Top News

Previous123456789...153154Next

उद्योग विहार स्थित जूता फैक्टरी में लगी भीषण आग मचा हड़कंप, छह कर्मचारी लापता

Date : 21-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली के उद्योग विहार स्थित एक जूता फैक्टरी और आसपास के इलाके में उस वक्त हड़कंप मच गया जब यहां आग लग गई। देखते ही देखते आग ने पूरी फैक्टरी को अपनी चपेट में ले लिया। घटना की सूचना तुरंत दमकल विभाग को दी गई जिसके बाद कई गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। फैक्टरी मालिक के अनुसार रात में फैक्टरी में रुके छह कर्मचारियों का भी कुछ पता नहीं चल रहा है, वह लापता हैं।

आग इतनी भयावह थी कि दमकल की 24 गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और बाद में 15 अन्य गाड़ियां भेजी गईं। राहत की बात ये है कि अब तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है, लेकिन जो छह कर्मचारी लापता हैं उन्हें लेकर डर बना हुआ है।

दमकल विभाग के अनुसार उन्हें सुबह 8.22 बजे आग की सूचना प्राप्त हुई जिसके बाद दमकल की 24 गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और राहत व बचाव कार्य शुरू किया। इसके बाद दमकल की 15 और गाड़ियां मौके पर पहुंची हैं इसके साथ ही दो कैट एंबुलेंस भी मौजूद हैं। आग बुझाने का काम अब भी जारी है। हालांकि अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी है कि यह आग कैसे लगी।

दिल्ली दमकल सेवा के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि करीब 5-6 लोग लापता हैं। मैं घटनास्थल पर जा रहा हूं। आग पर अब भी(सुबह करीब 11 बजे) काबू नहीं पाया जा सका है।

View More...

पुलिस ने 36 घंटे के अंदर नंदौरी हत्याकांड व चोरी की वारदात का किया खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

Date : 20-Jun-2021

भिलाई। पुलिस ने 36 घंटे के अंदर भिलाई-3 थाना इलाके में हुए नंदौरी हत्याकांड और चोरी की वारदात का खुलासा कर दिया। आरोपी नितीश कुमार बंजारे (21 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी से सेवा सहकारी समिति (सोसाइटी) से चौकीदार की हत्या के बाद चुराये गए 8 लाख 510 रुपए बरामद कर लिया गया।

आज दोपहर पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित एक पत्रकारवार्ता में एएसपी शहर संजय ध्रुव ने मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि आरोपी नितीश कुमार बंजारे ने महंगे दुपहिया वाहन और फैशनेबल कपड़े पहनने के शौक को पूरा करने नंदौरी सेवा सहकारी समिति में चोरी की वारदात को अंजाम देेने का ताना बाना बुना। आरोपी युवक का पिता ओमप्रकाश बंजारे सेवा सहकारी समिति में कैशियर कम क्लर्क है। सेवा सहकारी समिति के जिस आलमारी में रकम रखी जाती है उसकी चाबी ओमप्रकाश बंजारे के पास रहती थी। इसी चाबी का इस्तेमाल कर नितीश ने वारदात को अंजाम दिया। आरोपी से पुलिस ने घटना में इस्तेमाल दो मोटर साइकिल जब्त किया है। दोनों वाहन को एक ही नंबर से आरोपी चला रहा था। जिसमें से एक वाहन चोरी की है।

एएसपी शहर संजय ध्रुव ने बताया कि 17 जून को नंदौरी निवासी सरपंच पति शशीकांत वर्मा ने भिलाई-3 पुलिस को सेवा सहकारी समिति भवन में चौकीदार हरिशंकर वर्मा की हत्या हो जाने की सूचना दी थी। समिति भवन के आलमारी में रखे 8 लाख 510 रुपए गायब मिलने से हत्या की वजह के पीछे रकम की चोरी करने के इरादे को मानते हुए पांच जांच टीम गठित की गई। पहली टीम मृतक के परिवार व ग्राम नंदौरी में पूछताछ, दूसरी टीम सोसाइटी से जुड़े लोगों से पूछताछ, तीसरी टीम सायबर व तकनीकी चौथी टीम बाहरी अज्ञात तत्वों के बारे में जानकारी तथा पांचवी टीम भिलाई-3 थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल के नेतृत्व में गठित की गई थी जो सभी चार टीमों के बीच सामंजस्य बनाकर काम कर रही थी। सभी संभावनाओं पर जांच केन्द्रित रहने के दौरान सोसायटी के कैशियर कम क्लर्क ओमप्रकाश बंजारे से पूछताछ की गई तो मामले का खुलासा होते देर नहीं लगी।

ओमप्रकाश सोसाइटी के आलमारी की चाबी रखता था। इसी चाबी को नितीश ने पिता की पेंट के जेब से निकालकर दूसरी चाबी बना ली। इसी चाबी के साथ अपनी मोटर साइकिल में लोहे का सब्बल बांधकर नितीश वारदात को अंजाम देेने 16 व 17 जून की दरम्यानी रात सोसाइटी पहुंचा। बाहर के ग्रिल गेट को तोड़कर नितीश अंदर घूसा तो चौकीदार हरिशंकर वर्मा जाग गया। चिल्लाने पर नितीश ने हरिशंकर पर सब्बल से हमला बोल दिया। पहला प्रहार पेट पर होने के बाद भी हरिशंकर शोर करने लगा तो नितीश ने फिर उसके सिर पर सब्बल मार दिया। जिसके बाद वह पलंग पर गिरकर बेहोश हो गया। इसके बाद आरोपी ने हरिशंकर के मोबाइल फोन का बैटरी निकालकर वहीं फेंक दिया और आलमारी का ताला तोड़ 8 लाख 510 रुपए की रकम लेकर भाग निकला। पत्रकारवार्ता में सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर एवं भिलाई-3 टीआई विनय सिंह बघेल विशेष रूप से उपस्थित थे।

00 डॉग स्क्वाड से मिला अहम सुराग
नंदौरी के सोसाइटी में चौकीदार के अंधेकत्ल और 8 लाख रुपए की चोरी के आरोपी का अहम सुराग डॉग स्क्वाड से मिला है। घटना की जांच में डॉग स्क्वाड का सहारा लिया गया। घटना स्थल पर लाया गया पुलिस डॉग चलता हुआ ओमप्रकाश बंजारे के घर में जा पहुंचा। चूंकि ओमप्रकाश सोसाइटी का कैशियर कम क्लर्क था। इसलिए पुलिस डॉग का घटना स्थल से उसके घर जाकर रुकने से पुलिस को जांच की दिशा मिल गई। पूछताछ में पता चला कि ओमप्रकाश का छोटा बेटा नितीश घर पर नही है।

बड़े बेटे रविशंकर बंजारे से पूछताछ करने पर उसने बताया कि नितीश ने 16 जून की शाम को सोसाइटी में कितने रुपए होने के बारे में उससे पूछा था। नितीश जुआ खेलने का भी आदी है। इस आधार पर उसकी खोजबीन की गई और जब वह हिरासत में आया तो कड़ी पूछताछ के बाद अपराध करना कबूल लिया। इस सफलता में टीआई विनय सिंह बघेल, सहित एसआई प्रकाश शुक्ला, दुर्गेश वर्मा, पेट्रोलिंग स्टाफ एएसआई राजेश पांडेय, आरक्षक राकेश सिंह, संदीप सिंह, कृष्णा सिंह, विजय सिंह, हरीश राव, मो. हफीज साबारी, प्रकाश साहू, राकेश चन्द्रौल, नंदलाल सिंह, ईश्वर लाल भारद्वाज, निखिल गुप्ता, सिविल टीम के रिंकू सोनी, सत्येन्द्र मढरिया, अरविंद मिश्रा की अहम भूमिका रही।

View More...

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर एम्स के निदेशक गुलेरिया ने कही अहम बात, इस तारिक को आ आ सकती है तीसरी लहर

Date : 20-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना की तीसरी लहर कब आ सकती है? इसको लेकर एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने अहम बात कही है। एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने शनिवार को कहा है कि अगले 6 से 8 हफ्ते में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है।

उन्होंने चेताया है कि अगर लोगों ने मास्क और सोशल डिस्टेन्सिंग जैसे जरुरी गाइडलाइन को फॉलो नहीं किया तब काफी मुश्किल हालात पैदा हो सकते हैं। एम्स के निदेशक ने कहा है कि कोरोना के केस बढ़ने पर सर्विलांस और जिस क्षेत्र में केस बढ़ते हैं उसकी पहचान कर वहां लॉकडाउन लगाने की भी जरुरत पड़ सकती है। रणदीप गुलेरिया ने कहा कि `अगर कोरोना से जुड़े गाइडलाइंन को फॉलो नहीं किया गया तो तीसरी लहर 6-8 हफ्तों में आ सकती है। जरुरत है कि वैक्सीनेशन होने तक हम आक्रामक रूप से अपनी जंग को जारी रखें।`

एम्स के निदेशक ने कहा है कि अगर किसी क्षेत्र में कोरोना संक्रमण का दर 5 प्रतिशत से ऊपर जाता है तो वहां लॉकडाउन लगाने यहा उस क्षेत्र को कैन्टोन्मेंट जोन घोषित करने जैसे जरुरी कदम उठाना चाहिए। एम्स के निदेशक ने यह भी कहा है कि आर्थिक गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए कोरोना की किसी भी लहर से निपटने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन लगाना कोई उपाय नहीं है। बता दें कि कोविड-19 की दूसरी लहर ने अप्रैल और मई के महीने में देश को बुरी तरह से प्रभावित किया था। दावा किया गया था कोविड की वजह से हर रोज कई लोगों की जान चली गई। कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी होने की बात भी कही गई थी।

हालांकि, पिछले कुछ दिनों से कोरोना के केसों में कमी दर्ज की गई है। जहां हर रोज कोरोना के 4 लाख केस आ रहे थे वहीं पिछले कुछ दिनों से यह दर 60,000 के आसपास पहुंच गया है। शनिवार को देश में 60,753 नए कोविड-19 केस दर्ज किये गये। इसके अलावा 1,647 लोगों की मौत कोरोना की वजह से हुई है।

View More...

राजधानी रायपुर को सुशासन में मिला दूसरा स्थान, देश के टॉप 10 रहने योग्य राजधानियों में आठवें स्थान पर

Date : 19-Jun-2021

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर को सुशासन में दूसरा स्थान मिला है। वहीं, रायपुर देश के टॉप 10 रहने योग्य राजधानियों में आठवें स्थान पर है।

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट द्वारा ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स 2020 जारी किया गया है। इस रिपोर्ट बताया गया है कि, राज्य की राजधानियाँ भारत के सबसे अधिक रहने योग्य शहरों में से हैं। ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स 2020 के अनुसार छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर 8वें सर्वश्रेष्ठ राजधानी में शामिल है।

इतना ही नहीं रायपुर गुड गवर्नेंस के टॉप शहरों में भी शामिल है। रिपोर्ट में बताया गया है कि सुशासन में रायपुर देश की राजधानियों में दूसरे स्थान पर है। पहले स्थान पर भोपाल और दिल्ली को चौथा स्थान प्राप्त हुआ है।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में शासन तंत्र को दुरुस्त करने के साथ ही योजनाओं और उनके समयबद्ध बेहतर क्रियान्वयन पर जोर दिया जा रहा है। इसके साथ ही ई गवर्नेन्स के माध्यम से पारदर्शिता और सहुलियत बढ़ाई गई है।

ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स पर स्कोर निर्धारित करने के लिए, चार मापदंडों का उपयोग किया गया था: जीवन की गुणवत्ता, आर्थिक क्षमता, स्थिरता और नागरिकों की धारणा। रिपोर्ट में भारत के राज्यों की राजधानियाँ उस राज्य के विकास का एक अच्छा संकेत दे रही है। सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट द्वारा जारी एक नई रिपोर्ट ने भी यह वास्तव में स्थापित किया है कि देश में कौन सी राज्य की राजधानियाँ भारत के सबसे अधिक रहने योग्य शहरों में से हैं।
शहरों की शासन रैंकिंग की गुणवत्ता के लिए, पाँच मापदंडों का उपयोग किया गया था, सेवाएँ, वित्त, प्रौद्योगिकी, शहरी नियोजन और समग्र शासन।

View More...

पानी से भी फैल सकता है कोरोना, साबरमती नदी में मिला कोरोना वायरस की मौजूदगी का पता

Date : 18-Jun-2021

अहमदाबाद (एजेंसी)। दुनियाभर में कोरोना वायरस के संक्रमण ने पिछले डेढ़ साल से कोहराम मचा रखा है। कोरोना वायरस को लेकर आए दिन कोई न कोई नई जानकारी मिलती रहती है. नई जानकारी के मुताबिक अभी तक देश के कई शहरों में सीवेज लाइन में कोरोना वायरस के जीवित मिलने की पुष्टि हुई थी लेकिन ऐसा पहली बार है अब प्राकृतिक जल स्‍त्रोत में भी कोरोना वायरस का पता चला है। गुजरात के अहमदाबाद में साबरमती नदी में कोरोना वायरस की मौजूदगी का पता चला है। वैज्ञानिक इस बात को लेकर हैरान हैं कि यहां से लिए गए सभी सैंपल में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है।

देश में कोरोना वायरस को लेकर चौंकाने वाली जानकारीहाथ लगी है. गुजरात के अहमदाबाद में साबरमती के साथ ही अन्य जल स्रोत कांकरिया, चंदोला झील से लिए गए सैंपल में भी कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. इतनी बड़ी संख्‍या में लिए गए सैंपल के पॉजिटिव आने के बाद वैज्ञानिकों ने असम के गुवाहाटी में भी नदियों के पानी का सैंपल लेकर जांच की गई. शोध में पता चला कि असम की भारू नदी से लिए गए सैंपल में कोरोनावायरस मौजूद था।

जांच में पाया गया है कि नदियों से जो सैंपल लिया गया है उनमें वायरस की मौजूदगी काफी अधिक रही।  नदियों के पानी में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर आईआईटी गांधी नगर सहित देश के आठ संस्थानों ने शोध किया है. इस शोध में नई दिल्ली स्थित जेएनयू के स्कूल ऑफ इनवॉयरमेंटल साइंसेज के शोद्यार्थी भी शामिल हैं. गांधीनगर स्थित इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी के पृथ्‍वी विज्ञान विभाग के मनीष कुमार ने बताया अभी तक केवल सीवेज लाइन में ही कोरोना वायरस के जीवित होने की पुष्टि हुई थी।

हमारी टीम ने जब नदी के पानी का सैंपल लिया और उसकी जांच की तो चौंकाने वाली जानकारी मिली. अहमदाबाद में सबसे ज्यादा वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट हैं और गुवाहाटी में एक भी प्लांट नहीं है. हमारी टीम ने जब दोनों ही जगहों पर पानी के सैंपल की जांच की तो उसमें कोरोना वायरस की पुष्टि हुई।

हर सप्‍ताह लिए गए पानी के सैंपल

गांधीनगर स्थित इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी के पृथ्‍वी विज्ञान विभाग के मनीष कुमार ने बताया कि उनकी टीम ने 3 सितंबर से 29 दिसंबर 2020 तक हर सप्‍ताह नदियों के सैंपल लिए थे. साबरमति से 694, कांकरिया से 549 और चंदोला से 402 सैंपल लिए गए थे. शोध में सभी सैंपल में कोरोना की पुष्टि हुई है. इस शोध में पता चला है कि वायरस नदी के साफ पानी में भी जीवित रह सकते हैं।

View More...

पीएम मोदी आज भी दुनियाभर में सबसे ज्‍यादा पसंद किए जाने वाले नेताओं में पहले स्‍थान पर

Date : 18-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता में कमी को लेकर हाल ही में कई दावे किए गए, लेकिन एक सर्वे रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है कि वह आज भी दुनियाभर में सबसे ज्‍यादा पसंद किए जाने वाले नेताओं में पहले स्‍थान पर हैं. इस रिपोर्ट के अनुसार, पीएम मोदी की लोकप्रियता बरकरार है और इस मामले में वह दुनिया के कई बड़े देशों के नेताओं से आगे हैं. अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म की तरफ से किए गए एक सर्वे के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी की ग्लोबल अप्रूवल रेटिंग 66 फीसदी है, जो कि अन्य वैश्विक नेताओं से आगे है।

मॉर्निंग कंसल्ट के डेटा से पता चलता है कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान लोकप्रियता रेटिंग में गिरावट के बाद भी पीएम मोदी अमेरिका, ब्रिटेन, रूस, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, ब्राजील, फ्रांस और जर्मनी समेत 13 देशों के अन्य विश्व नेताओं से आगे हैं. सर्वे के मुताबिक, कोरोना की दूसरी लहर के दौरान उनकी अप्रूवल रेटिंग में गिरावट जरूर आई है, लेकिन इसके बाद भी वह दुनिया में टॉप पर चल रहे हैं और महामारी के दौरान अन्य वैश्विक नेताओं की तुलना में उनका प्रदर्शन बेहतर है. दुनिया के केवल तीन नेताओं की अप्रूवल रेटिंग 60 से ऊपर है, जिसमें पीएम मोदी सबसे ऊपर हैं।

अनुच्छेद 370 को हटाने के दौरान कितनी थी पीएम मोदी की लोकप्रियता?

भारत में 2,126 वयस्कों पर किए गए सर्वे के साथ मॉर्निंग कंसल्ट ग्लोबल लीडर अप्रूवल रेटिंग ट्रैकर ने भारत के प्रधानमंत्री मोदी के लिए 66 प्रतिशत अप्रूवल दिखाया है, जबकि 28 प्रतिशत ने उन्हें अस्वीकृत किया है. इस ट्रैकर को गुरुवार को अपडेट किया गया था, इससे पहले इस ट्रैकर को 17 जून को अपडेट किया गया था. मॉर्निंग कंसल्ट के ही अनुसार, अगस्त 2019 में, जब मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया था, तब उनकी अप्रूवल रेटिंग 82 प्रतिशत थी और अस्वीकृति रेटिंग केवल 11 प्रतिशत थी।

View More...

डीआरआई ने की बड़ी कार्रवाई, महाराष्ट्र की राजधानी के एयरपोर्ट से 21 करोड़ के हेरोईन के साथ महिला गिरफ्तार

Date : 18-Jun-2021

मुंबई (एजेंसी)। महाराष्ट्र की राजधानी से डीआरआई ने बड़ी कार्रवाई की है। जहां एक जाम्बिया की एक महिला से 21 करोड़ रुपये का तीन किलोग्राम हेरोईन बरामद की गई है। जिसके बाद महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने कहा कि आरोपी की पहचान जूलियाना मुताले के रूप में हुई है जो दोहा के रास्ते जोहानिसबर्ग से मुंबई आई थी।

डीआरआई के अधिकारियों ने गुप्त सूचना के आधार पर महिला के बैग की तलाशी ली, जिसमें हेरोइन के पैकेट रखे हुए थे। एक स्थानीय अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

View More...

देश में अब कोरोना की तीसरी लहर की आंशका ने बढ़ाई चिंता, राज्य में 8 लाख तक पहुंच सकती है एक्टिव मरीजों की संख्या

Date : 18-Jun-2021

मुंबई (एजेंसी)। देश में कोरोना की दूसरी लहर की तबाही के बाद अब तीसरी लहर की आंशका ने चिंता बढ़ा दी है. राज्य सरकारों के साथ-साथ वैज्ञानिकों की टीम इसके अध्ययन के लिए जुटी हुई है.यह लहर कोरोना के बेहद खतरनाक वैरिएंट डेल्टा प्लस (AY.1) की वजह से आएगी. आशंका जताई जा रही है कि पहले की तरह ही इस बार भी महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित होगा. राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 8 लाख तक पहुंच सकती है. राज्य की कोविड टास्क फोर्स ने बुधवार को इस महामारी की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी।

बैठक के दौरान टास्क फोर्स ने चेतावनी देते हुए कहा है कि दो से चार हफ्तों के बीच प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है. वहीं, उनका यह भी कहना है कि तीसरी लहर में सबसे अधिक बच्चे प्रभावित होंगे. इस मीटिंग में यह बात सामने आई कि कोरोना की तीसरी लहर में केसों की कुल संख्या दूसरी लहर में आए कुल केसों की दोगुनी हो सकती है. राज्य में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या आठ से दस लाख तक पहुंच सकती है. विशेषज्ञों ने यह भी कहा है कि मरीजों में 10 प्रतिशत संख्या बच्चों की हो सकती है।

इसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मेडिकल टीम और अन्य अफसरों को जरूरी इंतजाम चाक-चौबंद करने का निर्देश दिया है. CM उद्धव ठाकरे ने डॉक्टर्स से बड़े स्तर पर सीरो सर्व कराने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि इससे लोगों में कोविड एंटीबॉडीज का स्तर और टीकाकरण की जानकारी मिल सकेगी. CM ने पिछली लहरों से सीख लेने की बात पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि पहली लहर में राज्य में पर्याप्त सुविधाएं नहीं थी, लेकिन बाद में सुविधाएं जुटाने पर हालात बेहतर हुए थे. दूसरी लहर ने हमें बहुत सिखाया. अब हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि दवा, बिस्तर और ऑक्सीजन की कमी न हो. CM ने बताया कि राज्य को अगस्त-सितंबर के आसपास वैक्सीन के 42 करोड़ डोज मिलने की उम्मीद है।

दूसरी की तुलना में तीसरी लहर ज्यादा खतरनाक

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का अनुमान है कि दूसरी लहर की तुलना में तीसरी लहर में मरीजों की संख्या और ज्यादा हो सकती है. राज्य में महामारी की दूसरी लहर में 21 अप्रैल को सबसे ज्यादा 6.95 लाख एक्टिव पेशेंट थे. तीसरी लहर में यह आंकड़ा आठ लाख के पार जा सकता है. इनमें 10% बच्चे हो सकते हैं।

क्या है डेल्टा प्लस वेरिएंट?

देश में कोरोना की दूसरी लहर के लिए कोरोना के डेल्टा वैरिएंट को जिम्मेदार माना जाता हे. यह पहली बार भारत में ही पाया गया. अब इसी वैरिएंट का बदला रूप डेल्टा प्लस है. इसे और भी अधिक खतरनाक माना जा रहा है।

View More...

देश में बढ़ रहे साइबर क्राइम को रोकने गृह मंत्रालय ने जारी किया राष्ट्रीय हेल्पलाइन, आप कभी भी करा सकते हे आॅनलाईन शिकायत

Date : 18-Jun-2021

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में बढ़ रहे साइबर क्राइम को रोकने के लिए केंदीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय हेल्पलाइन जारी किया है। राष्ट्रीय हेल्पलाइन 155260 में आप कभी भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है।

बयान में सुरक्षित डिजिटल भुगतान प्रणाली उपलब्ध कराने की मोदी सरकार की प्रतिबद्धता पर बल देते हुए कहा गया कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्‍व में गृह मंत्रालय ने साइबर धोखाधड़ी से होने वाले वित्तीय नुकसान को रोकने के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन 155260 और रिपोर्टिंग प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है। संबंधित हेल्पलाइन एक अप्रैल 2021 को सीमित तरीके से शुरू की गई थी।

आपको बता दें कि हेल्पलाइन की सीमित स्तर पर एक अप्रैल, 2021 को शुरुआत की गई थी। हेल्पलाइन 155260 और इसके रिपोर्टिंग प्लेटफॉर्म को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई), सभी प्रमुख बैंक, भुगतान बैंक, वॉलेट और ऑनलाइन मर्चेंट के सहयोग और समर्थन से गृह मंत्रालय के तहत भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र (आई4सी) द्वारा चालू किया गया है।

नागरिक वित्तीय साइबर धोखाधड़ी रिपोर्टिंग और प्रबंधन प्रणाली, आई4सी द्वारा कानून लागू करने वाली एजेंसियों और बैंकों और वित्तीय मध्यवर्ती कंपनियों को एकीकृत करने के लिए आंतरिक रूप से विकसित की गई है।

वर्तमान में इसका उपयोग 155260 के साथ सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (छत्तीसगढ़, दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश) द्वारा किया जा रहा है, जो देश की 35 प्रतिशत से अधिक आबादी को कवर करता है।

जालसाजों द्वारा ठगे गए धन के प्रवाह को रोकने के लिए अन्य राज्यों में इसे शुरू किया जा रहा है। बयान में कहा गया कि आरंभ में सीमित स्तर पर शुरुआत के बाद दो महीने की छोटी अवधि में ही हेल्पलाइन 155260 से फर्जीवाड़े की 1.85 करोड़ रुपये की रकम जालसाजों के हाथों में जाने से रोकने में मदद मिली है।

View More...

देह व्यापार के एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़, 2 युवक समेत 2 युवतीं गिरफ्तार

Date : 18-Jun-2021

उज्जैन (एजेंसी)। उज्जैन कोतवाली थाना क्षेत्र में देह व्यापार के एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है।  पुलिस ने एक होटल में छापा मारा है, पुलिस ने यहां से 2 युवक के साथ 2 युवतियों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

बता दें कि मध्यप्रदेश में देह व्यापार का धंधा अपने पैर पसारे हुए है, यह पूरा मामला उज्जैन का, मध्य प्रदेश की उज्जैन पुलिस ने एक बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। दरअसल, शहर में इस चल रहे इस सेक्स रैकेट के बारे में पुलिस के पास शिकायत आई थी, इसके बाद पुलिस ने एक होटल में छापा मारा है, पुलिस ने यहां से 2 युवक के साथ 2 युवतियों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है, बताते चले कि जब पुलिस ने रेड मारी तो युवक- युवतियां एक दूसरे के साथ रंगरलियां मना रहे थे।

ए​क निजी होटल में जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा था, इस पूरे गिरोह के कुल 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने बताया कि इन लोगों से पूछताछ के दौरान कुछ और लोगों के नाम सामने आ सकते हैं जो इस जिस्मफरोशी के काले कारोबार में संलिप्त हैं।

View More...
Previous123456789...153154Next