International

Previous12Next

दुबई में पाकिस्तानी व्यक्ति पर भारतीय बच्ची के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप

दुबई, (एजेंसी)। दुबई की एक अदालत ने एक पाकिस्तानी व्यक्ति पर एक आवासीय इमारत की लिफ्ट में एक भारतीय बच्ची के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप तय किया है।‘खलील टाइम्स’ ने बताया कि अभियोजकों के अनुसार ‘डिलिवरी ब्वॉय’ के तौर पर काम करने वाला 35 वर्षीय पाकिस्तानी नागरिक इमारत में 16 जून को एक पार्सल पहुंचाने गया था। इस दौरान उसने इमारत की लिफ्ट में 12 वर्षीय भारतीय बच्ची को अनुचित तरीके से छुआ।
उसने बताया कि पाकिस्तानी नागरिक ने ‘दुबई कोर्ट ऑफ फर्स्ट इन्स्टेंस’ में लगाए गए आरोपों से इनकार किया है।यह मामला अल रफा पुलिस थाने में दर्ज कराया गया था।‘खलील टाइम्स’ ने बताया कि जांच के दौरान 34 वर्षीय एक भारतीय महिला ने बताया कि बच्ची उसके घर पढ़ने आई थी।उसने महिला के हवाले से कहा, ‘‘वह (बच्ची) कुछ कागज भूल गई थी, जिन्हें लेने के लिए उसे अपने घर जाना पड़ा। वह जब वापस लौटी, तो उसका चेहरा पीला पड़ा हुआ था। वह रो रही थी और कांप रही थी।’’ 
इसके बाद लड़की ने महिला को बताया कि आरोपी ने लिफ्ट में पता पूछने के बहाने उसे अनुचित तरीके से छुआ। महिला ने इसके बाद एक पड़ोसी से अनुरोध किया कि वह सुरक्षा गार्ड के कक्ष में जाकर कैमरा फुटेज देखे।
सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि पुरुष एक पार्सल पहुंचाने पांचवीं मंजिल जा रहा था लेकिन उसने अपना रास्ता बदल लिया और पार्सल पहुंचाए बिना लड़की का पीछा किया।व्यक्ति को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया और अदालत में पेश किया गया।(भाषा) 

View More...

जलवायु परिवर्तन की भेंट चढ़े ग्लेशियर ‘ओकजोकुल’ ने खोई अपनी पहचान

रिक्जाविक, (एजेंसी)। जलवायु परिवर्तन के कारण ग्लेशियर ‘ओकजोकुल’ ने अपनी पहचान खो दी है... जी हां ‘ओकजोकुल’ अब ग्लेशियर नहीं रहा, उसने अपना यह दर्जा खो दिया है। यहां अंतरराष्ट्रीय समयानुसार दोपहर दो बजे एक समारोह में कांस्य पट्टिका का अनावरण किया जाएगा, जिसमें इसकी वर्तमान स्थिति बयां करने के साथ ही बाकी ग्लेशियर के भविष्य को लेकर आगाह किया गया जाएगा।

इस पर लिखा होगा, ‘‘ ‘ओक’ अपना ग्लेशियर का दर्जा खोने वाला आइसलैंड का पहला ग्लेशियर है। आने वाले 200 वर्ष में हमारे सभी ग्लेशियरों का यही हाल होने की आशंका है। अब समय आ गया है कि हम देखें की क्या हो रहा है और क्या किए जाने की जरूरत है। ’’ आईसलैंड की प्रधानमंत्री कैटरीन जैकोब्स्दोतिर, पर्यावरण मंत्री गुडमुंडुर इनगी गुडब्रॉन्डसन और संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार उच्चायुक्त मेरी रॉबिन्सन भी इस समारोह में शामिल होंगे।राइस विश्वविद्यालय में एंथ्रोपोलॉजी की एसोसिएट प्रोफेसर सायमीनी हावे ने जुलाई में ही इसकी स्थिति को लेकर आगाह किया था।उन्होंने कहा था, ‘‘ विश्व में जलवायु परिवर्तन के कारण अपनी पहचान खोने वाला यह पहला ग्लेशियर होगा।’’ 

View More...

पाकिस्तान ने कश्मीर मामले पर इंडोनेशिया के राष्ट्रपति को किया फोन

इस्लामाबाद, (एजेंसी ). कश्मीर मुद्दे पर बौखलाए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने  वैश्विक नेताओं से संपर्क करने के अपने प्रयासों के तहत इंडोनेशिया के राष्ट्रपति से सम्पर्क साध रहे है । सूत्रों के मुताबिक इमरान खान अब कश्मीर मामले को लेकर इंडोनेशिया के राष्ट्रपति को  फोन किया। बता दे की भारत ने पिछले सप्ताह, जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराएं रद्द कर दीं और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों... जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित कर दिया।

भारत के इस कदम पर आपत्ति जाहिर करते हुए पाकिस्तान ने बुधवार को भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर राजनयिक संबंधों में कटौती कर दी तथा नयी दिल्ली के साथ व्यापार संबंधों को रोक दिया। ‘द न्यूज इंटरनेशनल’’ ने एक आधिकारिक बयान के हवाले से सोमवार को बताया कि इस घटनाक्रम के बाद इमरान खान तथा विडोडो के बीच फोन पर पहला संवाद हुआ। इमरान ने कहा कि ‘‘बेकसूर कश्मीरियों के मारे जाने का गंभीर खतरा है’’ और ऐसी त्रासदी को रोकना अंतरराष्ट्रीय समुदाय का दायित्व है। कश्मीर की स्थिति को लेकर इमरान पहले ही ब्रिटेन और मलेशिया के प्रधानमंत्रियों, तुर्की के राष्ट्रपति, सऊदी अरब के शहजादे और बहरीन के सम्राट से बात कर चुके हैं।(भाषा)

View More...

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान के फैसले का चीन समर्थन करता है : कुरैशी

इस्लामाबाद, (एजेंसी )। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने शनिवार को कहा कि कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद जाने के पाकिस्तान के फैसले का चीन पूरी तरह समर्थन करता है।कुरैशी आनन-फानन में शुक्रवार को चीन गए थे जहां उन्होंने विदेश मंत्री वांग यी और चीन के अन्य शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात कर बातचीत की।  चीन से वापसी के बाद इस्लामाबाद में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कुरैशी ने कहा, ‘‘मैंने चीन को बताया कि हम मामले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ले जाना चाहते हैं। मैं देश को बताना चाहता हूं कि उन्होंने पूर्ण समर्थन का वादा किया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘चीन ने न्यूयॉर्क में अपने प्रतिनिधियों को निर्देश दिया है कि वे इस मुद्दे पर पाकिस्तानी राजनयिकों के साथ बातचीत करें।’’ कुरैशी ने कहा कि चीन चाहता है कि कश्मीर मसले का समाधान संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव के अनुसार किया जाए । (भाषा) 

View More...

म्यामां में भूस्खलन की घटना में 41 लोगों की मौत, कई लोगों के लापता

मॉलम्याइन (एजेंसी )।  म्यामां के पूर्वी हिस्से में मॉनसून की बारिश के कारण हुए भूस्खलन की घटना में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 41 हो गयी है। एक अधिकारी ने शनिवार देर रात इसकी जानकारी दी, वहीं आपात कर्मियों ने सैकड़ों लापता लोगों की तलाश दूसरी रात भी जारी रखी।यह घटना शुक्रवार को मोन प्रांत के ये प्यार कोन में हुई जहां शुक्रवार को 27 घर बह गए। जीवित बचे लोगों की तलाश करने और कीचड़ में से शव निकालने के लिए खोज एवं बचाव दल रात भर काम में लगे रहे।
स्थानीय प्रशासक जॉ मोई ऑन्ग ने बताया, ‘‘मृतकों की संख्या बढ़ कर 41 हो गयी है ।’’ अब तक भूस्खलन के चलते 47 लोग जख्मी हो गए जबकि अधिकारियों का मानना है कि 80 लोग लापता हो सकते हैं। (म्यामां)

View More...

कश्मीर मुद्दे पर मलाला ने कहा: हम सभी शांति के साथ रह सकते हैं

लंदन,  (एजेंसी)। नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित एवं पाकिस्तानी शिक्षा अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने बृहस्पतिवार को कश्मीर मुद्दे का शांतिपूर्ण समाधान निकाले जाने की अपील की और कहा कि ‘‘हम सभी शांति के साथ रह सकते हैं’’ और ‘‘एक दूसरे को नुकसान पहुंचाने’’ की कोई आवश्यकता नहीं है। भारत ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद-370 को निरस्त कर दिया है और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया है।

इसके जवाब में, पाकिस्तान ने बुधवार को भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया था और भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कमतर करने का फैसला किया था। उसने भारत के कदम को ‘‘एकतरफा और अवैध’’ बताया था।

मलाला ने ट्वीट किया, ‘‘जब मैं बच्ची थी, जब मेरी मां और मेरे पिता बच्चे थे, जब मेरे दादा-दादी, नाना-नानी युवा थे, कश्मीर के लोग तभी से संघर्ष की स्थिति में जी रहे हैं।’’ 

सबसे कम उम्र में नोबेल पुरस्कार पाने वाली मलाला (22) ने कहा कि वह कश्मीर की फिक्र करती हैं क्योंकि ‘‘दक्षिण एशिया मेरा घर है, एक ऐसा घर जिसे मैं कश्मीरियों समेत 1.8 अरब लोगों के साथ साझा करती हूं।’’ 
मलाला ने कहा कि यह क्षेत्र विभिन्न संस्कृतियों, धर्मों, भाषाओं, व्यंजनों और परम्पराओं का प्रतिनिधित्व करता है।उन्होंने उम्मीद जताई कि ‘‘हम सभी शांति के साथ रह सकते हैं।’ 
मलाला ने कहा, ‘‘इस बात की कोई आवश्यकता नहीं है कि हम पीड़ा सहें और एक दूसरे को नुकसान पहुंचाएं।’’ 
उन्होंने कहा कि उन्हें कश्मीर में मुख्य रूप से महिलाओं और बच्चों की चिंता है क्योंकि उन्हें ‘‘हिंसा का आसानी से शिकार बनाया जा सकता है और इस संघर्ष में उन्हें ही सर्वाधिक नुकसान होने की आशंका है’’।

उन्होंने सभी दक्षिण एशियाई देशों, अंतरराष्ट्रीय समुदाय और प्राधिकारियों से उनकी पीड़ा पर प्रतिक्रिया देने की अपील की।

मलाला ने कहा, ‘‘हमारे बीच कोई भी मतभेद क्यों न हो... हमें कश्मीर में सात दशक पुराने संघर्ष को शांतिपूर्वक सुलझाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।’’  (भाषा)

View More...

भारत के साथ बढ़ते तनाव कम करने के लिए पाकिस्तान का संयुक्त राष्ट्र से हस्तक्षेप का आग्रह

इस्लामाबाद, एजेंसी (भाषा):  जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद भारत के साथ बढ़े ‘‘तनाव को कम’’ करने के लिए पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र से तत्काल हस्तक्षेप करने की अपील की है।उल्लेखनीय है कि कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले में सेना के करीब 40 जवान शहीद हो गए थे।  इस हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। दोनों ने अपने-अपने उच्चायुक्तों को वापस बुला लिया है।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बताया कि देश के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस को सोमवार को पत्र भेजकर दोनों देशों के बीच तनाव कम करने में उनकी मदद मांगी। कुरैशी ने अपने पत्र में लिखा, ‘‘मैं भारत द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ बल प्रयोग के खतरे के कारण हमारे क्षेत्र में खराब हो रहे सुरक्षा हालात की ओर आपका ध्यान आकर्षित करता हूं।’’ 

भारत ने कश्मीर मामले पर किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप को नकार दिया है और वह कहता आया है कि भारत एवं पाकिस्तान के संबंधों से जुड़े सभी मामलों को द्विपक्षीय तरीके से सुलझाया जाना चाहिए। कुरैशी ने अपने पत्र में कहा कि भारतीय सीआरपीएफ जवानों पर पुलवामा में हमला स्पष्ट तौर पर एक कश्मीर निवासी ने किया था। यहां तक कि भारत ने भी यही कहा है।उन्होंने कहा कि जांच से पहले ही इस हमले के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराना बेतुकी बात है।

कुरैशी ने आरोप लगाया कि भारत ने घरेलू राजनीतिक कारणों से पाकिस्तान के खिलाफ अपनी शत्रुतापूर्ण बयानबाजी जानबूझकर बढ़ा दी है और तनावपूर्ण माहौल पैदा किया है। उन्होंने लिखा कि भारत ने यह भी संकेत दिया है कि वह सिंधु जल संधि से पीछे हट सकता है। कुरैशी ने जोर दिया कि यह एक बड़ी भूल होगी। उन्होंने कहा, ‘‘तनाव कम करने के लिए कदम उठाना अनिवार्य है। तनाव कम करने के लिए संयुक्त राष्ट्र को हस्तक्षेप करना चाहिए।’’ कुरैशी ने कहा कि भारत से आतंकवादी हमले की मुक्त एवं विश्वसनीय जांच करने को कहा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘आप भारत से तनाव को और बढ़ाने से बचने और हालात शांत करने की खातिर पाकिस्तान एवं कश्मीरियों से बातचीत करने को कह सकते हैं।’’ 

विदेश मंत्री ने अनुरोध किया कि यह पत्र सुरक्षा परिषद और महासभा के सदस्यों के पास भी भेजा जाए।पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर के मामले पर हस्तक्षेप करने का अनुरोध करता रहा है। 

View More...

भारत से अपने उच्चायुक्त को बुलाया पाकिस्तान

इस्लामाबाद, (एजेंसी ) : पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद दोनों पक्षों के बीच तनाव बढ़ने के मद्देनजर पाकिस्तान ने भारत स्थित अपने उच्चायुक्त को ‘सलाह मशविरा करने के लिए’ वापस बुला लिया है। अधिकारियों ने यहां सोमवार को यह जानकारी दी। भारत स्थित पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद को शुक्रवार नयी दिल्ली में विदेश सचिव विजय गोखले ने तलब किया था और पुलवामा की घटना में 40 सीआरपीएफ जवानों के मारे जाने पर महमूद के समक्ष कड़ा विरोध जताया था।

वरिष्ठ अधिकारियों ने यहां बताया कि पाकिस्तान ने सलाह मशविरा करने के लिये सोमवार को भारत से अपने उच्चायुक्त को वापस बुला लिया।हमले के मद्देनजर पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसरिया को भी विचार विमर्श के लिये नयी दिल्ली वापस बुलाया गया है।बृहस्पतिवार को पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के लिये भारत ने पाकिस्तान समर्थित जैश-ए-मोहम्मद को जिम्मेदार ठहराया है।

View More...

पाकिस्तान की धमकी: अगर आप पाकिस्तान पर हमले करने की सोचेंगे तो हम भी जवाब देंगे

नई दिल्ली/इस्लामाबाद (एजेंसी ) : जम्‍मू-कश्‍मीर के  पुलवामा में  सीआरपीएफ काफि‍ले पर हुए भीषण आतंकी हमले के बाद पाकिस्‍तान पर लगातार उठ रहे सवालों के चलते पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पहली बार  अपना पक्ष रखा. उन्‍होंने सीधे तौर पर भारत से कहा कि अगर आप समझते हैं कि आप पाकिस्‍तान पर हमला करने के बारे में सोचेंगे तो हम सोचेंगे नहीं बल्कि उसका जवाब देंगे. रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान ने कहा-हम आतंकवाद पर बात करने को तैयार हैं.  भारत हमले में पाकिस्‍तान के शामिल होने का सबूत दे, हम एक्शन लेंगे। हम भी आतंकवाद को खत्‍म करना चाहते हैं. हमले में पाक के शामिल होने के सबूत दें तो जांच के लिए तैयार.बातचीत से ही समस्‍या का हल हो सकता है.जंग शुरू करना आसान है, लेकिन यह खत्‍म करना इंसान के हाथ में है.अगर आप समझते हैं कि आप पाकिस्तान  पर हमले करने की सोचेंगे तो हम भी सोचेंगे नहीं, जवाब देंगे.मसला आखिर में बातचीत से ही खत्‍म होगा.

View More...

ईरान ने पाकिस्तानी राजदूत को किया तलब

तेहरान (एजेंसी )। ईरान के विदेश मंत्रालय ने आत्मघाती हमले के बाद रविवार को  पाकिस्तान के राजदूत को तलब किया। दरअसल, तेहरान ने सुरक्षा बलों पर हुए एक आत्मघाती हमले के पीछे मौजूद एक जिहादी संगठन को पनाह देने का इस्लामाबाद पर आरोप लगाते हुए यह कदम उठाया है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘ईरान उम्मीद करता है पाकिस्तान की सरकार और सेना इस बात को गंभीरता से लेगी कि ईरान से लगी उसकी सीमा पर आतंकवादी समूह सक्रिय है।’’ मंत्रालय के एक अधिकारी ने हमले को अंजाम देने वालों की पहचान करने और उन्हें गिरफ्तार करने के लिए शीघ्रता से आवश्यक कदम उठाने की अपील की।

View More...
Previous12Next