Sports

टेस्ट सीरीज पर मंडरा रहे संकट के बादल, टीम इंडिया को 2 खिलाड़ी कोरोना संक्रमित

Date : 15-Jul-2021

लंदन (एजेंसी)। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। यह सीरीज नियमित समय पर शुरू होगी या नहीं कुछ भी कहना मुश्किल है। इंग्लैंड में कोरोना के मामलों में तेजी से हो रही बढ़ोतरी का असर भारतीय टीम पर भी पड़ा है। खबरों के मुताबिक टीम इंडिया को 2 खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। यह जानकारी मिलने के बाद खिलाड़ी को आइसोलेट कर दिया गया है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि टीम इंडिया में कोरोना संक्रमित खिलाड़ियों की संख्या बढ़ सकती है।

न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलने के बाद टीम इंडिया इन दिनों तीन हफ्ते के ब्रेक पर है। इस दौरान भारत के कई खिलाड़ी ब्रिटेन की अलग-अलग जगहों पर घूमने भी गए। इसी दौरान उनके कोरोना की चपेट में आने की आशंका की जा रही है।

ब्रिटेन में दो भारतीय खिलाड़ी कोरोना से प्रभावित हुए और अब दोनों अच्छा महसूस कर रहे हैं जिसमें से एक की रिपोर्ट निगेटिव आई है। दूसरे खिलाड़ी का टेस्ट 18 जुलाई को किया जाएगा तब तक उसका 10 दिन का आइसोलेशन समय पूरा हो चुका होगा।
सूत्रों के अनुसार दोनों खिलाड़ियों में कोरोना के शुरूआती लक्षण दिखाई दिए, जिसके बाद उनकी कोरोना जांच कराई गई। सूत्र ने आगे कहा कि परेशान होने वाली कोई बात नहीं है, जो खिलाड़ी संक्रमित हुआ था उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसके बाद दूसरे खिलाड़ी की जांच 18 जुलाई को की जाएगी जो अभी आइसोलेट है।

सूत्र से जब आगे यह पूछा गया कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के बाद भारतीय खिलाड़ी ब्रेक पर थे क्या ऐसे में कोरोना को लेकर चिंता और बढ़ सकती है। इस सवाल के जवाब में सूत्र ने कहा, बाकी खिलाड़ी स्वस्थ हैं, उनकी नियमित अंतराल पर जांच होगी और नियमों का पालन कड़़ाई से होगा, खिलाड़ियों की सुरक्षा हमारा सर्वोपरि उद्देश्य है।

View More...

पूर्व भारतीय मध्यक्रम बल्लेबाज यशपाल शर्मा का हार्ट अटैक से निधन

Date : 13-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। पूर्व भारतीय मध्यक्रम बल्लेबाज यशपाल शर्मा का मंगलवार को हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया है। पारिवारिक सूत्रों ने उनके निधन की जानकारी दी। यशपाल शर्मा 1983 में कपिल देव की अगुवाई में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य थे। उन्होंने 37 एकदिवसीय और 42 टेस्ट में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। वह 1979-83 तक भारतीय मध्य क्रम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा थे। उन्होंने कुछ वर्षों के लिए राष्ट्रीय चयनकर्ता के रूप में भी काम किया और 2008 में उन्हें फिर से पैनल में नियुक्त किया गया।

यशपाल शर्मा 66 साल के थे। यशपाल शर्मा 1983 के वर्ल्ड कप में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी थे। उन्होंने 37 टेस्ट मैचों में 33.45 की औसत से 1606 और 42 वनडे मैचों में 28.48 की औसत से 883 रन बनाए।

इंटरनेशनल क्रिकेट के अलावा घरेलू क्रिकेट में भी यशपाल शर्मा ने खूब रन बनाए। उन्होंने 160 फर्स्ट क्लास मैचों में 44.88 की औसत से 8933 रन बनाए। वहीं, 74 लिस्ट ए मैचों में 34.42 की औसत से 1859 रन बनाए।

View More...

भारत और श्रीलंका के बीच क्रिकेट श्रृंखला अब 18 जुलाई से शुरु

Date : 10-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। श्रीलंकाई खेमे में कोरोना संक्रमण का मामला पाये जाने के बाद भारत और श्रीलंका के बीच सीमित ओवरों की क्रिकेट श्रृंखला अब 18 जुलाई से शुरू होगी । बीसीसीआई सचिव जय शाह ने शनिवार को पीटीआई को यह जानकारी दी ।

यह श्रृंखला पहले 13 जुलाई से शुरू होनी थी लेकिन श्रीलंका के बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर और डाटा विश्लेषक जी टी निरोशन के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद इसे चार दिन के लिये आगे खिसका दिया गया । श्रीलंकाई टीम ब्रिटेन का दौरा करके लौटी थी । शाह ने कहा, भारत और श्रीलंका के बीच वनडे श्रृंखला अब 18 जुलाई से शुरू होगी क्योंकि मेजबान टीम में कोरोना संक्रमण का एक मामला आया है । तीन वनडे मैच 18, 20 और 23 जुलाई को प्रेमदासा स्टेडियम पर होंगे जबकि टी20 मैच 25 जुलाई से शुरू होंगे ।

View More...

आईसीसी एकदिवसीय रैंकिंग में फिर शीर्ष स्थान हासिल किया मिताली ने

Date : 07-Jul-2021

दुबई (एजेंसी)। भारतीय कप्तान मिताली राज ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला में शानदार प्रदर्शन की बदौलत तीन साल से अधिक समय बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की महिला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में एक बार फिर शीर्ष स्थान हासिल किया।

भारत को श्रृंखला में 1-2 से हार झेलनी पड़ी लेकिन 38 साल की मिताली ने तीनों मुकाबलों में अर्धशतक जड़े। मिताली ने पहले दो वनडे में 72 और 59 रन की पारी खेली जबकि तीसरे और अंतिम मुकाबले में उनकी नाबाद 75 रन की पारी की बदौलत भारत मैच जीतने में सफल रहा। मिताली चार स्थान के फायदे से शीर्ष पर पहुंच गई हैं। वह पिछली बार फरवरी 2018 में रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंची थी। मिताली पहली बार अप्रैल 2005 में रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंची थी। उन्होंने तब पोटचेफस्ट्रूम में विश्व कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ नाबाद 91 रन बनाए थे। पहली बार और आखिरी बार रैंकिंग में शीर्ष पर होने के बीच 16 साल का अंतर किसी भी महिला बल्लेबाज के लिए सबसे अधिक है।

इंग्लैंड की जेनेट ब्रिटिन 1984 में पहली बार और 1995 में आखिरी बार नंबर एक बनी थी जबकि न्यूजीलैंड की डेबी हॉकले एक अन्य महिला बल्लेबाज हैं जिनके नंबर एक पर काबिज होने में 10 साल से अधिक का अंतर है। हॉकले पहली बार 1987 और आखिरी बार 1997 में रैंकिंग में शीर्ष पर थीं। आक्रामक भारतीय सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने अंतिम दो वनडे में 44 और 19 रन की पारी खेली जिससे वह 49 स्थान की लंबी छलांग के साथ 71वें पायदान पर पहुंच गई हैं। अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी चार स्थान के फायदे से 53वें स्थान पर हैं। गेंदबाजों की सूची में आलराउंडर दीप्ति शर्मा एक स्थान के फायदे से 12वें स्थान पर पहुंच गई हैं। उन्होंने अंतिम मुकाबले में 47 रन देकर तीन विकेट चटकाए। इंग्लैंड की सलामी बल्लेबाज लॉरेन विनफील्ड हिल 14 स्थान के फायदे से 41वें स्थान पर हैं। उन्होंने 42 और 36 रन की पारियां खेली।

सोफिया डंकले नाबाद 73 और 28 रन की पारियां खेलने के बाद 80 स्थान की लंबी छलांग के साथ 76वें पायदान पर हैं। बायें हाथ की स्पिनर सोफी एक्लेस्टोन गेंदबाजों की सूची में चार स्थान के फायदे से करियर के सर्वश्रेष्ठ छठे स्थान पर पहुंच गई हैं। उन्होंने दो मैचों में पांच विकेट चटकाए। दूसरे मैच में 34 रन देकर पांच विकेट चटकाने वाली केट क्रॉस 25वें से 18वें स्थान पर पहुंच गई हैं। नेट स्किवर और सारा ग्लेन एक-एक स्थान के फायदे के साथ क्रमश: 22वें और 43वें स्थान पर हैं। महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रैंकिंग में पाकिस्तान की स्पिनर निदा डार छह स्थान के फायदे से 15वें स्थान पर हैं। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला में चार विकेट चटकाए। वह देश की पहली महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 100 विकेट चटकाए।

वेस्टइंडीज की शामिला कोर्नेल 14 स्थान के फायदे से 27वें स्थान पर हैं। कप्तान स्टेफनी टेलर अंतिम मैच में हैट्रिक सहित चार विकेट चटकाने के बाद 10 स्थान के फायदे से 42वें पायदान पर पहुंच गई हैं। फातिमा सना 85 स्थान के फायदे से 94वें स्थान पर पहुंच गई हैं। बल्लेबाजों की सूची में चेडीन नेशन 17 स्थान आगे बढ़कर 61वें जबकि काइसिया नाइट 20 स्थान के फायदे से 71वें स्थान पर हैं।

View More...

मैरीकॉम और मनप्रीत टोक्यो ओलंपिक के उद्घाटन समारोह में होंगे भारत के ध्वजवाहक

Date : 06-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। छह बार की विश्व चैंपियन मुक्केबाज `सुपरमॉम` मैरीकॉम और पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह टोक्यो ओलंपिक के उद्घाटन समारोह में भारत के ध्वजवाहक होंगे। सोमवार को इस बात की जानकारी आईओए ने दी। बता दें कि ओलंपिक का उद्घाटन समारोह 23 जुलाई को होगा। वहीं, आठ अगस्त को इस खेलों का समापन होगा। इसके अलावा समापन समारोह में पहलवान बजरंग पूनिया को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया है।

पहली बार ऐसा हुआ है जबकि ओलंपिक में भारत के दो ध्वजवाहक (एक पुरुष और एक महिला) होंगे। आईओए प्रमुख नरिंदर बत्रा ने हाल ही में आगामी टोक्यो खेलों में `लैंगिक समानता` को सुनिश्चित करने के लिए इस बात की जानकारी दी थी। रियो डी जनेरियो में 2016 खेलों के उद्घाटन समारोह में देश के एकमात्र व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ध्वजवाहक थे। कोविड-19 महामारी के कारण एक साल के लिए स्थगित हुए टोक्यो ओलंपिक में 100 से अधिक भारतीय खिलाड़ी भाग लेंगे।

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने पिछले साल कार्यकारी बोर्ड की बैठक में उद्घाटन समारोह में महिला और पुरुष ध्वजवाहकों के लिए प्रावधान किया था। मैरीकॉम ने कहा, `मैं बहुत खुश हूं कि मुझे यह अवसर मिला। मैं साई, आईओए, खेल मंत्रालय और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देना चाहती हूं। हर किसी के लिए यह मौका देना आसान नहीं है।`वहीं पहलवान बजरंग पुनिया 8 अगस्त को टोक्यो खेलों के समापन समारोह में भारतीय ध्वजवाहक होंगे।

View More...

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों भारतीय टीम की हार के बाद कोहली की कप्तानी को लेकर उठ रहे सवाल

Date : 05-Jul-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली पर कई सवाल उठने लगे हैं। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों भारतीय टीम की हार के बाद विराट कोहली की कप्तानी को लेकर सवाल उठ रहे हैं। सवाल उठाने वालों में सौरव गांगुली के पूर्व कप्तान और कमेंटेटर दीप दासगुप्ता का नाम भी शामिल हो गया है। यही नहीं, उन्होंने रोहित शर्मा को कैप्टेंसी का दावेदार भी बताया है।

विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया ने 2017 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी, 2019 में आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप और 2021 में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप अपने नाम करने का मौका गंवाया है। दीप दासगुप्ता ने सवाल-जवाब सेशन के दौरान कहा कि टी20 वर्ल्ड कप को देखते हुए टीम की कप्तानी में कुछ बदलाव हो सकते हैं।

बता दें कि दीप दासगुप्ता की अगुआई में सौरव गांगुली बंगाल रणजी ट्रॉफी का हिस्सा रह चुके हैं। दीप दासगुप्ता की कप्तानी में बंगाल ने 2006-07 में रणजी ट्रॉफी का फाइनल भी खेला था। दीप दासगुप्ता एक फैन ने सवाल पूछा था कि क्या रोहित शर्मा को सीमित ओवर फॉर्मेट की कप्तानी देने का यह सही समय है?

दीप दासगुप्ता ने कहा, मैं यह तो नहीं कहूंगा कि यह सही समय है, लेकिन मैं यह जरूर कहूंगा कि रोहित निश्चित रूप से एक विकल्प हैं। मेरा मानना है कि यह बहुत कुछ टी20 वर्ल्ड कप पर निर्भर है। आज की बात करें तो इस समय कप्तानी में बदलाव करना बहुत मुश्किल है। अभी आपके सामने सिर्फ 3-4 महीने ही बचे हैं। आप कैप्टेंसी चेंज करेंगे? कैप्टेंसी चेंज करने का मतलब है कि टीम को नए कप्तान और उसकी स्टाइल के साथ जुड़ना। नए कप्तान पर भी यही कंडीशंस लागू होती हैं।

उन्होंने कहा, यह सही है कि रोहित सीमित ओवर फॉर्मेट में टीम इंडिया की अगुआई कर चुके हैं, लेकिन फुल-टाइम और पार्ट-टाइम कप्तान में बहुत अंतर होता है। स्टैंड-इन कप्तान के रूप में आप ज्यादा बदलाव नहीं करते हैं। लेकिन जब आप फुल-टाइम कप्तान बनते हैं तो निश्चित रूप से वैसा बदलाव चाहते हैं, जैसा आप टीम को अपने हिसाब से चलाना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, मेरे ख्याल से तीन महीने पहले कप्तानी में बदलाव करना रोहित और टीम इंडिया दोनों के लिए यह गलत होगा। लेकिन मैं सोचता हूं कि इस लिहाज से टी20 वर्ल्ड कप बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। यदि वहां पर अगर कुछ ऊपर-नीचे होता है तो निश्चित रूप से रोहित कप्तान बनने के प्रबल दावेदार होंगे।

View More...

भारतीय महिला क्रिकेटर पर नेशनल एंटी डोप एजेंसी ने चार साल का लगाया प्रतिबंध

Date : 29-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय महिला क्रिकेटरअंशुला राव पर नेशनल एंटी डोप एजेंसी (नाडा) ने चार साल का प्रतिबंध लगा दिया है। भारतीय महिला क्रिकेटर अंशुला राव डोप टेस्ट में फेल हो गई हैं। अंशुला डोप टेस्ट में फेल होने वाली भारत की पहली महिला क्रिकेटर हैं। मध्यप्रदेश से ताल्लुक रखने वाली अंशुला राव के दोनों सैंपल की टेस्टिंग के बाद यह फैसला लिया गया। इस दौरान उनके बी सैंपल में आई जांच में उन्हें 2 लाख रुपये का खर्च भी उठाना पड़ेगा।

अंशुला एक आॅलराउंडर के तौर पर खेलती हैं। वह कई टूनार्मेंट में मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। अंशुला पर ये कार्रवाई एंटी डोपिंग एजेंसी के पैनल की तरफ से की गई है जिसने अपने बयान में कहा था कि अंशुला ने अधिक परफॉर्मेंस बढ़ाने के लिए जानबूझकर प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया।

अंशुला आखिरी बार 2019-20 सत्र में अंडर 23 टूनार्मेंट में खेलने उतरी थीं। वहीं बीते साल मार्च में प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन करने की वजह से उन्हें सस्पेंड किया गया था। अंशुला इस मामले में सही जानकारी देने में असफल रही थीं।

अंशुला के दो सैंपल की जांच करने के लिए बेल्जियम भेजा गया था। जिनमें प्रतिबंधित पदार्थ पाए गए। पैनल के सामने अपना बचाव करते हुए अशुला ने कहा कि डोप टेस्ट और नाडा द्वारा लगाए गए आरोपों के बीच करीब 4 महीने का वक्त बीत चुका है। अंशुला के मुताबिक बी सैंपल की जांच के लिए उनसे 2 लाख रुपये देने को कहा गया जो अनुचित है।

वहीं अगर भारतीय पुरुष क्रिकेटरों की बात की जाए तो इससे पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर पृथ्वी शॉ पर भी डोप टेस्ट में फेल होने की वजह से प्रतिबंध लगाया जा चुका है। 2019 घरेलू सत्र के दौरान कप सीरप लेने के कारण वह डोप टेस्ट में फंस गए थे। जिसके बाद बीसीसीआई ने उन पर 8 महीने का बैन लगाया था। बाद में पृथ्वी शॉ ने कहा था कि वह खांसी से काफी परेशान थे जिसके बाद उन्होंने अपने पिता से पूंछकर सीरप ली थी।

View More...

फ्रैंचाइजियों टीम ने यूएई जाने का लिया फैसला, बीसीसीआई से किया आग्रह

Date : 25-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। आईपीएल (IPL 2021) को कोरोना संक्रमण के चलते स्थगित कर दिया गया था लेकिन इस टूर्नामेंट के बाकी बचे मैचों का आयोजन यूएई में करवाने का फैसला हाल ही में लिया गया था। आईपीएल 2021 के बाकी बचे मैचों की शुरुआत सितंबर माह के तीसरे हफ्ते में हो सकती है। इसलिए 2 महीने पहले से टीम फ्रैंचाइजियों ने यूएई जाने का फैसला लिया और अपनी-अपनी टीमों की तैयारियों की शुरुआत करने पर विचार किया है। खबरों के मुताबिक आईपीएल की कुछ फ्रैंचाइज़ी के अधिकारी 6 जुलाई के बाद यूएई जाने का विचार कर रहे हैं और वहां के हालातों का जायजा लेते हुए टीम के रहने से लेकर सभी सुख सुविधाओं का इन्तेजाम करेंगे।

आईपीएल की एक फ्रैंचाइज़ी के अधिकारी ने कहा है कि हमारा यूएई जाना अभी जरुरी है क्योंकि इस बार के हालात 2020 के मुकाबले अलग हैं। सभी सुविधाओं की बुकिंग करने में भी मुश्किल आ सकती है, क्योंकि यूएई में अब यात्री ज्यादा जा रहे हैं। इसलिए हम 6 जुलाई के बाद यूएई जाने का विचार कर रहें। यदि हमें बीसीसीआई और सरकार से जाने की अनुमति मिल जाती है, तो हम अपनी टीम के लिए सभी सुविधाओं का प्रबंध कर सकेंगे। पिछले साल के मुकाबले लोग यहाँ ज्यादा तादाद में यात्रा कर रहे हैं। ऐसे में कोविड प्रोटोकॉल और बायो बबल को लेकर भी हमें विचार करना जरुरी है।

आईपीएल 2021 की शुरुआत 19 सितंबर से होगी और फाइनल मुकाबला 15 अक्टूबर को खेला जायेगा। आईपीएल के इस सत्र के पहले भाग में 29 मुकाबले खेले गएँ और बाकी बचे मुकाबले यूएई में आयोजित किये जायेंगे। आईपीएल के तुरंत बाद आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन किया जायेगा। विदेशी टीमों के कई खिलाड़ियों ने बाकी बचे मैचों में खेलने से मना कर दिया है, तो अंतरराष्ट्रीय शेड्यूल के चलते कई खिलाड़ी उपलब्ध नहीं हो पायेंगे। फ़िलहाल बीसीसीआई और आईपीएल फ्रैंचाइज़ी के सामने यह सबसे बड़ी चुनौती है।

View More...

भारत के महान खिलाड़ियों में से एक महान खिलाड़ी की कमीं : छत्तीसगढ़ सिख समाज

Date : 20-Jun-2021

रायपुर। छत्तीसगढ़ सिख समाज के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत के गोल्ड मेडलिस्ट विश्व विख्यात एथलीट्स फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह के निधन पर अफसोस करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की है। छत्तीसगढ़ सिख समाज के प्रदेश अध्यक्ष ने इसे भारत के महान खिलाड़ियों में से एक महान खिलाड़ी की कमीं बताया। छत्तीसगढ़ शिक्षा मार्च के प्रदेश अध्यक्ष के अनुसार यह राष्ट्र के साथ-साथ सिख समाज की बहुत बड़ी क्षति है। मिल्खा सिंह देश की विरासत के साथ-साथ समाज की विरासत भी थे।

उल्लेखनीय है कि भारत के उड़न सिख यानी फ्लाइंग सिख के नाम से विख्यात महान धावक मिल्खा सिंह का एक महीने तक कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद शुक्रवार देर रात 11:30 बजे चंडीगढ़ में निधन हो गया। इससे पहले रविवार को उनकी 85 वर्षीया पत्नी और भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान निर्मल कौर ने भी कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया था।

परिवार के अनुसार कोरोना वायरस से संक्रमित होने के करीब एक महीने बाद 91 वर्षीय इस महान धावक का निधन हो गया। 1958 के राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन और 1960 के ओलिंपियन ने चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में अंतिम सांस ली। मिल्खा 20 मई को कोरोना वायरस की चपेट में आए थे। उनके पारिवारिक रसोइए को कोरोना हो गया था, जिसके बाद मिल्खा और उनकी पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह कोरोना पॉजिटिव हो गए थे।

इसके बाद उन्हें 24 मई को उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्हें 30 मई को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। इसके बाद 03 जून को ऑक्सीजन स्तर में गिरावट के बाद उनहें पीजीआईएमईआर के नेहरू हॉस्पिटल एक्सटेंशन में भर्ती करवाया गया। गुरुवार को उनकी कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। उनकी हालत शुक्रवार शाम को ज्यादा खराब हो गई थी और बुखार के साथ आक्सीजन भी कम हो गई थी। हालांकि, गुरुवार की शाम से पहले उनकी हालत स्थिर हो गई थी। उनके परिवार में उनके बेटे गोल्फर जीव मिल्खा सिंह और तीन बेटियां हैं।

एशियाई खेलों के चार बार स्वर्ण पदक विजेता
चार बार के एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता मिल्खा ने 1958 राष्ट्रमंडल खेलों में भी पीला तमगा हासिल किया था। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हालांकि 1960 के रोम ओलंपिक में था जिसमें वह 400 मीटर फाइनल में चौथे स्थान पर रहे थे। उन्होंने 1956 और 1964 ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया। उन्हें 1959 में पद्मश्री से नवाजा गया था ।

पद्मश्री पिता-पुत्र की पहली जोड़ी
जीव मिल्खा सिंह को पद्मश्री सम्मान से नवाजा जा चुका है। ऐसे में मिल्खा सिंह और उनके बेटे जीव मिल्खा सिंह देश के ऐसे इकलौते पिता-पुत्र की जोड़ी है, जिन्हें खेल उपलब्धियों के लिए पद्मश्री मिला है। छत्तीसगढ़ सिख समाज उन्हें हमेशा याद रखेंगा।

View More...

देश के महान धावक मिल्खा सिंह कोरोना से निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

Date : 19-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद शुक्रवार देर रात 11ः30 बजे चंडीगढ़ में देश के महान धावक मिल्खा सिंह ने हम सभी को अलविदा कह दिया है। भले ही फ्लाइंग सिख हम सभी के बीच में अब नहीं रहे लेकिन उनके विचार आज भी युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। पद्मश्री सम्मानित मिल्खा सिंह के जाने का गम देश के हर नौजवान, राजनेता व सभी को है। जब से ‘उड़न सिख’ कि निधन की खबर सुर्खियों में आई है तब से ही सोशल मीडिया पर हर तरह के लोग अपनी प्रतिक्रिया जाहिर कर रहे हैं।

इस शोक को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी ट्विटर के माध्यम से शोक व्यक्त करते हुए कहा कि-
‘‘मिल्खा सिंह के निधन से हमने एक महान खिलाड़ी को खो दिया, जिनका असंख्य भारतीयों के हृदय में विशेष स्थान था। अपने प्रेरक व्यक्तित्व से वे लाखों के चहेते थे। मैं उनके निधन से आहत हूॅं’’। पीएम ने आगे लिखते हुए कहा कि ‘‘मैंने कुछ दिन पहले ही मिल्खा सिंह से बात की थी। मुझे नहीं पता था कि यह हमारी आखिरी बात होगी। उनके परिवार और दुनिया भर में उनके प्रशंसकों को मेरी संवेदनाएं’’।

मिल्खा सिंह के निधन से बाॅलीवुड में भी कई सितारे अपना शोक जाहिर कर रहे हैं ऐसे ही खिलाड़ियों के खिलाड़ी कहे जाने वाले अभिनेता अक्षय कुमार ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि ‘‘मिल्खा सिंह के निधन के बारे में सुनकर बेहद दुखी हूॅं। ऐक ऐसा किरदार जिसे मैंने अभी तक परदे पर नहीं निभाया और जिसका पछतावा मुझे हमेशा रहेगा! शायद आपके पास अब स्वर्ग में सुनहरी दौड़ है। ओम शांति, सर’’।

भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े-बड़े राजनेताओं ने भी मिल्खा सिंह के जाने का दुख व्यक्त किया है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजय वर्गीय ने भी अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से दुख जाहिर करते हुए लिखा है कि ‘‘ विनम्र श्रध्दांलि!!! ‘पद्मश्री’ से सम्मानित ‘फ्लाइंग सिख’ मिल्खा सिंह का खेल जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। ईशवर दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान व परिजनों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

देश की आम जनता व युवाओं के लिए आज भी प्ररेणा स्त्रोत रहे मिल्खा सिंह के जाने का दुख सभी को है। हर व्यक्ति अपने-अपने तरीके से यह दुख बंया कर रहा है। ऐसे ही ट्वीटर पर एक शख्स ने कहा कि ‘‘सर आपसे मिलना संभव नहीं हो पाया। आप हमेशा ही मेरे विचारों में रहेगें’’। दूसरा यूजर लिखता है कि ‘‘आपकी कमी शायद अब कोई पूरी नहीं कर पाएगा’’। ऐसे ही ट्वीटर पर मिल्खा सिंह के निधन पर ट्रेंड चलते हुए लोग अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

View More...