National

Previous123456789...408409Next

गृह मंत्री अमित शाह ने कटड़ा में माता वैष्णो देवी के दरबार में पहुंचे, राजोरी में करेंगे जनसभा को संबोधित

Date : 04-Oct-2022

जम्मू (एजेंसी)। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कटड़ा में माता वैष्णो देवी के दरबार में पहुंचे हैं। इस दौरान मां भगवती से उन्होंने शांति और समृद्धि की कामना की। अमित शाह आज राजोरी में 11 बजे जनसभा को संबोधित करेंगे। राजोरी में जनसभा स्थल पर दूर-दूर से लोग पहुंचना शुरू हो गए हैं।

अमित शाह मंगलवार को जम्मू को 1900 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का तोहफा देंगे। गृह मंत्री जम्मू-कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर सोमवार की शाम जम्मू पहुंचे हैं। यहां पहुंचने के साथ ही राजभवन में उन्होंने कई प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात कर उनकी बातें सुनीं।

गृह मंत्री के दौरे पर अधिकारियों ने यातायात एडवाइजरी जारी की है। यातायात पुलिस कार्यालय ग्रामीण जम्मू की तरफ से जारी एडवाइजरी के अनुसार पुंछ, सुरनकोट, मेंढर और मंजाकोट मार्गों से चलने वाले वाहनों को यात्रा मैदान पर उतारा जाएगा। हल्के निजी वाहनों को काफिले मैदान में खड़ा किया जाएगा।

पुंछ, सुरनकोट, मेंढर और मंजाकोट रूट की बसें, मिनी बसें, टाटा सूमो, काफिले ग्राउंड में प्रतिभागियों को डी-बोर्ड करने के बाद लौटाकर स्कॉस्ट ग्राउंड टंडवाल में पार्क किया जाएगा। सुंदरबनी, नौशेरा और कालाकोट मार्गों से चलने वाले वाहन पंजपीर में डी-बोर्ड किए जाएंगे और लाइट मोटर निजी वाहनों को बीएसएफ के काफिले मैदान, पर्यटन पार्किंग (अल्फा गेट) पर खड़ा किया जाएगा।

कई परियोजनाओं के शुभारंभ की घोषणा करेंगे

सूत्रों के अनुसार शाह राजोरी की रैली में जम्मू संभाग के लिए 1900 करोड़ रुपये के 167 विकास कार्यों का शिलान्यास करेंगे। कई परियोजनाओं के शुभारंभ की घोषणा करेंगे। इसमें वे एक हजार सहकारिता समितियों के गठन की घोषणा करेंगे।

जम्मू-कश्मीर के लिए डिजिटल जेएंडके का लोगो और टैगलाइन का शुभारंभ करने के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी के 250 नागरिक सुविधाओं को ऑनलाइन करेंगे। 920 किमी के 128 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे जिस पर 1111.96 करोड़ रुपये खर्च होगा।

राजोरी के लंबेड़ी में 100 बेड के अस्पताल और जल जीवन मिशन के तहत 41 पेयजल आपूर्ति योजना का शिलान्यास करेंगे। शाह शाम साढ़े सात बजे जम्मू एयरपोर्ट पर पहुंचे। जहां उप राज्यपाल मनोज सिन्हा व अन्य भाजपा नेताओं ने अगवानी की। वहां से वे सीधे राजभवन गए जहां विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की। शाह चार अक्तूबर को मां वैष्णो के दरबार में हाजिरी लगाने के बाद राजोरी चले जाएंगे जहां वे बस स्टैंड पर आयोजित रैली को संबोधित करेंगे।

रैली में पहाड़ी समुदाय को अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिए जाने की घोषणा की संभावना से राजोरी व पुंछ जिले में भारी उत्साह है। रैली को संबोधित करने के बाद वे जम्मू आ जाएंगे और कन्वेंशन सेंटर में विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात करेंगे।

विकास तथा कानून-व्यवस्था की करेंगे समीक्षा

शाह मंगलवार की रात में ही श्रीनगर जाकर रात्रि विश्राम करेंगे। अगले दिन पांच अक्तूबर को सुबह राजभवन में विकास कार्यों तथा कानून व्यवस्था की उच्च स्तरीय बैठक में समीक्षा करेंगे। इसमें उप राज्यपाल के अलावा गृह मंत्रालय तथा विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी मौजूद रहेंगे।

इसके बाद वे बारामुला जाकर स्पोर्ट्स स्टेडियम में रैली को संबोधित करेंगे। शाम को शेर ए कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर (एसकेआईसीसी) में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने के साथ ही वक्फ बोर्ड की ओर से कैंसर अस्पताल का शिलान्यास करेंगे।

गुड गवर्नेंस इंडेक्स के दूसरे चरण की रिपोर्ट करेंगे जारी

गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार को राजोरी में गुड गवर्नेंस इंडेक्स के दूसरे चरण की रिपोर्ट जारी करेंगे। इसमें सभी जिलों की प्रगति सूचकांक का जिक्र होगा। उप राज्यपाल मनोज सिन्हा भी शाह के साथ मंच साझा करेंगे।

View More...

महात्मा गांधी की जयंती पर राजघाट कार्यक्रम में अनुपस्थित रहने के लिए एलजी वीके सक्सेना ने सीएम केजरीवाल को चिट्ठी लिख कर जताई कड़ी नाराजगी

Date : 04-Oct-2022

नई दिल्ली (एजेंसी)। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती पर राजघाट एवं विजय घाट पर हुए कार्यक्रम में अनुपस्थित रहने के लिए एलजी वीके सक्सेना ने सीएम केजरीवाल को चिट्ठी लिख कर कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है, आपका और आपकी सरकार का ये रवैया बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने सीएम और उनके मंत्रियों पर गांधी और शास्त्री की जयंती मनाने के प्रति ‘‘पूरी तरह उपेक्षा’’ करने का आरोप भी लगाया है। सक्सेना ने रविवार को राजघाट और विजय घाट पर केजरीवाल एवं उनके मंत्रियों की अनुपस्थिति को ''अस्वीकार्य'' और ''भयावह'' करार देते हुए कहा है कि इस तरह के आयोजनों के लिए समाचार पत्रों में प्रतीकात्मक विज्ञापन जारी करने से कहीं अधिक स्मरणोत्सव का आह्वान किया जाता है।

सीएम को भेजी चिट्ठी में उपराज्यपाल ने कहा है, गहरे दर्द, अफसोस और निराशा के साथ मैं यह कहने को बाध्य हूं कि दो अक्टूबर को न तो आप, न ही आपकी सरकार से कोई मंत्री मौजूद थे। जबकि देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला और कई विदेशी गणमान्य भी बापू को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिए मौजूद थे। चिट्ठी में उपराज्यपाल ने लिखा है कि उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कुछ मिनट मौजूद थे, हालांकि वह काफी लापरवाह दिखे।

राष्ट्रपति के आने की प्रतीक्षा किए बिना ही वह कार्यक्रम स्थल से चले भी गए। पांच पन्ने की चिट्ठी में उपराज्यपाल ने कहा कि केजरीवाल, सिसोदिया और सामान्य प्रशासन विभाग के प्रभारी मंत्री से "अनुमोदन" के बाद ही राष्ट्रपति और उपाध्यक्ष को कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया गया था। यही नहीं, दिल्ली सरकार के निमंत्रण को स्वीकार करते हुए, राष्ट्रपति सचिवालय ने मुख्यमंत्री को अपने अतिरिक्त सचिव के माध्यम से स्पष्ट रूप से अवगत कराया था कि मुख्यमंत्री से कार्यक्रम में उपस्थित होने और विजय घाट पर राष्ट्रपति की अगवानी की उम्मीद थी।

सक्सेना ने कहा कि विजय घाट पर श्रद्धांजलि समारोह आयोजित करना शहर सरकार की जिम्मेदारी है और रविवार को कार्यक्रम के लिए निमंत्रण भी मुख्यमंत्री के नाम पर ही जारी किया गया था। पत्र में कहा गया है, "यह न केवल अत्यधिक अनुचित है, बल्कि प्रथम दृष्टया प्रोटोकाल का जानबूझकर उल्लंघन है, जो भारत के राष्ट्रपति के अपमान और अपमान का संकेत है।

सक्सेना ने रेखांकित किया कि मानक प्रोटोकाल और परंपरा के अनुसार, मुख्यमंत्री, या उनकी अनुपस्थिति में, डिप्टी सीएम को ऐसे राष्ट्रीय समारोहों में गणमान्य व्यक्तियों को प्राप्त करने के लिए एलजी के साथ जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह भी प्रथा है कि इस तरह के आयोजनों में मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट सहयोगी मौजूद होते हैं।

उन्होंने कहा, "वास्तव में, इस तरह के आयोजन, विशेष रूप से गांधी जयंती एक राष्ट्रीय त्योहार है। प्रोटोकाल, औपचारिक सम्मान या भौतिक उपस्थिति के प्रदर्शन के मामलों से कहीं अधिक, भारत माता के महान पुत्रों की समाधि पर ये लगभग पवित्र अवसर और कार्यक्रम उनके प्रति सम्मान और सम्मान की अभिव्यक्ति हैं।एलजी ने कहा कि मुख्यमंत्री की व्यक्तिगत उपस्थिति उचित होती, लेकिन चूंकि वह पूर्व राजनीतिक प्रतिबद्धता के कारण यात्रा कर रहे थे, इसलिए मुख्यमंत्री के लिए उनकी ओर से एक वरिष्ठ मंत्री को नामित करना "अनुकूल होता"। वह कार्यक्रम में भाग लेते और राष्ट्रपति और उपाध्यक्ष के साथ भी जाते।

सक्सेना ने आयोजन स्थल के रखरखाव और बुनियादी रखरखाव में सामान्य उदासीनता को लेकर भी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा, "समाधि गेट के ठीक सामने कचरा और सीएंडडी कचरा बिखरा हुआ था जहां बुनियादी स्वच्छता से समझौता किया गया था। यह फिर से, हमारे सबसे सम्मानित नेताओं में से एक के पूर्ण अनादर और उनकी स्मृति का अपमान था।

सक्सेना ने कहा कि पूरा प्रकरण राष्ट्रपति और अन्य गणमान्य व्यक्तियों के संवैधानिक कार्यालयों के प्रति सरकार के "अनादर और अवहेलना" के साथ-साथ "आपकी ओर से कर्तव्यों और जिम्मेदारियों की घोर उदासीनता और अवहेलना" का संकेत है। पत्र में कहा गया है, "मैं आशा करता हूं कि आप मेरे द्वारा रखे गए बिंदुओं को सही भावना से लेंगे और भविष्य में इस तरह की गड़बड़ी से बचने के लिए आवश्यक उपाय करेंगे।

View More...

ओडिशा के मशहूर गायक मुरली मोहपात्रा का निधन, मुख्यमंत्री ने जताया दुख

Date : 04-Oct-2022

भुवनेश्वर (एजेंसी)। ओडिशा के मशहूर गायक मुरली मोहपात्रा का निधन हो गया है। यह जानकारी उनके परिजनों ने दी है। बताया जा रहा है कि रविवार रात सिंगर कोरापुट डिस्ट्रिक्ट की दुर्गा पूजा में परफॉर्म कर रहे थे। इस दौरान वह स्टेज पर गिर पड़े, जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। मुरली मोहपात्रा के निधन की खबर से सभी को बड़ा झटका लगा है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

जानकारी के मुताबिक, मोहपात्रा एक कार्यक्रम में परफॉर्म कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने चार गाने गाए थे। इसके बाद वह अचानक स्टेज पर गिर पड़े और बेहोश हो गए। आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बता दें मोहपात्रा ओडिशा के प्रसिद्ध गायक थे। उन्हें जयपुर में अक्षय मोहंती के नाम से भी जाना जाता था।

मुख्यमंत्री ने जताया दुख

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने महापात्रा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- ‘‘लोकप्रिय गायक मुरली महापात्रा के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं। उनकी मधुर आवाज हमेशा श्रोताओं के दिलों में आनंद का भाव उत्पन्न करती रहेगी। उनकी आत्मा को शांति मिले। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ है।

लंबे समय से थे बीमार

मुरली के बड़े भाई विभूति प्रसाद महापात्र ने कहा कि वह लंबे समय से हृदय रोग और मधुमेह से पीड़ित थे।  बता दें महापात्रा सरकारी कर्मचारी भी थे और जयपुर सब कलेक्टर कार्यालय में कार्य करते थे। वह नौ महीने बाद सेवानिवृत्त होने वाले थे।

फैंस को याद आए सिंगर केके

बता दें इसी साल मई में बॉलीवुड के फेमस सिंगर केके यानी कृष्णकुमार कुन्नथ का एक कॉन्सर्ट के दौरान निधन हुआ था। केके के अचानक निधन से हर कोई चौंक गया था। इस दुख से फैंस अभी तक बाहर नहीं निकले थे कि एक और सिंगर का इस तरह से निधन उन्हें शॉक दे गया है।

View More...

जागरूकता रेडियो सीरीज का मुख्य चुनाव आयुक्त ने किया शुभारंभ, प्रसारण 7 अक्टूबर से

Date : 04-Oct-2022

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय चुनाव आयोग ने चुनाव के दौरान मतदाताओं में जागरूकता पैदा करने के लिए एक नई पहल की शुरुआत की है। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडे ने सोमवार को आल इंडिया रेडियो के साथ साझेदारी कर एक मतदाता जागरूकता रेडियो श्रृंखला की शुरुआत की। आकाशवाणी के विविध भारती स्टेशन सहित अन्य सेवाओं के माध्यम से प्रत्येक शुक्रवार को प्रसारित किए जाएंगे। इस सीरीज में कुल 52 सीरीज हैं और आकाशवाणी के विभिन्न चैनलों पर प्रत्येक शुक्रवार को 15 मिनट के लिए प्रसारित किए जाएंगे।

7 अक्टूबर को प्रसारित होगा पहला एपिसोड

'मतदाता जंक्शन' का पहला एपिसोड 7 अक्टूबर को पूरे देश में 23 भाषाओं में प्रसारित किया जाएगा। मतदाता जंक्शन कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि यह कार्यक्रम देश भर के मतदाताओं में जागरूकता पैदा करने में मददगार साबित होगा। सूचना और मनोरंजन के माध्यम से यह कार्यक्रम दूर-दराज के लोगों को देश के चुनावी प्रक्रिया के बारे में जागरूक करेगा। उन्होंने आगे बताया कि इस कार्यक्रम की प्रत्‍येक सीरीज चुनावी प्रक्रिया के एक विशेष विषय पर आधारित होगी। मुख्य चुनाव आयुक्त कुमार ने इस दौरान कार्यक्रम में अभिनेता पंकज त्रिपाठी को निर्वाचन आयोग का राष्ट्रीय आइकान भी घोषित किया।

चुनाव में भागीदारी बढ़ने के लिए चुनाव आयोग उठाएगा कदम

निर्वाचन आयुक्त अनूप चंद्र पांडे ने भविष्य के चुनावों में बेहतर मतदान सुनिश्चित करने के लिए मतदाता जागरूकता पर जोर देते हुए कहा कि चुनाव आयोग मतदान में मतदाताओं की संख्या बढ़ने के लिए सभी प्रकार के अवश्यक कदम को उठाएगा। इस कार्यक्रम के दौरान कोई भी व्यक्ति मतदान से संबंधित किसी भी प्रकार के प्रश्न को पूछ सकता है और अपना सुझाव भी दे सकता है।

यह 15 मिनट का कार्यक्रम होगा जिसे हर शुक्रवार को शाम 7-9 बजे ऑल इंडिया रेडियो नेटवर्क पर प्रसारित किया जाएगा। इसमें 25 एफएम स्टेशन, 4 एफएम गोल्ड स्टेशन, 42 विविध भारती स्टेशन और 159 प्राथमिक चैनल/स्थानीय रेडियो स्टेशन शामिल होंगे। इस कार्यक्रम को असमिया, बंगाली, अंग्रेजी, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दू, बोडो, संथाली, मैथिली और डोगरी इन 23 भाषाओं में प्रसारित किया जाएगा।

52 कडियों की इस श्रृंखला में मतदाताओं के नजरिए से चुनाव और उससे जुड़ी प्रक्रियाओं के विभिन्न पहलुओं को शामिल किया जाएगा। इसमें मतदाता पंजीकरण, सूचित और नैतिक मतदान, वोट का मूल्य, समावेशी और सुलभ चुनाव, आदर्श आचार संहिता, आईटी एप्लीकेशंस, ईवीएम, चुनाव अधिकारियों की कहानियां, बीएलओ आदि पर विषयगत कडियां होंगी। इन सब कड़ियों में इंटरैक्टिव संदेश शामिल हैं जिनका उद्देश्य पात्र नागरिकों और विशेष रूप से युवाओं तथा पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं को मतदान करने और चुनाव के दौरान एक सूचित निर्णय लेने के लिए प्रोत्साहित करना है। ये श्रृंखला इंफोटेनमेंट प्रोग्राम की शैली में होगी जिसके हर एपिसोड में भारत के निर्वाचन आयोग की स्वीप (सिस्टमैटिक वोटर्स एजुकेशन एंड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन) डिवीजन द्वारा निर्मित नाटक, कहानी, प्रश्नोत्तरी, विशेषज्ञों के साक्षात्कार और गीत आदि होंगे। इस कार्यक्रम में एक नागरिक कोना भी शामिल है जहां कोई भी नागरिक चुनाव को समावेशी और सहभागितापूर्ण बनाने के लिए प्रश्न पूछ सकता है या सुझाव दे सकता है।

View More...

राष्ट्रपति मुर्मू पहुंची साबरमती के महात्मा गांधी आश्रम, चलाया चरखा

Date : 04-Oct-2022

अहमदाबाद (एजेंसी)। अपनी पहली गुजरात यात्रा के दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सोमवार को साबरमती के महात्मा गांधी आश्रम का दौरा किया। राष्ट्रपति ने 1,330 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया।

राष्ट्रपति ने गुजरात दौरे की शुरुआत गांधी आश्रम से की। यहां उन्होंने आश्रम परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। अतिथि पुस्तिका में राष्ट्रपति ने हिंदी में लिखा, लंबे समय तक स्वतंत्रता संग्राम के केंद्र में रहने वाले आश्रम में जाकर ''अवर्णनीय प्रेरणा'' और ''गहरी शांति'' महसूस की। साबरमती के संत महात्मा गांधी की इस पवित्र तपस्थली के दर्शन करने से प्रेरणा का संचार होता है। इस परिसर में पूज्य बापू के असाधारण जीवन इतिहास की अनमोल विरासत को प्रशंसनीय तरीके से संरक्षित किया गया है। इसके लिए मैं साबरमती आश्रम के रखरखाव में शामिल सभी लोगों की सराहना करती हूं।''

स्वतंत्रता संग्राम को दर्शाने वाली प्रदर्शनी भी देखी

राष्ट्रपति ने राष्ट्रपिता के जीवन और स्वतंत्रता संग्राम को दर्शाने वाली प्रदर्शनी भी देखी। उन्होंने साबरमती आश्रम पुनर्विकास परियोजना के माडल का भी अवलोकन किया। राष्ट्रपति आश्रम परिसर में महात्मा गांधी के आवास 'हृदयकुंज' भी पहुंचीं। इस दौरान गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल भी मौजूद थे।

गुजरात के लोगों की उद्यमशीलता की सराहना की

बाद में मुर्मु ने गुजरात में 1,330 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। ये परियोजनाएं स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, सिंचाई, सड़क के बुनियादी ढांचे, नौवहन और जलमार्ग जैसे प्रमुख क्षेत्रों से संबंधित हैं। उन्होंने गुजरात के लोगों की उद्यमशीलता की सराहना की।

सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल और मेडिकल कालेज की आधारशिला रखी

राष्ट्रपति ने गुजरात मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सोसायटी गांधीनगर में एक सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल और आदिवासी बहुल नर्मदा जिले में एक नए मेडिकल कालेज और अस्पताल की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि 540 बिस्तरों वाला अत्याधुनिक अस्पताल नर्मदा जिले के लोगों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठाने में सुविधा प्रदान करेगा, जहां 85 प्रतिशत आबादी आदिवासी समुदाय से है।

View More...

शारदीय नवरात्र की नवमी में सीएम योगी ने कन्याओं के पांव पखारे, आरती उतारकर की पूजा

Date : 04-Oct-2022

गोरखपुर (एजेंसी)। शारदीय नवरात्र की नवमी तिथि पर गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नाथ पीठ की परंपरा का आस्थाभाव से निर्वहन किया। मंगलवार की सुबह उन्होंने पीठ में मां भगवती के सभी नौ स्वरूपों की प्रतीक नौ कन्याओं और एक बटुक भैरव का विधि-विधान से पूजन किया और अपने हाथ से भोज कराया। दक्षिणा देकर सभी की भावपूर्ण विदाई की। कन्या पूजन के इस आनुष्ठानिक कार्यक्रम में 100 से अधिक बच्चों ने पूजन का प्रसाद ग्रहण किया। सभी की वैसे ही भोजन कराकर विदाई की गई, जैसे नौ कन्याओं व एक बटुक भैरव की।

कन्या पूजन की शुरुआत पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सुबह आठ बजे हुई। पीठ के प्रथम तल पर मुख्यमंत्री योगी थाल सजाकर बैठे। बारी-बारी से उन्होंने कन्याओं का पांव पखारा, तिलक लगाया और फिर आरती उताकर चुनरी ओढ़ाई। इस दौरान कन्याओं के साथ योगी का भावपूर्ण स्नेहिल संवाद सभी को भाव-विभोर कर रहा था। पूजा-अर्चना के बाद योगी ने उसी श्रद्धाभाव के साथ कन्याओं को भोजन परोस कर खिलाया। अंत में दक्षिणा और उपहार देकर उनकी विदाई की। कन्या पूजन और भोजन का सिलसिला करीब एक घंटे तक चला। 

इसके साथ ही मंदिर के शक्तिपीठ में कलश स्थापना से शुरू हुआ नवमी पूजन का अनुष्ठान सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नवरात्र पूजा के महात्म्य पर प्रकाश भी डाला। कहा, यह पर्व हमें नारी के सम्मान की प्रेरणा देता है। नारी के प्रति श्रद्धाभाव रखने के लिए प्रेरित करता है। मां दुर्गा के सभी नौ स्वरूप नारी का महत्व बताते हैं और उनके प्रति सम्मान भाव रखने की सीख देते हैं। मुख्यमंत्री ने इस दौरान प्रदेशवासियों को नवरात्र के साथ-साथ विजयदशमी की भी बधाई और शुभकामनाएं दी।

View More...

सोनिया गांधी कर्नाटक के मैसूरु पहुंच, 6 अक्टूबर को राहुल गांधी व कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में होंगी शामिल

Date : 04-Oct-2022

नई दिल्ली (एजेंसी)। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी सोमवार को कर्नाटक के मैसूरु पहुंची। वह आगामी छह अक्टूबर को राहुल गांधी व कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल होंगी। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने नयी दिल्ली में मीडिया को बताया कि सोनिया गांधी बृहस्पतिवार को यात्रा में शामिल होंगी।

भारत जोड़ो यात्रा के बारे बात करते हुए उन्होंने कहा कि, “दशहरे के कारण चार और पांच अक्टूबर को यात्रा को विश्राम दिया जाएगा और फिर छह अक्टूबर की सुबह यात्रा प्रारंभ होगी। लंबे समय बाद सोनिया गांधी पार्टी के किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लेंगी। स्वास्थ्य कारणों के चलते वह पिछले कुछ चुनावों में प्रचार भी नहीं कर सकी हैं।”

राहुल गांधी और कांग्रेस के कई अन्य नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने गत सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की शुरुआत की थी। इन दिनों यात्रा कर्नाटक में है। यात्रा का समापन अगले साल की शुरुआत में कश्मीर में होगा। इस यात्रा में कुल 3570 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी।

View More...

प्रदेश में अब दो पहिया वाहन चालकों के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य, बिना हेलमेट न पेट्रोल मिलेगा और न ही सरकारी कर्मचारियों को ऑफिस में एंट्री

Date : 04-Oct-2022

भोपाल (एजेंसी)। मध्यप्रदेश में अब दो पहिया वाहन चालकों के लिए हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा। बिना हेलमेट के वाहन चालकों को न पेट्रोल मिलेगा और न ही सरकारी कर्मचारियों को ऑफिस में एंट्री। भोपाल पुलिस कमिश्नर और सभी जिलों के एसपी को बिना हेलमेट बाइक चलाने वालों के खिलाफ चालानी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। प्रदेशभर में वाहन चालकों पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट को रोजाना पीएचक्यू भेजना होगा। हेलमेट नहीं लगाने पर वाहन चालकों पर मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 128 और 129 के तहत कार्रवाई होगी। 6 अक्टूबर से कारवाई के लिए अभियान शुरू होगा।

पीएचक्यू ने वाहन चालकों के लिए हेलमेल का इस्तेमाल अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए पुलिस भी जरूरी कदम उठाने की तैयारी में है। पुलिस पेट्रोल पंपों पर भी तैनात होगी और हेलमेट न पहनने वाले वाहन चालकों की निगरानी करेगी। बिना हेलमेट वाहन चलाने वालों को पेट्रोल नहीं दिया जाएगा।

पुलिस की जिम्मेदारी होगी कि पंप मालिक हेलमेट के बिना पेट्रोल न दें। पुलिस बिना हेलमेट पेट्रोल भरवाने वालों को हिदायत भी देगी। इसके अलावा सरकारी और प्राइवेट कर्मचारियों को भी ऑफिस में हेलमेट लेकर आना अनिवार्य किया गया है, जो भी बिना हेलमेट ऑफिस आएगा, उसे ऑफिस में प्रवेश  नहीं दिया जाएगा। प्रदेश में ऐसी सख्ती कर्मचारियों पर पहली बार की जा रही है। पार्किंग में भी केवल वह ही लोग वाहन पार्क कर सकेंगे जो हेलमेट लगा के आएंगे। इस संबंध में पुलिस सभी पार्किंग ठेकेदारों को निर्देश जारी करेगी। इसके अलावा स्कूल-कॉलेजों में भी जागरुकता अभियान बड़े स्तर पर चलाने के लिए कहा गया है। इसके पालन कराने की जिम्मेदारी कलेक्टर की भी तय की गई है।

View More...

एचके लोहिया का तेजधार हथियार से रेता गया गला, वहीं शव को जलाने की भी कोशिश की गई

Date : 04-Oct-2022

जम्मू (एजेंसी)। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (जेल) एचके लोहिया का शव सोमवार देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में उदेयवाला स्थित उनके दोस्त के घर बरामद हुआ। प्रारंभिक जांच के अनुसार, किसी तेजधार हथियार से लोहिया का गला रेता गया है। वहीं, शव को जलाने की भी कोशिश की गई है। घटना के बाद से फरार घर के नौकर पर ही हत्या का संदेह जताया जा रहा है। रात तक पुलिस जांच में जुटी रही। इस बीच, देर रात लोहिया का शव जम्मू के गवर्नमेंट मेडिकल कालेज (जीएमसी) अस्पताल में पहुंचाया गया।

पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने इसे बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया और कहा कि जसीर के रूप में पहचाने गए उसके घरेलू नौकर को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू किया गया है। फिलहाल नौकर फरार है। सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि संदिग्ध ने 57 वर्षीय लोहिया के शरीर को आग लगाने का भी प्रयास किया। बता दें कि लोहिया को अगस्त में केंद्र शासित प्रदेश में जेलों का महानिदेशक नियुक्त किया गया था।

जम्मू क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुकेश सिंह ने जम्मू के बाहरी इलाके में उदयवाला में घर का दौरा कर कहा कि 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी लोहिया के शरीर पर जलने के निशान मिले और उनका गला कटा हुआ पाया गया था। घटना स्थल की प्रारंभिक जांच से संकेत मिलता है कि लोहिया ने अपने पैर में कुछ तेल लगाया होगा जिसमें कुछ सूजन दिखाई दे रही थी।

केचअप की टूटी बोतल से गला काटा

पुलिस के अनुसार हत्यारे ने पहले लोहिया का दम घोंटकर हत्या की और उसके बाद गले को काटने के लिए केचअप की टूटी हुई बोतल का इस्तेमाल किया और बाद में शव को आग लगाने की कोशिश की। अधिकारी के आवास पर मौजूद गार्डों ने लोहिया के कमरे के अंदर आग देखी। उन्होंने बताया कि दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण उन्हें तोड़ना पड़ा।

View More...

देश सेवाभाव ही कर्म संकल्प होना चाहिए : राज्यपाल अनुसुईया उइके

Date : 03-Oct-2022

वर्धा (एजेंसी)। छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा है कि देश सेवाभाव ही कर्म संकल्प  होना चाहिए। राज्यपाल उइके रविवार को महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 153वीं जयंती पर 'स्वराज्य, सुराज्य और स्वबोध का गांधी मार्ग' विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी को संबोधित कर रही थीं। इस अवसर पर उन्होंने डॉ. अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का उद्घाटन भी किया। अनुसुईया उइके ने अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि वह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती पर हिंदी विश्वविद्यालय आगमन से अभिभूत हुई हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के विचारों एवं प्रेरणा में राष्ट्र निर्माण की प्रत्येक भूमिका शामिल है। इस दृष्टि को समाहित करने के मार्ग पर चलकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी देश को निष्ठापूर्वक विश्‍वगुरु बनने के लिए योगदान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हिंदी विश्वविद्यालय ने भी गांधी के कर्म और विचार दृष्टि से अनेक कार्य किए हैं जो अद्वितीय हैं। हिंदी विश्वविद्यालय के विस्तार और कार्य प्रवाह ने देश दुनिया में भाषा-सं‍स्कृति का निर्माण किया है। इस क्रम में दीपोत्सव गांधी के विचार स्मरणीय हैं और यह उल्लास, उमंग और संकल्प से प्रेरित एक वैश्विक प्रतिबिंब है। संगोष्ठी  के उपरांत गांधी हिल्स पर दीपोत्सव का शुभारंभ राज्‍यपाल अनुसुईया उइके द्वारा किया गया। इस दौरान विश्वविद्यालय के 25 स्थलों, शहर के 35 स्थलों तथा विश्वविद्यालय के तीनों क्षेत्रीय केंद्रों पर दीपोत्सव मनाया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो रजनीश कुमार शुक्ल  ने संगोष्ठी  के स्वागत वक्तव्य में गांधी की मानवीय सभ्यता को स्वीकार और लोक स्थापत्य करने की बात कही। उन्होंने कहा कि आने वाले समय के देश-दुनिया के कठिन प्रश्नों  का उत्तर भी गांधी-मार्ग है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि वर्धा के सांसद रामदास तडस ने कहा कि दीपोत्सव के माध्यम से समूचे भारत में वर्धा के हिंदी विश्वविद्यालय की गांधी दर्शन व वैचारिक दृष्टि का विस्तार हुआ है। अपने उद्बोधन में सांसद तडस ने कहा कि कुलपति प्रो रजनीश शुक्ल के नेतृत्व  व कार्य प्रवाह की उत्कृष्टता का प्रमाण उन्हें  समूचे भारत में वर्धा की उपलब्धियों को प्रकट करता है। संगोष्ठी में उपस्थित विशिष्ट अतिथि डॉ. रामदास आंबटकर ने कहा कि विश्वविद्यालय के कार्यों में सामूहिकता और सामान्य व्यक्ति को जोड़ना हमारी ताकत है।

इस दौरान हिंदी पखवाड़ा पर आयोजित विविध प्रतियोगिताओं के विजेताओं को राज्‍यपाल अनुसुईया उइके के हाथों पुरस्‍कृत किया गया। दर्शन एवं संस्कृति अध्ययन विभाग के अध्यक्ष डॉ. जयंत उपाध्याय ने संचालन तथा तथा कुलसचिव क़ादर नवाज़ खा़न ने आभार ज्ञापित किया। शुरुआत राष्‍ट्रगान, दीप दीपन, कुलगीत से किया गया तथा समापन राष्‍ट्रगान से किया गया। 

View More...
Previous123456789...408409Next