Sports

ऋषभ पंत ने की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी, शतक के लिए चूके 3 रन से, बनाया बड़ा रिकॉर्ड

Date : 11-Jan-2021
सिडनी (एजेंसी)। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर गावस्कर सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी में खेला जा रहा है। सिडनी टेस्ट मैच का पांचवा दिन काफी रोमांचक रहा है। सिडनी टेस्ट के पांचवे दिन की शुरूआत में ही टीम इंडिया को अजिंक्य रहाणे के रूप में पहला झटका लगा। इसके बाद बल्लेबाजी को आए ऋषभ पंत। ऋषभ पंत को पहली पारी के दौरान चोट कोहनी पर गेंद लगी थी। पहली पारी में चोटिल होने के बाद पंत दूसरी पारी में विकेटकीपिंग के लिए नहीं आए थे। लेकिन दूसरी पारी में पंत बल्लेबाजी को जरूर आए।
 
ऋषभ पंत को हनुमा विहारी से पहले बल्लेबाजी के लिए भेजा गया था। ऋषभ पंत से फैंस को काफी उम्मीदें थी और वो उन उम्मीदें पर खड़े भी उतरे। पांचवे दिन के पहले सेशन में ऋषभ पंत ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। हालांकि, वो अपने शतक से तीन रन से चूक जरूर गए, लेकिन टीम इंडिया उनकी बल्लेबाजी के दम पर ही मजबूत परिस्थिति में पहुंची है। ऋषभ पंत जब पुजारा के साथ मिलकर बल्लेबाजी कर रहे थे, तब एक बार ऐसा भी लगा कि टीम इंडिया यह मैच अपने नाम कर सकती है। वहीं अपनी इस पारी के दौरान ऋषभ पंत ने अपने नाम एक बड़ा रिकॉर्ड भी दर्ज कर लिया है।
 
ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में किसी भी एशियन विकेटकीपर द्वारा सबसे अधिर रन बनाने वाले विकेटकीपर बन गए हैं। उन्होंने इस मामलें में टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी को पीछे छोड़ा है। सैयद किरमानी ने बतौर विकेटकीपर 471 रन बनाए थे। ऋषभ पंत ने इस मैच की पहली पारी में 36 रनों की पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया में अपने 400 रन पूरे किए थे। इसके बाद 97 रनों की पारी के दम पर उन्होने सैयद को पीछे छोड़ दिया। इस पारी के बाद ऋषभ पंत के ऑस्ट्रेलिया में 512 रन हो गए हैं और उनका औसत 56।88 का है।
 
वहीं किसी टेस्ट मैच की चौथी पारी में सबसे अधिक रन बनाने वाले भारतीय विकेटकीपरों की बात करें तो उसमें शुरूआती दो स्थानों पर ऋषभ पंत का ही नाम है। इससे पहले पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ ओवर के मैदान पर 114 रनों की पारी खेली थी। वहीं इस मैच में उन्होंने 97 रनों की पारी खेली और दूसरे स्थान पर उनकी यह पारी है। महेंद्र सिंह धोनी द्वारा साल 2007 में लॉर्डस के मैदान पर खेली गई 76 रनों की पारी लिस्ट में तीसरे स्थान पर हैं। इस मैच में भी पंत ने 25 से अधिक का स्कोर किया है। ऐसे में वो ऑस्ट्रेलिया में लगातार 10 पारियों में 25+ का स्कोर करने वाले मेहमान बल्लेबाज बन गए हैं।
View More...

भारत और ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच : ऑस्ट्रेलिया को लगा पहला झटका, सिराज ने पुकोव्स्की को किया आउट

Date : 09-Jan-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जा रहा है। मैच के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 338 रन पर सिमटी थी। भारत ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर 2 विकेट के नुकसान पर 96  रन बनाए थे। तीसरे दिन भारत ने 2 विकेट पर 96 रन के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया। भारत की पहली पारी 244 रन पर सिमट गई और ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी के आधार पर 94 रन की अहम बढ़त हासिल की। अब तक दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने 6 ओवर में 1 विकेट के नुकसान के 16 रन बनाए थे। 

ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी, सिराज ने दिया झटका

दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। पहला टेस्ट खेल रहे विल पुकोव्स्की मोहम्मद सिराज की गेंद पर 10 रन बनाकर आउट हुए। उनका कैच चोटिल रिषभ पंत की जगह विकेटकीपिंग कर रहे रिद्धिमान साहा ने लपका।

भारत की पारी 244 रन पर सिमटी, पुजारा-गिल का अर्धशतक

तीसरे दिन की शुरुआत भारत के लिए अच्छी नहीं रही और कप्तान अजिंक्य रहाणे 22 रन बनाकर पैट कमिंस की गेंद पर बोल्ड हो गए। दूसरे दिन वह 5 रन के स्कोर पर नाबाद लौटे थे। दूसरे दिन हनुमा विहारी के रूप में भारत को दूसरा झटका लगा जब 4 रन के स्कोर पर वह रन आउट होकर वापस लौटे। पुजारा ने 174 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। यह टेस्ट इतिहास में किसी भी बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सबसे धीमा अर्धशतक रहा।

View More...

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर, भारतीय टीम का स्कोर 60 के पार, रोहित और शुभमन क्रीज पर

Date : 08-Jan-2021

स्पोर्ट डेस्क (एजेंसी)। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जा रहा है। पहले दिन मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया था। बारिश की वजह से पूरे दिन 55 ओवर का खेल ही हो पाया था। दूसरे दिन मैच आधा घंटा पहले शुरू किया गया। मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने 166 रन पर दो विकेट से आगे खेलना शुरु किया, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने स्टीव स्मिथ के शतक के दम पर 105.4 ओवर में सभी विकेट खोकर 338 रन बनाए हैं।

ऑस्ट्रेलिया की पारी लड़खड़ाई, स्मिथ ने जमाया शतक 

मैच के दूसरे दिन भारत के खिलाफ सीरीज में रन बनाने में नाकाम रहे स्मिथ ने शतक बनाया। 200 गेंद का सामना करने के बाद 13 चौके की मदद से उन्होंने अपना 27 टेस्ट शतक पूरा किया। पहले दिन बारिश की वजह से बर्बाद हुए ओवर की भरपाई करने के लिए दूसरे दिन मैच आधा घंटा पहले शुरू किया गया। मार्नस लाबुशाने और स्टीव स्मिथ ने पारी को आगे बढ़ाते हुए स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। दूसरे दिन भी बारिश ने मैच में खलल डाली और 66वें ओवर में थोड़ी देर के लिए मैच को रोकना पड़ा। हालांकि बारिश जल्दी ही बंद हो गई और 5 मिनट बाद ही मैच दोबारा शुरू हो गया। दूसरे दिन भारत को पहला सफलता रवींद्र जडेजा ने दिलाई। 91 रन बनाकर खेल रहे लाबुशाने को उन्होंने कप्तान अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच करवाया।

इसके बाद स्मिथ ने चौके के साथ सीरीज में पहला और टेस्ट करियर का 30वां अर्धशतक पूरा किया। 116 गेंद पर 7 चौके की मदद से वह अपनी हाफ सेंचुरी तक पहुंचे। मैथ्यू वेड ने आक्रामक तेवर दिखाए लेकिन 16 गेंद पर 13 रन बनाकर वह जड़ेजा की गेंद पर जसप्रीत बुमराह को कैच दे बैठे। कैमरून ग्रीन को जसप्रीत बुमराह ने शून्य पर LBW कर भारत को पांचवीं सफलता दिलाई।

इसके बाद कप्तान टिम पेन को लंच के बाद बुमराह ने बोल्ड कर वापस भेजा। पैट कमिंस को जडेजा ने शून्य पर बोल्ड कर दिया जबकि मिशेल स्टार्क को 24 रन पर नवदीप सैनी ने शुभमन गिल के हाथों कैच करवाया। नाथन लियोन को आउट कर जड़ेजा ने भारत को 9वीं सफलता दिलाई। आखिरी सफलता रन आउट के तौर पर भारत को मिली जब रवींद्र जडेजा ने स्टीव स्मिथ को 131 रन के स्कोर पर चलता किया।

पहले दिन दो विकेट गंवाने के बाद टीम के दो अनुभवी बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और मार्नस लाबुशाने ने ऑस्ट्रेलिया की पारी को संभाला। मार्नस ने अर्धशतक जमाया और टीम के स्कोर को 150 के पार पहुंचाया। पहले दिन चोट से वापसी कर रहे ओपनर डेविड वार्नर महज 5 रन ही बना पाए थे जबकि टेस्ट डेब्यू कर रहे दूसरे ओपनर विल पुकोव्स्की ने 62 रन की पारी खेली।

भारतीय का प्लेइंग इलेवन 

रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (कप्तान), हनुमा विहारी, रिषभ पंत (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, नवदीप सैनी, मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह।

View More...

वुडलैंड्स हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुए भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, डॉक्टरों का किया धन्यवाद

Date : 07-Jan-2021

कोलकाता (एजेंसी)। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली गुरुवार सुबह वुडलैंड्स हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो गए।

अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने डॉक्टरों का धन्यवाद किया और कहा कि अब मैं पूरह फिट हूं। इससे पहले उन्हें बुधवार 6 जनवरी को अस्पताल से छुट्टी मिलनी थी लेकिन स्वयं गांगुली के फैसले के कारण उन्हें एक दिन बाद डिस्चार्ज किया गया। वुडलैंड्स अस्पताल ने गुरुवार को एक हैल्थ बुलेटिन जारी कर इस बात की पुष्टी की।
गौरतलब है कि सौरव गांगुली को बीते शनिवार को मामूली दिल का दौरा पड़ा था। इसके बाद उन्हें कोलकाता के ही वुडलैंड्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

गांगुली की देखभाल के लिए अस्पताल की ओर से नौ सदस्यीय टीम बनाई गई है। वहीं, इससे पहले डॉक्टर देवी शेट्टी ने कहा था कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली की हालत स्थिर हैं और वह अब अस्पताल से छूट सकते हैं। शेट्टी ने मंगलवार को यह भी कहा था कि वे अभी भी क्रिकेट खेल सकते हैं और उनका दिल अभी भी काफी मजबूत है।

View More...

2021 का तैयार हुआ टीम इंडिया का शेड्यूल, जानें कब, कहां और कौन सा मैच खेलेगी टीम

Date : 05-Jan-2021
नई दिल्ली (एजेंसी)। दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों के लिए साल 2020 अच्छा नहीं था, क्योंकि मार्च में कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण सभी क्रिकेट गतिविधियों को रद्द करना पड़ा था। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट जुलाई में इंग्लैंड में वेस्टइंडीज की मेजबानी के साथ फिर से शुरू हुआ। भारतीय क्रिकेट टीम की आखिरी अंतर्राष्ट्रीय सीरीज फरवरी 2020 में न्यूजीलैंड के खिलाफ थी और अब नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में खेली जा रही है।
 
2020 में कोरोना संक्रमण के कारण खिलाड़ियों को मजबूरन ब्रेक लेना पड़ा था। हालांकि वर्ष 2021 भारतीय टीम को लगभग पूरे साल एक्शन में देखने के लिए तैयार है। भारत के पास वर्ष 2021 के लिए बड़ी सीरीज और टूर्नामेंटों की मेजबानी के साथ इंग्लैंड टी 20 विश्व कप 2021 के चुनौतीपूर्ण दौरे और एशिया कप 2021 के लिए पूरा बिजी शेड्यूल है।
 
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) टीम इंडिया के लिए आधिकारिक शेड्यूल जारी करना अभी बाकी है, लेकिन इनसाइडपोर्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार विराट कोहली एंड कंपनी को 16 एकदिवसीय, 23 T20I और 14 टेस्ट मैच 2021 में खेलने होंगे, जिसमें एशिया कप और टी-20 विश्व कप के मैच शामिल नहीं हैं।
 
2021 में टीम इंडिया के कार्यक्रम पर एक नजर:
 
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया- जनवरी
भारत की 2021 ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज के साथ जारी रहेगी। चार मैचों की सीरीज वर्तमान में 1-1 के स्तर पर है, जिसमें दो और टेस्ट बाकी हैं। तीसरा टेस्ट सिडनी में 07 जनवरी से शुरू होगा और चौथा और अंतिम मैच 15 जनवरी से ब्रिसबेन में खेला जाएगा।
 
भारत का इंग्लैंड दौरा- फरवरी से मार्च
ऑस्ट्रेलिया दौरे के समापन के बाद टीम इंडिया चार टेस्ट, तीन वनडे और पांच टी-20 समेत एक पूरी सीरीज की मेजबानी इंग्लैंड के खिलाफ करने के लिए स्वदेश लौट आएगी।
 
आईपीएल 2021- अप्रैल से मई
इंडियन प्रीमियर लीग का अगला संस्करण अप्रैल और मई के बीच खेला जाएगा। भारत में COVID-19 स्थिति के कारण UAE में 2020 संस्करण का मंचन किया गया था, लेकिन यदि स्थिति नियंत्रण में है, तो टूर्नामेंट को 2021 में भारत वापस लाया जा सकता है।
 
श्रीलंका और एशिया कप का भारत दौरा (जून-जुलाई)
भारत तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज और पांच टी-20 के लिए इंडियन प्रीमियर लीग के समापन के बाद श्रीलंका का दौरा करेगा। भारत एशिया कप में हिस्सा लेने के लिए श्रीलंका में अपने दौरे का विस्तार करेगा, जहां वे दो साल के लंबे अंतराल के बाद अपने खिताब का बचाव करेंगे और कट्टर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से भिड़ेगा।
 
भारत का जिम्बाब्वे दौरा (जुलाई)
श्रीलंका दौरे के बाद भारत को सीमित ओवरों की सीरीज के लिए जिम्बाब्वे दौरे पर जाना है। यह दौरा 2020 में होने वाला था, लेकिन COVID-19 के कारण रद्द कर दिया गया था। कुछ युवा खिलाड़ियों और नए चेहरों को ज़िम्बाब्वे सीरीज में खुद को साबित करने का मौका मिल सकता है।
 
भारत का इंग्लैंड दौरा (अगस्त से सितंबर)
घर में इंग्लैंड की मेजबानी करने के बाद भारत अगस्त में पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए यात्रा करेगा। टेस्ट सीरीज साल 2021 में टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक होगी।
 
भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा (अक्टूबर)
भारत आईसीसी टी-20 विश्व कप 2021 से पहले अक्टूबर के महीने में दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करेगा।
 
आईसीसी टी 20 विश्व कप 2021
भारत टी-20 विश्व कप 2021 का मंचन करेगा और शोपीस इवेंट में पसंदीदा में से एक के रूप में शुरू करेगा।
 
भारत का न्यूजीलैंड दौरा (नवंबर-दिसंबर)
टीम इंडिया नवंबर-दिसंबर में दो टेस्ट और तीन T20I के लिए न्यूजीलैंड की मेजबानी करेगी।
 
भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा (दिसंबर)
टीम इंडिया दिसंबर में दक्षिण अफ्रीका के दौरे के साथ वर्ष का अंत करेगी, जहां वे तीन टेस्ट और कई टी-20 खेलेंगे।
View More...

भारतीय खेमे के लिए बडा झटका, बल्लेबाज केएल राहुल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बचे अगले दो टेस्ट से हुए बाहर, पढे पूरी खबर

Date : 05-Jan-2021

स्पोर्ट डेस्क (एजेंसी)।  टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज केएल राहुल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बचे अगले दो टेस्ट से बाहर हो गए हैं। सलामी बल्लेबाजी, मध्यक्रम बल्लेबाजी के साथ-साथ विकेटकीपिंग का भी विकल्प देने वाले राहुल को अबतक टेस्ट सीरीज में मौका नहीं मिला था, लेकिन बदलते हालातों के साथ वह टीम के लिए उपयोगी साबित हो सकते थे। सिडनी में 7 जनवरी से शुरू होने जा रहे तीसरे टेस्ट से पहले यह खबर भारतीय खेमे के लिए किसी झटके से कम नहीं।

बीसीसीआई ने मंगलवार की सुबह ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। प्रेस विज्ञप्ति में सचिव जय शाह ने बताया कि अभ्यास सत्र के दौरान राहुल उस वक्त अपनी बाई कलाई चोटिल कर बैठे, जब वह बल्लेबाजी कर रहे थे। यह हादसा शनिवार को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में हुआ। राहुल को इस चोट से पूरी तरह उबरने के लिए कम से कम तीन हफ्तों का समय लगेगा। वह जल्द ही ऑस्ट्रेलिया से भारत के लिए रवाना होंगे, जहां बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी में उनका उपचार होगा।

28 साल का यह विकेटकीपर-बल्लेबाज IPL से शानदार फॉर्म लेकर ऑस्ट्रेलिया आया था। वन-डे, टी-20 सीरीज में उन्होंने मिला-जुला प्रदर्शन किया था। सीरीज का तीसरा टेस्ट सिडनी में 7 जनवरी से खेला जाएगा, जबकि चौथा और आखिरी मैच ब्रिस्बेन में 15 जनवरी से होगा।

View More...

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आईसीसी का दशक का शीर्ष सम्मान किया अपने नाम

Date : 29-Dec-2020

दुबई (एजेंसी)। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) का दशक का शीर्ष सम्मान अपने नाम किया जब उन्होंने पिछले 10 साल के सर्वश्रेष्ठ पुरुष क्रिकेटर के लिए सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी जीती। कोहली को दशक का सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर भी चुना गया।

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आईसीसी का दशक का खेल भावना पुरस्कार जीता। प्रशंसकों ने 2011 में नॉटिंघम टेस्ट में इयान बेल के अजीब हालात में रन आउट होने के बाद उन्हें वापस बुलाने के लिए धोनी को इस पुरस्कार के लिए चुना। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने ट्विटर पर कोहली के इस पुरस्कार के लिए चुने जाने की घोषणा की। कोहली ने आईसीसी पुरस्कारों के समय के दौरान अपने 70 में से 66 अंतरराष्ट्रीय शतक जड़े। इस दौरान उनके नाम पर सर्वाधिक अर्धशतक (94), सर्वाधिक रन (20396) के अलावा 70 से अधिक पारी खेलते हुए सर्वाधिक औसत (56.97) का रिकॉर्ड भी रहा। कुल मिलाकर 32 साल के कोहली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 12040 रन, टेस्ट क्रिकेट में 7318 रन और टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 2928 रन बनाए हैं और सभी प्रारूपों में मिलाकर उनका औसत 50 से अधिक का है। कोहली इसके अलावा 2011 विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य भी रहे।

कोहली ने बयान में कहा, सबसे पहले तो यह पुरस्कार मिलना मेरे लिए बड़े सम्मान की बात है। पिछले एक दशक में जो लम्हा मेरे दिल के सबसे करीब है वह निश्चित तौर पर 2011 में विश्व कप, 2013 में चैंपियन्स ट्रॉफी और 2018 में आस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीतना है। सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर चुने जाने पर कोहली ने कहा, एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से मैं काफी जल्दी जुड़ गया था। मैंने पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय टीम में जगह बनाई और इसके कुछ साल बाद मैंने टेस्ट पदार्पण किया। उन्होंने कहा, इसलिए मुझे काफी पहले ही अपने खेल को समझने का मौका मिला। और मैं पहले भी कह चुका हूं कि मेरा एकमात्र इरादा और मानसिकता टीम के लिए विजयी योगदान देना था और मैंने अपने प्रत्येक मैच में सिर्फ ऐसा करने का प्रयास किया।

कोहली ने कहा, अपने इस सफर के दौरान मैंने कभी आंकड़ों और संख्या पर ध्यान नहीं दिया और आप मैदान पर जो कुछ भी करते हो यह उसका नतीजा है और मेरे लिए यह जीत के रास्ते पर चलते हुए हासिल की गई उपलब्धियां हैं। कोहली आईसीसी के पुरस्कार समय के दौरान एकदिवसीय क्रिकेट में 10000 से अधिक रन बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज रहे। उन्होंने इस दौरान 39 शतक और 48 अर्धशतक जड़े और 61.83 की औसत से रन बनाए। वैश्विक संचालन संस्था ने आस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को दशक का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट क्रिकेटर जबकि अफगानिस्तान के स्टार स्पिनर राशिद खान को दशक का सर्वश्रेष्ठ टी20 क्रिकेटर चुना। आस्ट्रेलिया की एलिस पैरी ने महिला पुरस्कारों में बाजी मारते हुए आईसीसी की दशक की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर के अलावा दशक की सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय और टी20 महिला क्रिकेटर के पुरस्कार भी अपने नाम किए।

View More...

सचिन तेंदुलकर ने आईसीसी को डीआरएस में अंपायर्स कॉल की संपूर्ण समीक्षा करने का किया आग्रह

Date : 29-Dec-2020

मुंबई (एजेंसी)। दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद से निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) में अंपायर्स कॉल की संपूर्ण समीक्षा करने का आग्रह किया है।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में दूसरे टेस्ट मैच के दौरान भारत को इस नियम का खामियाजा भुगतना पड़ा। अंपायर्स कॉल तब मुख्य रूप से सामने आता है जबकि पगबाधा के लिये रिव्यू की मांग की गयी हो। इस स्थिति में अगर अंपायर ने नॉट आउट दिया है तो रिव्यू में यह पता चलने पर कि गेंद स्टंप पर लग रही है, टीवी अंपायर के पास फैसला बदलने का अधिकार नहीं होता है। गेंदबाजी टीम के लिये यही अच्छी बात होती है कि वह अपना रिव्यू नहीं गंवाती है।

तेंदुलकर ने ट्वीट किया, खिलाड़ी इसलिए रिव्यू लेते हैं क्योंकि वे मैदानी अंपायर के फैसले से नाखुश होते हैं। आईसीसी को डीआरएस प्रणाली विशेषकर अंपायर्स कॉल की संपूर्ण समीक्षा करने की जरूरत है। आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज जो बन्र्स और मार्नस लाबुशेन के खिलाफ पगबाधा की अपील के बाद रीप्ले में लगा कि गेंद गिल्लियों को स्पर्श करके जाती लेकिन अंपायर्स कॉल के कारण दोनों बल्लेबाज क्रीज पर बने रहे।

आस्ट्रेलियाई स्पिन दिग्गज शेन वार्न ने सबसे पहले इस नियम की आलोचना की थी जिसे अनिल कुंबले की अगुवाई वाली आईसीसी क्रिकेट समिति ने तैयार किया है। वार्न लगातार कहते रहे हैं कि वह अंपायर्स कॉल को कभी नहीं समझ पाये। उन्होंने पिछले साल कहा था, अगर गेंद स्टंप को हिट कर रही हो तो यह आउट भी हो सकता है और नॉट आउट भी।

View More...

मेलबर्न में खेले गए बॉक्सिंग-डे टेस्ट में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से दी शिकस्त

Date : 29-Dec-2020

मेलबर्न (एजेंसी)। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में खेले गए बॉक्सिंग-डे टेस्ट में 8 विकेट से शिकस्त दी। इसी के साथ भारत ने 4 टेस्ट की सीरीज 1-1 से बराबर की। टीम इंडिया पिछले 6 साल से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग-डे टेस्ट में हारी नहीं है। पिछली बार दिसंबर 2018 को मेलबर्न टेस्ट में ही भारत ने मेजबान को 137 रन से हराया था। जबकि दिसंबर 2014 में इसी मैदान पर बॉक्सिंग-डे टेस्ट ड्रॉ रहा था।

मैच में टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रन बनाए थे। इसके बाद टीम इंडिया ने पहली पारी में 326 रन बनाते हुए 131 रन की बढ़त ली थी। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 103.1 ओवर खेलकर 1.94 के रनरेट से 200 रन बनाए और भारत को 70 रन का टारगेट दिया। 1978 के बाद से ऑस्ट्रेलिया की घरेलू मैदान पर 80 से ज्यादा ओवर खेलकर यह अब तक की सबसे धीमी पारी रही।

00 लगातार दो ओवर में भारत को दो झटके
लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम ने 19 रन पर ही दो विकेट गंवा दिए। ओपनर मयंक अग्रवाल 5 और चेतेश्वर पुजारा 3 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। ऑस्ट्रेलियन तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने पारी के चौथे ओवर में मयंक को विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच आउट कराया। इसके अगले ओवर की पहली ही बॉल पर पैट कमिंस की बॉल पर पुजारा कैमरून ग्रीन के हाथों कैच आउट हुए।

टीम इंडिया ने 2 विकेट गंवाकर 70 रन बनाते हुए मैच जीत लिया। कप्तान अजिंक्य रहाणे और ओपनर शुभमन गिल आखिर तक डटे रहे और टीम को जीत दिलाई। शुभमन ने नाबाद 35 और रहाणे ने 27 रन की पारी खेली।

00 कोई ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर दूसरी पारी में फिफ्टी नहीं लगा सका
दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए कैमरून ग्रीन ने 146 बॉल पर सबसे ज्यादा 45 और ओपनर मैथ्यू वेड ने 137 बॉल पर 40 रन की पारी खेली। इनके अलावा मार्नस लाबुशेन ने 28 और पैट कमिंस ने 22 रन बनाए। भारत के लिए मोहम्मद सिराज ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए। इनके अलावा जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को 2-2 सफलता मिली। चोटिल उमेश यादव ने एक विकेट लिया।

00 अश्विन सबसे ज्यादा लेफ्ट हैंडर बैट्समैन को आउट करने वाले टेस्ट बॉलर
भारतीय स्पिनर अश्विन टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 192 लेफ्ट हैंडर बैट्समैन को आउट करने वाले बॉलर बन गए हैं। इस मामले में उन्होंने श्रीलंका के पूर्व स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को पीछे छोड़ दिया। भारतीयों में दूसरे नंबर पर अनिल कुंबले हैं। उन्होंने 167 बाएं हाथ के बल्लेबाजों का शिकार किया।

00 दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया की खराब शुरुआत
मेजबान ऑस्ट्रेलिया टीम की दूसरी पारी में शुरुआत खराब रही। पारी के चौथे ओवर में जो बर्न्स 4 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद मैथ्यू वेड और मार्नस लाबुशेन ने 38 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभालने की कोशिश की। टीम के लिए तीसरे दिन यही सबसे बड़ी पार्टनरशिप भी रही। इसके बाद लगातार गिरते विकेट के कारण मिडिल ऑर्डर पूरी तरह ढह गया। ऑस्ट्रेलिया ने मैच के तीसरे दिन 100 रन के अंदर ही 6 विकेट गंवा दिए थे।
चौथे दिन ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 6 विकेट पर 133 रन से आगे खेलना शुरू किया था। पैट कमिंस और कैमरून ग्रीन ने संभलकर खेलते हुए 7वें विकेट के लिए जरूरी 57 रन की पार्टनरशिप भी की।

टीम अभी 23 रन ही जोड़ पाई थी कि जसप्रीत बुमराह ने टीम को दिन का पहला झटका दिया। उन्होंने पैट कमिंस को स्लिप पर मयंक अग्रवाल के हाथों कैच आउट कराया।
बुमराह के बाद मोहम्मद सिराज ने लगातार 2 विकेट लिए। उन्होंने भारतीय टीम के लिए घातक साबित हो रहे ऑलराउंडर कैमरून ग्रीन को 45 रन पर पवेलियन भेजा। उनका कैच रविंद्र जडेजा ने लिया। इसके बाद नाथल लियोन (3) को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया।

भारतीय तेज गेंदबाज बुमराह ने इस मैच में 33 रन देकर कुल 6 विकेट लिए। यह उनका इस ग्राउंड पर अब तक का बेस्ट परफॉर्मेंस है। इससे पहले उन्होंने इस मैदान पर 53 रन देकर 3 विकट लिए थे। बुमराह ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में 7 टेस्ट खेले। इसमें 13.06 की औसत से 15 विकेट लिए।

भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव चौथे दिन भी मैदान में नहीं उतरे। वे तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के 8वें ओवर में चोटिल होकर मैदान से बाहर चले गए थे। उन्होंने पैर में दर्द की शिकायत की। उमेश 3.3 ओवर ही गेंदबाजी कर सके और एक विकेट लिया। उनका ओवर मोहम्मद सिराज ने पूरा किया था। उनकी जगह लोकेश राहुल ने फील्डिंग की।
स्टीव स्मिथ लगातार दूसरी पारी में फ्लॉप रहे। वे 8 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें जसप्रीत बुमराह ने क्लीन बोल्ड किया। पहली पारी में वे खाता भी नहीं खोल सके थे। टेस्ट करियर में उनका एक मैच में यह दूसरा सबसे कम स्कोर है। इससे पहले उन्होंने 2013 के लॉर्ड्स टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ 3 (2 और 1) रन बनाए थे।

भारतीय टीम एक सीरीज के लगातार दो टेस्ट कभी नहीं हारी है। जबकि उसने दोनों मैच की पहली पारी में बढ़त बनाई हो। मेलबर्न के मैदान पर 100 से ज्यादा रन की बढ़त के साथ पिछली बार 2010 में ऑस्ट्रेलिया टीम इंग्लैंड को 89 रन से हराया था। टीम इंडिया भी एक बार मेलबर्न में 100+ रन की बढ़त के साथ एक मैच जीत चुकी है। उसने 1980 में 182 रन की बढ़त के साथ ऑस्ट्रेलिया को 59 रन से हराया था।

View More...

अश्विन ने लेफ्टहैंडर बल्लेबाजों के शिकार में बनाया विश्व रिकॉर्ड

Date : 29-Dec-2020

मेलबर्न (एजेंसी)। मेलबर्न टेस्ट के चौथे दिन मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया के जोस हेजलवुड का विकेट लेने के साथ ही गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने एक शानदार रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। वह लेफ्ट हैंडर बल्लेबाजों का शिकार करने के मामले में सबसे आगे निकल गए हैं।

अश्विन ने चौथे दिन पहले सत्र के अंतिम ओवर की पहली गेंद पर हेजलवुड को बोल्ड कर दिया। यह टेस्ट मैचों में उनका 375वां विकेट है। 10 रन पर खेल रहे हेजलवुड को लगा कि गेंद टप्पा खाने के बाद स्पिन होकर बाहर निकल जाएगी, इसीलिए उन्होंने उसे छोड़ दिया लेकिन गेंद ने उनका ऑफ स्टम्प उड़ा दिया।

हेजलवुड टेस्ट मैचों में 192वें ऐसे बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, जिनका विकेट अश्विन ने लिया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के नाम था। टेस्ट मैचों में 800 विकेट का विश्व रिकॉर्ड अपने नाम रखने वाले मुरलीधरन ने 191 मौकों पर बाएं हाथ के बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया है।

इस फेहरिस्त में तीसरे नम्बर पर इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन हैं, जो टेस्ट मैचों में 600 विकेट लेन वाले इकलौते तेज गेंदबाज हैं। एंडरसन ने कुल 186 बार बाएं हाथ के बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया है।

चौथे नम्बर पर आस्ट्रेलिया के ग्लैन मैक्ग्रा हैं, जिन्होने 172 बार यह कारनामा किया है। मैक्ग्रा के नाम टेस्ट मैचों में 563 विकेट हैं। इस फेहरिस्त में आस्ट्रेलिया के ही स्पिन गेंदबाज शेन वार्न पांचवे स्थान पर हैं।

708 विकेटों के साथ टेस्ट मैचों के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज वार्न ने 172 बार लेफ्ट हैंड बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया है। भारत के अनिल कुम्बले इस सूची में छठे स्थान पर हैं। कुम्बले ने 167 मौकों पर यह कारनामा किया है। कुम्बले के नाम 619 विकेट हैं और वह भारत के सबसे सफल टेस्ट बॉलर हैं।

View More...