Relation

Previous123456Next

सऊदी अरब के एक व्यक्ति ने 43 साल में 53 बार शादी करने का बनाया रिकॉर्ड, कहा शारीरिक सुख नहीं सुकून चाहिए

Date : 17-Sep-2022

रियाद (एजेंसी)। सऊदी अरब के एक व्यक्ति ने 43 साल में 53 बार शादी करने का ‘रिकॉर्ड’ बनाया है। उसने इतनी ज्यादा शादी करने की वजह भी बताई है। शख्स का कहना है कि वह सुकून की तलाश में शादी करता गया। शख्स का दावा है कि उसने व्यक्तिगत सुख नहीं बल्कि ‘स्थिरता’ और मन की शांति पाने के उद्देश्य से 53 बार शादी की है। 63 वर्षीय अबू अब्दुल्ला को “सदी में सबसे ज्यादा शादी” करने वाला व्यक्ति कहा जाता है।

अब्दुल्ला ने सऊदी के स्वामित्व वाले टेलीविजन एमबीसी को बताया, “मैंने लंबे समय के दौरान 53 महिलाओं से शादी की। जब मैंने पहली बार शादी की थी तब मैं 20 साल का था और वह (पत्नी) मुझसे छह साल बड़ी थी।” उन्होंने कहा, “जब मैंने पहली बार शादी की थी तब मेरे जहन में एक से अधिक महिलाओं से शादी करने की कोई योजना नहीं थी। क्योंकि तब मैं सहज महसूस कर रहा था और मेरे बच्चे थे।”

हालांकि, कुछ वर्षों के बाद, रिश्ते में समस्याएं आईं और अब्दुल्ला ने 23 साल की उम्र में फिर से शादी करने का फैसला किया। उन्होंने अपनी पहली पत्नी को अपने फैसले के बारे में बताया। जब उनकी पहली और दूसरी पत्नियों का आपस में विवाद हुआ तो अब्दुल्ला ने तीसरी और चौथी बार शादी करने का फैसला किया। बाद में उन्होंने अपनी पहली दो पत्नियों को तलाक दे दिया।

अब्दुल्ला ने कहा कि उनके कई विवाहों का सीधा सा कारण एक ऐसी महिला की तलाश थी जो उन्हें खुश रख सके। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी सभी पत्नियों के प्रति निष्पक्ष रहने की पूरी कोशिश की। अब्दुल्ला ने कहा कि सबसे छोटी शादी सिर्फ एक रात चली। वैसे तो 63 वर्षीय अब्दुल्ला ने ज्यादातर सऊदी महिलाओं से ही शादी की थी, लेकिन उन्होंने अपनी विदेश में बिजनेस ट्रिप के दौरान विदेशी महिलाओं से भी शादी करने की बात स्वीकार की है।

उन्होंने कहा, “मैं तीन से चार महीने तक रहता था। इसलिए मैंने खुद को बुराई से बचाने के लिए शादी की।” उन्होंने आगे कहा, चाह”दुनिया में हर पुरुषता है कि एक महिला हो और वह हमेशा उसके साथ रहे। स्थिरता एक युवा महिला के साथ नहीं, बल्कि एक बड़ी के साथ मिलनी है।” उन्होंने अब एक महिला से शादी कर ली है और अगली शादी करने की उनकी कोई योजना नहीं है।

View More...

मामा मामी के धर आता जाता था नाबालिक भांजा, मामा से हो गया प्यार, रचाई शादी

Date : 17-Sep-2022

चूरू (एजेंसी)। कहते हैं प्‍यार अंधा होता है. ऐसा एक मामला राजस्‍थान के चूरू जिले के सदर थाने में सामने आया है. यहां एक नाबालिग लड़के और उसकी 35 साल की मामी के बीच प्रेम हो गया. जब इसका पता महिला के पति को चला तो मामला थाने तक पहुंच गया. इस संबंध में पति की ओर से सदर थाने में शिकायत की गयी. मामला बीनासर का है.

विवाहिता के पति ने बताया कि उसकी शादी करीब 10 साल पहले नेशल की महिला के साथ हुई थी. उनके दो बच्चे भी हैं. उसने बताया कि कारंगो बड़ा निवासी उसके नाबालिग भांजे का उसके घर पर आना-जाना था. बताया जा रहा है कि इसी दौरान मामी व भांजे के बीच नजदीकियां प्रेम में बदल गईं और दोनों ने साथ रहने का फैसला कर लिया.

नहीं हुआ पति-पत्नी में तलाक

पीड़ित पति ने बताया कि कुछ दिन पहले उसकी पत्नी ने बताया था कि उसने भांजे के साथ विवाह कर लिया है, अब उसके साथ ही घर बसाएगी. पीड़ित के मुताबिक, दोनों के बीच अभी तक कोई तलाक नहीं हुआ है. मामले को लेकर सदर थाने भी पहुंचा है. पति ने बताया कि विवाह कानूनी रूप से सही नहीं है.

परिजनों ने काफी समझाया

शादी न करने के लिए परिवार के लोगों ने महिला व नाबालिग लड़के को समझाने का प्रयास किया, लेकिन दोनों एक साथ रहने पर अड़े रहे. महिला ने स्पष्ट कह दिया कि वे दोनों साथ जिएंगे और मरेंगे. पहले पति के साथ जाने से महिला ने मना कर दिया.

कानूनी रूप से यह रिश्ता वैध नहीं

इस रिश्ते में सिर्फ सामाजिक हानि नहीं हो रही, बल्कि मामी-भांजे के बीच उम्र का भी एक बड़ा अंतराल है. विवाहिता पूनम जहां 35 वर्ष की है तो उसका भांजा महज 17 साल का है. ऐसे में कानूनी रूप से भी यह रिश्ता वैध नहीं है.

View More...

अनोखी शादी : एक आदमी ने रचाई किन्नर से शादी, पत्नी ने भी दे दी मंजूरी

Date : 13-Sep-2022

भुवनेश्वर (एजेंसी)। कहते है प्यार अंधा होता है, न जात न ही धर्म प्यार तो बस प्यार ढूंढ़ता है और हो जाता है. हुए आज हम आपको प्यार की ही एक ऐसी कहानी बताने वाले है जिसके बारे में सुन कर आपको जरूर थोड़ी हैरानी होगी। क्योकि यहां एक शादीशुदा शख्श और 2 बच्चो के पिता को प्यार हो गया किसी अन्य महिला से नहीं बल्कि एक किन्नर से और तो और उनके इस रिश्ते को उस शख्स की पत्नी ने भी स्वीकार कर लिया है. कोई भी महिला सौतन को स्वीकार नहीं करती, लेकिन ओडिशा में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है।

यहां एक शख्स को एक किन्नर से प्यार था, जिसे उसकी पत्नी ने भी स्वीकार कर लिया है और शादी की इजाजत दे दी है। यही नहीं कालाहांडी की महिला ने पति को यह अनुमति भी दे दी है कि वह किन्नर को भी अपने ही घर में रख ले यानी तीनों ही एक छत के नीचे रहेंगे। किन्नर से शादी रचाने वाले शख्स का दो साल का बेटा भी है। वह पिछले एक साल से किन्नर के साथ अफेयर में था। यह बात जब उसकी पत्नी को पता चली तो उसने इस रिश्ते को स्वीकार कर लिया और किन्नर के साथ पति को उसी घर में रहने की मंजूरी दे दी। हालांकि कानूनी रूप से पहली पत्नी से तलाक लिए बिना कोई शख्स दूसरा विवाह नहीं कर सकता।

रविवार को महिला के पति ने किन्रर के साथ ब्याह रचा लिया। इस दौरान किन्नर समुदाय के लोग भी बड़ी संख्या में मौजूद थे। सेबकारी किन्नर महासंघ की अध्यक्ष कामिनी ने विवाह की सारी रस्मों को पूरा कराया। उन्होंने कहा कि हम दोनों के लिए खुश हैं और उन्हें सुखी वैवाहिक जीवन के लिए शुभकामनाएं देते हैं। कामिनी ने कहा कि हम जानते हैं कि हिंदू मैरिज ऐक्ट के तहत एक पत्नी के रहते हुए कोई पुरुष दूसरा विवाह नहीं कर सकता है। लेकिन यह तो दोनों पार्टनर्स की सहमति का मामला है। इस शादी के लिए तो शख्स की पत्नी ने भी मंजूरी दे दी है और उसके बाद ही यह विवाह किया गया है।

कामिनी ने कहा कि हमें भी इस शादी को लेकर शुरुआत में संशय था और हमने दोनों से विचार करने की बात कही थी। इस पर उन्होंने कहा कि हम पूरे मन से शादी कर रहे हैं। इसके अलावा शख्स की पत्नी ने भी जब शादी को स्वीकार कर लिया तो फिर कोई दिक्कत नहीं हुई। वहीं इस मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि यदि किसी भी पक्ष की ओर से शादी को लेकर कोई ऐतराज सामने आता है या फिर शिकायत की जाती है तो फिर ऐक्शन लिया जाएगा।

वहीं कानून के जानकारों का कहना है कि इस शादी को कानूनी वैधता नहीं मिल सकती। एक अधिवक्ता ने कहा कि पहली शादी के बरकरार रहते हुए दूसरी शादी को मंजूरी नहीं मिल सकती। भले ही वे लोग शादी करके ही रह रहे हों, लेकिन पहली पत्नी के रहते हुए इस रिश्ते को लिव-इन रिलेशनशिप या फिर विवाहेतर संबंध के तौर पर ही जाना जाएगा।

View More...

बेडरूम में सोने के वक्त पति.पत्नी भूलकर भी न करें ये गलतियां, पड़ सकता है महंगा

Date : 09-Sep-2022

नई दिल्ली (एजेंसी) । आपको पता है कि वास्तु दोष भी पति-पत्नी के बीच दूरियों का एक कारण हो सकता है. इसका कनेक्शन आपके बेडरूम में सोने के तरीके से भी हो सकता है. अगर आप गलत दिशा में सो रहे हैं तो यह दांपत्य जीवन में दरार पैदा कर सकता है. तो आइए जानते हैं कि पति-पत्नी को अपने बेडरूम में कैसे सोना चाहिए

वास्तु शास्त्र में पति-पत्नी के लिए कुछ नियम बताए गए हैं. इनका पालन करने से दाम्पत्य जीवन सुखमय बना रहता है. शास्त्रों में कहा गया है कि पत्नी को धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों के लिए दाहिनी ओर बैठना चाहिए. जबकि अन्य सांसारिक कार्यों में पत्नी का स्थान पति की बाईं ओर होना चाहिए.

वास्तु शास्त्र क्या कहता है

वास्तु कहता है कि घर के मुखिया को हाई एनर्जी जोन यानी दक्षिण दिशा में सोना चाहिए. बिस्तर इस तरह से लगाना चाहिए कि सोते हुए पति-पत्नी के पैर दक्षिण दिशा में न हों. दक्षिण दिशा में सिर और उत्तर दिशा में पैर रखना सबसे अच्छा माना जाता है.

दक्षिण दिशा में सोने के फायदे

वास्तु शास्त्र के अनुसार, दक्षिण दिशा में सिर करके सोने से पति-पत्नी के जीवन में खुशी-समृद्धि बढ़ती है और न ही घर में कभी भी धन की कोई कमी होती है.

View More...

देशभर में आज मनाया जा रहा रक्षाबंधन का त्योहार, जानें किस मुहूर्त पर राखी बांधें बहनें

Date : 11-Aug-2022

दिल्ली (एजेंसी)। आज देशभर में रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जा रहा है। भाई-बहन के रिश्ते में इस पर्व का बेहद खास महत्व है। रक्षाबंधन का पर्व प्रतिवर्ष हिन्दू कैलेंडर के अनुसार सावन महीने के शुक्‍ल पक्ष की पूर्णिमा पर मनाया जाता हैं। यह त्‍योहार इस बार बेहद खास होने जा रहा है। इस दिन ऐसा महासंयोग बन रहा है, जो करीब 200 साल बाद बना है।

ज्योतिषशास्त्रियों का कहना है कि इस साल रक्षाबंधन पर ग्रहों की एक विशेष स्थिति बन रही है। दरअसल इस बार गुरुदेव बृहस्पति और ग्रहों के सेनापति शनि वक्री अवस्था में अपनी-अपनी राशियों में विराजमान रहेंगे। साथ ही आयुष्मान, सौभाग्य और ध्वज योग रहेगा। इसके अलावा शंख, हंस और सत्कीर्ति नाम के राजयोग भी बन रहे हैं। ग्रहों का ऐसा अद्भुत संयोग करीब 200 साल बाद बन रहा है।

भद्राकाल में न बांधे राखी

ज्योतिषियों के अनुसार, गुरुवार को भद्रा काल सुबह 10:39 पर शुरू होगा और रात 8:52 पर खत्म होगा। ऐसा माना जाता है कि भद्रा का वास चाहे आकाश में रहे या स्वर्ग में, जब तक भद्रा काल पूरी तरह खत्म न हो जाए तब तक रक्षा बंधन नहीं करना चाहिए। वही ज्योतिषियों का मानना हैं कि भद्रा काल का प्रभाव इस बार नहीं पड़ने वाला हैं।

क्या है शुभ मुहूर्त?

11 अगस्त- पुच्छ काल में शाम 5: 07 से 6: 19
11 अगस्त- चर चौघड़िया में रात 8:52 से 9:48 तक
11 अगस्त- प्रदोष काल में रात 8:52 से 9:15 तक

View More...

रिश्ते हुए शर्मशार, पिता ने बाप.बेटी के रिश्तों को किया कलंकित, अपनी ही तेरह साल की बेटी के साथ करता रहा दुष्कर्म

Date : 26-Jul-2022

गौरैला-पेंड्रा-मरवाही। जिले में एक शर्मशार करने वाली घटना सामने आई है। नराधम पिता ने बाप-बेटी के रिश्तों को कलंकित कर दिया। पिता अपनी ही 13 साल की बेटी से एक माह से दुष्कर्म कर रहा था। आरोपी बच्ची को स्कूल भी नहीं जाने देता था। विरोध करने पर उससे बेरहमी से मारपीट भी करता था। प्रताड़ना से तंग आकर नाबालिग ने सारी बात अपने दादा को बताई, जिसके बाद मामला पुलिस तक पहुंचा। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमांड पर जेल भेजा है। उसके खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो के तहत मामला दर्ज किया गया है। मामला गौरेला थाना क्षेत्र का है।

एएसपी अर्चना झा ने बताया कि गौरेला थाना क्षेत्र अंतर्गत पिता द्वारा बच्ची से दुष्कर्म की घटना सामने आई है। 13 साल की बच्ची की मां की मौत हो चुकी है। बच्ची को उसका पिता और दादा 5 साल की उम्र से पाल रहे हैं। 2 दिन पहले बच्ची घर पर अकेली थी। लड़की का दादा किसी काम से बाहर गया था, तब पिता ने बच्ची के साथ फिर दुष्कर्म किया। बच्ची का दादा जब घर लौटा तो उसने सारी बात बताई। इसके बाद पुलिस के हेल्पलाइन नंबर डायल-112 पर फोन कर सूचना दी गई। नाबालिग की बात सुनकर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने लड़की के दादा का बयान लिया।

शराब पीने का आदी है आरोपी पिता 

मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी पिता शराब पीने का आदी है। वह नशे की हालत में हमेशा घर आता और नाबालिग से मारपीट करता। लड़की को स्कूल में भर्ती कराने को लेकर आरोपी का अपने पिता से भी कई बार विवाद भी हो चुका है। पुलिस ने बताया कि बच्ची से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि आरोपी एक माह से उसका रेप कर रहा था। बच्ची का मेडिकल कराया गया है। इसके बाद उसे काउंसिलिंग के लिए भेजा जाएगा। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमांड पर जेल भेजा गया है। आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म के साथ ही पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

View More...

हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, प्रेमी जोड़े के लव मैरिज के बाद नहीं दखल दे सकते परिजन

Date : 24-Jul-2022

नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली पुलिस को अपने परिवारों के खिलाफ शादी करने वाले जोड़े की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि एक बार जब दो सहमति वाले वयस्क पति और पत्नी के रूप में एक साथ रहने का फैसला करते हैं, तो कोई भी उनके परिवार के सदस्यों सहित हस्तक्षेप करने का हकदार नहीं है।

परिवार वाले नहीं कर सकते अलग

कोर्ट ने कहा कि राज्य अपने नागरिकों की रक्षा करने के लिए संवैधानिक दायित्व के तहत चलता है। खासकर जब सहमति से शादी करनेवाले वयस्क अलग जाति या समुदाय के होते हैं। उनकी रक्षा और जरूरी हो जाती है। कोर्ट ने कहा कि संवैधानिक न्यायालयों को नागरिकों की सुरक्षा के लिए आदेश पारित करने का अधिकार है। विशेष रूप से उस मामलों में, जिससे वर्तमान में कोई विवाद हो रहा हो। एक बार जब दो वयस्क पति और पत्नी के रूप में एक साथ रहने के लिए सहमत हो जाते हैं तो उनके परिवार सहित तीसरे पक्ष से उनके जीवन में कोई हस्तक्षेप नहीं किया जा सकता है। हमारा संविधान भी इसे सुनिश्चित करता है।

पुलिस सुरक्षा की हुई थी मांग

न्यायमूर्ति तुषार राव गेडेला ने कहा कि यह न केवल राज्य का कर्तव्य है, बल्कि इसकी एजेंसियों का भी यह सुनिश्चित करना है कि देश के नागरिकों को कोई नुकसान न हो। कोर्ट एक विवाहित जोड़े की याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें पुलिस सुरक्षा की मांग की गई थी। बताया गया कि उन्होंने स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी की थी।

कोर्ट ने दिया था दिल्ली पुलिस को आदेश

अदालत को बताया गया कि महिला के पिता उत्तर प्रदेश में राजनीतिक रूप से जुड़े हुए व्यक्ति थे, जो राज्य तंत्र को प्रभावित करने में सक्षम थे। इसलिए कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के संबंधित क्षेत्र के बीट अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अगले तीन सप्ताह के लिए दो दिनों में एक बार दंपति के आवास का दौरा करें।

पुलिस याचिकाकर्ताओं का रखेंगे ख्याल

किसी भी खतरे या आपात स्थिति के संबंध में याचिकाकर्ताओं की ओर से किसी भी कॉल के मामले में पुलिस अधिकारियों को तुरंत जवाब देने का भी निर्देश दिया गया है। याचिकाकर्ताओं की ओर से अधिवक्ता मुमताज अहमद और सतीश शर्मा पेश हुए। राज्य की ओर से अतिरिक्त लोक अभियोजक मुकेश कुमार के साथ अतिरिक्त स्थायी वकील (आपराधिक) कामना वोहरा पेश हुईं।

View More...

रिस्ते हुए शर्मशार, दादा ने अपनी ही पोती को बनाया हवस का शिकार, गर्भवती होने पर हुआ खुलासा

Date : 22-Jan-2022

बलौदाबाजार। जिले से शर्मशार करने वाली खबर सामने आ रही है। यहाँ एक दादा ने अपनी ही पोती को हवस का शिकार बनाया है। जिससे वह 7 माह की गर्भवती हो गई। पीड़िता की रिपोर्ट पर आरोपी दादा को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

घर में अकेला पाकर किया दुष्कर्म 

मामले की जानकारी देते हुए कोतवाली निरीक्षक विजय चौधरी (Inspector Vijay Choudhary) ने बताया कि पीड़िता ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि जून 2021 में छेदूराम तुरकाने जो मेरे रिश्ते में दादा लगतें हैं। जो ग्राम गैतरा आए थे। पीड़िता के घर में अकेली पाकर उसका फायदा उठाकर धमकाकर उसके साथ लगातार 2 बार बलात्कार किया। इतना ही नहीं कलयुगी दादा ने घटना की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने की धमकी दी थी, जिससे पीड़िता 7 माह की गर्भवती हो गई। जिसके बाद घटना का खुलासा हुआ।

 गिरफ्तार आरोपी दादा 

पीड़िता के रिपोर्ट पर थाना सिटी कोतवाली में मामला दर्ज कर आरोपी का पतासाजी की गई। मुखबिर की सूचना पर आरोपी का पता चलने पर आरोपी छेदूराम तुरकाने निवासी दावनबोड़ को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया है।

View More...

रिश्ते हुए शर्मसार, 13 साल की बच्ची के साथ बड़े पिता ने ही किया दुष्कर्म, आरोपी को गिरफ्तार

Date : 10-Jan-2022

कोरबा। रिश्ते को शर्मसार करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। 13 साल की बच्ची के साथ बड़े पिता ने ही दुष्कर्म किया। आरोपी ने बच्ची की मां के साथ भी रेप किया था। रिपोर्ट पर आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। सीएसईबी पुलिस ने कार्यवाही की है। 13 साल की नाबालिग अपने कमरे में सो रही थी। उसी समय उसके रिश्ते का बड़े पिताजी पीड़ित बालिका के कमरे अंदर आकर जबरन बलात्कार किए। प्रार्थीया की रिपोर्ट पर चौकी सीएसईबी में अपराध क्रमांक 26/2022 धारा 376(2)(च )(झ ) भा द वि एवं 6 पॉक्सो एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक कोरबा भोज राम पटेल के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा अभिषेक वर्मा के मार्गदर्शन तथा नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा योगेश साहू के पर्यवेक्षण में त्वरित कार्यवाही हेतु थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक रामेंद्र सिंह, उपनिरीक्षक भावना खंडारे एवं चौकी प्रभारी सीएसईबी उपनिरीक्षक नवल साव को निर्देश प्राप्त हुआ था। वरिष्ठ अधिकारियों से प्राप्त निर्देशों को अमल में लाते हुए मामले की पीड़ित बालिका का कथन उपनिरीक्षक भावना खंडारे द्वारा चौकी सीएसईबी पहुंचकर दर्ज किया गया।

मामले की वैधानिक कार्यवाही पूर्ण कर बालिका को सुरक्षार्थ बालिका गृह में रखवाया गया। मामले के आरोपी की पतासाजी हेतु चौकी प्रभारी सीएसईबी उपनिरीक्षक नवल साव अपने मातहत स्टाफ के साथ रवाना होकर सघन पतासाजी करते रहे इस दौरान आरोपी दिलीप कुमार पिता साहू राम उम्र 39 साल निवासी ढोढ़ी पारा जिला कोरबा को सीतामढ़ी बस स्टैंड कोरबा से महज 12 घंटों के भीतर ही धर दबोचा गया एवं वैधानिक कार्यवाही पूर्ण करने उपरांत आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जिला न्यायालय कोरबा मे पेश किया गया तथा आरोपी का जेल वारंट बनने से जिला जेल कोरबा में दाखिल किया गया है।

View More...

आज से शुरू हो जाएंगें से सभी मांगलिक कार्य

Date : 16-Nov-2021

 न्युज डेस्क (एजेंसी)। चुतुर्मास के बाद शादी-विवाह, गृह प्रवेश और मुंडन जैसे तमाम शुभ कार्य तकरीबन चार महीने के लिए बंद हो जाते हैं। देवउठनी पर जब भगवान विष्णु योग निद्रा से जागते हैं तब सभी शुभ कार्य पुन: प्रारंभ होते हैं। 14 नवंबर को देवउठनी एकादशी के बाद शादियों का शुभ मुहूर्त खुल गया है। अब नवंबर-दिसंबर का महीना शादियों की शुभ तारीखों से भरा रहेगा। ज्योतिषविदों के अनुसार, इस दौरान कई शुभ तारीखें आएंगी जिनमें विवाह जैसे शुभ कार्यक्रम संपन्न किए जा सकेंगे।

चातुर्मास के दौरान बंद रहे शादी-विवाह, मुंडन जैसे शुभ काम अब देवउठनी एकादशी (14 नवंबर 2021) से शुरू हो जाएंगे। आइए जानते हैं कि नवंबर 2021 से अप्रैल 2022 तक के शादी के कितने और कौन-से शुभ मुहूर्त हैं।

14 दिसंबर तक शादियां ही शादियां- देव उठनी से लेकर 14 दिसंबर तक यानी पूरे एक महीने शादी-विवाह के लिए अच्छा समय रहेगा। 14 दिसंबर से 14 जनवरी तक मलमास लगेगा जिसमें शादियां नहीं होंगी। हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, मलमास में सभी प्रकार के शुभ कार्य वर्जित होते हैं। 14 जनवरी को मलमास समाप्त होने के बाद शादी-विवाह जैसे शुभ काज फिर से किए जा सकेंगे।

नवंबर 2021 में विवाह की शुभ तारीखें: ज्योतिषियों के अनुसार, नवंबर में विवाह का पहला शुभ मुहूर्त 14 नवंबर को था। अब 15, 16, 20, 21, 22, 28, 29 और 30 नवंबर की तारीख को विवाह की शुभ घड़ी आ रही है।

दिसंबर 2021 में विवाह की शुभ तारीखें: नवंबर के बाद दिसंबर में 1, 2, 6, 7, 8, 9, 11 और 13 को विवाह का शुभ मुहूर्त बन रहा है। दिसंबर की ये सभी तारीखें शादी-विवाह के लिए उत्तम हैं।

जनवरी 2022 में विवाह की शुभ तारीखें:

साल 2022 में 14 जनवरी तक मलमास रहेगा। इसके बाद 22, 23, 24 और 25 जनवरी को विवाह के लिए शुभ तारीखें आएंगी।

फरवरी 2022 में विवाह की शुभ तारीखें:

इसके बाद फरवरी 2022 में फिर से जमकर शादियां होंगी। 5, 6, 7, 9, 10, 11, 12, 18, 19, 20 और 22 तारीख को शादी करना शुभ रहेगा। आप किसी भी शुभ तिथि में ये शुभ कार्य कर सकते हैं।

मार्च 2022 में विवाह की शुभ तारीखें:

साल की तीसरे महीने मार्च में विवाह के लिए केवल 2 शुभ मुहूर्त बनेंगे। इस महीने केवल 4 मार्च औ 9 मार्च को शादी करना शुभ रहेगा।

अप्रैल 2022 में विवाह की शुभ तारीखें: अप्रैल का महीना भी विवाह की शुभ तारीखों से भरा रहेगा। इस महीने 14, 15, 16, 17,19, 20, 21, 22, 23, 24 और 27 अप्रैल विवाह की शुभ तिथियां होंगी।

नोट– उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

View More...
Previous123456Next