Life Style

Previous12345678Next

इस दिशा में भूलकर भी ने सोय शादीशुदा महिलाएं, जीवन साथी संग होने लगते है झगडे, पड़ सकता कई मुश्किलों का सामना

Date : 24-Sep-2022

न्युज डेस्क (एजेंसी)। हमारे जीवन में वास्तु शास्त्र का बहुत महत्व होता है. वास्तु के अनुसार अगर जीवन में सब किया जाए तो परेशानियां भी काम होती है. वास्तु शास्त्र में सोने की दिशा को लेकर भी कुछ महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं. वास्तु के अनुसार, कुछ खास दिशाओं में पैर करके सोने से इंसान का दुर्भाग्य प्रबल होता है और जीवन में परेशानियां बढ़ने लगती हैं. आइए आज आपको बताते हैं कि घर में वो कौन सी खास दिशाएं होती हैं, जहां लोगों को पैर करके सोने से बचना चाहिए.

सोते वक्त इस दिशा में ना करें पैर

वास्तु के अनुसार, हमें कभी भी दक्षिण दिशा की ओर पैर करके नहीं सोना चाहिए. इसे यमराज की दिशा माना जाता है. ऐसा कहते हैं कि इस दिशा में पैर करके सोने से यम देव नाराज हो जाते हैं जिसका असर हमारे स्वास्थ्य और उम्र दोनों पर पड़ सकता है. बुजुर्ग और अस्वस्थ लोगों को इस बात का विशेष ख्याल रखना चाहिए. दक्षिण दिशा में सिर करके सोना बहुत उत्तम माना जाता है.

कुंवारी लड़कियां इस दिशा में ना रखें पैर 

वास्तु शास्त्र के अनुसार, अविवाहित कन्याओं को दक्षिण-पश्चिम दिशा में पैर करके सोने से बचना चाहिए. कन्याओं के लिए इस दिशा में पैर करके सोना शुभ नहीं माना जाता है. हालांकि विवाह योग्य कन्याओं के लिए उत्तर की ओर पैर करके सोना शुभ होता है.

शादीशुदा महिलाएं इस दिशा में ना रखें पैर 

ऐसी मान्यताएं हैं कि शादीशुदा महिलाओं को वायव्य कोण में नहीं सोना चाहिए. यह उत्तर और पश्चिम के बीच का स्थान होता है. ऐसा कहते हैं कि इस दिशा में सोने से महिलाएं अलग घर बसाने का सपना देखने लगती हैं.

View More...

क्या आपभी है बढ़ते वजन से परेशान, तो जरूर अपनाये ये सिंपल टिप्स

Date : 19-Sep-2022

नई दिल्ली (एजेंसी)। खराब लाइफस्टाइल, अस्वस्थ खान-पान और कुछ बीमारियां मोटापे का कारण बन सकती हैं। आजकल अधिकतर लोग मोटापे की समस्या से परेशान हैं। हर कोई फिट और हेल्दी रहना चाहता है, इसलिए वे वजन घटाने के लिए तमाम कोशिशें करते हैं। कई लोग वजन घटाने के लिए अच्छी डाइट लेते हैं, साथ ही जिम में पसीना भी बहाते हैं। फिर भी वजन नहीं घटता है. ऐसे में आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम यहां आपको बताएंगे कि आपको वजन कम करने के लिए किन टिप्स को फॉलो करना चाहिए, जिससे आपका वजन आसानी से घट सकें।

वजन कम करने के लिए अपनाएं ये उपाय-

ज्यादा पानी पिएं-

ज्यादा पानी पीने से आपको हाइड्रेटेड और हेल्दी रहने में मदद मिलेगी. वहीं आप आपका वजन भी कम होता है.इसलिए आपको दिन में कम से कम 8 गिलास पानी जरूर पानी पीना चाहिए. बता दें पानी पीने से आपकी बॉडी हाइड्रेट रहती हैं जिसकी वजह से आप अपना वजन आसानी से घटा लेते हैं.

अच्छी नींद-

वजन घटाने के लिए सिर्फ डाइट ही नहीं बल्कि अच्छी नीद भी बहुत जरूरी है.जी हां आपका शरीर कैसे काम करता है और आपका शरीर क्या चाहता है इसके लिए आराम और नींद दोनों बहुत जरूरी हैं. जब आप अच्छी नींद लेते हैं तो आपके पास दिन के दौरान ज्यादा एनर्जी होती है ऐसे में आपका चीने खाने का मन काफी हद तक कम होता है.इसलिए अगर आप फिट रहना चाहते हैं और अपना मोटापा कम करना चाहते हैं तो आप अच्छी नींद लें.

अपना खाना खुद पकाएं-

वजन घटाने और हेल्दी खाना खाने का सबसे आसान तरीका है कि आप अपना खाना खुद बनाएं. अपना खुद का बना खाना खाने से आप क्वालिटी पर पूरा ध्यान रखते हैं. ऐसा करने से आपको वजन कम करने में भी मदद मिलती है.

शक्कर की मात्रा-

हेल्दी रहने के लिए खाने में शक्कर की मात्रा खाने में कम करनी होगी. वहीं अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आप शक्कर से बनी चीजों का इस्तेमाल न करें.

View More...

क्या आपभी हैं दोमुंहे बालों की समस्‍या से परेशान, आज से ही आजमाए ये आसान उपाय

Date : 17-Sep-2022

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। आजकल काफी लोग बालों की समस्याओं से परेशान रहते हैं, इसमें बच्चे बूढ़े और युवा हर एज ग्रुप के इंसान शामिल हैं. अगर हम अनहेल्दी फूड हैबिट्स और गड़बड़ लाइफस्टाइल फॉलो करेंगे तो ऐसी समस्या का होना लाजमी हैं, लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि तमाम कोशिशों के बाद भी इन दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. आज हम बात कर रहे हैं दोमुंहे बालों की जिससे यंग एज ग्रुप के लोगों को खास तौर पर परेशान हो रहे हैं, आइए जानते हैं कि इससे छुटकारा कैसे पाया जा सकता है.

इन चीजों की मदद से बनाए हेयर मास्क

दोमुंहे बालों की समस्या दूर करने के लिए आपको 3 चीजें चाहिए. इसके लिए नारियल तेल, रतनजोत पाउडर, आंवला पाउडर और करीब करी पत्ते को मिक्स कर लें. ये सिर्फ बालों के लिए ही नहीं बल्कि स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद है.

हेयर मास्क बनाने का तरीका

दोमुंहे बालों से छुटकारा पाने के लिए सबसे पहले आप लोहे के पैन में 3 बड़े चम्मच नारियल तेल को गर्म करें, फिर इसे 10 से 15 करी पत्ते को मिलाएं. अब रतनजोत पाउडर और आंवला पाउडर को भी मिक्स कर लें. इसके बाद इसे पूरी रात ढ़ककर रख दें और अगली सुबह इस मिक्सचर को छन्नी से छान लें और फिर हल्की आंच में गर्म कर लें

कैसे करें इस्तेमाल?

इस खास हेयर मास्क को इस्तेमाल करने का तरीका बेहद आसान है और इसके लिए ज्यादा मशक्कत भी नहीं करनी पड़ेगी. इस मिक्चर को बालों की जड़ों से लेकर टिप चक लगाएं और फिर ऐसे ही छोड़ दें. अगले दिन सुबह इसे साफ पानी और शैम्पू की मदद से लगाएं. हफ्ते में 2 बार इस प्रॉसेस को अपनाएंगे तो दोमूंहे बालों से निजात मिल जाएगी.

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. हम इसकी पुष्टि नहीं करते है.

View More...

फटी एड़ियों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये दो असरदार उपाय, मिलेगा आराम

Date : 17-Sep-2022

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। जब आपके पैरों के तलुओं और एड़ी की सेंसिटिव स्किन रूखी हो जाती हैं तो यह फटकर खुल जाती है और उनमें छोड़ जाती है दर्द भरी दरारें, जिसके कारण चलते समय आपके पैरों में दर्द होता है और इनका इलाज कभी-कभी काफी मुश्किल भी हो जाता हैं. एड़ियों का फटना एक आम परेशानी है. कास्मेटिक के इस्तेमाल से एड़ियों का फटना एक दर्दनाक बीमारी बन गयी है.

आप भी अगर फटी एड़ियों से परेशान हैं और कई उपाय अपना कर देख चुके हैं लेंकिन उसका कोई फायदा नहीं मिल रहा तो घबराए नहीं. जी हां, आज हम आपके लिए दो कारगर उपाय लेकर आए हैं जिन्हें अपना कर आप एड़ियों के दरार को तो कम कर ही पाएंगे साथ ही दर्द से भी आपको काफी आराम मिलेगा. आइए जानते हैं इन उपायों को.

एवोकोडो और केले का फूट मास्क घर पर करें तैयार

एवोकाडो में पाया जाने वाला विटामिन ई, ए और ओमेगा फैटी एसिड़स चोट को ठीक करने में मदद करती है. वहीं केला स्किन को मुलायम बनाने का काम करती है. फटी एड़ियों को ठीक करने के लिए इन दोनों का कॉम्बिनेशन बिलकुल सही है.

फुट मास्क बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

छिला केला 1
एवोकाडो आधा

मास्क बनाने का तरीका

केला और एवोकाडो को एक साथ मिक्सी में ब्लेंड कर लें. अब इस पेस्ट को पैर में जहां जहां दरार आए हैं वहां वहां लगा लें. 20 मिनट के बाद इसे हल्के गर्म पानी से धोलें. इसे आप रोज अप्लाई कर सकते हैं.

पेट्रोलियम जैली का कर सकते हैं इस्तेमाल

फटी एड़ियों पर पेट्रोलियम जैली काफी कारगर है. यह आपकी स्किन को मुलायम तो बनाती ही है साथ ही हाइड्रेट रखने में मदद करती है.

फुट मास्क बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

वैसलीन 1 चम्मच
मॉइश्चराइजर
फुट स्क्रब
गुनगुना पानी

फुट मास्क बनाने का तरीका

सबसे पहले अपने पैरों को गर्म पानी में भिगो कर कुछ देर के लिए रखें. अब अपने पैरों को फुट स्क्रब की मदद से साफ कर लें. अब अपने पैरों को साफ कर के अच्छे से सुखा लें. इसके बाद पैरों में मॉइश्चराइजर लगा लें. अब इसी पर से वैसलीन लगा लें. अब पैरों में जुराब पहन लें. कोशिश करें कि इस विधि को आप रात को सोने से पहले करें.

नोट– उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सिर्फ सामान्‍य सूचना के लिए है हम इसकी पुष्टि नहीं करते हैं. इन्‍हें अपनाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें.

View More...

योगाभ्यास करने में हो रही मुश्किलें, तो ये है 5 बेस्ट बिगनर्स योग

Date : 06-Sep-2022

हेल्थ न्युज (एजेंसी)। भारत और दूसरे देशों में योग का इतिहास गहरा है। अब तक बड़े बड़े योग गुरुओं ने कई मंचों से योग के प्रति जागरूकता पैदा की है। हर चीज़ को संक्षिप्त में जान पाना कई बार संभव नहीं हो पाटा है क्योंकि योग विज्ञान में 300 से अधिक आसनों के बारें वर्णन है।

अगर आप भी योग करना कुछ समय पहले ही शुरू किया है या पहली बार योग्याभ्यास शुरू करने जा रहे हैं। शुरुआत में भले ही आपको कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़े मगर धीरे-धीरे आप आदत बना लेंगे। ऐसे कई योगासन हैं जिन्हें सीखना आपके लिए जरूरी है, ताकि आप आसानी से इन्हें कर सकें। फिर चाहें आप किसी योग क्लास या घर में योग कर रहे हों या अपनी ऑफिस चेयर पर योग कर रहे हों।

इन आसन को करने के लिए शरीर को उनके अनुकूल बनाना पड़ता है। किसी योगी की योग यात्रा को शुरू करने के लिए इन आसनों की शुरुआत का ही बड़ा ​महत्व बताया गया है। आज हम आपको कुछ ऐसे बिगिनर्स योग के 5 आसनों के बारे में बताने जा रहे है, जिन्हे अगर आप रोज 5-10 सांस लेने और छोड़ने तक भी करते रहेंगे तो, ये बाकी योगासनों के अभ्यास के लिए आपके शरीर और मन को तैयार करने में मदद करेंगे।

बिगिनर्स के लिए योगासन 

1. अधोमुख श्वानासन 

अधोमुख श्वानासन योग विज्ञान का बहुत ही महत्वपूर्ण आसन है। योग गुरु और योग शिक्षक, योग सीखने की इच्छा रखने वालों को सबसे पहले इसी योगासन का अभ्यास करने की सीख देते हैं। अधोमुख श्वानासन पूरे शरीर को अच्छा खिंचाव और मजबूती देता है।

जैसे एक सेब रोज खाने से डॉक्टर घर नहीं आता है। वैसे ही रोज अधोमुख श्वानासन का अभ्यास करने से भी डॉक्टर और बीमारियां आपसे दूर रहते हैं। इस आसन के अभ्यास से आप स्ट्रेस, एंग्जाइटी, डिप्रेशन और अनिद्रा/इंसोम्निया जैसी समस्याओं से भी दूर रहते हैं।

अधोमुख श्वानासन करने की विधि :

योग मैट पर पेट के बल लेट जाएं।
सांस खींचते हुए पैरों-हाथों के बल शरीर को उठाएं और टेबल जैसी आकृति बनाएं।
सांस को बाहर निकालते हुए धीरे-धीरे हिप्स को ऊपर की तरफ उठाएं।
अपनी कुहनियों और घुटनों को सख्त बनाए रखें।
तय करें कि शरीर उल्टे ‘V’ के आकार में आ जाए।
इस आसन के अभ्यास के दौरान कंधे और हाथ एक सीध में रहें।
पैर हिप्स की सीध में रहेंगे। ध्यान रहे कि आपके टखने बाहर की तरफ रहेंगे।
अब हाथों को नीचे जमीन की तरफ दबाएं।
गर्दन को लंबा खींचने की कोशिश करें।
आपके कान आपके हाथों के भीतरी हिस्से को छूते रहें।
अपनी निगाह को नाभि पर केन्द्रित करने की कोशिश करें।
कुछ सेकेंड्स तक रुकें और उसके बाद घुटने जमीन पर टिका दें।
मेज जैसी स्थिति में​ फिर से वापस आ जाएं।
अधोमुख श्वानासन योग करने का सही तरीका, फायदे और सावधानियां।

2. वृक्षासन 

पेड़ की तरह खड़े रहकर और संतुलन बनाकर किया जाने वाला वृक्षासन बिगिनर्स के लिए बेहद शानदार आसन है। ये आसन योगी को फोकस बढ़ाने और संतुलन हासिल करने में मदद करता है। इस आसन के अभ्यास के दौरान आप सांसों को संतुलित करना सीखते हैं और एक पैर पर शरीर का संतुलन साधना भी सीखते हैं। ये आसन आपको कोर से मजबूत बनाने में मदद करता है।

वृक्षासन करने की विधि :

योग मैट पर सावधान की मुद्रा में सीधे खड़े हो जाएं।
दोनों हाथ को जांघों के पास ले आएं।
धीरे-धीरे दाएं घुटने को मोड़ते हुए उसे बायीं जांघ पर रखें।
बाएं पैर को इस दौरान मजबूती से जमीन पर जमाए रखें।
बाएं पैर को एकदम सीधा रखें और सांसों की गति को सामान्य करें।
धीरे से सांस खींचते हुए दोनों हाथों को ऊपर की तरफ उठाएं।
दोनों हाथों को ऊपर ले जाकर ‘नमस्कार’ की मुद्रा बनाएं।
दूर रखी किसी वस्तु पर नजर गड़ाए रखें और संतुलन बनाए रखें।
रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें। शरीर मजबूत के साथ ही लचीला भी रहेगा।
गहरी सांसें भीतर की ओर खींचते रहें।
सांसें छोड़ते हुए शरीर को ढीला छोड़ दें।
धीरे-धीरे हाथों को नीचे की तरफ लेकर आएं।
अब दायीं टांग को भी जमीन पर लगाएं।
वैसे ही खड़े हो जाएं जैसे आप आसन से पहले खड़े थे।
इसी प्रक्रिया को अब बाएं पैर के साथ भी दोहराएं।
वृक्षासन योग करने का सही तरीका, फायदे और सावधानियां।

3. पश्चिमोत्तानासन 

पश्चिमोत्तानासन योग विज्ञान का बेहद महत्वपूर्ण आसन है। इस आसन को बैठकर और सामने की तरफ झुककर किया जाता है। इसके अभ्यास से हैमस्ट्रिंग, पीठ के निचले और ऊपरी हिस्से के साथ ही साइड्स को भी अच्छा स्ट्रेच मिलता है। पश्चिमोत्तानासन हर उस योगी के लिए बेहतरीन आसन है जिसने हाल ही में योग का अभ्यास शुरू किया है।

पश्चिमोत्तानासन करने की विधि :

जमीन पर दोनों पैरों को एकदम सीधे फैलाकर बैठ जाएं।
दोनों पैरों के बीच में दूरी न हो और जितना संभव हो पैरों को सीधा रखें।
इसके साथ ही गर्दन, सिर और रीढ़ की हड्डी को भी सीधा रखें।
इसके बाद अपनी दोनों हथेलियों को दोनों घुटनों (Knees) पर रखें।
अब अपने सिर और धड़ (Trunk) को धीरे से आगे की ओर झुकाएं।
घुटनों को बिना मोड़े हाथों से पैरों की उंगलियों को छूने की कोशिश करें।
गहरी श्वास लें और धीरे से श्वास को छोड़ें।
अपने सिर और माथे को दोनों घुटनों से छूने की कोशिश करें।
बांहों को झुकाएं और कोहनी ((Elbow) से जमीन को छूने की कोशिश करें।
श्वास को पूरी तरह छोड़ दें और इसी मुद्रा में कुछ देर तक बने रहें।
कुछ सेकेंड के बाद वापस पहली वाली मुद्रा में आ जाएं।
अब सामान्य रूप से श्वास लें और इस आसन को 3 से 4 बार दोहराएं।
पश्चिमोत्तानासन : जानिए करने का तरीका, फायदे और सावधानियां

4. सेतु बंधासन 

सेतु बंधासन, असल में अधोमुख श्वानासन का विपरीत आसन है। अधोमुख श्वानासन में जहां शरीर को आगे की तरफ से झुकाया जाता है। वहीं सेतु बंधासन में शरीर को पीछे की तरफ से झुकाया जाता है। इस आसन को उन योगियों के लिए बेस्ट माना जाता है जिन्होंने हाल ही में योग का अभ्यास शुरू किया है।

सेतु बंधासन करने की विधि :

योग मैट पर पीठ के बल लेट जाएं। सांसो की गति सामान्य रखें।
इसके बाद हाथों को बगल में रख लें।
अब धीरे-धीरे अपने पैरों को घुटनों से मोड़कर हिप्स के पास ले आएं।
हिप्स को जितना हो सके फर्श से ऊपर की तरफ उठाएं। हाथ जमीन पर ही रहेंगे।
कुछ देर के लिए सांस को रोककर रखें।
इसके बाद सांस छोड़ते हुए वापस जमीन पर आएं।
पैरों को सीधा करें और विश्राम करें।
10-15 सेकेंड तक ​आराम करने के बाद फिर से शुरू करें।
सेतु बंधासन : जानिए करने की विधि, लाभ और सावधानियां

5. बालासन 

योग करने के बाद एक अवस्था ऐसी भी आती है जब योगी को विश्राम की आवश्यकता पड़ती है। ऐसी अवस्था में योगी विश्राम पाने और शरीर की थकान को दूर करने के लिए बालासन का अभ्यास करते हैं। बालासन न सिर्फ बिगिनर्स बल्कि हर स्तर के योगियों का सर्वश्रेष्ठ आसन है।

बालासन करने की विधि :

योग मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं।
दोनों टखनों और एड़ियों को आपस में छुआएं।
धीरे-धीरे अपने घुटनों को बाहर की तरफ जितना हो सके फैलाएं।
गहरी सांस खींचकर आगे की तरफ झुकें।
पेट को दोनों जांघों के बीच ले जाएं और सांस छोड़ दें।
कमर के पीछे के हिस्से में त्रिकास्थि/सैक्रम (sacrum) को चौड़ा करें।
अब कूल्हे को सिकोड़ते हुए नाभि की तरफ खींचने की कोशिश करें।
इनर थाइज या भीतर जांघों पर स्थिर हो जाएं।
सिर को गर्दन के थोड़ा पीछे से उठाने की कोशिश करें।
टेलबोन को पेल्विस की तरफ खींचने की कोशिश करें।
हाथों को सामने की तरफ लाएं और उन्हें अपने सामने रख लें।
दोनों हाथ घुटनों की सीध में ही रहेंगे।
दोनों कंधों को फर्श से छुआने की कोशिश करें।
आपके कंधों का खिंचाव शोल्डर ब्लेड से पूरी पीठ में महसूस होना चाहिए।
इसी स्थिति में 30 सेकेंड से लेकर कुछ मिनट तक बने रहें।
धीरे-धीरे फ्रंट टोरसो को खींचते हुए सांस लें।
पेल्विस को नीचे झुकाते हुए टेल बोन को उठाएं और सामान्य हो जाएं।
बालासन योग करने का सही तरीका, फायदे और सावधानियां

View More...

सोने से पहले भूलकर भी ना करें ये काम

Date : 06-Sep-2022

रायपुर। हम सभी को सोने से फेल और उठने के बाद कुछ एहम हिजो का ध्यान रखना होता हैं जिससे हमारा दिनचर्या अच्छे से बीत सकें। आज के भाग दौड़ भरी लाइफस्टाइल में नींद पूरी ना होने से सीधे तौर पर व्यक्ति को थकान रहती है। फिर धीरे धीरे ये समस्या गंभीर बीमारियों के रूप में विकसित होने लगती हैं। लेकिन हमें कुछ ऐसी चीज़ों को फॉलो करने की जरुरत हैं जिससे सेहत पर कोई दुष्प्रभाव ना पड़े। तो चलिए जानते हैं वो आदतें जिनसे हमें बचना हैं।

जंक फूड से बचें

जैसे जैसे हमारी व्यस्तताएं बढ़ती जा रही हैं, वैसे वैसे दिनचर्या में जंकफूड का सेवन भी बढ़ता जा रहा है। जंक फूड का अधिक सेवन वैसे ही हमारे स्वास्थ के लिए ठीक नहीं होता, वहीं, रात के खाने में जंक फूड का सेवन सेहत के लिए और भी घातक साबित हो सकता है। यह आपको परेशानी में डाल सकता है। इसके सेवन से एक तो आपकी नींद प्रभावित होगी वहीं, आपका वज़न भी तेजी से बढ़ेगा। इसलिए रात में हमें हमेशा सादा और संतुलित भोजन ही करना चाहिए।

खाने के तुरंत बाद सोने से बचें

अक्सर काम में व्यस्तता के चलते लेट घर आने वाले लोग खाना खाने के तुरंत बाद ही थकान के कारण सोने चले जाते हैं। ऐसी स्थिति में हमारा खाया हुआ भोजन हमें काफी नुकसान पहुंचा सकता है। रात को खाना खाते ही सोने की आदत रहने वालों वज़न तो बढ़ता ही है, साथ ही उन्हें एसिडिटी की समस्या भी रहने लगती है। इसके अलावा मेटाबॉलिज्म भी धीमा हो जाता है। हमेशा याद रखें कि, रात का भोजन करने से सोने के बीच में कम से कम 3 घंटे का समय रहना चाहिए।

ज्यादा भोजन करने से बचें

अकसर ये भी देखा गया है कि, ज्यादा काम के कारण लोग दिन में भरपेट खाना नहीं खाते, कुछ लोग तो दिन में खाना ही नहीं खाते। इनमें कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो तुरत-फुरत जंक फूड खाकर ही दिन गुजार लेते हैं, पर ऐसे लोगों को दिनभर में एक समय तो पेट भर भोजन करने की आवश्यक्ता रहती ही है। ऐसे में काम से घर लौटकर ये दिन की कसर भी पूरी करते हुए भरपेट भोजन कर लेते हैं। लेकिन, रात के समय कभी भी ना तो भारी या गरिष्ठ भोजन करना चाहिए और ना ही पेट भरके भोजन करना चाहिए। रात में अधिक भोजन करने से हमारे शरीर में कैलोरीज की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे वजन तो बढ़ता ही है, साथ में डाइबिटीज़ और हार्ट से संबंधित बीमारियों का खतरा भी काफी हद तक बढ़ जाता है।

खाने के बाद चाय पीना बुरी आदत

अकसर लोगों को खाना खाने के बाद चाय पीने की आदत होती है। भोपाल में तो जैसे इसका खास ट्रेंड है। खाने का बाद चाय पीने के पीछे लोगों का तर्क ये भी होता है कि, इससे मूंह की गरिष्ठता और ऑइल साफ हो जाता है, जिसके कारण बार बार प्यास नहीं लगती। लेकिन मेडिकल साइंस खाने के बाद चाय या कॉफी पीने को गलत ठहराता है। उसके मुताबिक खाना खाने के बाद मूंह की ग्रंथियों से एक खास तरह की लार विकसित होती है, जिसे एसिड भी कहते हैं। ये पेट में जाकर उसमें मौजूद खाने को पचाने का काम करती है, लेकिन चाय में मिश्रित शुगर और पत्ती में मिश्रित निकोटिन पेट में ग्लूकोज़ की मात्रा बढ़ा देता है, जिसके कारण एसिड खाने को पचाने में असमर्थ हो जाता है। इसके कारण कुछ दिनों में व्यक्ति को अपच की समस्या होने लगती है।

खाना खाने के बाद ना सोएं सीधे

कई लोगों की आदत होती है कि, वो सोते समय एकदम सीधे या उल्टे होकर सोते हैं। रात में खाना खाकर सीधे या उल्टे सोने से खाना पेट में एक ही जगह जमा रह जाता है। जिसके कारण ये ठीक तरह से पच नहीं पाता। खाने का सही पाचन न होने के कारण पेट की कई बिमारियां हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि, खाना खाने के बाद कम से कम 15 मिनट ज़रूर टहलना चाहिए। साथ ही, सोते समय हमें सीधे हाथ की ओर करवट करके सोना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि, हमारे शरीर में मौजूद दिल, लिवर और खाने की थेली इत्यादि अंग शरीर के बाएं हिस्से में होते हैं। इसलिए जब हम सीधी तरफ करवट करके सोते हैं, तो ये सभी अंग बाएं और आ जाते हैं, जिससे इनके दायित्वों में गति आती है और ये पर्याप्त काम करते हैं।

View More...

चेहरे पर जिद्दी ब्‍लैकहेड्स की समस्‍या कॉमन प्रॉब्‍लम, ऐसे पाएं निजात

Date : 17-Aug-2022

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। चेहरे पर ब्‍लैकहेड्स की समस्‍या एक कॉमन प्रॉब्‍लम है. ये ना केवल चेहरे की खूबसूरती को कम कर देते हैं बल्कि स्किन पोर्स  को ब्‍लॉक कर देते हैं. जिस वजह से चेहरे पर पिंपल्‍स, एक्‍ने की समस्‍या हो जाती है. ये डेड स्किन, बैक्‍टीरिया और कुछ अन्‍य चीजों से मिला होता है जो ऑयल प्‍लग को रिप्रेजेंट करता है. इन्‍हें आप बेहतर हाइजीन मेंटेन कर या स्किन केयर की मदद से आप ब्‍लैक हेड्स से स्किन को बचा सकते हैं. आइए जानते हैं कि ब्‍लैकहेड्स से छुटकारा पाने के लिए आपको क्‍या करना चाहिए.

ब्‍लैकहेड्स को दूर करने के उपाय

एक्सफ़ॉलिएट करें

त्वचा पर गंदगी और मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए एक्सफ़ॉलिएट करना बहुत ही जरूरी है. इसके लिए आप नेचुरल चीजों की मदद लें. सप्‍ताह में एक दिन अगर आप चेहरे पर स्‍क्रब करें तो ब्‍लैकहेड्स को दूर किया जा सकता है.

करें फ़ेशियल

अगर आप हर महीने नियमित रूप से फ़ेशियल करें तो ब्लैकहेड्स के प्रॉब्‍लम को दूर कर सकते हैं. फ़ेशियल करने से त्वचा पर जमी गंदगी और ऑयल ब्‍लॉक आदि को दूर किया जा सकता है.

नियमित स्किन केयर

स्किन को अगर आप ब्‍लैक हेड्स से बचाना चाहते हैं तो नियमित स्किन केयर जरूरी है. इसके लिए आप रोज सुबह और रात में सोने से पहले अच्‍छी तरह से स्किन को क्‍लीन करें और मॉइश्‍चराइज करें. अगर आप मेकअप करती हैं तो इन्‍हें रात में अच्‍छी तरह से क्‍लीन करने के बाद ही सोएं.

भाप लें

ज़िद्दी ब्लैकहेड्स को निकालने के लिए स्‍टीम की मदद ले सकते हैं. इसके लिए आप सप्‍ताह में एक दिन चेहरे पर भाप दें इसके बाद ही जिद्दी ब्‍लैकहेड्स को निकालें.

ब्‍लैकहेड्स निकालने के अन्‍य उपाय-आप बेकिंग सोडा और पानी का गाढ़ा पेस्ट बनाएं और उसे ब्लैकहेड्स एरिया में लगाएं. हल्के हाथों से सर्कुलर मोशन में मसाज करें और फिर साफ़ पानी से धो लें.-मुल्तानी मिट्टी और काओलिन क्ले से बने मास्क का इस्‍तेमाल आप ब्लैकहेड्स से छुटकारा पाने और त्वचा को मुलायम बनाने में कर सकते हैं.

– ओट्स और दही स्क्रब की मदद से आप ब्लैकहेड्स को हटा सकते हैं. इसे अपने चेहरे पर लगाएं और मसाज़ दें. फिर ठंडे पानी से धो लें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. हम इनकी पुष्टि नहीं करते है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

View More...

मानसून के मौसम में बालों से जुड़ी ये समस्याएं करती हैं परेशान, जानें कैसे करें देखभाल

Date : 13-Aug-2022

डेस्क (एजेंसी) । मानसून में स्किन ही नहीं बल्कि बालों से जुड़ी परेशानियां लोगों को परेशान करती हैं. वहीं बारिश का मौसम बालों और स्कैल्प के लिए काफी खराब माना जाता है.इसलिए इस मौसम में बालों की अधिक देखभाल की जरूरत पड़ती है. वहीं मानसून के मौसम में हेयर फॉल और डैंड्रफ की ससम्या होना आम बात है. ऐसे में हम यहां आपको बताएंगे कि मानसून में बालों से जुड़ी कौन-कौन सी समस्याएं हो सकती है? चलिए जानते हैं.

मानसून में बालों से जुड़ी ये समस्याएं परेशान करती हैं-

बालों का झड़ना (Hair Fall)- मानसून में अधिकतर लोगों को हेयर फॉल का सामना करना पड़ता है.वहीं बारिश में मौसम में कई लोगों को ऑयली बालों से परेशान होना पड़ता है.जिसकी वजह से मानसून में बाल झड़ने लगते हैं. वैसे तो हेयर फॉल किसी भी मौसम में हो सकता है, लेकिन मानसून में अधिक देखने को मिलता है.

स्कैल्प इन्फेक्शन - स्कैल्प इन्फेक्शन किसी भी मौसम में हो सकता है. लेकिन मानसून में स्कैल्प इन्फेक्शन होना सबसे आम है. मानसून में स्कैल्प पर फंगल इन्फेक्शन की समस्या हो सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि मानसून में बाल कई बार बारिश के पानी से गीले हो जाते हैं तो इससे स्कैल्प पर बैक्टीरिया और फंगस पैदा हो जाता है. इतना ही नहीं अब स्कैल्प पर फुंसिया हो सकती हैं.

जूं - मानसून में आपको सिर पर जूं भी हो सकती हैं. जूं की वजह से आपको दूसरों के सामने शर्मिंदगी सा सामना करना पड़ सकता है.

डैंड्रफ - बारिश के मौसम में आपको डैंड्रफ से भी परेशान होना पड़ता है. मानसून में बढ़ते प्रदूषण, धूल-मिट्टी के कारण बालों में रूसी पैदा हो सकती है. वहीं बता दें सिर पर जब डैंड्रफ होता तो बाल अधिक झड़ने लगते हैं.

मानसून में इस तरह करें बालों की देखभाल-

मानसून में बालों और स्कैल्प को अच्छे शैंपू से धोंए.
मुलायम बनाने के लिए कंडीशनर का इस्तेमाल करें.
बालों में नमी बनाए रखने के लिए हफ्ते में 2 बार ऑयलिंग करें.

View More...

सुबह उठते ही भूलकर भी न करें ये काम, दिनभर मन में रहेगी खटास

Date : 11-Aug-2022

हेल्थ न्यज (एजेंसी)। भागदौड़ भरी इस दुनिया में लोग रोज सुबह उठते ही अपने दिनचर्या में लग जाते हैं लेकिन इस बीच कई ऐसे काम कर जाते हैं जिससे आने वाले समय में बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन समस्याओं को ही दूर करने के लिए बड़े-बुजुर्ग इस दौरान आपको कई सारी सलाह देते हैं जिससे आपका दिन अच्छे से गुजरे। बुजुर्गों ने बताया है कि सुबह उठकर कई ऐसे कार्य है जो हमें नहीं करने चाहिए। ये कार्य करने से केवल नुकसान ही होता है।

इन चीजों का नाम ना लें

बुजुर्गों के अनुसार सुबह उठकर सबसे पहले अपने ईष्ट देव का नाम लेना चाहिए। कभी भी किसी गांव या शहर का नाम नहीं लेना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि कुछ अनजाने में लिए गए नाम आपको प्रतिकूल फल देते हैं। इसलिए किसी भी जगह का नाम लेने के बजाय भगवान का नाम लें।

सुबह उठकर वानर का नाम ना लें

रामचरित मानस के सुंदरकांड में हनुमान जी कहते हैं प्रात लेइ जो नाम हमारा, तेहि दिन ताहि ना मिलै अहारा। अर्थात जो सुबह उठकर मेरे कुल यानी वानर का नाम लेगा उसे दिन भर भोजन मुश्किल से मिलेगा।

भूखे पेट ना निकलें घर से

बजुर्ग हमेशा कहते हैं कि आप सुबह के समय अगर कहीं बाहर निकल रहे हैं तो किसी भी हाल में भूखे पेट बाहर मत निकलिए। आप दही खाकर भी बाहर निकल सकते हैं। ये ना सिर्फ आध्यात्मिक दृष्टी से सही है बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए भी यह जरूरी है।

दिन भर खिन्न रहेगा मन

सुबह आराम से उठे कभी भी हड़बड़ाहट में बिस्तर से नहीं उठना चाहिए। साथ ही बिस्तर छोड़ने के बाद उसपर फिर से नहीं सोना चाहिए। इससे आपमें दिनभर आलस भरा रहेगा और आपका मन खिन्न रहेगा। इसलिए सुबह खुश मन से बिस्तर छोड़े।

किसी को ना लौटाएं खाली हाथ

सुबह के समय अगर आपके घर या सामने कोई जरूरमंद या भीक्षा मांगने आए तो उसे खाली हाथ ना लौटाएं। उसे कुछ ना कुछ दान जरूर कaरें। इससे आपको उनका आशीर्वाद मिलेगा और उनकी मदद हो जाएगी।

View More...

क्या आपभी पाना चाहते है डार्क सर्कल्स की समस्‍या से छुटकारा, तो बेहद काम आएंगे ये घरेलू उपाय

Date : 08-Aug-2022

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। आखिरकार कौन नहीं चाहता कि वो अच्छा दिखे या खूबसूरत दिखे। लोग अक्सर बेहतर दिखने के लिए क्या कुछ नहीं करते। लेकिन कभी-कभी छोटी-छोटी चीज़ें हमारा पूरा लुक खराब कर देती हैं। लोग आज भी नेचर से ज्यादा आपके चेहरे से जज करते हैं। सबसे पहली नज़र हर किसी चेहरे पर ही पड़ती हैं। लेकिन अगर आपके चेहरे पर डार्क सर्कल्स हैं तो सबसे पहला ध्यान उन्हीं की ओर जाएगा। फिर चाहे आपकी आंखों में कितनी ही चमक क्यों न हो, आपके डार्क सर्कल्स के सामने वो फीकी ही पड़ जाएगी

अक्सर पूरी नींद न लेना, थकान, रात-रात भर फोन चलाना और बढ़ती उम्र के चलते चेहरे पर डार्क सर्कल्स हो जाते हैं। चेहरे पर काले गड्ढे के होने से आप अपनी उम्र से ज्यादा के नज़र आने लगते है। चेहरे पर हर वक्त थकावट नजर आती है। जिन लड़कियों को डार्क सर्कल्स होते हैं वो अक्सर इन्हें मेकअप से छिपाने की कोशिश करती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं इन्हें पूरी तरह भी हटाया जा सकता है वो भी महज़ कुछ घरेलू उपाय के ज़रिए।

डार्क सर्कल्स हटाने के घरेलू उपाय

नींबू का रस

– नींबू का रस निकालकर उसे डार्क सर्कल वाले एरिए पर हल्के हाथ से ध्यान से लगाएं।
– नींबू के अंदर विटामिन की मात्रा अधिक पाई जाती है।
– हफ्ते में 2 बार ऐसा करने से आप जल्द ही असर देखेंगे।

खीरा का पेस्ट

– खीरा के अंदर विटामिन्स की मात्रा अधिक होती है।
– खीरे का पेस्ट बनाकर उसमें एलोवेरा जेल मिलाएं और डार्क सर्कल्स पर लगाएं।
– 15 मिनट बाद हल्के हाथ से मसाज करते हुए चेहरे को धो लें।

एलोवेरा जेल

-रोजाना सोनेसे पहले रात को एक चम्मच एलोवेरा जेल हाथों लेकर डार्क सर्कल्स पर अच्छे से मसाज करें।
– मसाज करने के बाद रातभर इसे आंखों के नीचे लगा रहने से और सुबह पानी से अच्छे से चेहरा धो लें
-इसके रोजाना इस्तेमाल से स्किन हाइड्रेट रहेगी और डार्क सर्कल्स हल्के पड़ने लगेंगे।

स्वीट आलमंड ऑयल

– कॉटन बॉल पर स्वीट आलमंड ऑयल की दो बूंदे डाले और इसे हल्के हाथों से डार्क सर्कल वाले एरिए पर लगाएं।
– 5-6 मिनट तक हल्के उंगलियों से डार्क सर्कल्स पर मालिश करें और थोड़ी देर बाद अपना चेहरा धो लें।
– रोजाना इसका इस्तेमाल करने से आपको फर्क नज़र आने लगेगा।

टमाटर

– टमाटर के अंदर बीटा-कैरोटीन पाया जाता है। जो हमारी स्किन को बेहद चमकदार बनाता है।
– टमाटर का पेस्ट बनाकर उसमें थोड़ा से नींबू मिलाएं और डार्क सर्कल्स पर लगाएं।
– इस पेसट को चेहरे पर 20 मिनट तक लगा रहने दें। बाद में इसे हल्के हाथों से रगड़ते हुए धो लें।

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सिर्फ सामान्‍य सूचना के लिए हैं हम इसकी जांच या सत्‍यता की पुष्टि नहीं करते हैं.

View More...
Previous12345678Next