूण शहर बड़ा हिस्सा गुरुवार को जलमग्न था। शुक्रवार को चिपलूण में जलस्तर कम होने के बाद वहां हुए नुकसान की भयावहता दिखाई दी।

कई इलाकों में पहाड़ों पर भूस्खलन होने से सौ से अधिक लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। भूस्खलन के अलावा कई लोग बाढ़ के तेज बहाव में बह गए।

00 रायगढ़ के तलाई गांव में भूस्खलन में गांव के तीस घर दबे
तटीय जिले रायगढ़ में भूस्खलन से गांव दबने से अब तक 36 की मौत हुई। वहीं मुंबई में एक मकान गिरने से चार लोगों की मौत हुई व सात घायल हुए। इसके अलावा सतारा व रायगढ़ में अलग-अलग घटनाओं में 28 लोंगों की जान गई। महाबलेश्वर, नवाजा, रत्नागिरी, कोल्हापुर में भारी बारिश ने बाढ़ का रूप ले लिया और सैकड़ाें गांवों से संपर्क टूट गया।

रायगढ़ की महाड तहसील के तलाई गांव में बृहस्पतिवार रात आए भूस्खलन में गांव के तीस घर दब गए। रास्तों में पानी भरा होने के कारण राहत टीमें कुछ देर से पहुंचीं। बचाव कार्य में जुटी पुलिस ने शुक्रवार तक मलबे के नीचे से 36 शव निकाले हैं। मलबे और लोगों के दबे होने की आशंका है।
वहीं पूर्वी मुंबई के गेवांडी के शिवाजी नगर इलाके में सुबह 5 बजे एक मकान गिर गया। सात दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंच और दबे 15 लोगों को निकाला है जिनमें 11 की हालत खराब थी और उन्हें दो अलग अलग अस्पताल पहुंचाया गया

घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में डॉक्टरों ने नेहा परवेज शेख, मोकार जबीर शेख और फरीन शेख को मृत घोषित कर दिया जबकि शमशाद शेख नाम की महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई। इसके अलावा कुछ लोगों को सायन के लोकमान्य तिलक अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है।

वहीं सातारा की पाटण तहसील में पहाड़ी की तराई में बसे आंबेघर में आधीरात को हुए भूस्खलन से बच्चों समेत 12 लोगों की मौत हो गई, 15 लोग घायल हैं। मीरागांव में एक मकान के मलबे में दबे 8 लोगों की मौत हुई।
उधर, चिपलून के कोविड अस्पताल में पानी घुसने से वेंटिलेटर पर उपचाराधीन आठ मरीजों ने दम तोड़ दिया। एनडीआरएफ, नौसेना व वायुसेना की टीमें राहत कार्य में जुटी हैं और सीएम उद्धव ठाकरे लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

00 मोदी-शाह ने की उद्धव से बात हर संभव मदद का दिया भरोसा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात कर स्थिति का जायजा लिया और केंद्र से हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया। राहत कार्य में जुटी राज्य व एनडीआरएफ के साथ नौसेना ने भी मोर्चा संभाल लिया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी डिप्टी सीएम अजित पवार से बात कर स्थिति का जायजा लिया और सेना के हर संभव सहयोग का भरोसा दिया।

00 रायगढ़ भूस्खलन में मरने वालों के परिवार को दो लाख देगा केंद्र
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रायगढ़ में भूस्खलन के हादसे पर दुख जताया और मरने वालों की आत्मा की शांति को लेकर प्रार्थना की। उन्होंने मुश्किल के इन क्षणों में पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से मृतकों के परिवारों को दो दो लाख रुपये देने की घोषणा की। घायलों को 50 हजार रुपये दिए जाएं।

महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ शिंदे ने जिले में अत्यधिक बारिश के कारण भूस्खलन के बाद रायगढ़ के तिलये गांव का दौरा किया।

View More...

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना, कहा शाह दे इस्तीफा, मेरा फोन भी हुआ टैप

Date : 23-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले कथित पेगासस जासूसी केस को लेकर पूरा विपक्ष लामबंद है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में संसद भवन में गांधी प्रतिमा के सामने विपक्षी दलों के नेता प्रदर्शन कर रहे हैं।

विरोध प्रदर्शन के दौरान राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने पेगासस का इस्तेमाल राजनीतिक हथकंडे के तौर पर किया है। सरकार ने मेरा फोन टैप भी कराया। सरकार इसके लिए जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि जासूसी कांड पर विपक्ष एकजुट है। गृहमंत्री अमित शाह को इस्तीफा देना चाहिए। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ न्यायिक जांच कराने की भी मांग की।

विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस सांसदों ने कथित तौर पर जासूसी मामले की न्यायिक जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में कराने की मांग की। लोकसभा और राज्यसभा के कई कांग्रेस सदस्यों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और कांग्रेस के कई अन्य सांसद इस मौके पर मौजूद थे।

केंद्रीय आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथ से पेपर छीनकर फाड़ने के आरोप में सांसद शांतनु सेन को निलंबित कर दिया गया है। शांतनु सेन को पूरे सत्र के लिए निलंबित किया गया है। शांतनु सेन पर आरोप है कि कथित जासूसी कांड पर केंद्रीय मंत्री को बोलने से रोक दिया। राज्यसभा के सभापति ने सांसद शांतनु सेन के खिलाफ कार्रवाई की है।

View More...

कनाचक में पुलिस ने एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया, ड्रोन के गिरने पर पांच किलो आईईडी भी बरामद

Date : 23-Jul-2021

जम्मू (एजेंसी)। जम्मू-कश्मीर के कनाचक इलाके में पुलिस ने एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया है। इस ड्रोन के गिरने पर पांच किलो आईईडी भी बरामद हुई है। पुलिस ने बताया कि ड्रोन को भारतीय सीमा के छह किलो मीटर अंदर मारा गया है।

बता दें कि सीमा पर बीते कई दिनों से लगातार ड्रोन देखे जाने की खबरें सामने आ रही हैं। खुफिया एजेंसियां पहले ही अंदेशा जता चुकी हैं कि आतंकी ड्रोन के जरिए किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में हों। वहीं सुरक्षा बलों ने भी इस चुनौती से निपटने के लिए रणनीति बनाई है और माना जा रहा है कि यह ड्रोन जिसे मार गिराया गया ये उसी का नतीजा है।

00 सोपोर में दो आतंकी ढेर
उधर, बारामुला जिले के सोपोर के वारपोरा में सुरक्षा बलों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ में दो दहशतगर्दों को मार गिराया गया है। उनके पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है। बाकी आतंकियों की तलाश जारी है। मुठभेड़ कल (गुरुवार) रात से चल रही है।

00 ड्रोन से भारतीय वायुसेना स्टेशन को बनाया जा चुका है निशाना
27 जून को भारतीय वायुसेना स्टेशन पर आतंकियों ने ड्रोन के जरिए विस्फोटक गिराकर हमला किया था। इस हमले में दो लोगों को हल्की चोटें आईं थीं। इस हमले के बाद से ही घाटी में पुलिस लेकर सेना तक अलर्ट है। पीएम नरेंद्र मोदी ने ड्रोन पर उभरते खतरे को लेकर एक उच्चस्तरीय बैठक भी बुलाई थी।

00 ड्रोन के पीछे लश्कर की साजिश
सुरक्षा एजेंसियों ने अंदेशा जताया है कि इस ड्रोन साजिश के पीछे आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है। आतंकी 27 जून के जैसे किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। आतंकियों द्वारा ड्रोन का इस्तेमाल लगातार किए जाने पर पुलिस महकमा चिंतित है। डीजीपी दिलबाग सिंह ने पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा की रणनीति दोबारा बनाने के लिए कहा है। साथ ही आतंकियों के ड्रोन इस्तेमाल करने को लेकर सतर्क रहने के लिए भी कहा गया है।

View More...

पेगासस मामला खुलासा : जासूसी लिस्ट में उद्योगपति अंबानी व सीबीआई के पूर्व प्रमुख आलोक का भी नाम शामिल

Date : 23-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस मामले में कई बड़े हस्तियों का नाम उजागर हुआ है.जासूसी लिस्ट में उद्योगपति अनिल अंबानी और सीबीआई (CBI) के पूर्व प्रमुख आलोक वर्मा का भी नाम शामिल किया गया था। जानकारी के अनुसार आलोक वर्मा को केंद्र सरकार ने 2018 में CBI के पूर्व प्रमुख के पद से बर्खास्त कर दिया था। इसके फौरन बाद ही वर्मा का नाम पेगासस की लिस्ट में शामिल किया गया।

इसके साथ ही अनिल अंबानी और अनिल धीरूभाई अंबानी (ADA) समूह के कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशन अधिकारी टोनी जेसुदासन के साथ उनकी पत्नी का नाम भी इस लिस्ट में शामिल किया गया। हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इसकी पुष्टि नहीं की जा सकती है कि अनिल अंबानी वर्तमान में उसी फोन नंबर का इस्तेमाल कर रहे हैं या नहीं। ADA की ओर से फिलहाल इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

राफेल के अधिकारियों के फोन भी शामिल

रिपोर्ट के अनुसार भारत में दसॉ एविएशन (राफेल विमान बनाने वाली कंपनी) के प्रतिनिधि वेंकट राव पोसिना, साब इंडिया के प्रमुख इंद्रजीत सियाल और बोइंग इंडिया के प्रमुख प्रत्यूष कुमार के नंबर भी 2018 और 2019 में विभिन्न अवधि में लीक आंकड़े में शामिल हैं। इसके साथ ही फ्रांस की कंपनी एनर्जी EDF के प्रमुख हरमनजीत नेगी का फोन भी लीक आंकड़े में शामिल है। बता दें कि फ्रांस से राफेल डील को लेकर विपक्ष के नेता केंद्र सरकार पर अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाते रहे हैं।

पेगासस प्रोजेक्ट क्या है?

पेगासस प्रोजेक्ट दुनियाभर के 17 मीडिया संस्थानों के जर्नलिस्ट का एक ग्रुप है, जो एनएसओ (NSO) ग्रुप और उसके सरकारी ग्राहकों की जांच कर रहा है। इजराइल की कंपनी NSO सरकारों को सर्विलांस टेक्नोलॉजी बेचती है। इसका प्रमुख प्रोडक्ट है- पेगासस, जो एक जासूसी सॉफ्टवेयर या स्पायवेयर है। पेगासस आईफोन और एंड्रॉयड डिवाइस को टारगेट करता है। पेगासस इंस्टॉल होने पर उसका ऑपरेटर फोन से चैट, फोटो, ईमेल और लोकेशन डेटा ले सकता है। यूजर को पता भी नहीं चलता और पेगासस फोन का माइक्रोफोन और कैमरा एक्टिव कर देता है।

180 रिपोर्टरों और संपादकों को सरकारों ने अपनी निगरानी सूची में रखा

दुनियाभर में सरकारों ने पत्रकारों की जासूसी के लिए इजराइल के सॉफ्टवेयर पेगासस की मदद ली है। रविवार को 17 मीडिया समूहों की साझा पड़ताल के बाद जारी रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया। इधर, इस बाद का भी खुलासा हुआ है कि दुनियाभर में 180 रिपोर्टरों और संपादकों को सरकारों ने अपनी निगरानी सूची में रखा। इन देशों में भारत भी शामिल है, जहां सरकार और प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करने वाले 40 पत्रकार, 3 विपक्षी नेता, 2 केंद्रीय मंत्री और एक जज भी निगरानी के दायरे में थे।

सरकार की नाकामियों को उजागर करने वालों पर टार्गेट

रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में पेगासस के क्लाइंट्स ने ऐसे पत्रकारों की जासूसी कराई, जो सरकार की नाकामियों को उजागर करते रहे हैं या जो उसके फैसलों की आलोचना करते रहे हैं। एशिया से लेकर अमेरिका तक में कई देशों ने पेगासस के जरिए पत्रकारों की जासूसी की या उन्हें निगरानी सूची में रखा। रिपोर्ट में दुनिया के कुछ देशों के नाम भी दिए गए हैं, जहां पत्रकारों पर सरकार की नजरें हैं। लिस्ट में टॉप पर अजरबैजान है, जहां 48 पत्रकार सरकारी निगरानी सूची में थे। भारत में यह आंकड़ा 40 का है।

View More...

विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी का विवादित बयान, दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को कहा मवाली

Date : 23-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। किसान आंदोलन को लेकर विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी का एक विवादित बयान सामने आया है. मंत्री मीनाक्षी लेखी ने दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को मवाली करार दे दिया. इतना ही नही उन्होनें कहा कि प्रदर्शन करने वाले किसान नहीं है. उन्होंने तर्क दिया कि इस प्रदर्शन की आड़ में कुछ बिचौलियों की मदद की जा रही है।

इससे पहले केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों के इस आंदोलन को खत्म करने के लिए बातचीत से हल निकालने पर जोर दिया था. नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हम किसानों के साथ बातचीत करने को तैयार हैं और हम पहले भी बात करते रहे हैं. मोदी सरकार किसान हितेषी सरकार है. इसके बाद अब विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी का यह बयान सामने आया है।

पेगासस विवाद पर मीनाक्षी लेखी ने कहा कि इसके जरिए फेक नेरेटिव बनाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि ये स्टोरी एकदम फेक है. येलो पेज पर एक लिस्ट बना ली गई है और उसके जरिए संसद को बाधित किया जा रहा है. एमनेस्टी ने पहले ही इस लिस्ट से पल्ला झाड़ा लिया है और NSO भी अपनी बात रख चुका है. ऐसे में अब इस विरोध के जरिए सिर्फ भारत को बदनाम किया जा रहा है और लोकतंत्र के तमाम स्तंभो को बर्बाद करने की कवायद हो रही है।

बता दें कि किसान कृषि कानून वापसी की मांग को लेकर बीतें 6 महीने से ज्यादा समय से दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे है. इस आंदोलन के खत्म करने के लिए सरकार और किसानों के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है. लेकिऩ अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया है. इसके साथ गृहमंत्री ने भी किसानों के साथ बैठक की थी, लेकिऩ यह बैठक भी बेनतीजा रही थी।

View More...

दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, एक.दूसरे से टकराए दो विमान

Date : 22-Jul-2021

दुबई (एजेंसी)। दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट  पर गुरुवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया. फ्लाई दुबईऔर बहरीन  स्थित गल्फ एयर  के विमान इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टैक्सीवे पर एक-दूसरे से टकरा गए. हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि इस हादसे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. फ्लाई दुबई ने कहा कि किर्गिस्तान जाने वाले उसका बोइंग 737-800 में से एक विमान एक छोटी दुर्घटना का शिकार हो गया. इस वजह से उसे लौटने पर मजबूर होना पड़ा।

फ्लाई दुबई ने कहा कि यात्रियों ने बाद में जाने में वाली फ्लाइट के जरिए उड़ान भरी, जो घटना के छह घंटे बाद रवाना हुई. एयरलाइन ने कहा कि फ्लाई दुबई अधिकारियों के साथ मिलकर घटना की जांच करेगी. इसने कहा कि टक्कर की वजह से विमान का विंगटिप क्षतिग्रस्त हो गया. वहीं, गल्फ एयर ने कहा कि उसका एक विमान एक दूसरी एयरलाइन के विमान से टकरा गया. इससे उसके विमान के पिछले हिस्से को नुकसान पहुंचा है. हालांकि, गल्फ एयर ने ये नहीं बताया कि टक्कर में शामिल दूसरा विमान कौन सा था. लेकिन कहा कि ये सभी यात्रियों को उनके डेस्टिनेशन तक पहुंचाने के लिए काम कर रहा है।

कुछ घंटे के लिए बंद करना पड़ा रनवे

गल्फ एयर दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से यात्रियों को मनामा में बहरीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अपने हब पर ले जाती है. दुबई एयरपोर्ट ने कहा कि 22 जुलाई की सुबह डीएक्सबी में एक घटना हुई जिसमें दो यात्री विमान शामिल थे. एयरपोर्ट के प्रवक्ता ने कहा, इस वजह से एक रनवे को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया, ताकि घटना से तेजी से निपटा जा सके. डीएक्सबी पर ऑपरेशन प्रभावित नहीं हुआ और दो घंटे के बाद रनवे को फिर से खोल दिया गया. गल्फ एयर ने 5 जुलाई से निर्धारित फ्लाइट ऑपरेशन के साथ अबू धाबी और दुबई की सीधी उड़ानें फिर से शुरू कीं. एयरलाइन 1954 से बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात के बीच सीधी उड़ानें संचालित कर रहा है.

View More...

मुख्यमंत्री को बदले जाने की चर्चा जोरों पर, सीएम ने कहा आलाकमान जो निर्देश देगा उसको मानेंगे

Date : 22-Jul-2021

बेंगलुरु (एजेंसी)। कर्नाटक में मुख्यमंत्री को बदले जाने की चर्चा जोरों पर है और बीते हफ्ते सीएम बीएस येदियुरप्पा के पीएम नरेंद्र मोदी के अलावा अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ दिल्ली में हुई बैठक के बाद अटकलें तेज हो गई थीं। इस बीच मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने खुद पद छोड़ने के संकेत दिए हैं और कहा है कि आलाकमान जो निर्देश देगा उसको मानेंगे।

भाजपा को सत्ता में लाना मेरा कर्तव्य

सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा, ‘हमारी सरकार के 2 साल पूरे होने पर 26 जुलाई को एक कार्यक्रम है। इसके बाद पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा जो भी फैसला करेंगे, मैं उसका पालन करूंगा। भाजपा को सत्ता में वापस लाना मेरा कर्तव्य है। मैं पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से सहयोग करने का आग्रह करता हूं।’

ट्वीट कर भी दिए थे इस्तीफे के संकेत

इससे पहले बुधवार को बीएस येदियुरप्पा ने ट्वीट कर भी इस्तीफे के संकेत दिए थे।उन्होंने लिखा, ‘मुझे गर्व है कि मैं बीजेपी का वफादार कार्यकर्ता हूं। मेरे लिए यह सम्मान की बात है कि मैंने ऊंचे आदर्शों का पालन करते हुए पार्टी की सेवा की है। मैं सभी से आग्रह करता हूं कि पार्टी के संस्कारों के अनुरूप आचरण करें और ऐसा कोई प्रदर्शन या अनुशासनहीनता न करें, जिससे पार्टी को शर्मिंदगी झेलनी पड़े।’

पीएम मोदी के अलावा कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात

कर्नाटक सरकार के 2 साल पूरे होने से पहले बीएस येदियुरप्पा पिछले हफ्ते दिल्ली पहुंचे थे और पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। इसके अलावा उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की थी। इसके बाद येदियुरप्पा के पद से हटाए जाने को लेकर अटकलें लगाई जाने लगी थी, हालांकि दिल्ली से वापस लौटने के बाद उन्होंने अटकलों को खारिज कर दिया था।

View More...

रेलवे ने पटरियों और मरम्मत के कार्यों के कारण देश के करीब 50 ट्रेनों को किया कैंसिल

Date : 22-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। यदि आप हाल ही में ट्रेन से यात्रा करने जा रहे है तो ये खबर आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है.  रेलवे ने पटरियों और मरम्मत के कार्यों के कारण देश भर के विभिन्न हिस्सों में चलने वाली ट्रेनों को रद्द या उनका रूट बदल दिया है। इन रेल गाड़ियों की संख्या करीब 50 है।

भारतीय रेलवे समय-समय पर पटरियों और मरम्मत के कार्यों के कारण ट्रैफिक ब्लॉक करता है. इससे ट्रेनों की आवाजाही में सुधार होता है. इस लिए कुछ ट्रेनों को रद्द या उनका रद्द बदल दिया जाता है. कई दफा ट्रेनों के टाइम टेबल में भी बदलाव किया जाता है. रेलवे अपनी इनक्वायरी वेबसाइट पर कैंसिल ट्रेन लिस्ट जारी भी करता है।

रेलवे जिन ट्रेनों को रद्द करता है. उसकी जानकारी यात्रियों को दी जाती है. इसके लिए स्टेशनों पर अनाउंसमेंट भी होता है. वहीं रेलवे के इनक्वायरी नंबर 139 पर कॉल कर ट्रेनों का स्टेटस पता किया जा सकता है. ट्रेनों के कैंसिल होने पर यात्रियों को टिकट के पूरे पैसे रिफंड हो जाते है।

कोरोना के कारण देश में पहली बार ट्रेने हुई थी बंद

देश में कोरोना वायरस के कारण इतिहास में पहली बार ट्रेनों का संचालन बंद हो गया है. अब स्थिति काबू में आते ही धीरे-धीरे ट्रेनों को चलाया जा रहा है. हालांकि पूरी तरह से ट्रेनें शुरू नहीं हुई है. भारतीय रेलवे स्पेशल ट्रेन चला रहा है. इस बीच रेलवे ने 50 ट्रेनों का रूट बदल दिया या उन्हें कैंसिल कर दिया है. ऐसे में जो यात्रा करने वाले हैं. वो लिस्ट चेक कर ही घर से बाहर निकले।

View More...

केंद्र और राज्य सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी नहीं थम रहा कोरोना, राज्य सरकार ने 3 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाने का लिया फैसला

Date : 22-Jul-2021

कोच्चि (एजेंसी)। केंद्र और राज्य सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना के मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. बड़ी संख्या में मरीज सामने आ रहे है. इसी बीच अब केरल सरकार ने 3 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है. केरल सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार राज्य में 24 और 25 जुलाई को पूर्ण लॉकडाउन रहेगा. ईद के मौके पर विजयन सरकार ने 18-19 और 20 जुलाई को लॉकडाउन की शर्तों में ढील दे दी थी।

ईद पर छूट को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी फटकार

न्यायमूर्ति आर एफ नरीमन और न्यायमूर्ति बी आर गवई की पीठ ने कहा कि केरल सरकार ने बकरीद के अवसर पर पाबंदियों में इस तरह की छूट देकर देश के नागरिकों के लिए राष्ट्रव्यापी महामारी के जोखिम को बढ़ा दिया है. पीठ ने कहा, “हम केरल सरकार को संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत निहित जीवन के अधिकार पर ध्यान देने का निर्देश देते हैं.” सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि दबाव में आकर किसी की जिंदगी से खिलवाड़ नहीं कर सकते. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर बकरीद पर छूट की वजह से कोरोना फैला तो कड़ी कार्रवाई होगी।

मंगलवार को देश में मिले 42,015 संक्रमित

भारत में मंगलवार को कोरोना वायरस से 42,015 लोग संक्रमित पाए गए. जिसके बाद देश में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 3,12,16,337 (Covid-19 cases in india) हो गई. वहीं, 3,998 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 4,18,480 हो गई है. पिछले 24 घंटे में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या नए संक्रमित मरीजों के मुकाबले कम है. सबसे ज्यादा नए मामलों की बात करें तो केरल में मंगलवार को सबसे ज्यादा केस दर्ज किए गए. वहीं महाराष्ट्र इस मामले में दूसरे नंबर पर रहा लेकिन वहां भी सोमवार के मुकाबले नए कोरोना मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई. केरल में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 16,848 केस दर्ज हुए. वहीं, महाराष्ट्र में 9,389 नए केस मिले, जो सोमवार को 6 हजार के आस-पास थे।

View More...