National

Previous12345678Next

देश मे संक्रमितों की संख्या 1 लाख 45 हज़ार पंहुचा, पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 6535 नये मामले सामने आये

Date : 26-May-2020

नयी दिल्ली (एजेंसी). देश में कोरोना वायरस महामारी की बढ़ती विकरालता के बीच एक राहत की बात यह है कि  कुछ दिनों से नये मामलों हो रही  वृद्धि के विपरीत पिछले 24 घंटों में इसमें आंशिक कमी आई है और इसी अवधि में 2770 लोग ठीक हुए हैं जिससे इस बीमारी से निजात पाने वालों की संख्या 60 हजार से अधिक हो गयी।केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से मंगलवार की सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 6535 नये मामले सामने आये जबकि  इससे एक दिन पहले 6977 और रविवार तथा शनिवार को क्रमश: 6767 और 6654 नये मामले सामने आये थे।ताजा आंकड़ों के अनुसार देश मे संक्रमितों की संख्या 1,45,380 पर पहुंच गयी। इनमें से  80,722 सक्रिय मामले हैं। 
देश में कोविड-19 संक्रमण से पिछले 24 घंटों में 146 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 4,167 हो गयी। इसी अवधि में इस बीमारी से 2770 लोग मुक्त हुए हैं जिससे स्वस्थ हुए लोगों की कुल संख्या 60,491 हो गयी है।
देश में कोरोना वायरस ने महाराष्ट्र में सबसे अधिक कहर बरपाया है, जहां संक्रमितों की संख्या 52 हजार से अधिक हो गयी है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 2436 नये मामले सामने आये हैं , जिसके बाद यहां संक्रमितों की संख्या बढ़कर 52,667 हो गयी है। राज्य में 1695 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 15,786 लोग इसके संक्रमण से ठीक भी हुए हैं।
कोरोना वायरस से प्रभावित होने के मामले में तमिलनाडु दूसरे नंबर पर है। वहां अब तक 17,082 लोग इससे संक्रमित हुए हैं तथा 118 लोगों की मृत्यु हुई है जबकि 8731 लोगों को उपचार के बाद विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी मिल चुकी है।<br>
कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में तीसरे नंबर पर गुजरात में कुल संक्रमितों की संख्या 14,460 हो गई है। वहां  इसके संक्रमण से 888 लोगों की मौत हो चुकी है तथा 6636 लोग इस बीमारी से उबरे भी हैं। दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 635 नये मामले सामने आये हैं और 15 लोगों की मौत की रिपोर्ट है। यहां अब तक 14,043 लोग संक्रमित हुए हैं तथा मृतकों का आंकड़ा 276  पहुंच गया है जबकि 6771 मरीजों को उपचार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है।
राजस्थान में भी कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 7300 हो गयी है तथा 167 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 3951 लोग पूरी तरह ठीक हुए हैं। आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या छह हजार का आंकड़ा पार कर गयी है। उत्तर प्रदेश में अब तक 6532 लोग इसकी चपेट में आए हैं तथा इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या 165 हो गयी है और 3581 लोग अब तक इससे ठीक हुए हैं।पश्चिम बंगाल में 3816 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं तथा 278 लोगों की मौत हो चुकी है और अब तक 1414 लोग ठीक हुए है। तेलंगाना में अब तक कोरोना से 1920 लोग संक्रमित हुए हैं। राज्य में जहां कोरोना से 56 लोगों की जान गई है, वहीं 1164 लोग अब तक ठीक हुए हैं।दक्षिण भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश में 3110 और कर्नाटक में 2182 लोग संक्रमित हैं तथा इन राज्यों में इससे मरने वालों की संख्या क्रमश: 56 और 44 हो गयी है। वहीं केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1668 हो गई है और 23 लोगों की मृत्यु हुई है। पंजाब में 40, हरियाणा में 16, बिहार में 13, ओडिशा में सात, केरल और  हिमाचल प्रदेश में पांच-पांच , झारखंड और असम में चार-चार, चंडीगढ़ और उत्तराखंड में तीन-तीन  तथा मेघालय में इस महामारी से एक व्यक्ति की मौत हुई है।(वार्ता)

View More...

कामगारों को सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी जाएगी, जल्द ही ‘प्रवासी आयोग’ का किया जाएगा गठन : योगी

Date : 25-May-2020

लखनऊ (एजेंसी). उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में प्रदेश के कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए जल्द ही ‘प्रवासी आयोग’ (माइग्रेशन कमीशन) गठित किया जाएगा।योगी ने कहा कि इसके तहत उत्तर प्रदेश के सभी कामगारों एवं श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराने के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा की गारंटी भी दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा, "उत्तर प्रदेश में अब तक जितनी भी श्रमशक्ति हमारे पास है। प्रदेश सरकार इनके कौशल की जानकारी इकट्ठा करा रही है। जिसके बाद इन्हें उत्तरप्रदेश में ही रोजगार उपलब्ध कराने की कार्रवाई को आगे बढ़ाया जाएगा।" उन्होंने कहा,‘‘ ऐसे में अगर किसी राज्य को कामगारों की आवश्यकता होगी तो उनकी मांग पर सामाजिक सुरक्षा की गारंटी राज्य सरकार देगी, बीमा कराएगी और श्रमिक एवं कामगार को हर तरह की सुरक्षा देगी। इसके साथ ही कोई भी राज्य सरकार बिना अनुमति के उत्तर प्रदेश के लोगों को श्रमिक व कामगार के रूप में लेकर नहीं जाएगी।’’ मुख्यमंत्री ने कहा,‘‘ जिस प्रकार से लॉकाडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों और कामगारों की दुर्गति हुई और उनके साथ जिस प्रकार का दुर्व्यवहार हुआ, उसको देखते हुए प्रदेश सरकार उनकी सामाजिक सुरक्षा की गारंटी अपने हाथों में लेने जा रही है।’’ योगी ने कहा कि प्रवासी कामगार उत्तर प्रदेश के अलावा देश और दुनिया में जहां कहीं भी जाएगा प्रदेश सरकार उसके साथ खड़ी रहेगी।

View More...

कोविड-19: देश में पिछले 24 घंटे में सर्वाधिक 6,977 नये मामले सामने आए, मृतक संख्या 4,021 तक पहुंची

Date : 25-May-2020

नयी दिल्ली,  (एजेंसी).  देश में सोमवार को लगातार चौथे दिन, एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक मामले सामने आए। पिछले 24 घंटे में 6,977 नये मामले सामने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामले 1,38,845 हो गए हैं जबकि मृतक संख्या 4,021 हो गई है।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सोमवार सुबह आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में 154 लोगों की मौत हुई।मंत्रालय ने बताया कि देश में 77,103 लोग अब भी संक्रमित हैं जबकि 57,720 लोग स्वस्थ हुए हैं और एक मरीज विदेश चला गया है।स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “अब तक 41.57 प्रतिशत मरीज स्वस्थ हुए हैं।” संक्रमण के कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।

रविवार सुबह से लेकर अब तक हुई 154 मौतों में से, 58 महाराष्ट्र में, 30 दिल्ली में, 29 गुजरात में, नौ मध्य प्रदेश में, आठ तमिलनाडु में, छह उत्तर प्रदेश में, चार तेलंगाना में, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में तीन-तीन, बिहार में दो और पंजाब तथा उत्तराखंड में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।कुल 4,021 मृतकों में से सबसे अधिक 1,635 मौत महाराष्ट्र में हुई हैं। इसके बाद 858 गुजरात में, मध्य प्रदेश में 290, पश्चिम बंगाल में 272, दिल्ली में 261, राजस्थान में 163, उत्तर प्रदेश में 161, तमिलनाडु में 111 और आंध्र प्रदेश में 56 मौत हुई है।तेलंगाना में मृतक संख्या 53, कर्नाटक में 42 और पंजाब में 40 हो गई है।जम्मू-कश्मीर में बीमारी के कारण 21 लोगों ने, हरियाणा में 16 जबकि बिहार में 13 और ओडिशा में सात लोगों ने जान गंवाई है।
केरल, झारखंड और असम में अब तक चार-चार लोगों की मौत हुई है।चंडीगढ़, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 से तीन-तीन लोगों की जबकि मेघालय में अब तक एक व्यक्ति की मौत हुई है।मंत्रालय के डेटा के मुताबिक 70 प्रतिशत से अधिक मौतें अन्य गंभीर बीमारियों के चलते हुई हैं।  (भाषा)

View More...

दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवा योजना आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ के पार : प्रधानमंत्री

Date : 20-May-2020

दिल्ली, (एजेंसी).  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है और इस योजना का काफी संख्या में लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है ।मोदी ने सितंबर 2018 को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-आयुष्मान भारत की शुरूआत की थी । इसे सरकार प्रायोजित दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवा योजना बताया गया है।
प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘ यह प्रत्येक भारतीय के लिये गर्व का विषय है कि आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है । दो वर्ष से भी कम समय में इस कार्यक्रम ने काफी संख्या में लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। ‘‘ उन्होंने इस योजना के सभी लाभार्थियों और उनके परिवार के लोगों को शुभकामनाएं दी और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की । उन्होंने आयुष्मान भारत से जुड़े सभी डाक्टरों, नर्सो, स्वास्थ्य कर्मियों एवं अन्य लोगों की सराहना करते हुए कहा कि उनके प्रयासों ने ही इसे दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम बनाया है । मोदी ने कहा, ‘‘ इस योजना ने अनेक भारतीयों का भरोसा जीता है जिसमें खासतौर पर गरीब एवं पिछड़े वर्ग के लोग शामिल हैं ।’’ उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना का सबसे बड़ा फायदा इसकी सुगमता है ।उन्होंने बताया, ‘‘ लाभाथिर्यों को गुणवत्तापूर्ण और सस्ती चिकित्सा सेवा न केवल पंजीकृत स्थान पर बल्कि भारत के किसी भी हिस्से में उपलब्ध हो सकती है ।’’ उन्होंने कहा कि इससे उन लोगों को भी मदद मिलती है जो घर से दूर होते हैं या ऐसे स्थान पर पंजीकृत होते हैं जहां से वे संबद्ध नहीं हैं ।
प्रधानमंत्री ने कहा कि अपने सरकारी दौरे के समय भी वे आयुष्मान भारत के लाभार्थियों से बात करते रहे हैं ।मोदी ने कहा, ‘‘ इन दिनों यह संभव नहीं है लेकिन मैंने आयुष्मान भारत के 1 करोड़वीं लाभार्थी पूजा थापा के साथ टेलीफोन पर बात की ।’’ प्रधानमंत्री ने थापा के साथ बातचीत का आडियो क्लिप भी जारी किया । थापा एक सैनिक की पत्नी हैं जिन्होंने आयुष्मान भारत योजना के तहत शिलांग में सर्जरी के बारे में बताया । उनके पति मणिपुर में तैनात हैं और कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन के कारण उनके साथ अभी नहीं है । उनके दो छोटे बच्चे हैं । (भाषा)

View More...

Covid-19 : देश में बीते 24 घंटे में संक्रमण के 4,987 नए मामले सामने आए और 120 लोगों की मौत के साथ मृतक संख्या बढ़कर 2,872 हो गई

Date : 17-May-2020

नयी दिल्ली, (एजेंसी). देश में कोविड-19 के कारण बीते 24 घंटे में और 120 लोगों की मौत के साथ मृतक संख्या बढ़कर 2,872 हो गई। इसी अवधि में संक्रमण के 4,987 नए मामले सामने आए जिसके बाद रविवार सुबह कुल मामले बढ़कर 90,927 हो गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ये आंकड़े शनिवार सुबह आठ बजे से सामने आए हैं।मंत्रालय ने बताया कि देश में 53,946 मरीजों का इलाज चल रहा है, 34,108 मरीज ठीक हो चुके हैं और एक मरीज देश से बाहर चला गया।स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘इस तरह अब तक करीब 37.51 फीसदी मरीज ठीक हो चुके हैं।’’ तीन राज्यों में संक्रमण के 10,000 से अधिक मामले हैं जिनमें सर्वाधिक 30,706 मामले महाराष्ट्र में हैं। गुजरात में 10,988 मामले और तमिलनाडु में संक्रमण के 10,585 मामले हैं।संक्रमण के कुल मामलों में वे विदेशी नागरिक भी शामिल हैं जिनकी भारत में जांच हुई।

शनिवार सुबह आठ बजे से जिन 120 लोगों की मौत हुई है उनमें से 67 महाराष्ट्र में, 19 गुजरात में, नौ उत्तर प्रदेश में, सात पश्चिम बंगाल में, छह दिल्ली में, चार मध्य प्रदेश में, तीन तमिलनाडु में, दो हरियाणा में और एक-एक मरीज की मौत आंध्र प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और राजस्थान में हुई।कुल 2,872 मरीजों की देशभर में मौत हुई है जिनमें सर्वाधिक 1,135 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। गुजरात में 625 लोगों की, मध्य प्रदेश में 243 लोगों की, पश्चिम बंगाल में 232 लोगों की, दिल्ली में 129 लोगों की, राजस्थान में 126 मरीजों की, उत्तर प्रदेश में 104 लोगों की, तमिलनाडु में 74 मरीजों की और आंध्र प्रदेश में 49 लोगों की मौत हुई।संक्रमण से कर्नाटक में 36 लोगों की मौत हो चुकी है, तेलंगाना में 34 की, पंजाब में 32 की, हरियाणा में 13 की, जम्मू-कश्मीर में 12 लोगों की, बिहार में सात लोगों की और केरल में चार लोगों की मौत संक्रमण के कारण हुई। झारखंड, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश और ओडिशा में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है तथा असम में दो मरीजों की मौत हुई।मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मेघालय, उत्तराखंड और पुडुचेरी में कोविड-19 के एक-एक मरीज की मौत हुई।मंत्रालय के मुताबिक संक्रमण से मौत के 70 फीसदी से अधिक मामलों में मरीज अन्य गंभीर बीमारियों से भी ग्रस्त से थे।
रविवार सुबह अपडेट किए गए स्वास्थ्य मंत्रालय के डेटा के मुताबिक देश में संक्रमण के सर्वाधिक 30,706 मामले महाराष्ट्र में, 10,988 मामले गुजरात में, 10,585 मामले तमिलनाडु में, 9,333 मामले दिल्ली में, 4,960 मामले राजस्थान में, 4,789 मामले मध्य प्रदेश में और 4,258 मामले उत्तर प्रदेश में हैं। पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामले बढ़कर 2,576 हो गए, 2,355 मामले आंध्र प्रदेश में और 1,946 मामले पंजाब में हैं।तेलंगाना में 1,509 मामले, बिहार में 1,179 मामले, जम्मू-कश्मीर में 1,121 मामले, कर्नाटक में 1,092 मामले और हरियाणा में कोविड-19 के 887 मामले हैं।ओडिशा में कोरोना वायरस संक्रमण के 737 मामले, केरल में 587 मामले, झारखंड में 217 मामले तथा चंडीगढ़ में 191 मामले हैं।त्रिपुरा में संक्रमण के 167 मामले, असम में 92 मामले, उत्तराखंड में 88 मामले, हिमाचल प्रदेश में 78 मामले, छत्तीसगढ़ में 67 मामले और लद्दाख में अब तक संक्रमण के 43 मामले हैं।अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में कोविड-19 के 33 मामले हैं। गोवा में संक्रमण के 17 मामले, मेघालय और पुडुचेरी में 13-13 मामले हैं।मणिपुर में कोरोना वायरस के सात मामले, अरुणाचल प्रदेश तथा दादर-नागर हवेली में एक-एक मामला है।मंत्रालय की वेबसाइट पर कहा गया, ‘‘हमारे आंकड़ों का आईसीएमआर के आंकड़ों से मिलान किया जा रहा है।’’ (भाषा)

View More...

महंगाई की मार: दिल्ली में पेट्रोल 1.67 रुपये प्रति लीटर, डीजल 7.10 रुपये प्रति लीटर महंगा

Date : 05-May-2020

नयी दिल्ली, (एजेंसी). दिल्ली सरकार के ईंधन पर वैट (मूल्य वर्द्धित कर) बढ़ाने के बाद राजधानी में मंगलवार को पेट्रोल 1.67 रुपये और डीजल 7.10 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया।तेल कंपनियों से जुड़े सूत्रों के मुताबिक अब दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 71.26 रुपये का होगा। पहले यह कीमत 69.59 रुपये प्रति लीटर थी। इसी तरह डीजल की नयी कीमत 69.39 रुपये प्रति लीटर होगी जो पहले 62.29 रुपये प्रति लीटर थी।दिल्ली सरकार ने पेट्रोल पर वैट को 27 प्रतिशत से बढ़ाकर 30 प्रतिशत कर दिया है जबकि डीजल पर वैट लगभग दोगुना बढ़कर 16.75 प्रतिशत 30 प्रतिशत हो गया है।(भाषा)

View More...

जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, ऑपरेशन में सेना के 2 अफसर समेत 5 जवान भी शहीद

Date : 03-May-2020

श्रीनगर (एजेंसी ). उत्तर कश्मीर में हंदवाड़ा इलाके के एक गांव में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गये. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए. यह इलाका उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का हिस्सा है. उन्होंने बताया कि सेना के अधिकारी आतंकवादियों द्वारा बंधक बनाए गए नागरिकों को बचाने जा रही टीम का नेतृत्व कर रहे थे. भारतीय सेना की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है, 'नागरिकों को सुरक्षित निकालते हुए हमारे जवान आतंकियों की भारी फायरिंग की चपेट में आ गये.शहीद होने वाले जवानों में चार भारतीय सेना और एक जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक जवान हैं. भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक हंदवाड़ा में आतंकियों के छिपे होने की सूचना के बाद ऑपरेशन चलाया गया. इस दौरान छिपे हुए आतंकियों ने फायरिंग की, जिसमें 21 राष्ट्रीय रायफल्स के कर्नल, मेजर और दो जवान शहीद हो गए. जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर भी मुठभेड़ में शहीद हुए हैं. फिलहाल गोलीबारी रूक गई है, सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रखा है. पूरे इलाके को सील कर दिया गया है. गाड़ियों की आवाजाही पर रोक लगा दी गयी है.
यह मुठभेड़ शनिवार शाम से चल रही थी. देर रात मुठभेड़ में सेना के दो अफसरों समेत सुरक्षा बलों के पांच जवान लापता हो गए थे. इनका टीम से संपर्क कट गया था. आपको बता दें कि कुपवाड़ा में तलाशी अभियान के 20 घंटे बाद आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच शनिवार को दोपहर बाद मुठभेड़ शुरू हुई. इससे पहले करीब दो बार आतंकी जंगल क्षेत्र की ओर भाग खड़े हुए थे.
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा है कि हंदवाड़ा में हमारे जवानों और सुरक्षाकर्मियों को खोना बेहद दर्दनाक है.उन्होंने आतंकवादियों के खिलाफ अपनी लड़ाई में अद्वितीय साहस दिखाया और देश की सेवा करते हुए शहीद हो गये. हम उनकी बहादुरी और बलिदान को कभी नहीं भूलेंगे. उन्होंने कहा कि मैं सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जो शहीद हुए हैं. मेरी संवेदना उन परिवारों के लिए है जिन्होंने आज अपने प्रियजनों को खो दिया है. भारत इन बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है.

View More...

कोविड-19 : देश में मृतकों की संख्या 1,147 हुई, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 35,043 हुई

Date : 01-May-2020

नयी दिल्ली, (एजेंसी). देश में कोरोना वायरस के कारण 72 और लोगों के जान गंवाने के साथ ही शुक्रवार को इससे मरने वाले लोगों की संख्या 1,147 हो गई और संक्रमितों की संख्या बढ़कर 35,043 हो गई।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 से अब भी 25,007 लोग संक्रमित हैं जबकि 8,888 लोग स्वस्थ हो गए और एक मरीज देश छोड़कर चला गया। कुल 35,043 संक्रमितों में 111 विदेशी नागरिक शामिल हैं।
बृहस्पतिवार शाम से लेकर अब तक महाराष्ट्र में 27, गुजरात में 17, पश्चिम बंगाल में 11, मध्य प्रदेश और राजस्थान में सात-सात और दिल्ली में तीन लोगों की मौत हुई है।इस संक्रामक रोग से अब तक हुई 1,147 मौतों में से महाराष्ट्र में सबसे अधिक 459 लोगों ने जान गंवाई। इसके बाद गुजरात में 214, मध्य प्रदेश में 137, दिल्ली में 59, राजस्थान में 58, उत्तर प्रदेश में 39, पश्चिम बंगाल में 33 और आंध्र प्रदेश में 31 लोगों की मौत हुई।कोरोना वायरस से तमिलनाडु में 27, तेलंगाना में 26 लोगों की मौत हुई जबकि कर्नाटक में 21 लोगों की मौत हुई।पंजाब में अभी तक 19 लोगों की मौत हुई है जबकि जम्मू कश्मीर में आठ, केरल में चार, झारखंड और हरियाणा में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है।
मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से बिहार में दो लोगों की जान गई जबकि मेघालय, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा और असम में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई।देश में संक्रमण के सबसे अधिक 10,498 मामले महाराष्ट्र में हैं। इसके बाद गुजरात में 4,395, दिल्ली में 3,515, मध्य प्रदेश में 2,660 मामले सामने आए।
राजस्थान में संक्रमित लोगों की संख्या 2,584 पर पहुंच गई, तमिलनाडु में 2,323 और उत्तर प्रदेश में 2,203 लोग संक्रमित पाए गए। आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के मामले बढ़कर 1,403 और तेलंगाना में 1,038 हो गए हैं।पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के 795, जम्मू कश्मीर में 614, कर्नाटक में 565, केरल में 497, बिहार में 418 और पंजाब में 357 मामले सामने आए हैं। हरियाणा में इस जानलेवा विषाणु के 313 मामले सामने आए हैं जबकि ओडिशा में 142, झारखंड में 109 और उत्तराखंड में 57 मामले हैं।चंडीगढ़ में 56 मामले, असम में 42 जबकि हिमाचल प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अब तक 40-40 मामले सामने आए हैं। अंडमान और निकोबार द्वीप पर 33 लोग संक्रमित पाए गए जबकि लद्दाख में 22 लोग संक्रमित पाए गए हैं।मेघालय में कोरोना वायरस के 12 मामले सामने आए, पुडुचेरी में आठ जबकि गोवा में सात मामले सामने आए।मणिपुर और त्रिपुरा में दो-दो मामले सामने आए जबकि मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक मामला सामने आया।(भाषा) 

View More...

कोविड-19 : केन्द्र ने रेड, ऑरेंज, ग्रीन जोन का राज्यवार बंटवारा किया, इन इलाकों में संक्रमित मामलों के दोगुना होने की दर

Date : 01-May-2020

नयी दिल्ली, (एजेंसी). देश में लागू लॉकडाउन के दूसरे चरण के समाप्त होने से पहले केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर में 130 जिलों को रेड जोन, 284 को ऑरेंज जोन और 319 को ग्रीन जोन घोषित किया है। इन इलाकों में कोविड-19 मामलों की संख्या, मामलों के दोगुना होने की दर, जांच की क्षमता और निगरानी एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर इन्हें श्रेणीबद्ध किया गया है।‘कंटेनमेंट ऑपरेशन’ के लिए जिलों के इस वर्गीकरण को राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों द्वारा तीन मई से अपनाया जाएगा। तीन मई को लॉकडाउन का दूसरा चरण समाप्त हो रहा है।

इस सूची को हर सप्ताह या उससे पहले भी संशोधित किया जाएगा और इस संबंध में आगे की कार्रवाई के लिए राज्यों को सूचित किया जाएगा।इस नए वर्गीकरण में मुम्बई, दिल्ली, कोलकाता, हैदराबाद, पुणे, बेंगलुरु और अहमदाबाद जैसे महानगर शहरों को रेड जोन में रखा गया है।कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में 30 अप्रैल को राज्यों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ की गई वीडियो कॉन्फ्रेंस के बाद जिलों के इस नए वर्गीकरण की घोषणा की गई।
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की सचिव प्रीती सूदन ने राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा, ‘‘ यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि हम जमीनी स्तर पर कोविड-19 के एक केन्द्रित प्रबंधन के लिए संवेदनशील इलाकों की पहचान करें।’’
उन्होंने कहा कि जिलों को पहले हॉटस्पॉट्स / रेड-जोन, ऑरेंज जोन और ग्रीन जोन के रूप में नामित किया गया था। इन्हें भी सामने आए नए मामलों और उनके दोगुने होने की दर के आधार पर वर्गीकृत किया गया था।सूदन ने पत्र में कहा, ‘‘ मरीजों के ठीक होने की दर बढ़ने के बाद, जिलों का वर्गीकरण अब व्यापक मानदंडों के आधार पर किया जा रहा है। यह वर्गीकरण बहु-तथ्यात्मक है और बढ़ते मामलों, उनके दोगुने होने की दर, जांच की क्षमता, निगरानी एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर इनका वर्गीकरण किया जा रहा है।’’ पत्र के अनुसार किसी भी क्षेत्र को ग्रीन जोन में तभी रखा जाएगा यदि वहां कोविड-19 का कोई पुष्ट मामला ना हो या पिछले 21 दिन में जिले में कोई मामला सामने ना आया हो।वहीं कोई भी रेड या ऑरेंज जोन में शामिल जिले क्रमश: 28 और 14 दिन तक कोई नया मामला सामने ना आने के बाद ग्रीन जोन में आ सकते हैं।इस सूची में दिल्ली के 11 जिलों को रेड जोन (हॉटस्पॉट्स) घोषित किया गया है। वहीं महाराष्ट्र के 14 जिले रेड जोन, 16 ऑरेंज जोन और छह ग्रीन जोन में शामिल हैं। गुजरात के नौ जिले रेड जोन, 19 ऑरेंज जोन और पांच ग्रीन जोन में हैं।वहीं मध्य प्रदेश के नौ जिले रेड जोन, 19 ऑरेंज जोन और 24 ग्रीन जोन में हैं। राजस्थान के आठ रेड, 19 ऑरेंज और छह जिले ग्रीन जोन में हैं।उत्तर प्रदेश के 19 जिले रेड जोन, 36 ऑरेंज जोन और 20 ग्रीन जोन में हैं। जबकि तमिलनाडु के 12 जिले रेड जोन, 24 ऑरेंज और एक ग्रीन जोन में हैं।

गोवा, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मणिपुर, नागालैंड और मिजोरम पूरी तरह ग्रीन जोन में है।तेलंगाना के छह जिले रेड, 18 ऑरेंज और नौ ग्रीन जोन में हैं। आंध्र प्रदेश के पांच जिले रेड जोन, सात ऑरेंज जोन और एक ग्रीन जोन में है। पश्चिम बंगाल के 10 जिले रेड जोन, पांच ऑरेंज और आठ ग्रीन जोन में हैं।असम, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख, मेघालय, पुडुचेरी और त्रिपुरा जैसे कुछ राज्यों में कोई भी रेड जोन नहीं है।
कुछ राज्यों द्वारा ‘‘ कुछ क्षेत्रों को रेड-जोन में शामिल करने का मुद्दा’’ उठाए जाने पर सचिव ने कहा कि यह एक गतिशील सूची है।सचिव ने कहा कि राज्य स्तर पर क्षेत्र से मिली जानकारी और अतिरिक्त विश्लेषण के आधार पर राज्य उपयुक्त रूप से अतिरिक्त रेड और ऑरेंज जोन घोषित कर सकते हैं।सूदन ने कहा, ‘‘ हालांकि राज्यों को मंत्रालय द्वारा रेड/ऑरेंज जोन में शामिल जिलों में कोई ढील नहीं देनी चाहिए।’’ क या अधिक नगर निगम वाले जिलों के निगमों और जिलों के अन्य क्षेत्रों को अलग-अलग इकाइयों के रूप में माना जा सकता है। अगर इन इकाइयों में 21 दिन तक कोई मामला सामने ना आए तो इन्हें रेड या ऑरेंज जोन से हटाया जा सकता है।केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोविड-19 के अभी तक 35,043 मामले सामने आए हैं और 1,147 लोगों की इससे जान जा चुकी है। (भाषा) 

View More...

दिल्ली में हॉटस्पाट बढ़ना चिंता की बात, केन्द्र सरकार की राजधानी पर विशेष नजर : डा हर्षवर्धन

Date : 28-Apr-2020

नयी दिल्ली, (एजेंसी). केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा हर्षवर्धन ने दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता व्यक्त करते हुये कहा है कि एम्स सहित अन्य केन्द्रीय संस्थानों तथा संबद्ध अधिकारियों को राष्ट्रीय राजधानी पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है। डा हर्षवर्धन ने मंगलवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन और दिल्ली सरकार एवं स्थानीय निकायों के शीर्ष अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिये समीक्षा बैठक में राष्ट्रीय राजधानी की स्थिति पर गंभीर चिंता व्यक्त की। डा हर्षवर्धन ने कोरोना संक्रमण के आंकड़ों के आधार पर कहा कि दिल्ली में स्वास्थ्य एवं चिकित्साकर्मियों के संक्रमित होने की दर 4.11 प्रतिशत है और यह अन्य राज्यों की तुलना में काफी ज्यादा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब तक 33 डाक्टर 26 नर्स और 24 स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित हो चुके हैं। 

उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब तक 98 हॉटस्पॉट क्षेत्र घोषित होने के बाद राजधानी का नक्शा पूरी तरह से रेड जोन में तब्दील होना सभी के लिये चिंता की बात है। समस्या के संभावित कारणों का जिक्र करते हुये स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि संक्रमण पाये जाने वाले इलाकों में कम क्षेत्रफल को सील किया जा रहा है, रेड स्पॉट घोषित जिलों का पड़ोसी जिलों से संपर्क बरकरार रहना और घनी आबादी वाले क्षेत्रों में लॉकडाउन का ठीक से पालन नहीं होने के कारण स्थिति नियंत्रण में नहीं आ पा रही है। उन्होंने हालांकि इसमें तबलीगी जमात की घटना को भी प्रमुख वजह बताते हुये कहा कि इस घटना के बाद अब तक हालात को काबू किया जाना चाहिये था। उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति को देखते हुये स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने शीर्ष अधिकारियों को दिल्ली की स्थिति पर विशेष ध्यान देने और दिल्ली स्थित एम्स को इस दिशा में दिल्ली प्रशासन को अपनी विशेषज्ञता का लाभ पहुंचाने को कहा गया है। 

डा हर्षवर्धन ने बैजल से भी केन्द्र और राज्य सरकार के बीच बेहतर तलमेल कायम करने में उनके लंबे प्रशासकीय अनुभव से मदद करने का अनुरोध किया। बैठक में एक अधिकारी ने दिल्ली में संक्रमण की स्थिति को प्रस्तुत करते हुये बताया कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण के कारण मरीजों की मृत्यु दर अन्य राज्यों से काफी कम 1.7 प्रतिशत जरूर है लेकिन संक्रमित मरीजों की संख्या 3,108 हो गयी है। इनमें 1084 मरीजों का संबंध तबलीगी जमात की घटना से है। उन्होंने बताया कि सिर्फ पश्चिमी दिल्ली को छोड़ दें तो लगभग सभी इलाके रेड जोन या ऑरेंज जोन में शामिल हैं। इनमें मध्य क्षेत्र, दक्षिणी दिल्ली और पूर्वी दिल्ली में कोरोना संक्रमण का असर सर्वाधिक है।(भाषा)

View More...
Previous12345678Next