International

दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ब्रिटेन के एंडी मर्रे को मिला फ्रेंच ओपन में वाइल्ड कार्ड

Date : 15-Sep-2020

पेरिस (एजेंसी)। दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ब्रिटेन के एंडी मर्रे को फ्रेंच ओपन में वाइल्ड कार्ड मिला है। तेरह दिन बाद शुरू हो रहे ग्रैंडस्लैम में वाइल्ड कार्ड पाने वाले आठ खिलाड़ियों में मर्रे अकेले गैर फ्रांसीसी हैं। चोटों के कारण उनकी रैंकिंग खिसककर 129 तक जा पहुंची है।
उन्हें अमेरिकी ओपन में भी वाइल्ड कार्ड मिला था लेकिन वह दूसरे दौर में हार गए। वह 2016 में फ्रेंच ओपन फाइनल में पहुंचे थे। महिला वर्ग में कनाडा की यूजीनी बूचार्ड और बुल्गारिया की स्वेताना पिरोंकोवा को वाइल्ड कार्ड मिले हैं।

View More...

जर्मनी की नई हिंद-प्रशांत रणनीति से चीन के सपनो को लगा ग्रहण

Date : 14-Sep-2020

बर्लिन (एजेंसी)। अपनी नई एशियाई रणनीति के तहत जर्मनी ने एक निर्णायक कदम उठाते हुए लोकतांत्रिक देशों के साथ मिलकर और अधिक शक्तिशाली साझेदारी पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया है । मिसाल के तौर पर जर्मनी अब जापान और दक्षिण कोरिया के साथ मिलकर प्रतिस्थापन को बढ़ावा दे रहा है जो चीन और पूरे यूरोप के लिए चेतवानी के तौर पर देखा जा रहा है। जर्मनी ने एशिया में अपने सबसे करीबी साझेदार चीन को बड़ा राजनयिक झटका देने जा रहा है। जर्मनी ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लोकतांत्रिक देशों के साथ भागीदारी मजबूत करने का फैसला बहुत सोच-समझकर किया है जिससे चीन के विस्तारवाद के सपनों को ग्रहण लगता नजर आ रहा है।

दरअसल, इस क्षेत्र से बर्लिन के भी व्यापारिक, आर्थिक और सामरिक हित जुड़े हैं। जाहिर है, इससे चीन खुद को घिरता हुआ महसूस करेगा और जर्मनी से नाराज होगा लेकिन, बदलते वैश्विक परिदृश्य में चीन की परवाह किसे है। यूरोपीय संघ के वर्तमान अध्यक्ष जर्मनी ने 2 सितंबर, 2020 को भारत के साथ अपनी हिंद-प्रशांत रणनीति लॉंच की। जर्मनी ने यह कदम संक्षिप्तीकरण को आक्रामक चीन से सुरक्षित रखने के लिए उठाया है। फ्रांस के बाद हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए तापमान रणनीति तय करने वाला जर्मनी दूसरा देश बन गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, मानवाधिकारों पर चीन के ट्रैक रिकॉर्ड और एशियाई देशों पर अपनी आर्थिक निर्भरता को लेकर यूरोप की चिंताओं के मद्देनजर ही जर्मनी की नई हिंद-प्रशांत रणनीति सामने आई है।

बर्लिन ने इसी माह के शुरू में 2 सितंबर को ही हिंद-प्रशांत रणनीति औपचारिक रूप से अपनाई है। समुद्री व्यापार मार्गों को चीन से सुरक्षित रखने की चिंता सबको है। जर्मनी भी इस पर विशेष जोर दे रहा है। जर्मनी के इस कदम का भारत, जापान, आस्ट्रेलिया और आशियान के सदस्य देशों ने समर्थन किया है। इसी दिन जर्मनी के विदेश मंत्री हेइको मॉस ने कहा था, `हम भावी वैश्विक व्यवस्था के निर्माण में मददगार बनना चाहते हैं। जिसकी लाठी उसकी भैंस की बजाय यह विश्व-व्यवस्था अंतरराष्ट्रीय सहयोग और नियमों के अनुरूप होनी चाहिए। इसी के चलते हमने उन देशों के साथ सहयोग बढ़ाया है, जो हमारे साथ लोकतांत्रिक और उदार मूल्यों को साझा करते हैं।`

चीन के साथ जर्मनी के व्यापारिक और निवेश संबंध काफी मजबूत रहे हैं। एशिया में चीन ही जर्मनी की कूटनीति का केंद्रबिंदु रहा है। हालांकि, उम्मीद के अनुरूप आर्थिक विकास भी चीनी बाजार को नहीं खोल सका। चीन में कार्यरत जर्मन कंपनियों को चीनी सरकार टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के लिए बाध्य करती है। जर्मन कंपनियां चीन में अपने कारोबार और बौद्धिक संपदा की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। ऐसे कई मुद्दों को लेकर यूरोपीय यूनियन और चीन के बीच सुलह का कोई रास्ता नहीं निकल पाया। इससे बीजिंग पर बढ़ती आर्थिक निर्भरता ने बर्लिन की चिंता बढ़ा दी थी।

View More...

डब्लूएजओ ने दी चेतावनी, कहा कोरोना से मौत का आंकड़ा अक्टूबर-नवंबर में और बढ़ेगा

Date : 14-Sep-2020

जेनेवा (एजेंसी) । कोविड-19 खत्म होना तो दूर इसके कारण और अधिक लोगों के मरने की संभावना जताई जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की नई चेतावनी से दुनिया में कोविड-19 के खत्म होने की संभावना बिल्कुल खत्म हो गई है। WHO ने कहा है कि अक्टूबर और नवंबर माह में इस संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या और अधिक हो जाएगी।

संगठन के यूरोप डायरेक्टर हंस क्लूग ने यह चेतावनी दी है। क्लूग ने मीडिया को बताया, यह वह समय है जब दुनिया में लोग इस बुरी खबर के लिए तैयार नहीं हैं, और मैं इस बात को समझता हूं। सोमवार और मंगलवार को WHO यूरोप के 55 सदस्य राज्य ऑनलाइन मीटिंग का आयोजन कर रहे हैं। इस मीटिंग में नॉवेल कोरोना वायरस के लिए किए गए अपने प्रयासों पर वे चर्चा करेंगे। हालांकि कॉपनहेगन में क्लूग उन देशों को चेतावनी देना चाहते हैं जिनका मानना है कि वैक्सीन विकसित होने से महामारी का अंत हो जाएगा। उन्होंने कहा, मैं हमेशा सुनता हूं कि वैक्सीन विकसित होने के बाद दुनिया को महामारी से निजात मिल जाएगा। ऐसा नहीं है। हाल के कुछ सप्ताह में यूरोप में कोविड-19 मामलों में तेजी से बढ़त दर्ज हुई है विशेषकर स्पेन और फ्रांस में। केवल शुक्रवार को 55 देशों में 51 हजार से अधिक नए मामले सामने आए थे जो अप्रैल में सबसे अधिक चरम से भी ज्यादा है।

View More...

अमेरिका के दक्षिणी ओरेगन के जंगलों में लगी आग ने अब तक 35 लोगों जान, अन्य लापता

Date : 14-Sep-2020

ओरेगन (एजेंसी)। अमेरिका के दक्षिणी ओरेगन के जंगलों में लगी आग ने अब विकराल रूप धारण का रलिया है। आग में अब तक 35 लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है। जबकि काफी सारे लोग अब भी लापता हैं। पुलिस- प्रशासन की टीमें उन्हें बचाने की कोशिश कर रही हैं।

अधिकारियों ने बताया कैलिफोर्निया से लेकर वाशिंगटन तक के जंगलों में आग लगी हुई है। इस आग में जंगलों के बीच घर बनाकर रहने वाले 35 लोग मारे जा चुके हैं। जबकि 50 से ज्याद लोग अब भी लापता हैं। जैक्सन काउंटी के शेरिफ कार्यालय ने बताया कि शनिवार रात आग से चार लोगों की मौत हो गई। आग की वजह से 40,000 से अधिक लोगों को अपना घर छोड़कर भागने के लिए मजबूर होना पड़ा।
ओरेगन प्रांत के अधिकारियों के मुताबिक पिछले एक सप्ताह के दौरान करीब 10 लोगों की मौत हुई है, जबकि कई लोग अब भी लापता हैं। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। वहीं जंगल में आग से कैलिफोर्निया में 24 और वाशिंगटन में एक व्यक्ति की मौत हुई है। इन तीन राज्यों के गवर्नर ने इस भीषण आग के लिए जलवायु परिवर्तन को जिम्मेदार ठहराया है।

View More...

कोरोना का कहर : दुनिया भर में बिते 24 घंटों में मिले रिकार्ड 3,07,000 नए कोरोना मरीज

Date : 14-Sep-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना वायरस के नए आंकड़ों ने अभी तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं । पिछले 24 घंटों में पूरी दुनिया में रिकॉर्ड 3,07,000 नए कोरोना मामले सामने आए हैं । वहीं, 5,537 लोगों की मौत हुई है । 24 घंटे में सामने आए कुल कोरोना मामलों में हर तीसरा संक्रमित मरीज भारतीय है इससे पहले 6 सितंबर 2020 को सबसे ज्यादा कोरोना मामले दर्ज किए गए थे जब 24 घंटे में कुल नए कोरोना मरीजों की संख्या 306,857 तक पहुंच गई थी ।

इसमें सबसे ज्यादा मामले भारत, अमेरिका और ब्राजील से मिले हैं । आंकड़ों के मुताबिक भारत में 94,372 नए केस, अमेरिका में 45,523 नए केस और ब्राजील में 43,718 नए केस मिले हैं। पिछले 24 घंटे में भारत और अमेरिका में 1,000-1000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है, वहीं ब्राजील में 874 कोरोना मरीज जान गंवा चुके हैं. हालांकि, 24 घंटे में सबसे ज्यादा मौत का रिकॉर्ड 17 अप्रैल का है जब एक ही दिन में 12,430 कोरोना मरीजों की जान चली गई थी ।

देश में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं इस महामारी की चपेट में आ चुके कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 48 लाख के पार जा चुकी है. वहीं इस वायरस से अब तक 79 हजार लोगों की मौत हो चुकी है. देश में 37.7 लाख कोरोना मरीज ठीक हो चुके हैं और यहां स्वस्थ होने की दर करीब 77.77 फीसदी है ।

विश्व में इस जानलेवा वायरस के कारण 2.88 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं और 9.2 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका रहा है जहां 1.94 लाख लोग जान गंवा चुके हैं। अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर ब्राजील है जहां 1.31 लाख लोगों की जान गई है । इसके बाद भारत का नंबर आता है जहां 79 हजार से ज्यादा की मौत हो चुकी है । हालांकि, कुल कोरोना मामलों को देखें तो भारत ब्राजील से आगे है. ब्राजील में कुल मामले 43.30 लाख हैं और भारत में यह आंकड़ा 48 लाख के पार जा चुका है ।

View More...

नॉर्थ कोरिया में सरकार की आलोचना करने पर पांच कर्मचारियों को मारी गोली

Date : 13-Sep-2020

प्योंगयांग (एजेंसी)। नॉर्थ कोरिया में तानाशाहों की तानाशाही हमेशा चर्चा का विषय रही है। अब नॉर्थ कोरिया में पांच कर्मचारियों को अपनी सरकार की आलोचना इस कदर भारी पड़ी कि उन्हें गोली से उड़ा दिया गया। तानाशाह किम जोंग ने अपने पांच आर्थिक मंत्रालय के 5 कर्मचारियों को गोली से उड़ा दिया है। इन लोगों ने तानाशाह किम जोंग उन की नीतियों की आलोचना की थी। किम जोंग के फायरिंग स्क्वॉड ने कम्युनिस्ट पार्टी के इन अधिकारियों को गोली मारी। इन अधिकारियों ने एक पार्टी के दौरान देश की अर्थव्यवस्था पर चर्चा करते हुए औद्योगिक बदलावों की जरूरत बताई थी। बस, इतनी सी बात जब किम जोंग तक पहुंची तो उन्होंने गोली मारने के आदेश दे दिए।

यह घटना 30 जुलाई की बताई जा रही है। अधिकारियों ने कहा था कि किम जोंग की नीतियों की वजह से उत्तर कोरिया दुनिया के सबसे गरीब देशों में से एक हो गया है। इन अधिकारियों की बातचीत किम जोंग तक पहुंची तो उन्हें मीटिंग के लिए बुलाया गया और फिर सीक्रेट पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। फिर गोली मार दी गई।
जानकारी के मुताबिक इन अधिकारियों ने देश के लिए जरूरी विदेशी सहयोग की चर्चा की थी। इनके परिवारों को योडिओक के कैंप में भेज दिया गया है। हाल ही अपने अजीबोगरीब नियमों, कायदे कानूनों के लिए जाना जाने वाले देश नॉर्थ कोरिया ने कोरोना वायरस संक्रमितों को देखते ही गोली मारने का आदेश दे दिया था।

View More...

लॉस एंजेलिस काउंटी में वैन नुय्स विमान दुर्घटनाग्रस्त, दो लोगों की मौत

Date : 12-Sep-2020

लॉस एंजेलिस (एजेंसी)। लॉस एंजेलिस काउंटी में वैन नुय्स हवाई अड्डे के पास एक छोटे विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से दो लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी अधिकारियों ने दी लॉस एंजेलिस अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि घटना में किसी प्रत्यक्ष संरचना को क्षति नहीं पहुंची है।
विभाग के एक अधिकारी के बयान का हवाला देते हुए “प्रारंभिक जानकारी से संकेत मिला है कि एकल इंजन वाली नेवी बी विमान ने वान नुय्स हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी और वह सांता बारबरा काउंटी में सांता यनेज हवाई अड्डे के लिए रवाना हुई थी।”
घटना के गवाह रहे जमीन पर मौजूद एक सूत्र ने सीबीएस लॉस एंजेलिस को बताया कि विमान टेक ऑफ करने के बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया। उन्होंने आगे कहा कि विमान ने खड़ी उड़ानभरी थी और पार्किंग स्थल में नाक के बल पर गिरा। दुर्घटना के कारणों की जांच चल रही है।

View More...

लॉस एंजेलिस काउंटी में वैन नुय्स विमान दुर्घटनाग्रस्त, दो लोगों की मौत

Date : 12-Sep-2020

लॉस एंजेलिस (एजेंसी)। लॉस एंजेलिस काउंटी में वैन नुय्स हवाई अड्डे के पास एक छोटे विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से दो लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी अधिकारियों ने दी लॉस एंजेलिस अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि घटना में किसी प्रत्यक्ष संरचना को क्षति नहीं पहुंची है।
विभाग के एक अधिकारी के बयान का हवाला देते हुए “प्रारंभिक जानकारी से संकेत मिला है कि एकल इंजन वाली नेवी बी विमान ने वान नुय्स हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी और वह सांता बारबरा काउंटी में सांता यनेज हवाई अड्डे के लिए रवाना हुई थी।”
घटना के गवाह रहे जमीन पर मौजूद एक सूत्र ने सीबीएस लॉस एंजेलिस को बताया कि विमान टेक ऑफ करने के बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया। उन्होंने आगे कहा कि विमान ने खड़ी उड़ानभरी थी और पार्किंग स्थल में नाक के बल पर गिरा। दुर्घटना के कारणों की जांच चल रही है।

View More...

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने की 11 सितंबर को इजरायल और बहरीन के बीच एक ऐतिहासिक शांति समझौते की घोषणा

Date : 12-Sep-2020

वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 11 सितंबर को इजरायल और बहरीन के बीच एक ऐतिहासिक शांति समझौते की घोषणा की। रिपोर्टों के अनुसार, बहरीन के क्राउन प्रिंस सलमान बिन हमद अल खलीफा 15 सितंबर इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच पहले शांति समझौते के जश्न में शामिल होने के लिए वाशिंगटन का दौरा करेंगे।
`30 दिनों में इजरायल से जुड़ा दूसरा अरब देश`

इजरायल-बहरीन शांति समझौता ट्रम्प प्रशासन के लिए पिछले महीने इजरायल-यूएई शांति समझौते के बाद एक और राजनयिक जीत है। बहरीन अब मध्य पूर्व में इजरायल को पूरी तरह से मान्यता देने वाला चौथा राष्ट्र है। इजरायल के साथ राजनयिक संबंध रखने वाले अन्य मध्य पूर्वी देश मिस्र हैं, जिसने उसे 1979 में मान्‍यता दी थी, जबकि 1994 में वह जॉर्डन से संबंधों को सामान्य कर चुका है।
इससे पहले, अमेरिकी अधिकारियों ने कहा था कि वह वर्तमान में यूएई की तरह इज़राइल के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर के लिए अन्य अरब देशों के साथ बातचीत कर रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन के बाद सूडान भी इजरायल के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए तैयार है।
इजरायल और यूएई के बीच संबंधों को सामान्य बनाने वाले समझौते पर हस्ताक्षर समारोह 15 सितंबर को आयोजित किया जाएगा। दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल-नाहयान करेंगे। इजरायल के नेता ने समारोह को `ऐतिहासिक` कहा है और एक ट्वीट में कहा कि उन्हें समारोह में भाग लेने के लिए `गर्व` था।

00 ट्रम्प को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को 2021 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया गया है, क्‍योंकि उन्‍होंने इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच शांति समझौते में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है। नॉर्वेजियन संसद के एक सदस्य क्रिश्चियन टाइब्रिंग-गेज्डे ने ट्रम्प को नामित किया, जब उन्होंने दो मध्य पूर्व देशों के बीच संबंधों के सामान्यीकरण के लिए सौदे को सफलतापूर्वक पूरा किया।

View More...

अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने की घोषणा, 1,000 से अधिक चीनी छात्रों का वीजा किया रद्द

Date : 11-Sep-2020

वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को घोषणा की कि 1,000 से अधिक चीनी छात्रों के वीजा रद्द कर दिए गए हैं। रद्द किए गए वीजा की यह संख्या इस हफ्ते तक की है। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने मई के महीने में कुछ चीनी छात्रों और शोधकर्ताओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। उसके बाद अमेरिकी सरकार द्वारा दी गई यह पहली आधिकारिक संख्या है। उस समय चीनी छात्रों पर प्रतिबंध लगाते हुए ट्रंप ने कहा था कि उनका इस्तेमाल संवेदनशील अमेरिकी तकनीक और इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी को हासिल करने के लिए हो रहा है।

अमेरिका चीन पर एक यूनिवर्सिटी की कोविड-19 की रिसर्च चुराने की कोशिश का आरोप भी लगा चुका है और उसका कहना है कि देश में चीनी सरकार द्वारा जासूसी के मामले भी बढ़े हैं। ट्रंप अपने चुनाव अभियान में भी चीन पर कई गंभीर आरोप लगाते आए हैं। वे कोरोना वायरस को रोकने में चीन की भूमिका पर गंभीर सवाल उठा चुके हैं। ट्रंप कई बार अपने भाषणों में कोरोना वायरस को `चीनी वायरस` तक कह चुके हैं।

दूसरी ओर वीजा रद्द किए जाने पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा, `हम चीन से वैध छात्रों और विद्वानों का स्वागत करना जारी रखेंगे, जो चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सैन्य प्रभुत्व के लक्ष्यों को आगे नहीं बढ़ाते हैं। विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी साझा नहीं की कि किन लोगों के वीजा रद्द किए गए हैं। हालांकि, समाचार एजेंसी रॉयटर्स को अमेरिकी यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कई चीनी छात्रों ने बताया है कि उन्हें नोटिस मिला जिसमें कहा गया है कि उनके वीजा रद्द हो चुके हैं।

साल 2018-19 में करीब 3,70,000 चीनी छात्रों ने अमेरिकी विश्वविद्यालों में दाखिला लिया था और इन छात्रों ने फीस और अन्य शुल्क के तौर पर करीब 14 अरब अमेरिकी डॉलर अदा किए थे। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि वीजा रद्द करना कुछ ही छात्रों को प्रभावित करता है। गौरतलब है अमेरिका में उच्च शिक्षा हासिल करने वाले छात्र सबसे अधिक चीन उसके बाद भारत, दक्षिण कोरिया, सऊदी अरब और कनाडा से आते हैं।

View More...