International

Previous123456789...3536Next

नवाज़ शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज़ के नेता पर भीड़ ने फेका जूता

Date : 07-Mar-2021

इस्लामाबाद (एजेंसी)। नवाज़ शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज़ के नेता अहसान इकबाल पर भीड़ से जूता फेंकने का मामला सामने आया है। ये घटना पाकिस्तान के संसद के बाहर की है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नेशनल असेंबली के बाहर पीएमएल-एन के नेता और इमरान खान की पार्टी (पीटीआई) के कार्यकर्ता नारेबाजी कर रहे थे। इसी दौरान अहसान इकबाल पर जूते से हमला किया गया. हालांकि उन्हें चोट नहीं लगी। PML-N के नेता मीडिया से बातचीत करने के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान PTI के कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया। नारेबाजी करते हुए नेताओं के बीच हाथापाई की नौबत आ गई। अहसान इकबाल एक बेंच पर खड़े हो कर नारेबाजी कर रहे थे। इसी दौरान उन पर जूते फेंके गए।

हमले की आलोचनाइस हमले की पूरे पाकिस्तान में चर्चा है और हर कोई इसकी निंदा कर रहा है। बता दें कि ये घटना इमरान खान सरकार के विश्वास मत जीतने के बाद हुई। विपक्ष ने विश्वास मत का बहिष्कार किया था. पाकिस्तान के प्रमुख विपक्षी नेताओं ने शनिवार को प्रधानमंत्री इमरान खान से इस्तीफा देने और नए सिरे से चुनाव कराने की मांग की।

00 विपक्ष का बहिष्कार
राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के निर्देश पर बुलाए गए विशेष सत्र के दौरान खान ने संसद के 342 सदस्यीय निचले सदन में 178 सदस्यों का समर्थन हासिल किया। विश्वास मत की प्रक्रिया विपक्ष की मौजूदगी के बगैर हुई क्योंकि 11 दलों के गठबंधन-पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) - ने मतदान का बहिष्कार किया था। पीडीएम के प्रमख मौलाना फजलुर रहमान ने सबसे पहले प्रतिक्रिया दी और सिंध प्रांत के सुक्कूर में मीडियाकर्मियों को बताया कि इस विश्वास मत का कोई मतलब नहीं है।

View More...

यूरोपियन गर्ल्स मैथेमैटिकल ओलंपियाड, ईजीएमओ के लिए चुनी गई भारतीय मूल की 13 वर्षीय छात्रा ब्रितानी टीम की अब तक की सबसे कम उम्र की सदस्य

Date : 07-Mar-2021

लंदन (एजेंसी)। जॉर्जिया में अगले महीने होने वाले प्रतिष्ठित ‘यूरोपियन गर्ल्स मैथेमैटिकल ओलंपियाड’ (ईजीएमओ) के लिए चुनी गई भारतीय मूल की 13 वर्षीय छात्रा ब्रितानी टीम की अब तक की सबसे कम उम्र की सदस्य है। लंदन में डलविच के एलयंस स्कूल की छात्रा आन्या गोयल ने गणित के सवाल सुलझाने के अपने जुनून को पूरा करने के लिए पिछले साल लागू लॉगडाउन का भरपूर इस्तेमाल किया।

मैथ ओलंपियाड के विजेता रह चुके अपने पिता अमित गोयल के मार्गदर्शन से उसने ईजीएमओ के लिए चुनी जाने वाली ब्रितानी टीम का हिस्सा बनने के लिए ‘यूके मैथेमैटिक्स ट्रस्ट’ (यूकेएमटी) द्वारा आयोजित परीक्षाओं पर ध्यान केंद्रित किया। आन्या ने कहा, ओलंपियाड के सवाल सुलझाने के लिए रचनात्मक होने और गहराई से सोचने की आवश्यकता होती है। कई बार एक ही सवाल को सुलझाने में कई दिन लग जाते हैं, लेकिन आपको हार नहीं माननी होती और नए विचारों के साथ सवाल सुलझाने होते हैं। यूकेएमटी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए हर साल पूरे ब्रिटेन में माध्यमिक विद्यालयों के छह लाख से अधिक छात्र आवेदन करते हैं, जिनमें से हर साल नवंबर में होने वाले ‘ब्रिटिश मैथेमैटिकल ओलंपियाड’ के लिए शीर्ष 1,000 छात्रों को आमंत्रित किया जाता है। इनमें से ‘ब्रिटिश मैथेमैटिकल ओलंपियाड’ के दूसरे दौर के लिए शीर्ष 100 छात्र चुने जाते हैं।

आन्या ने ईजीएमओ में भाग लेने वाली ब्रितानी टीम में चुनी गई शीर्ष चार लड़कियों में स्थान बनाया और इसी के साथ वह इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाली सबसे कम उम्र की छात्रा बन गई है। इससे पहले यह रिकॉर्ड 15 वर्षीय एक छात्रा के नाम था। आन्या को उसकी आदर्श एवं दुनिया की सर्वश्रेष्ठ महिला गणितज्ञ मानी जानी वाली युहका माचिनो के साथ टीम में चुना गया है।

View More...

आत्मघाती कार बम विस्फोट से दहला मोगदिशू, आत्मघाती हमले में 20 से अधिक की मौत, 30 जख्मी

Date : 06-Mar-2021

मोगादिशू (एजेंसी)। अफ्रीकी देश सोमालिया की राजधानी मोगादिशू शुक्रवार देर रात एक आत्मघाती कार बम विस्फोट से दहल गई। मोगादिशू के बंदरगाह के पास एक रेस्तरां के बाहर हुए बम हमले में 20 से अधिक लोगों की जान चली गई और 30 अधिक लोग घायल हो गए हैं। घायलों में से कई की हालत गंभीर बनी हुई है। आपातकालीन सेवा के एक अधिकारी ने शनिवार सुबह इसकी जानकारी दी।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, राजधानी में रेस्तरां के बाहर कार बम धमाके के बाद आसमान में धुएं का गुबार उठने लगा। धमाका इतना जबरदस्त था कि आसपास की कई इमारतों की खिड़कियां टूट गईं। धमाके के बाद गोलीबारी भी हुई। आमीन एंबुलेंस सर्विस के संस्थापक डॉ. अब्दुलकादिर अदन ने बताया कि धमाके वाली जगह से 20 शव बरामद किए गए हैं और 30 से ज्यादा घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना के समय वहां मौजूद लोगों ने बताया कि बंदरगाह के पास स्थित ल्युल यमनी रेस्तरां के बाहर धमाका हुआ। घटनास्थल के करीब ही रहने वाले निवासी अहमद अब्दुल्लाही ने बताया, ल्युल यमनी रेस्तरां के बाहर एक तेज रफ्तार कार में धमाका हुआ। मैं रेस्तरां जा रहा था, लेकिन जब धमाका हुआ, तो मैं वहां से सुरक्षित बाहर निकल आया। धमाके के बाद पूरा क्षेत्र धुएं के गुबार से ढक गया।

00 अभी तक किसी ने नहीं ली जिम्मेदारी
ख़बरों के मुताबिक, धमाके वाली जगह पर संपत्तियों को भी खासा नुकसान पहुंचा है। फिलहाल, पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी है। वहीं, अभी तक किसी ने भी इस घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है।

इस्लामी आतंकवादी संगठन अल-शबाब अक्सर सोमालिया और अन्य जगहों पर इस तरह के बम विस्फोटों को अंजाम देता है। आतंकी संगठन का मकसद अफ्रीकी देश की केंद्र सरकार को खत्म करके अपने अभियान को सफल बनाना है। अल शबाब सोमालिया में इस्लामी शरिया कानून की अपनी सख्त व्याख्या के आधार पर अपना शासन स्थापित करता है।

View More...

ब्राजील के पूर्व दिग्गज फुटबॉलर पेले ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोज

Date : 04-Mar-2021

रियो डी जेनेरो (एजेंसी)। ब्राजील के पूर्व दिग्गज फुटबॉलर पेले ने मंगलवार को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई। पेले ने वैक्सीन लगवाते हुए एक तस्वीर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर साझा की और लोगों के लिए खास संदेश भी लिखा। हालांकि उन्होंने स्थान का जिक्र नहीं किया।

80 वर्षीय फुटबॉलर ने लिखा, `आज का दिन कभी नहीं भुलने वाला है, मुझे टीका लग गया।’ उन्होंने लोगों से खास अपील करते हुए लिखा, `महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। जीवन को बचाए रखने के लिए हमें अनुशासन बनाए रखना होगा, जब तक कि अधिकतर लोग टीका नहीं लगवा लेते।`

उन्होंने लोगों से खास अपील भी की और कहा, `कृपया हाथ धोते रहें और अगर हो सके तो घर में रहे। जब आप बाहर जाएं तो मास्क लगाना ना भूलें और सामाजिक दूरी बनाएं। यह खत्म हो जाएगा अगर हम दूसरों के बारे में सोचते रहे और एक-दूसरे की मदद करते रहें।`

बता दें कि ब्राजील में अब तक महामारी से ढाई लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है। यहां एक बार से मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। फिलहाल ब्राजील में टीकाकरण भी शुरू हो चुका है लेकिन वो जनसंख्या के लिहाज से अभी चार प्रतिशत ही है।

View More...

कनाडा ने स्थानीय समय पर को कोरोना वायरस के टीके भेजने के लिए भारत को दिया धन्यवाद

Date : 04-Mar-2021

टोरंटो (एजेंसी)। कनाडा ने बुधवार (स्थानीय समय पर) को कोरोना वायरस के टीके भेजने के लिए भारत को धन्यवाद दिया। बता दें कि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को स्वीकृत करने के एक हफ्ते बाद 4 मार्च को भारत में बनी 500,000 खुराकें कनाडा पहुंचीं हैं।

ओकविले की सांसद और सार्वजनिक सेवा और खरीद मंत्री अनीता आनंद ने एक ट्वीट में कहा, `AZ / CoviShield वैक्सीन अब कनाडा में है। भारत के सीरम इंस्टीट्यूट से आज सुबह 500,000 खुराक की पहली खेप पहुची हैं। कुल 1.5 मिलियन से अधिक खुराक आनी है। उन सभी को धन्यवाद जिनकी कड़ी मेहनत से यह हुआ। हम भविष्य के सहयोग के लिए तत्पर हैं।`

उसने पहले कहा था कि कोविड-19 टीकों की 944,600 खुराक इस सप्ताह कनाडा पहुंच जाएगी, जिनमें से 444,600 खुराक फाइजर की हैं और 500,000 खुराकें एस्ट्राजेनेका की हैं।
आनंद और उनकी टीम द्वारा कोरोना वायरस वैक्सीन की खरीद के लिए किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए, पिकरिंग-यूएक्सब्रिज के सांसद जेनिफर ओ`कोनेल ने कहा, `यह अविश्वसनीय काम है - एस्ट्राजेनेका को पिछले शुक्रवार को मंजूरी दी गई थी और मंत्री अनीता, उनकी टीम को धन्यवाद, जो 5 दिन बाद ही हमें 1.5 मिलियन अधिक के सौदे में 500,000 खुराक मिल गई। अब हम मार्च के अंत तक 6.5M से अधिक खुराक प्राप्त करने के लिए तैयार हैं।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इस महीने की शुरुआत में अपने कनाडाई समकक्ष जस्टिन ट्रूडो से बात की और आश्वासन दिया कि भारत कनाडा के COVID-19 टीकाकरण प्रयासों का समर्थन करने की पूरी कोशिश करेगा।
प्रशंसा व्यक्त करते हुए, कनाडाई प्रधान मंत्री ने कहा था कि अगर दुनिया कोविड-19 को जीतने में कामयाब रही तो यह भारत की जबरदस्त दवा क्षमता के कारण संभव होगा और प्रधान मंत्री मोदी के नेतृत्व ने दुनिया के साथ इस क्षमता को साझा करने में मदद की। प्रधानमंत्री मोदी अपने विचारों के लिए पीएम ट्रूडो को धन्यवाद कहा।

इस महीने की शुरुआत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा था कि प्रिय माननीय पीएम जस्टिन ट्रूडो, मैं भारत और इसके वैक्सीन उद्योग के प्रति आपके शब्दों का धन्यवाद करना चाहता हूं। जैसा कि हम कनाडा में इस वैक्सीन की मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं, मैं आपको आश्वस्त करता हूं, सीरम इंस्टीट्यूट एक महीने से भी कम समय में कनाडा के लिए कोविशील्ड पहुंचा देगा।

View More...

म्यांमार में `ख़ूनी बुधवार` : 38 प्रदर्शनकारियों की गई जान, हिंसा जारी

Date : 04-Mar-2021

नेपयितव (एजेंसी)। म्यांमार में सैन्य तख़्तापलट के एक महीने बाद भी बेतहाशा हिंसा जारी है। बुधवार को कम से कम 38 लोगों की मौत हुई है।
संयुक्त राष्ट्र ने इसे `ख़ूनी बुधवार` कहा है। म्यांमार में संयुक्त राष्ट्र की राजदूत क्रिस्टिन श्रेनर ने कहा है कि देश भर से दिल दहलाने वाले फुटेज सामने आ रहे हैं। क्रिस्टिन ने ये भी कहा, ``ऐसा लगता है कि सुरक्षा बल गोलीबारी में लाइव बुलेट का इस्तेमाल कर रहे हैं।``

पूरे म्यांमार में एक फ़रवरी को हुए सैन्य तख़्तापलट के ख़िलाफ़ व्यापक विरोध-प्रदर्शन हो रहा है। प्रदर्शनकारियों की मांग कर रहे हैं कि आंग सान सू ची समेत चुने हुए सरकारी नेताओं को रिहा किया जाए।
इन नेताओं को सेना ने सत्ता से बेदखल कर जेल में बंद कर दिया है। प्रदर्शनकारी सैन्य तख्तापलट को भी ख़त्म करने की मांग कर रहे हैं। हालिया हिंसा तब सामने आई है जब पड़ोसी देश सेना से संयम बरतने का आग्रह कर रहे हैं।

00 आकर सीधे गोली मारने लगे
क्रिस्टिन श्रेनर का कहना है कि तख्तापलट के बाद से अब तक 50 लोगों की जान जा चुकी है और बड़ी संख्या में लोग ज़ख़्मी भी हुए हैं। क्रिस्टिन ने कहा, ``एक वीडियो में दिख रहा है कि पुलिस मेडिकल दल के निहत्थे लोगों को पीट रही है। एक फुटेज में दिख रहा है कि प्रदर्शनकारी को गोली मार दी गई और ऐसा लगता है कि यह सड़क पर हुआ है।``
क्रिस्टिन ने कहा, ``मैंने कुछ हथियार विशेषज्ञों से कहा है कि वे हथियारों की पहचान करें। स्पष्ट नहीं है लेकिन ऐसा लगा रहा है कि पुलिस के पास जो हथियार हैं वे 9एमएम सबमशीन गन्स हैं और ये लाइव बुलेट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं।``

सेव द चिल्ड्रेन का कहना है कि जिन लोगों को बुधवार को मारा गया है उनमें 14 और 17 साल के दो लड़के हैं। इनमें एक 19 साल की लड़की भी है। एक स्थानीय पत्रकार ने कहा कि मध्य म्यांमार के मोन्यवा में प्रदर्शन के दौरान छह लोगों के मारे जाने की ख़बर है और 30 लोग ज़ख़्मी हुए हैं।

एक मेडिकल स्वयंसेवी ने कहा कि मयींग्यान में कम से कम 10 लोगो ज़ख़्मी हुए हैं। इनका कहना है कि सेना आँसू गैस के गोले, रबर बुलेट और लाइव बुलेट का इस्तेमाल कर रही है। इसी शहर के एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ``ये हमें पानी की बौछारों से तितर-बितर नहीं कर रहे और न ही चेतावनी दे रहे। ये सीधे गोली दाग रहे हैं।``
मंडालय में एक प्रदर्शनकारी छात्र ने कहा कि उसके के पास प्रशर्नकारियों को मारा गया है। उन्होंने कहा, ``मुझे लगता है कि क़रीब 10 या 10.30 का वक़्त रहा होगा तभी सेना और पुलिस के जवान आए और हिंसक तरीक़े से लोगों पर गोलियाँ दागना शुरू कर दिया।`` इन मौत की रिपोर्ट पर सेना की तरफ़ से कोई बयान नहीं आया है।

00 दबाव के बावजूद सेना का रुख़ स्पष्ट
क्रिस्टिन श्रेनर ने कहा है कि यूएन म्यांमार के सैन्य अधिकारियों के ख़िलाफ़ कोई कड़ा फ़ैसला ले। पोप फ्रांसीस ने उत्पीड़न के बदले संवाद करने की आग्रह किया है। म्यांमार को लेकर पड़ोसी दक्षिण-पूर्वी एशिया के देशों के विदेश मंत्रियों ने विशेष बैठक की है।
हालांकि सबने संयम बरतने की सलाह दी है। कुछ ही मंत्रियों ने सैन्य शासकों से कहा कि आंग सान सू ची को रिहा कर दो। 75 साल की सू ची नज़रबंदी के बाद से पहली बार इस हफ़्ते की शुरुआत में कोर्ट में वीडियो लिंक के ज़रिए हाज़िर हई थीं।
सेना का कहना है कि तख़्तापलट नवंबर के आम चुनाव में धोखाधड़ी हुई थी और सू ची की नेशनल लीग फोर डेमोक्रेसी यानी एनएलडी को भारी बहुमत मिला था। लेकिन सेना इसके समर्थन में कोई साक्ष्य नहीं दिया है।

View More...

राष्ट्रपति बाइडन ने भारतीयअमेरिकी माजू वर्गीज को अपना उप सहायक और व्हाइट हाउस सैन्य कार्यालय का निदेशक नियुक्त

Date : 03-Mar-2021

वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारतीय-अमेरिकी माजू वर्गीज को अपना उप सहायक और व्हाइट हाउस सैन्य कार्यालय (डब्ल्यूएचएमओ) का निदेशक नियुक्त किया है।

इससे पहले वर्गीज बाइडन के चुनाव अभियान एवं शपथ ग्रहण समिति में भी अहम सदस्य के तौर पर काम कर चुके हैं। वर्गीज ने नियुक्ति की घोषणा के बाद व्हाइट हाउस के अराइवल लाउंज में खींची गई तस्वीर के साथ ट्वीट किया, माजू वर्गीज अब राष्ट्रपति के उप सहायक एवं व्हाइट हाउस सैन्य कार्यालय के निदेशक हैं। उन्होंने तस्वीर साझा करते हुए लिखा, प्राइमरी और आम चुनाव के बाद शपथग्रहण, इस यात्रा के लिए, शानदार टीम के लिए और हमने जो इतिहास बनाया, उसके लिए आभारी हूं। देश और राष्ट्रपति की सेवा कर सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं परिवार के साथ उन दरवाजों से दोबारा गुजर कर गौरवान्वित महसूस कर रहा हैं, उनकी कहानी और उम्मीदें मेरे साथ है।

उल्लेखनीय है कि डब्ल्यूएचएमओ व्हाइट हाउस में ही एक कार्यालय है जो व्हाइट हाउस के कामकाज के लिए सैन्य मदद मुहैया कराता है जैसे कि खाद्य सेवा, राष्ट्रपति के लिए परिवहन, चिकित्सा एवं सत्कार सेवा। डब्ल्यूएचएमओ निदेशक अमेरिका के राष्ट्रपति की दुनिया भर में यात्रा के दौरान एयरफोर्स वन (राष्ट्रपति का आधिकारिक विमान) में सभी सैन्य परिचालन देखता है।

उल्लेखनीय है कि वर्गीज का जन्म अमेरिका में ही हुआ है और उनके माता-पिता केरल के तिरुवला से यहां आए थे। उन्होंने मैसाच्युसेट्स विश्वविद्यालय से राजनीतिक शास्त्र एवं अर्थशास्त्र विषय में स्नातक किया है।

View More...

बैंकॉक में पुलिस एक कपल की कर रही तलाश, जो दिनदहाड़े पार्क में कर रहे थे सेक्स, कैमरे में कैद वीडियों

Date : 01-Mar-2021

बैंकॉक (एजेंसी)। थाइलैंड की राजधानी बैंकॉक में पुलिस एक ऐसे कपल की तलाश कर रही है जो पार्क में सेक्स करते हुए कैमरे में कैद हुआ है। वह भी उस समय जब कि कई बच्चे पार्क में खेल रहे होते हैं। इसी दौरान शहर के छाटुछक बाजार के पास वछिराबेनजातास पार्क में मौजूद रत्ताना नाम की एक महिला ने कपल की हरकत को मोबाइल कैमरे में कैद कर लिया। थाइलैंड में सार्वजनिक स्थान पर सेक्स करना अपराध है।

महिला के अनुसार उसने यह वीडियो इसलिए बना लिया ताकि अधिकारियों को सार्वजनिक स्थान पर सेक्स करने की शिकायत और ऐसे कपल को पकड़ने में मदद मिल सके। महिला ने बताया कि रिकॉर्डिंग शुरू करने से पहले यह और भी अश्लील था। दोनों भूल चुके थे कि वे एक पार्क में हैं। ऐसे लोगों को जरा भी समझ नहीं है।

पार्क में बच्चे थे और लोग टहल रहे थे। महिला ने कहा कि आसपास बच्चों के खेलने और लोगों के टहलने के बावूजद उनपर कोई असर नहीं पड़ा। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने पार्क में जांच की जहां उन्हें कॉन्डम का पैकेट मिला। फाहोन योथिल जिला पुलिस थाने के अधिकारी ने बताया कि अधिकारियों ने वीडियो देखा है और जांच में जुट गए हैं। उन्होंने कहा कि यह घटना 13 फरवरी की है, पार्क के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपियों की तलाश की जा रही है।

View More...

जापान के प्रधानमंत्री की जन सम्पर्क मामलों की प्रमुख माकिको यमादा ने दिया इस्तीफा

Date : 01-Mar-2021

टोक्यो (एजेंसी)। जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा की जन सम्पर्क मामलों की प्रमुख माकिको यमादा ने इस्तीफा दे दिया है। यमादा ने एक प्रसारक द्वारा उनके डिनर के लिए 70,000 येन (700 अमेरिकी डॉलर) यानि 51,278 भारतीय रुपए दिए जाने की बात स्वीकार की थी। 2019 के इस मामले पर हाल ही में संसद में उन्हें विपक्षी सांसदों ने घेरा था और इस संबंध में उनसे सोमवार को और सवाल भी किए जाने हैं। यमादा ने पहले कहा था कि उन्हें कुछ याद नहीं है या उन्हें स्थिति की पूर्ण जानकारी नहीं है।

प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा के संवाददाता सम्मेलन में सवाल पूछने के लिए पत्रकारों को चुनने की जिम्मेदारी भी यमादा की थी। इस मामले में प्रसारक `तोहोकुशिंशा फिल्म कोर` सवालों में है, जिसमें सुगा के बेटे काम करते हैं। इसने एक ऐसे राष्ट्र में वंशवाद का संदेह पैदा कर दिया है, जहां अच्छी नौकरी दुर्लभ ही बिना किसी जान-पहचान के मिल पाती है। भव्य भोज स्वीकार करना नौकरशाही की नैतिकता का बनाए रखने वाले नियमों का उल्लंघन है। मंत्रालय के अधिकारियों ने कथित तौर पर ऐसे कई भोज स्वीकार किए और साथ ही `कैब` का किराया भी लिया।

खबरों के अनुसार उक्त रात्रिभोज में शामिल हुए मंत्रालय के अन्य नौकरशाहों को दंडित किया गया है। वहीं `तोहोकुशिंश` के प्रमुख ने पिछले महीने ही इस्तीफा दे दिया था। सरकार के प्रवक्ता कैस्तसुदोबू कातो ने सोमवार को संसद को बताया कि यमादा ने इस्तीफा दे दिया है। वह पिछले दो सप्ताह से अस्पताल में भर्ती हैं और अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में सक्षम नहीं है। कातो ने बताया कि प्रधानमंत्री सुगा ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। हालांकि यमादा की बीमारी के संबंध में उन्होंने विस्तृत जानकारी नहीं दी।

View More...

ब्रिटेन की अदालत में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले में फैसला आज

Date : 25-Feb-2021

लंदन (एजेंसी)। नीरव मोदी भारत में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज मामलों के तहत आपराधिक कार्यवाही का सामना करना होगा। इसके अलावा कुछ अन्य मामले भी उसके खिलाफ भारत में दर्ज हैं।

पंजाब नेशनल बैंक से करीब 2 अरब डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में वांछित हीरा कारोबारी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण पर ब्रिटेन की एक अदालत आज फैसला सुनाएगी। नीरव मोदी फिलहाल लंदन की एक जेल में बंद है। 49 वर्षीय नीरव मोदी के दक्षिण-पश्चिम लंदन स्थित वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिये वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पेश होने की उम्मीद है। जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजी अपना फैसला सुनाएंगे कि हीरा कारोबारी के भारतीय अदालतों के समक्ष पेश होने के लिये कोई मामला है या नहीं।

मजिस्ट्रेट की अदालत के फैसले को इसके बाद ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के पास हस्ताक्षर के लिये भेजा जाएगा। हालांकि फैसले के आधार पर दोनों में से किसी एक पक्ष के उच्च न्यायालय में अपनी करने की भी संभावना है।
नीरव मोदी को प्रत्यर्पण वारंट पर 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार किया गया था और प्रत्यर्पण मामले के सिलसिले में हुई कई सुनवाइयों के दौरान वह वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिये शामिल हुआ था। जमानत को लेकर उसके कई प्रयास मजिस्ट्रेट अदालत और उच्च न्यायालय में खारिज हो चुके हैं क्योंकि उसके फरार होने का जोखिम है।

नीरव मोदी भारत में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज मामलों के तहत आपराधिक कार्यवाही का सामना करना होगा। इसके अलावा कुछ अन्य मामले भी उसके खिलाफ भारत में दर्ज हैं।

View More...
Previous123456789...3536Next