Business

Previous12345678Next

शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में आज नहीं हुआ कोई भी बदलाव

Date : 20-Oct-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में आज कोई भी बदलाव नहीं देखने को मिल रहा है। आज शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया स्थिरता के साथ 73.37 प्रति डॉलर के भाव पर खुला है। बीते सत्र में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 73.37 प्रति डॉलर के स्तर पर बंद हुआ था।

00 रुपये पर एक्सपर्ट का नजरिया
केडिया एडवाइजरी के मैनेजिंग डायरेक्टर अजय केडिया मुताबिक आज के कारोबार में रुपये में 73.50 के लक्ष्य के लिए 73.30 के भाव पर खरीदारी से फायदा है। रुपये के इस सौदे के लिए 73.15 का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए।
मोतीलाल ओसवाल के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अमित सजेजा के मुताबिक इंट्राडे में रुपया अक्टूबर वायदा में 73.60 के लक्ष्य के लिए 73.35 के भाव पर खरीदारी की जा सकती है। इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 73.20 का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है। आज के कारोबार में रुपये में 73.2-73.5 के दायरे में कारोबार की संभावना है।

एंजेल ब्रोकिंग डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (एनर्जी एवं करेंसी) अनुज गुप्ता के मुताबिक आज के कारोबार में रुपया अक्टूबर वायदा में 73.60 के भाव पर बिकवाली करके 73.10 का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं। रुपये के इस सौदे के लिए 73.80 का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं।
कार्वी कॉमट्रेड के हेड रिसर्च वीरेश हीरेमथ के मुताबिक इंट्राडे में रुपया वायदा में 73.50 के लक्ष्य के लिए 73.30 के भाव पर खरीदारी फायदे का सौदा साबित हो सकती है। इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 73.20 का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए।

(Disclaimer: निवेशक निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार की सलाह जरूर लें। वीएनएस की खबर को आधार मानकर निवेश करने पर हुए लाभ-हानि का वीएनएस से कोई लेना-देना नहीं होगा। निवेशक स्वयं के विवेक के आधार पर निवेश के फैसले लें)

View More...

सोने और चांदी की कीमतों में लगातार दूसरे दिन आई कमी

Date : 19-Oct-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। वैश्विक दरों से प्रभावित होकर भारत में आज सोने और चांदी की कीमतें कम हो गई हैं। एमसीएक्स पर दिसंबर के सोने की वायदा कीमत में लगातार दूसरे दिन गिरावट आई। आज यह 0.22 फीसदी फिसलकर 50437 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया जबकि चांदी वायदा 0.7 फीसदी गिरकर 61,250 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले सत्र में सोने में 0.3 फीसदी की गिरावट आई थी, जबकि चांदी में 0.2 फीसदी की तेजी दर्ज की गई थी। 

वैश्विक बाजारों में सोने की दरें आज स्थिर थीं, यह 1,900 डॉलर प्रति औंस पर रही। हाजिर सोना थोड़े बदलाव के साथ 1,900.21 डॉलर प्रति औंस पर था, जबकि चांदी 0.1 फीसदी बढ़कर 24.20 डॉलर प्रति औंस हो गई। मजबूत डॉलर सोने पर दबाव डालता है। अमेरिकी डॉलर, जो आमतौर पर एक सुरक्षित-संपत्ति के रूप में माना जाता है, वह छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले 93.735 पर रहा।

00 त्योहारी सीजन में बढ़ेगी मांग
भारत में इस साल वैश्विक स्तर के अनुरूप सोने की कीमतें 25 फीसदी बढ़ी हैं। विश्लेषकों को उम्मीद है कि अमेरिकी डॉलर और सामान्य बाजार जोखिम धारणा में तेजी के आधार पर सोने की कीमत में गिरावट बनी रहेगी। विश्लेषकों के उम्मीद जताई कि भारत में सोने की मांग त्योहारी सीजन में बढ़ेगी। सोना व्यापक प्रोत्साहन उपायों से प्रभावित होता है क्योंकि इसे व्यापक रूप से मुद्रास्फीति और मुद्रा में आई गिरावट के खिलाफ बचाव के रूप में देखा जाता है। 

00 भारत के पास इतना है सोने का भंडार
दुनिया के सबसे बड़े स्वर्ण-समर्थित एक्सचेंज-ट्रेड फंड, एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग शुक्रवार को 0.27 फीसदी गिरकर 1,272.56 टन रही। मालूम हो कि वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) की रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा समय में भारत के पास 653 मेट्रिक टन सोना है। इसके साथ ही सबसे ज्यागा गोल्ड रिजर्व के मामले में भारत दुनिया में 9वें स्थान पर आता है। 

View More...

शेयर बाजार कारोबार में सेंसेक्स 300 अंक से अधिक की बढ़त के साथ खुला, निफ्टी 11,800 अंक के पार

Date : 19-Oct-2020

मुंबई (एजेंसी)। वैश्विक बाजारों के सकारातमक रुख के बीच एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक के शेयरों में तेजी से सोमवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 300 अंक से अधिक की बढ़त के साथ खुला। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 322.40 अंक या 0.81 प्रतिशत की बढ़त के साथ 40,305.38 अंक पर पहुंच गया।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 85.80 अंक या 0.73 प्रतिशत के लाभ के साथ 11,848.25 अंक पर कारोबार कर रहा था। सेंसेक्स की कंपनियों में ओएनजीसी का शेयर सबसे अधिक करीब चार प्रतिशत चढ़ गया। एनटीपीसी, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, पावरग्रिड और नेस्ले इंडिया के शेयर भी लाभ में थे।
वहीं दूसरी ओर टीसीएस, टेक महिंद्रा, इन्फोसिस और सनफार्मा के शेयर नुकसान में थे।

पिछले कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 254.57 अंक या 0.64 प्रतिशत की बढ़त के साथ 39,982.98 अंक पर बंद हुआ था। इसी तरह निफ्टी 82.10 अंक या 0.70 प्रतिशत के लाभ से 11,762.45 अंक रहा था।

View More...

कोविड-19 महामारी के बीच मांग में गिरावट के चलते सोने के आयात में आई कमी

Date : 18-Oct-2020

नयी दिल्ली (एजेंसी)। सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) के दौरान 57 प्रतिशत घटकर 6.8 अरब डॉलर या 50,658 करोड़ रुपये रहा है। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। कोविड-19 महामारी के बीच मांग में गिरावट के चलते सोने के आयात में कमी आई है। उल्लेखनीय है कि सोने का आयात देश के चालू खाते के घाटे (कैड) को प्रभावित करता है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में सोने का आयात 15.8 अरब डॉलर या 1,10,259 करोड़ रुपये रहा था।

इसी तरह अप्रैल-सितंबर के दौरान चांदी का आयात भी 63.4 प्रतिशत घटकर 73.35 करोड़ डॉलर या 5,543 करोड़ रुपये रह गया। सोने और चांदी के आयात में कमी से देश का चालू खाते का घाटा कम हुआ है। आयात और निर्यात के अंतर को कैड कहा जाता है। अप्रैल-सितंबर में कैड घटकर 23.44 अरब डॉलर रह गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 88.92 अरब डॉलर रहा था।

भारत दुनिया के सबसे बड़े सोना आयातकों में से है। यहां सोने का आयात मुख्य रूप से आभूषण उद्योग की मांग को पूरा करने के लिए किया जाता है। भारत सालाना 800 से 900 टन सोने का आयात करता है। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में रत्न एवं आभूषणों का निर्यात 55 प्रतिशत घटकर 8.7 अरब डॉलर रहा।

View More...

तीन दिनों में आज पहली बार सोने के दाम में आई गिरावट, चांदी भी हुआ सस्ता

Date : 13-Oct-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। कमजोर वैश्विक दरों से आज भारतीय बाजारों में भी सोने और चांदी की कीमतों में कमी देखी गई। एमसीएक्स पर दिसंबर का सोना वायदा 0.55 फीसदी नीचे 50,826 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। तीन दिनों में आज पहली बार सोने के दाम में गिरावट आई, जबकि चांदी वायदा 1.2 फीसदी गिरकर 62,343 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले सत्र में सोने और चांदी की कीमत क्रमशः 0.55 फीसदी और 0.26 फीसदी बढ़ी थी। 

वैश्विक बाजारों की बात करें, तो आज सोना हाजिर 0.1 फीसदी फिसलकर 1,919.51 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.4 फीसदी गिरकर 25.02 डॉलर प्रति औंस हो गई, जबकि प्लैटिनम 873.46 डॉलर पर सपाट रहा। डॉलर सूचकांक प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले 0.09 फीसदी ऊपर था, जिससे अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोना महंगा हो गया। दुनिया के सबसे बड़े गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF), एसपीडीआर की होल्डिंग सोमवार को 0.48 फीसदी बढ़कर 1,277.65 टन रही।

अमेरिकी प्रोत्साहन पैकेज पर अनिश्चितता जारी रही। इस संदर्भ में कोटक सिक्योरिटीज ने कहा कि, `राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक महीने से भी कम समय है और आम सहमति के अभाव में, हमारा मानना है कि व्यापक सौदे की संभावना नहीं है। हालांकि, बाजार के विश्लेषकों को उम्मीद है कि चुनाव के बाद यह सौदा आसान हो सकता है।`

दुनिया भर में सरकारों और केंद्रीय बैंकों द्वारा अभूतपूर्व प्रोत्साहन उपायों ने इस साल सोने की कीमतों को बढ़ा दिया है। भारत में इस साल वैश्विक स्तर के अनुरूप सोने की कीमतें 29 फीसदी बढ़ी हैं। विश्लेषकों का कहना है कि डेमोक्रेट्स के अमेरिका में सत्ता में आने और वैश्विक आर्थिक सुधार पर अनिश्चितता कम होने से कीमती धातु को समर्थन मिलेगा। अगस्त में भारत में सोने का वायदा भाव 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया था।

00 गोल्ड बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,051 रुपये प्रति ग्राम
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गोल्ड बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,051 रुपये प्रति ग्राम तय किया है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना 2020-21 की श्रृंखला- सात अभिदान के लिए 12 अक्तूबर से 16 अक्तूबर तक खुली रहेगी। आरबीआई ने एक बयान में कहा कि, `बॉन्ड का मूल्य अभिदान अवधि से पिछले सप्ताह के आखिरी तीन कारोबारी दिनों में 999 शुद्धता वाले सोने के औसत बंद भाव के आधार पर 5,051 रुपये प्रति ग्राम है।` 

View More...

रिलायंस जियो देश में 40 करोड़ ग्राहक का आंकड़ा पार करने वाली बनी देश की पहली दूरसंचार सेवा कंपनी

Date : 13-Oct-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। रिलायंस जियो देश में 40 करोड़ ग्राहक का आंकड़ा पार करने वाली देश की पहली दूरसंचार सेवा कंपनी बन गयी है। दूर संचार विनियामक ट्राई की सोमवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने जुलाई में शुद्ध रूप से 35 लाख नए ग्राहक जोड़े हैं। रिपोर्ट के मुताबिक कुल देश में कुल दूरसंचार ग्राहकों की संख्या जुलाई में थोड़ी बढ़ कर 116.4 करोड़ हो गयी है। जुलाई में यह संख्या 116 करोड़ थी।

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) की ताजा रिपोर्ट के अनुसार जुलाई में मोबाइल फोन कनेक्शन बढ़ कर 114.4 करोड़ हो गए हैं। जून में यह संख्या 114 करोड़ थी। इनमें शहरी ग्रामीण क्षेत्र के कनेक्शन क्रमश: 61.9 करोड़ 52.1 करोड़ थे। स्थिर लाइन कनेक्शन की संख्या कई वर्ष बाद जुलाई में हल्की बढ कर 1,98,20,419 हो गयी। इसमें जियो अन्य निजी कंपनियों का बड़ा योगदान रहा। इस दौरान सरकारी क्षेत्र की भारत संचार निगम लि. एमटीएनएल तथा रिलायंस कम्यूनिकेशन्स तथा टाटा टेली सविसेज के स्थिर लाइन कनेक्शनों की संख्या में गिरावट का सिलसिला बना रहा।

00 रिलायंस जियो का हिस्सा 35.03 फीसदी पर पहुंचा
भारत के मोबाइल बाजार में रिलायंस जियो का हिस्सा 40,08,03,819 ग्राहकों के साथ 35.03 प्रतिशत पर पहुंच गया है। भारती एयरटेल ने जुलाई में 32.6 बीएसएनएल ने 3.88 लाख मोबाइल ग्रहक जोड़े। इसी दौरान वोडाफोन ने 37 लाख से अधिक एमटीएनएल ने 5,457 लाख मोबाइल ग्रहाक गंवाए। आलोच्य माह में ब्राडबैंड कनेक्शन की संख्या 1.03 प्रतिशत बढ़ कर 70.54 करोड़ हो गयी. जून में यह 69.82 करोड़ थी।

View More...

सप्ताह के पहले दिन बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, बजाज ऑटो, इंफोसिस के शेयरों में तेजी

Date : 12-Oct-2020

मुंबई (एजेंसी)। आज सप्ताह के पहले कारोबारी दिन यानी सोमवार को शेयर बाजार बढ़त के साथ खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स की शुरुआत 287.59 अंक ऊपर 40797.08 के स्तर पर हुई। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 80.05 अंकों की बढ़त के साथ 11829.70 के स्तर पर खुला।

पिछले कारोबरी दिन लगातार सातवें कारोबारी सत्र सेंसेक्स-निफ्टी मजबूती के साथ बंद हुए थे। सेंसेक्स 326.82 अंक ऊपर 40509.49 के स्तर पर बंद हुआ था और निफ्टी 79.60 अंक की बढ़त के साथ 11914.20 के स्तर पर बंद हुआ था। शुक्रवार को सेंसेक्स की शुरुआत 43.58 अंक ऊपर 40226.25 पर हुई थी और निफ्टी 17.45 अंकों की मामूली बढ़त के साथ 11852.05 के स्तर पर खुला था।

आज के प्रमुख शेयरों में बजाज ऑटो और श्री सीमेंट के अतिरिक्त सभी कंपनियों के शेयर की शुरुआत हरे निशान पर हुई। शीर्ष बढ़त वाले शेयरों में हिंडाल्को, इंफोसिस, टाटा स्टील, आईटीसी और एक्सिस बैंक शामिल हैं।

शुक्रवार को दुनिया भर के बाजार में तेजी देखने को मिली। अमेरिकी बाजार डाउ जोंस 161.39 अंक ऊपर 28,586.90 पर बंद हुआ था। वहीं, नैस्डैक भी 11,725.80 के स्तर पर बंद हुआ था। एसएंडपी 500 इंडेक्स 0.88% की बढ़त के साथ 30.30 अंक ऊपर 3,477.13 के स्तर पर बंद हुआ था।

View More...

घरेलू सर्राफा बाजार में सोने के हाजिर भाव में दर्ज की गई भारी गिरावट

Date : 08-Oct-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। घरेलू सर्राफा बाजार में बुधवार को सोने के हाजिर भाव में भारी गिरावट दर्ज की गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बुधवार को सोने के हाजिर भाव में 694 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट दर्ज की गई है। इस गिरावट से दिल्ली में सोने का भाव 51,215 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है। सिक्युरिटीज के अनुसार, भारतीय रुपये में मजबूती के चलते सोने के भाव में यह गिरावट दर्ज की गई है। गौरतलब है कि इससे पिछले सत्र में मंगलवार को सोना 51,909 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ था।

हालांकि, घरेलू सर्राफा बाजार में बुधवार को चांदी की कीमत में इजाफा हुआ है। सर्राफा बाजार में चांदी के भाव में 126 रुपये प्रति किलोग्राम की बढ़ोत्तरी हुई है। इस बढ़त से सर्राफा बाजार में चांदी की कीमत बढ़कर 63,427 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई है। गौरतलब है कि इससे पहले पिछले सत्र में मंगलवार को चांदी का भाव 63,301 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुआ था।

एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (कमोडिटीज) तपन पटेल ने बताया कि दिल्ली में 24 कैरेट सोने के हाजिर भाव में भी बुधवार को भारतीय रुपये में मजबूती के चलते 694 रुपये की गिरावट दर्ज की गई है।

भारतीय रुपया बुधवार को घरेलू शेयर बाजारों के सकारात्मक रहने और विदेशी फंड की आवक के चलते एक डॉलर के मुकाबले 13 पैसे की मजबूती के साथ 73.33 पर बंद हुआ है।
वहीं, अतरराष्ट्रीय बाजार की बात करें, तो बुधवार को सोना बढ़त के साथ और चांदी स्थिर ट्रेंड करती दिखी। सोना बुधवार को 1892 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड करता दिखाई दिया। उधर चांदी 23.73 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड करती देखी गई।

View More...

शेयर बाजार खुला मामूली गिरावट पर, सेंसेक्स 39500 के पार, टीसीएस, रिलायंस के शेयरों में तेजी

Date : 07-Oct-2020

मुंबई (एजेंसी) । लगातार चार दिनों से बढ़त पर बंद होने के बाद आज सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन यानी बुधवार को शेयर बाजार मामूली गिरावट पर खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स की शुरुआत 23.59 अंक यानी 0.06 फीसदी नीचे 39550.98 के स्तर पर हुई। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 0.01 फीसदी यानी 1.50 अंकों की मामूली गिरावट के साथ 11660.90 के स्तर पर खुला।

दिग्गज शेयरों की बात करें, तो आज टीसीएस, रिलायंस, एसबीआई लाइफ और भारती एयरटेल के शेयर हरे निशान पर खुले। वहीं इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, बजाज फिन्सर्व, टाटा मोटर्स और इंफोसिस की शुरुआत लाल निशान पर हुई।

सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो आज एफएमसीजी और मीडिया के अतिरिक्त सभी सेक्टर्स गिरावट के साथ खुले। इनमें आईटी, फार्मा, पीएसयू बैंक, रियल्टी, फाइनेंस सर्विसेज, मेटल, ऑटो, बैंक और प्राइवेट बैंक शामिल हैं। प्री ओपन के दौरान सुबह 9.02 बजे सेंसेक्स 74.06 अंक यानी 0.19 फीसदी की बढ़त के बाद 39648.63 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी 41.70 अंक यानी 0.36 फीसदी ऊपर 11704.10 के स्तर पर था।

पिछले कारोबरी दिन घरेलू शेयर बाजार बढ़त पर बंद हुआ था। सेंसेक्स 1.54 फीसदी की बढ़त के साथ 600.87 अंक ऊपर 39574.57 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 1.38 फीसदी (159.05 अंक) की बढ़त के साथ 11662.40 के स्तर पर बंद हुआ था।
मंगलवार को शेयर बाजार हरे निशान पर खुला था। सेंसेक्स की शुरुआत 365.72 अंक यानी 0.94 फीसदी ऊपर 39339.42 के स्तर पर हुई थी और निफ्टी 0.96 फीसदी यानी 109.85 अंकों की बढ़त के साथ 11613.30 के स्तर पर खुला था।

View More...

आज डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे की मजबूती के साथ 73.16 रुपये के स्तर पर खुला

Date : 06-Oct-2020

नई दिल्ली (एजेंसी)। डॉलर के मुकाबले रुपया आज मंगलवार यानी 6 अक्टूबर 2020 को मजबूती के साथ खुला। आज डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे की मजबूती के साथ 73.16 रुपये के स्तर पर खुला। वहीं, सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे की कमजोरी के साथ 73.29 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।

00 पिछले 5 दिनों के रुपये का क्लोजिंग स्तर
-सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे की कमजोरी के साथ 73.29 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।
-गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 62 पैसे की मजबूती के साथ 73.14 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।
-बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 9 पैसे की मजबूती के साथ 73.76 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।
-मंगलवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 8 पैसे की कमजोरी के साथ 73.85 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।
-सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 17 पैसे की कमजोरी के साथ 73.78 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।

00 आजादी के समय रुपये का स्तर
एक जमाना था जब अपना रुपया डॉलर को जबरदस्त टक्कर दिया करता था। जब भारत 1947 में आजाद हुआ तो डॉलर और रुपये का दाम बराबर का था। मतलब एक डॉलर बराबर एक रुपया था। तब देश पर कोई कर्ज भी नहीं था। फिर जब 1951 में पहली पंचवर्षीय योजना लागू हुई तो सरकार ने विदेशों से कर्ज लेना शुरू किया और फिर रुपये की साख भी लगातार कम होने लगी। 1975 तक आते-आते तो एक डॉलर की कीमत 8 रुपये हो गई और 1985 में डॉलर का भाव हो गया 12 रुपये। 1991 में नरसिम्हा राव के शासनकाल में भारत ने उदारीकरण की राह पकड़ी और रुपया भी धड़ाम गिरने लगा।

00 डिमांड सप्लाई तय करता है भाव
करेंसी एक्सपर्ट के अनुसार रुपये की कीमत पूरी तरह इसकी डिमांड और सप्लाई पर निर्भर करती है। इंपोर्ट और एक्सपोर्ट का भी इस पर असर पड़ता है। हर देश के पास उस विदेशी मुद्रा का भंडार होता है, जिसमें वो लेन-देन करता है। विदेशी मुद्रा भंडार के घटने और बढ़ने से ही उस देश की मुद्रा की चाल तय होती है। अमरीकी डॉलर को वैश्विक करेंसी का रुतबा हासिल है और ज्यादातर देश इंपोर्ट का बिल डॉलर में ही चुकाते हैं।

00 पहली वजह है तेल के बढ़ते दाम
रुपये के लगातार कमजोर होने का सबसे बड़ा कारण कच्चे तेल के बढ़ते दाम हैं। भारत कच्चे तेल के बड़े इंपोर्टर्स में एक है। भारत ज्यादा तेल इंपोर्ट करता है और इसका बिल भी उसे डॉलर में चुकाना पड़ता है।

00 दूसरी वजह विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली
विदेशी संस्थागत निवेशक भारतीय शेयर बाजारों में अक्सर जमकर बिकवाली करते हैं। जब ऐसा होता है तो रुपये पर दबाव बनता है और यह डॉलर के मुकाबले टूट जाता है।

View More...
Previous12345678Next