International

यहां कोरोना के 91 हजार नए मामले दर्ज, सख्त लॉकडाउन के पक्ष में प्रधानमंत्री

Date : 21-Dec-2021

लंदन (एजेंसी)। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सोमवार को कहा कि कैबिनेट हर घंटे कोविड-19 के आंकड़ों की निगरानी कर रही है क्योंकि देश में रोजाना कोरोना वायरस संक्रमण का एक और रिकॉर्ड स्तर 91,743 दर्ज किया गया है।

एक लंबी कैबिनेट बैठक के बाद पीएम जॉनसन ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार कोरोना वायरस के मामलों में जारी उछाल के बीच क्रिसमस से पहले सख्त लॉकडाउन जैसे उपायों को अपनाने में संकोच नहीं करेगी।

उन्होंने घोषणा की कि आगे की कार्रवाई करने से पहले ओमिक्रॉन वैरिएंट के संबंध में कुछ चीजें स्पष्ट होनी चाहिए। दुर्भाग्य से मुझे लोगों से कहना होगा कि हमें जनता की रक्षा के लिए, सार्वजनिक स्वास्थ्य और हमारे राष्ट्रीय स्वास्थ्य ढांचे की रक्षा के लिए आगे की कार्रवाई करने के सभी विकल्पों और संभावनाओं को ध्यान रखना होगा।

उन्होंने कहा कि अभी भी कुछ चीजें हैं जिनके बारे में हमें आगे जाकर निर्णय लेने से पहले स्पष्ट होने की आवश्यकता है। फिलहाल मुझे लगता है कि हम सभी लोगों को मास्क पहनने, उचित स्थानों पर हाथ धोने के बारे में सभी सामान्य सामान के इस्तेमाल पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। इसलिए हम सावधानी बरत रहे हैं। लेकिन याद रखें कि ओमिक्रॉन वास्तव में कितना संक्रामक है।

पीएम जॉनसन ने कहा कि कठिन स्थिति के बीच निरंतर डाटा की समीक्षा की जा रही है, नतीजों की हर एक बारीकी पर गौर किया जा रहा है, क्योंकि लंदन के अस्पतालों में मरीजों के आने का क्रम जारी है।

जॉनसन ने कहा, जो लोग चाहे किसी भी कारण से टीकाकरण से अभी भी वंचित रह गए हैं, कृपया इसके बारे में अपने और अपने परिवार के लिए एक महान कार्य के रूप में सोचें और टीका जरूर लगवाएं। हम इसके आर्थिक पक्ष की भी समीक्षा करेंगे।

ब्रिटेन की ट्रेवल इंडस्ट्री को इन दिनों बड़े पैमाने पर नुकसान उठाना पड़ रहा है, ऐसे में उसने सरकार वित्तीय राहत की मांग की है। कारण कि लोग क्रिसमस के दौरान आमतौर पर वर्ष के सबसे व्यस्त समय के दौरान भीड़ से बचना चाहते हैं।

View More...

ओमिक्रॉन का कहर : ब्रिटेन में ओमिक्रॉन से 12 लोगों की मौत, यूरोपीय देशों में सख्ती व नीदरलैंड में लगा लॉकडाउन

Date : 21-Dec-2021

ब्रुसेल्स (एजेंसी)। कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट का जाल क्रिसमस से पहले ही दुनिया को बड़ी तेजी से अपने जाल में जकड़ता जा रहा है। करीब 92 देशों में दस्तक के बीच यह वैरिएंट यूरोप के अधिकांश देशों में फैलना शुरू कर चुका है। ब्रिटेन में ओमिक्रॉन से 12 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 104 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। इस बीच, यूरोपीय देशों में सख्ती व नीदरलैंड में लॉकडाउन लागू हो गया है।

ब्रिटेन के उप प्रधानमंत्री डॉमिनिक रॉब ने सोमवार को बताया कि इसी देश में ओमिक्रॉन से मौत का पहला मामला सामने आया था और अब तक 12 लोग इस नए वैरिएंट की वजह से मारे जा चुके हैं। देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट के एक दिन में 12,133 मामलों को देखते हुए ब्रिटिश कैबिनेट ने सोमवार को सख्त लॉकडाउन प्रतिबंधों के विकल्पों पर विचार किया। ब्रिटेन में ओमिक्रॉन के अब तक 37,101 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

संभावना है कि ब्रिटेन में क्रिसमस के बाद दो सप्ताह का लॉकडाउन लगाया जाएगा। जबकि जर्मनी और फ्रांस ने भी इस वैरिएंट से बचाव के लिए सख्ती शुरू कर दी है। ब्रिटेन और यूरोपीय देशों में क्रिसमस से ठीक पहले त्यौहार की भीड़ रोकने और नए वैरिएंट को फैलने से रोकने के तहत प्रतिबंधात्मक उपाय किए जा रहे हैं। नीदरलैंड में सख्त लॉकडाउन लागू हो गया है।

इस्राइल ने यात्रा प्रतिबंध सूची में अमेरिका, कनाडा व जर्मनी समेत 10 देश जोड़े

इस्राइल ने सोमवार को ओमिक्रॉन वैरिएंट के प्रसार को देखते हुए अमेरिका, कनाडा और जर्मनी समेत 10 देशों को अपनी नो-फ्लाई सूची में जोड़ते हुए यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं। इस संबंध में देश के भीतर 175 लोगों के ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित होने का हवाला दिया गया।

यात्रा प्रतिबंध की सूची में शामिल अन्य देश बेल्जियम, कनाडा, जर्मनी, हंगरी, इटली, मोरक्को, पुर्तगाल, स्विट्जरलैंड और तुर्की हैं। इसके साथ ही अमेरिका उन यूरोपीय देशों और अन्य देशों की सूची में शामिल हो गया है, जहां इस्राइली नागरिकों के यात्रा करने पर पाबंदी है और इन देशों से आने वाले यात्रियों को पृथक वास में रहना होगा।

अफ्रीका में 91.55 लाख पार हुए कोरोना मामले

अफ्रीकी सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (अफ्रीका सीडीसी) ने कहा है कि क्षेत्र में कोविड-19 के मामले 91.55 लाख तक हो गए हैं जबकि महाद्वीप में मरने वालों की संख्या 2.25 लाख तक हो गई है। अफ्रीका सीडीसी ने कहा, दक्षिण अफ्रीका, मोरक्को, ट्यूनीशिया और इथियोपिया इस महाद्वीप पर सबसे ज्यादा मामले वाले देशों में से हैं।

बूस्टर खुराक की अवधि घटाने पर विचार

ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमण में नई उछाल को रोकने के लिए कई देश कोविड-19 की बूस्टर खुराक का प्रतीक्षा समय छह माह से घटाकर तीन माह करने पर विचार कर रहे हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह संस्करण कोरोना के डेल्टा स्वरूप से भी ज्यादा तेजी से फैल रहा है। ऐसे में जल्द ही बूस्टर खुराक देने से सुरक्षा का स्तर बढ़ाया जा सकता है। स्पेन और लिथुआनिया ने बुजुर्गों या कमजोर लोगों के लिए बूस्टर डोज की पेशकश कर दी है। डब्ल्यूएचओ ने भी कहा है कि इस काम में तेजी लाना होगी।

View More...

ब्रिटेन और अमेरिका जैसे देशों में ओमिक्रॉन ने कहर, लोगों में दहशत का माहौल

Date : 20-Dec-2021

वाशिंगटन (एजेंसी)। दुनियाभर के कई देशों में ओमिक्रॉन का प्रसार तेजी से होने लगा है। ब्रिटेन और अमेरिका जैसे देशों में ओमिक्रॉन ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। लोगों में दहशत का माहौल है। इस बीच अमेरिकी विशेषज्ञों ने चेतावनी देते हुए कहा है कि डेल्टा वैरिएंट ने अमेरिका में तबाही मचाई थी लेकिन ओमिक्रॉन भी इसी रास्ते में है, यह वैरिएंट भी कई बड़े देशों के लिए खतरा बनता जा रहा है। विशेषज्ञों ने कहा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट इसलिए भी चिंताजनक है क्योंकि इससे संक्रमण फैलने की रफ्तार अन्य वैरिएंट से कई गुना ज्यादा है। यही एकमात्र कारण है जो इसे ज्यादा खतरनाक बनाता है।

लोग अभी पुराने हालात से संभल नहीं पाए हैं: विशेषज्ञ

ओमिक्रॉन से लड़ने के लिए बूस्टर शॉट्स की वकालत करते हुए, एक कार्डियोलॉजिस्ट और स्क्रिप्स रिसर्च ट्रांसलेशनल इंस्टीट्यूट के संस्थापक, डॉ एरिक टोपोल ने सीएनबीसी को बताया कि अमेरिकी नागरिक अभी भी पुराने हालात से संभल नहीं पाए हैं, अगर ओमिक्रॉन तेजी से फैलने लगा तो तबाही मचा सकता है। कई लोगों की जिंदगी खत्म हो जाएगी।

डॉ एरिक टोपोल ने पिछले हफ्ते सीएनबीसी को बताया कि हम अमेरिकी जनता को खतरा से बाहर निकालने की की जरूरत से पीछे हैं। उन्होंने कहा कि पूरी तरह से टीकाकरण का मतलब दो के बजाय तीन शॉट होना चाहिए। लोगों को बूस्टर डोज की बहुत जरूरत है। इसपर जल्द से जल्द अमल में लाना चाहिए।

डॉ. फाउसी ने कहा- अभी ओमिक्रॉन की गंभीरता पर बात करना जल्दबाजी

वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के शीर्ष चिकित्सा सलाहकार डॉ एंथनी फाउसी ने कहा है कि ओमिक्रॉन की गंभीरता पर बहुत अधिक डरने की जरूरत नहीं है लेकिन सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका का हवाला देते हुए कहा कि फिलहाल यहां अस्पताल में भर्ती होने का अनुपात डेल्टा की तुलना में कम है। यह व्यापक पिछले संक्रमणों से अंतर्निहित प्रतिरक्षा के कारण हो सकता है।

View More...

बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट से हमला, आसपास के इलाके में दहशत

Date : 20-Dec-2021

बगदाद (एजेंसी)। इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास रविवार सुबह लगातार दो रॉकेट दागे गए जिससे आसपास के इलाके में दहशत फैल गई। इराकी न्यूज एजेंसी ने सेना के हवाले से इसकी जानकारी दी। रिपोर्ट के अनुसार एक रॉकेट को सी-रैम रक्षा प्रणाली ने हवा में नष्ट कर दिया था, लेकिन दूसरा ग्रीन जोन में गिरा जिससे दो कारें क्षतिग्रस्त हो गईं। हताहतों की तत्काल कोई सूचना नहीं है।

View More...

भूटान प्रधानमंत्री मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजेगा

Date : 17-Dec-2021

थिम्फू (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। उन्हें जल्द ही एक और अंतरराष्ट्रीय सम्मान से नवाजा जाएगा। दरअसल, भूटान सरकार ने पीएम मोदी को भूटान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान Ngadag pel gi khorlo से सम्मानित करने की घोषणा की है। भूटान के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। 

जानकारी देते हुए भूटान पीएम कार्यालय ने लिखा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिना किसी शर्त के दोस्ती, भूटान के लिए उनके समर्थन और विशेष तौर पर कोरोना महामारी के दौरान की गई मदद के लिए भूटान उन्हें अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित करने का फैसला किया है। आगे लिखा गया है कि भूटान का हर नागरिक उन्हें इसके लिए बधाई देता है। इस उपलब्धि पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पीएम मोदी को बधाई भी दी है। 

View More...

रनवे पर निजी विमान दुर्घटनाग्रस्त, 9 लोगों की मौत

Date : 16-Dec-2021

डोमिनिका (एजेंसी)। डोमिनिकन गणराज्य से एक दुखद घटना सामने आई है। यहां एक रनवे पर निजी विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, इसमें नौ लोगों की मौत होने की आशंका है।  

इस गल्फस्ट्रीम विमान में सात यात्री और दो क्रू सदस्य सवार थे जो बुधवार को सैंटो डोमिंगो के लास अमेरिकास अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विमान कंपनी हेलिडोसा एविएशन ग्रुप ने इस हादसे की पुष्टि की है। दुर्घटना का कारण या आपातकालीन लैंडिंग की बात का अभी पता नहीं है।

कंपनी ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक बयान में लिखा कि हमारी कंपनी सक्रिय रूप से अधिक जानकारी प्राप्त करने और बचाव टीमों के साथ काम कर रही है। साथ ही कहा कि हमारे लिए यह हादसा काफी दुखद है। हम उन परिवारों के साथ हैं जो हमारे साथ इस कठिन समय से गुजर रहे हैं।

विमान में सवार लोगों की पहचान अभी की जा रही है। इस भयानक हादसे से जुड़े दुर्घटनास्थल की सोशल मीडिया पर वीडियो और तस्वीरें प्रसारित होने लगीं हैं। दूर से ही धुआं उठता नजर आ रहा है।

View More...

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन कोरोना संक्रमित

Date : 15-Dec-2021

सिडनी (एजेंसी)। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। मंगलवार को हुई कोरोना जांच में इसकी पुष्टि हुई है। खतरे वाली बात यह है कि शुक्रवार को ही वह सिडनी के एक स्कूल में आयोजित ग्रेजुएशन सेरेमनी में शामिल हुए थे। इस सेरेमनी में करीब 1000 लोग पहुंचे थे। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से बताया गया कि पीएम मॉरिसन में कोरोना की पुष्टि एक संक्रमित के संपर्क में आने के बाद हुई है।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि कोविड-19 संक्रमित पाए जाने के बाद प्रधानमंत्री के दो आरटी-पीसीआर टेस्ट निगेटिव आ चुके हैं। ऐसे में चिकित्सकों ने कहा है कि उन्हें आइसोलेशन में रहने की जरूरत नहीं है। इसके बावजूद स्कॉट मॉरिसन पूरी सतर्कता बरत रहे हैं। छह दिन बाद उनका फिर से टेस्ट किया जाएगा।बुधवार को ऑस्ट्रेलिया में 1360 कोरोना के नए मामले सामने आए। जबकि, मंगलवार को 804 कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

View More...

नवोन्मेष और उद्यमशीलता की भावना की साझा संस्कृति के साथ ब्रिटेन और भारत स्वाभाविक साझेदार : जॉनसन

Date : 15-Dec-2021

लंदन (एजेंसी)। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि ब्रिटेन और भारत स्वाभाविक साझेदार हैं जो 5जी, टेलिकॉम और विविध स्टार्टअप पर साझेदारी समेत कई बढ़िया परियोजनाओं पर मिलकर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से लोगों की जिंदगी बदलेगी और स्वतंत्रता, खुलापन और अमन के सिद्धांतों को बढ़ावा मिलेगा।

ग्लोबल टेक्नोलॉजी सम्मेलन को वीडियो लिंक के जरिए संबोधित करते हुए जॉनसन ने कहा कि आगामी दशक में भी भारत और ब्रिटेन प्रौद्योगिकी तथा अन्य क्षेत्रों में अपने संबंधों को मजबूत करना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि यह 2030 के लिए तय की गई भारत-ब्रिटेन की रूपरेखा के अनुरूप है। ब्रिटेन और भारत के रणनीतिक संबंधों को मजबूत करने के लिए 2030 की रूपरेखा पर जॉनसन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस वर्ष मई में एक ऑनलाइन शिखर सम्मेलन के दौरान हस्ताक्षर किए थे। जॉनसन ने कहा, नवोन्मेष और उद्यमशीलता की भावना की साझा संस्कृति के साथ ब्रिटेन और भारत स्वाभाविक साझेदार हैं। हम कई बढ़िया परियोजनाओं पर मिलकर काम कर रहे हैं जिनमें 5जी और टेलिकॉम पर ब्रिटेन-भारत साझेदारी और ब्रिटेन के स्टार्टअप शामिल हैं जो भारत की दिग्गज कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, एक साथ मिलकर, काम करके हम लोगों के जीवन को बदलने के लिए न केवल नई शुरुआत कर पाएंगे बल्कि ऐसी नई प्रौद्योगिकी को भी आकार देंगे जो स्वतंत्रता, खुलेपन और अमन के सिद्धांतों पर आधारित होगी।

ब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रस ने कहा कि इंफोसिस से लेकर टाटा तक भारत की दिग्गज कंपनियां पूरे ब्रिटेन में अपना कारोबार बढ़ा रही हैं, वहीं ब्रिटेन के ब्रांड भारत में उच्च गुणवत्ता वाले माल बेच रहे हैं और वित्त प्रौद्योगिकी, स्वच्छ प्रौद्योगिकी जैसी सेवाएं दे रहे हैं।

View More...

इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा जब कोई इस्रायली प्रधानमंत्री संयुक्त अरब अमीरात के पहुंचा दौरे पर, जोरदार हुआ स्वागत

Date : 14-Dec-2021

अबुधाबी (एजेंसी)। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब कोई इस्रायली प्रधानमंत्री संयुक्त अरब अमीरात के दौरे पर पहुंचा है। इस्रायली प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट का संयुक्त अमीरात में जोरदार स्वागत हुआ। इस दौरान वे द्विपक्षीय चर्चाओं के साथ-साथ यूएई के शासक से ईरान पर भी बातचीत करेंगे। एक इस्रायली राजदूत ने इस बारे में जानकारी दी। खाड़ी देशों के लिए इस्रायल हमेशा से अछूत जैसा रहा है। लेकिन नए बनते समीकरणों के बाद इस्रायल अरब देशों के करीब पहुंच रहा है। इसके पीछे अमेरिका ही है, जिसने पिछले साल अब्राहम समझौते के जरिए यह नया समीकरण तैयार किया है।

अमेरिकी दल भी जाएगा यूएई

इस्रायल और ईरान के बीच कट्टर दुश्मनी रही है। साल 2015 में इस्रायल ने वैश्विक शक्तियों और ईरान के बीच परमाणु समझौते का पुरजोर विरोध किया था। ईरान के साथ वैश्विक शक्तियों द्वारा न्यूक्लियर डील शुरू की कोशिशों ने इस्रायल को चिंता में डाल दिया है। वहीं एक अमेरिकी दल भी इसी हफ्ते यूएई के दौरे पर आने वाला है। माना जा रहा है कि इस दौरान अमेरिकी दल यूएई के बैंकों को ईरानी प्रतिबंधों का अनुपालन न करने पर चेतावनी दे सकते हैं। 

बातचीत में ईरान का मुद्दा उठेगा 

अबूधाबी में इस्रायली राजदूत आमिर हायक ने कहा कि बेनेट और अबूधाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद के बीच ईरान का मुद्दा जरूर उठेगा। इस्रायली अखबार हायोम ने अनाम अधिकारियों के हवाले से लिखा है कि इस बात की पूरी उम्मीद है कि इस्रायली प्रधानमंत्री नफ्ताली, शेख मोहम्मद से चर्चा के दौरान ईरान से आयातित मिलिशिया और ड्रोन का मुद्दा जरूर उठाएंगे। हालांकि हायक ने यह भी कहा कि इस्रायली प्रधानमंत्री यहां सिर्फ ईरान के मुद्दे पर बात करने के लिए नहीं आए हैं।

ईरान के खिलाफ संयुक्त रक्षा अभियान शुरू

इस्रायल ने पिछले महीने खाड़ी देशों के साथ ईरान के खिलाफ संयुक्त रक्षा अभियान शुरू किया है। हायक ने कहा कि यूएई को सैन्य साजो-सामान बेचने की प्रक्रिया चल रही है। हायक ने कहा कि इजरायल नए दोस्त के साथ सहयोग के लिए तैयार है। हम उन्हें लंबे समय के सहयोगी के रूप में देख रहे हैं। इस्रायली राजदूत के मुताबिक इस्रायल-यूएई द्विपक्षीय व्यापार 2021 में ही करीब 500 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। 2020 में यह महज 125 बिलियन डॉलर था।

View More...

बाइडन ने लोकतंत्र शिखर सम्मेलन में निष्पक्ष चुनावों और मीडिया स्वतंत्रता का मुद्दा उठाया

Date : 11-Dec-2021

वाशिंगटन (एजेंसी)। राष्ट्रपति जो बाइडन लोकतंत्र पर दो दिवसीय डिजिटल शिखर सम्मेलन का समापन चुनावी ईमानदारी के महत्व पर प्रकाश डालते हुए, निरंकुश शासनों का मुकाबला करने और स्वतंत्र मीडिया को मजबूत बनाने के संकल्प के साथ करना चाहते हैं। शिखर सम्मेलन के पहले दिन, बाइडन ने स्वतंत्र मीडिया, भ्रष्टाचार रोधी कार्यों और अन्य का समर्थन करने के लिए दुनिया भर में 42.4 करोड़ डॉलर तक खर्च करने की अमेरिका की योजना की घोषणा की।

इस पहल की घोषणा उन्होंने दुनिया भर में लोकतंत्र की कथित खतरनाक स्थिति को पलटने के लिए विश्व के नेताओं से उनके साथ काम करने का आह्वान करते हुए की। बाइडन ने पूछा, क्या हम अधिकारों और लोकतंत्र के अवमूल्यन को अनियंत्रित रूप से जारी रहने देंगे? या हम साथ मिलकर एक दृष्टिकोण बनाएंगे और एक बार फिर मानव प्रगति और मानव स्वतंत्रता की यात्रा को आगे बढ़ाने का साहस दिखाएंगे? राष्ट्रपति शुक्रवार दोपहर समापन कार्यक्रम को संबोधित करने वाले हैं। उन्होंने चीन और रूस का नाम लिये बिना बार-बार यह बात उठाई कि अमेरिका और समान विचारधारा वाले सहयोगियों को दुनिया को यह दिखाने की जरूरत है कि लोकतंत्र निरंकुशता की तुलना में समाज के लिए एक बेहतर माध्यम है। यह बाइडन की विदेश नीति के दृष्टिकोण का एक केंद्रीय सिद्धांत है – एक ऐसी प्रतिबद्धता है जिसे वह अपने पूर्ववर्ती ट्रंप के अमेरिका फर्स्ट दृष्टिकोण की तुलना में अधिक समावेशी बताते हैं।

View More...