Chhattisgarh

पुलिस विभाग में 9 अधिकारियों का तबादला, जिला पुलिस अधीक्षक ने जारी किया आदेश

Date : 28-Sep-2020

धमतरी। पुलिस विभाग में 9 अधिकारियों का तबादला किया गया है, जिला पुलिस अधीक्षक के जारी किए गए आदेश में 8 निरीक्षक और 1 उपनिरीक्षक का तबादला किया गया है । इस तबादले में कोतवाली थाना प्रभारी को भी हटाया गया है।

View More...

कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने जिलेवासियों से की अपील, कहा किसी काम से बाहर जाने पर मास्क पहन कर जाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

Date : 28-Sep-2020

रायपुर। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ एस भारतीदासन और पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने जिलेवासियों से अपील की है कि वे अनावश्यक अपने घर से बाहर न निकले। किसी काम से बाहर जाने पर मास्क पहन कर जाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्होंने एक सप्ताह के लॉकडाउन का पालन करने पर आमनागरिकों का आभार माना है।

कलेक्टर और एसपी ने अपने अपील में कहा है कि कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को बाधित करने हेतु एक सप्ताह का लॉकडाउन लगाया गया था। जिसको आप सभी का भरपूर सहयोग रहा है और उम्मीद है कि इसके सकारात्मक परिणाम आएंगे,लेकिन हम सभी की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है क्योंकि लॉकडाउन हटने के बाद प्रशासनिक नियंत्रण में ढील होने के बाद हमें आत्म नियंत्रण एवं जागरूकता के माध्यम से कोरोना के संक्रमण से बचना होगा।

उन्होंने कहा है कि आपकी थोड़ी सी असावधानी आपके हंसते खेलते परिवार एवं अतिप्रियजनों के लिए अत्यंत घातक हो सकती है एवं जानलेवा हो सकती है। जैसा कि आप जानते हैं कि यह महामारी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता से जुड़ी हुई है,कमजोर प्रतिरोधक क्षमता एवं असाध्य बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए यह महामारी जानलेवा सिद्ध हो रही है।अतः अपने परिवार एवं समाज की बेहतरी के लिए अभी भी उतना ही घर से बाहर निकले जितना कि अत्यंत आवश्यक हो और पूर्ण सुरक्षा के साथ ही निकले।

00 मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग ही वर्तमान में कोरोना से बचाव के साधन है
कलेक्टर डॉ भारतीदासन और एसपी श्री यादव ने आमनागरिकों से कहा है आपके सहयोग से ही इस महामारी पर हम विजय प्राप्त करेंगे इसलिए व्यक्तिगत एवं समाज हित में आप सभी आत्म नियंत्रण के साथ प्रशासन का सहयोग करें। शासन एवं प्रशासन के सभी अंग सदैव आपकी सेवा एवं सुरक्षा हेतु कटिबद्ध है।

View More...

मादा हाथी की जान लेने वाले 7 आरोपी गिरफ्तार

Date : 28-Sep-2020

महासमुंद। पिथौरा के समीप किशनपुर गांव में 25 सितम्बर को हाथिनी की मौत शिकारियों के बिछाए करंट से हुई थी। पिथौरा वनक्षेत्र के एसडीओ ने इस बात का खुलासा किया है। उन्होंने जानकारी दी कि शिकार के लिए किशनपुर गांव में शिकारियों ने बिजली के तार का जाल बनाकर उसमें करंट प्रवाहित का दिया था।

इस करंट की चपेट में आने से मादा हाथी हथनी की मौत हो गई थी। जांच के बाद वन विभाग की कार्रवाई में 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिए गया है, व 2 आरोपी फरार है। पकडे आरोपियो मे से 6 किशनपुर के है और 1 रामपुर का रहने वाला है। उनके पास से तार, हुकिंग बांस, लकडी खूंटी, शीशी आदि बरामद हुए है। एसडीओ ने जानकारी दी कि पूछताछ के बाद आरोपियों ने 10 दिन पहले इसी प्रकार एक भालू का भी शिकार किया था, जिसका कंकाल कक्ष क्रमांक 491 से बरामद कर लिया गया। आरोपियों ने बताया कि वे मांस खाने के लिए शिकार करते थे।

वन विभाग आरोपियो पर वन प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9,39,50,51 एवं भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 33 के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही कर रही है।

View More...

क्वींस क्लब में कल देर रात हुए विवाद में पुलिस ने होटल संचालक के पुत्र हर्षित सिंघानिया सहित सूरज शर्मा को किया गिरफ़्तार

Date : 28-Sep-2020

रायपुर। रायपुर के क्वींस क्लब में कल देर रात हुए क्लब विवाद में पुलिस ने बिल्डर होटल संचालक सुबोध सिंघानिया के पुत्र हर्षित सिंघानिया सहित सूरज शर्मा को गिरफ़्तार किया है। देर रात को पार्टी का आयोजन किया गया था, तभी पार्किंग में गाड़ी रखने को लेकर विवाद हुआ। औऱ हितेश पटेल नाम के व्यक्ति ने गोली चलाई है।

हालाकि लॉकडाउन में पार्टी करने पर ही सवाल उठ रहा है क्योकि यह रिहायसी इलाका पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह समेत कई दिग्गजों के आवास मौलश्री विहार और विधायकों के निवास के बीचों बीच मौजुद क्वींस क्लब में लॉकडाउन के दौरान पार्टी कैसे आयोजित हुई।

00 भिलाई से कैसे रायपुर कैसे पहुंचे .
सवाल यह भी उठ रहा है कि भिलाई से रायपुर तक पार्टी मनाने के लिए कैसे पहुंच रहे है। क्योंकि भिलाई से भी कुछ लोग पार्टी में शामिल हुए थे, वहीं ई-पास की अनिवार्यता होने से रायपुर तक लोग कैसे पहुंच रहे है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि पुलिस ने कार्यवाही क्यों नहीं की।

View More...

कोरोना संक्रमण जांच के बाद तत्काल बेहतर इलाज की सुविधा चाहिये तो दें अपना सही पता और मोबाईल नम्बर : कलेक्टर किरण

Date : 28-Sep-2020

कोरबा। कोरोना संक्रमण के जांच की रिपोर्ट पाॅजिटिव मिलते ही यदि मरीज को तत्काल बेहतर इलाज की सुविधा चाहिये तो उन्हें जांच के दौरान अपना सही पता और मोबाईल नम्बर दर्ज कराना चाहिये। सही पता और मोबाइल नम्बर से कोरोना संक्रमित की पहचान करना स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के लिये आसान होता है। इससे संक्रमित मरीज के घर तत्काल पहंच कर उसे जरूरी इलाज की सुविधा समय पर उपलब्ध करायी जा सकती है।

कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने कोरोना संक्रमण की जांच रिपोर्ट में कई मरीजों के पते सही या पूरे नहीं होने और मोबाइल नम्बर गलत होने से बनी विपरीत परिस्थितियों को स्वमेव ही संज्ञान में लिया है। कलेक्टर ने कोरोना मरीजों के बेहतर इलाज, उनके परिजनों की सुरक्षा के साथ-साथ अन्य दूसरे लोगों को संक्रमण से बचाने के लिये प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों में सहयोग करने की अपील लोगों से की है। श्रीमती कौशल ने लोगों से यह भी अपील की है कि कोरोना जांच के लिये अपना सैम्पल देने के दौरान उपस्थित स्वास्थ्य कर्मी को स्वयं के बारें में पूरी जानकारी सही-सही दें। अपना नाम, पूरा पता, घर के आसपास का कोई पहचान चिन्ह या माइलस्टोन, खुद का सही मोबाइल नम्बर ही जांच रजिस्टर में दर्ज करायें ताकि पाॅजिटिव रिपोर्ट आने पर मरीज को इलाज के लिये समय पर सम्पर्क कर बेहतर सुविधा उपलब्ध करायी जा सके।

जिले में कोरोना जांच की पाॅजिटिव मिली रिपोर्टाें में से कुछ संक्रमितों के पते पूरे नहीं होने या सही नहीं होने के कारण उन तक स्वास्थ्य कर्मी को पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ ही मरीजों के मोबाइल नम्बर गलत होने के कारण उनसे सम्पर्क नहीं हो पाता है। ऐसी परिस्थितियों में कोरोना संक्रमित मरीज को समय पर अनुशंसित इलाज नहीं मिल पाता है जो स्वयं उसकी जान के लिये खतरनाक है। इसके साथ ही गलत या अधूरे पते या गलत मोबाइल नम्बर के कारण संक्रमित से सम्पर्क नहीं होने से उसे कोविड अस्पताल तक लाने में भी असुविधा और देरी होती है जिससे मरीज के खुद के परिजन, बच्चों और आसपास के लोगों के भी संक्रमित होने का डर भी बना रहता है।

देर से इलाज मिलने पर मरीज खुद भी गंभीर अवस्था में पहुंच सकता है और बीमारी के कारण उसकी जान भी जा सकती है। स्वयं को जल्द से जल्द बेहतर इलाज से कोरोना से मुक्त करने, अपने और अपने आसपास के लोगों को संक्रमित होने से बचाने के लिये जांच कराने के समय लोगों को अपने सही और पूरे पते तथा सही मोबाइल नम्बर स्वास्थ्य कर्मियों को नोट कराना चाहिये ताकि उन्हें पाॅजिटिव रिपोर्ट मिलने पर समय रहते इलाज की बेहतर सुविधा मिल सके और अन्य लोगों को भी संक्रमित होने से बचाया जा सके।

View More...

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से मुलाकात के बाद एनएचएम कार्यकर्ताओं ने की हड़ताल स्थगित, काम पर लौटे कार्यकर्ता

Date : 28-Sep-2020

रायपुर। मांगों को लेकर पिछले कुछ दिनों से हड़ताल कर रहे एनएचएम कार्यकर्ता सोमवार से काम पर लौट आये हैं। रविवार को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से मुलाकात के बाद एनएचएम कार्यकर्ताओं ने हड़ताल को स्थगित करने का एलान किया। कार्यकर्ताओ के कहना है कि स्वास्थ्य मंत्री की ओर से सकारात्मक जवाब मिलने के बाद कुछ समय के लिए हड़ताल को स्थगित किया है। वहीं सोमवार से सभी हड़ताली कार्यकर्ता काम पर लौट रहे हैं। बता दें कि अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ हुए सीएमएचओ ने अपना इस्तीफा सौंप दिया था। मंत्री सिंहदेव ने सभी से अपील करते हुए समाप्त करने को कहा था। साथ ही कहा है कि घोषणा पत्र में जो कहा गया है उससे वे पीछे नहीं हटेंगे।

View More...

विधायक व संसदीय सचिव चन्द्रदेव राय के पिता की कोरोना से मौत

Date : 28-Sep-2020

रायपुर। बिलाईगड़ के विधायक व संसदीय सचिव चन्द्रदेव राय के पिता रामजी राय की कोरोना संक्रमण से मौत हो गयी। संसदीय सचिव के पिता की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद रायपुर स्थिति एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए उन्हें भर्ती कराया गया था। यहां इलाज के दौरान सोमवार को रामजी राय की मौत हो गयी। रामजी राय के मौत की पुष्टि जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. खेमराज सोनवानी ने की है।

View More...

राजधानी रायपुर के क्वींस क्लब में देर रात चली गोली, मचा हडकंप

Date : 28-Sep-2020

रायपुर। रायपुर के क्वींस क्लब में आज देर रात को गोली चली है। इसके बाद हड़कम्प मच गया है। देर रात को पार्टी का आयोजन किया गया था, तभी पार्किंग में गाड़ी रखने को लेकर विवाद हुआ। औऱ हितेश पटेल नाम के व्यक्ति ने गोली चलाई है। हालाकि लॉकडाउन में पार्टी चलने पर सवाल उठने लगे है। इधर देर रात को पार्टी चलने को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे है।

शासन-प्रशासन की नाक की नीचे चल रहा पार्टी
शहर में इस तरह की पार्टी चलने से हड़कंप मचा है। वहीं शासन-प्रशासन के नाक के नीचे यह खेल चल रहा है। वहीं थाने में घटना स्थल से कुछ दूर में है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि पुलिस ने कार्यवाही क्यों नहीं की।

भिलाई से कैसे पहुंचे युवक
सवाल यह भी उठ रहा है कि भिलाई से रायपुर तक पार्टी मनाने के लिए कैसे पहुंच रहे है। क्योंकि भिलाई से भी कुछ लोग पार्टी में शामिल हुए थे, वहीं ई-पास की अनिवार्यता होने से रायपुर तक लोग कैसे पहुंच रहे है।

View More...

राजस्व मंत्री के बंगले में मिले 10 कोरोना पॉजिटीव मरीज, मचा हड़कंप

Date : 28-Sep-2020

कोरबा। प्रदेश में कोरोना संक्रमण का विस्तार जारी है। मंत्रियों और विधायकों के बंगले भी सुरक्षित नहीं रहे हैं। इसी बीच राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के बंगले में 10 कोरोना पॉजिटीव मरीज मिले हैं। खबर फैलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इस मामले में बंगले के कर्मचारियों का कहना है कि कांग्रेस कार्यालय से एक व्यक्ति व नगर निगम के 9 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। D1 बंगले में निगम के कर्मचारियों का सैंपल लिया गया था। 9 अन्य कोरोना पॉजिटिव मरीज मंत्री के बंगले के कर्मचारी नहीं है।

View More...

विधानसभा चुनाव : केंद्र सरकार ने राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों के 30,000 जवानों की होगी तैनात, गृह मंत्रालय ने दिए निर्देश

Date : 27-Sep-2020

रायपुर। बिहार में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान होते ही तैयारियां ज़ोरो पर हैं। तीन चरण में होने वाले चुनावों का शांतिपूर्ण संचालन हो सके इसके लिए केंद्र सरकार ने राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों के लगभग 30,000 जवानों की तैनाती के निर्देश दिए हैं। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

चुनावों के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने निर्देश दिया है कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) और रेलवे सुरक्षा बल की 300 कंपनियों को बिहार में विधानसभा चुनाव के शांतिपूर्ण संचालन को सुनिश्चित करने के लिए तैनात किया जाएगा।
आदेश के अनुसार, अधिकतम 80 कंपनियां, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) से होंगी, इसके बाद सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) से 70 कंपनियां, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से 55, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) से 50, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) से 30 और आरपीएफ से 15 कंपनियां होंगी।

इन बलों की एक कंपनी में लगभग 100 जवान होते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ``इन सीएपीएफ और आरपीएफ के कुल 300 कंपनियों या लगभग 30,000 कर्मियों को बिहार चुनाव में तैनाती के लिए सीमाओं और प्रशिक्षण सहित विभिन्न इकाइयों से तुरंत वापस बुलाने का आदेश दिया गया है।``
243 सदस्यीय बिहार विधानसभा के लिए मतदान तीन चरणों- 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होंगे और 10 नवंबर को मतगणना होगी। चुनाव आयोग ने 25 सितंबर को राज्य के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुए कहा था कि मौजूदा कोविड​​-19 महामारी के दौरान यह चुनाव विश्व स्तर पर होने वाले सबसे बड़े चुनावों में से एक होगा।

View More...