Chhattisgarh

पुलिस के कब्जे से आरोपियों को छुड़ा ले गई महिलाएं… आईजी ने बातों में दिखाई सख्ती

जशपुर। झारखंड की सरहद के पास मौजुद विवादित गाँव में एक बार फिर पुलिस महिलाओं के आगे बेबस हो गई। लाठी डंडों से लैस महिलाओं ने पुलिस के कब्जे में मौजुद आरोपियों को छीन लिया, और पुलिस को खाली हाथ लौटना पडा। साही टांगर टोली में पुलिस को हमले के साथ इस तरह का विरोध कोई नई बात नहीं है। इससे पहले भी पुलिस को इस तरह की वारदात का सामना करना पड़ा है।

छग और झारखंड के सरहद का यह गाँव अपराधिक घटना के वांछितों के स्थाई पते के रुप में पुलिस के रिकॉर्ड में दर्ज है। लेकिन जब भी पुलिस इस गाँव में कार्यवाही के लिए जाती है, संगठित रुप से मौजुद महिलाएँ हिंसक रुप से आगे आती हैं और पुलिस कार्यवाही नहीं कर पाती है।

हालिया घटना को लेकर जानकारी आई है उसके अनुसार पुलिस मवेशी तस्करी की सूचना पर सुबह पहुँची थी और जब संदेहास्पद पिक-अप को रोकने की कोशिश हुई तो रोकने के बजाय, पिक-अप सवारों ने बाईक सवार पुलिसकर्मियों पर ही गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की। सतर्क पुलिसकर्मी बच गए लेकिन बाईक बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस टीम पिक-अप सवार अभियुक्तों को पकड़ने गाँव पहुँची तो महिलाएँ लाठी डंडे से लैस होकर आगे आ गईं और पुलिस के कब्जे में मौजुद अभियुक्तों को छूड़ा ले गईं।
इस मामले में सरगुजा रेंज के आईजी रतनलाल डांगी का कहना है कि “कानून से उपर कोई नहीं है.. पूरे मामले की जानकारी ली जा रही है.. कानून अपना काम पूरी सख्ती से करेगा”। 

Trend News

कोरोना वायरस के खिलाफ टीका विकसित करने वाली टीम का हिस्सा बनीं भारतीय मूल की वैज्ञानिक चंद्रबाली दत्ता

लंदन, (एजेंसी).  कोरोना वायरस से रक्षा करने वाले टीके की खोज करने की परियोजना पर काम कर रही ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की टीम का हिस्सा भारतीय मूल की एक वैज्ञानिक ने कहा कि वह इस मानवीय उद्देश्य का हिस्सा बनकर सम्मानित महसूस करती हैं जिसके नतीजों से दुनिया की उम्मीदें जुड़ी हैं। कोलकाता में जन्मी चंद्रबाली दत्ता विश्वविद्यालय के जेन्नेर इंस्टीट्यूट में क्लीनिकल बायोमैन्चुफैक्चरिंग फैसिलिटी में काम करती हैं जहां कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सीएचएडीओएक्स1 एनसीओवी-19 नाम के टीके के मानवीय परीक्षण का दूसरा और तीसरा चरण चल रहा है।क्वालिटी एस्युरेंस मैनेजर के तौर पर 34 वर्षीय दत्ता का काम यह सुनिश्चित करना है कि टीके के सभी स्तरों का अनुपालन किया जाए।दत्ता ने कहा, ‘‘हम सभी उम्मीद कर रहे हैं कि यह अगले चरण में कामयाब होगा, पूरी दुनिया इस टीके से उम्मीद लगा रही है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘इस परियोजना का हिस्सा बनना एक तरह से मानवीय उद्देश्य है। हम गैर लाभकारी संगठन हैं, इस टीके को सफल बनाने के लिए हर दिन अतिरिक्त घंटों तक काम कर रहे हैं ताकि इंसानों की जान बचाई जा सकें। यह व्यापक तौर पर सामूहिक प्रयास है और हर कोई इसकी कामयाबी के लिए लगातार काम कर रहा है। मुझे लगता है कि इस परियोजना का हिस्सा होना सम्मान की बात हैं’’. दत्ता जीव विज्ञान के क्षेत्र में पुरुषों के प्रभुत्व को चुनौती देने के लिए भारत में युवा लड़कियों को प्रेरित करना चाहती हैं।उन्होंने कहा, ‘‘मेरे बचपन का दोस्त नॉटिंघम में पढ़ाई कर रहा था जिसने मुझे प्रेरित किया और ब्रिटेन को समान अधिकारों, महिला अधिकारों के लिए जाना जाता है इसलिए मैंने लीड्स विश्वविद्यालय से जैव प्रौद्योगिकी में मास्टर्स करने का फैसला किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह असली संघर्ष रहा - भारत छोड़ना और यहां आना। मेरी मां भी इससे खुश नहीं थीं लेकिन मेरे पिता हमेशा मेरे लिए महत्वाकांक्षी रहे और मैंने कहा कि मुझे अपने सपनों को पूरा करना चाहिए और समझौता नहीं करना चाहिए।’’  (भाषा) 

Sports

पाकिस्तानी क्रिकेटर्स ने इंग्लैंड में हुआ कोरोना टेस्ट, सभी की रिपोर्ट आई निगेटिव

स्पोर्ट्स डेस्क- (एजेंसी) । कोरोनाकाल में और खेलों की तरह अब क्रिकेट को भी धीरे धीरे पटरी पर लाने का प्रयास किया जा रहा है, जिसके तहत इंग्लैंड में पाकिस्तान की टीम टेस्ट सीरीज के लिए पहुंच गई है, और वहां भी पाकिस्तान के क्रिकेटर्स का कोरोना टेस्ट किया गया, ये कोरोना टेस्ट इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने कराया था जिसकी रिपोर्ट अब आ गई है। और रिपोर्ट में पाकिस्तान के सभी 20 क्रिकेटर कोरोना मुक्त हैं, सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिसकी रिपोर्ट रिलीज कर दी गई है।

खिलाड़ियों की रिपोर्ट तो कोरोना निगेटिव आई है, इसके अलावा टीम के साथ गए टीम मैनेजमेंट के 12 लोगों की रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। अपने इस इंग्लैंड दौरे में पाकिस्तान की टीम तीन टेस्ट और तीन टी-20 मैच की सीरीज खेलेगी।

इंग्लैंड जाने से पहले 10 खिलाड़ी मिले थे पॉजिटिव

दरअसल पाकिस्तान की टीम का इंग्लैंड दौरे पर रवाना होने से पहले पाकिस्तान में भी कोरोना टेस्ट किया गया था जहां पाकिस्तानी टीम के 10 खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे जिसके बाद मोहम्मद हफीज ने फिर से अपना कोरोना टेस्ट कराया था और वो दूसरी रिपोर्ट में निगेटिव पाए गए थे जिस रिपोर्ट को उन्होंने सार्वजनिक भी कर दिया था, जिसके बाद पीसीबी को अपने दूसरे खिलाडियों का भी कोरोना टेस्ट फिर से करना पड़ा जिसमें 6 खिलाडियों की रिपोर्ट निगेटिव आई।  पीसीबी के मुताबिक जिन 6 खिलाडियों की रिपोर्ट निगेटिव आई है वो खिलाड़ी भी टीम के साथ इंग्लैंड में जुड़ सकते हैं,  इनमें सलामी बल्लेबाज फखर जमां, ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज, लेग स्पिनर शादाब खान, विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान, तेज गेंदबाज वहाब रियाज, और मोहम्मद हसनैन शामिल हैं। इनका तीन दिन के अंदर दूसरी बार कोरोना टेस्ट कराया गया था।

Astrology

क्या आपने भी सपने में दांत टूटते हुए देखा है? जानें सपने में दांत टूटना देखने के शुभ-अशुभ संकेत

ज्योतिषी। क्या आपने भी सपने में दांत टूटते हुए देखा है? हम सभी सपने देखते हैं. कभी अच्छे तो कभी बुरे, लेकिन सपने आते ज़रूर हैं. ज़्यादातर सपने देखकर हम भूल भी जाते हैं, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि हमारा देखा हुआ सपना हमें याद भी रहता है ओर किसी घटना को भी दर्शाता है. ऐसे विशेष सपनों का दिखना और उनका हमें याद रहना या तो आनेवाली किसी विशेष घटना की तरफ़ संकेत देता है या हमारे साथ हो चुकी घटना या हमारे आसपास के माहौल को दर्शाता है. ऐसा ही एक सपना है दांत टूटने का, जो अक्सर लागों को दिखाई देता है. आइए, जानते हैं दांत टूटने के सपने से जुड़े कुछ अर्थ. हम अक्सर अपने घर के बड़े-बुज़ुर्गों को कहते सुनते हैं कि सुबह के सपने अक्सर सच होते हैं. लेकिन सही मायने में ऐसा कोई भी सपना जिसमें कोई विशेष घटना या कोई वस्तु दिखाई दे, तो ऐसा सपना किसी ख़ास परिस्थिति जो हो घटित हो चुकी है या होनेवाली है, उसकी ओर संकेत देता है. 

 क्या होता है सपने में दांत टूटते देखना ?

आपने भी अक्सर ऐसा सुना होगा कि दांत टूटने का स्वप्न आनेवाली बीमारी, संकट या किसी कष्ट को दर्शाते हैं, पर क्या यह सच है? क्या सही में दांत टूटना आनेवाली किसी परेशानी की ओर संकेत करता है? नहीं, ये सच नहीं है. बचपन में जब हमारे दूध के दांत गिरते हैं, तो हमें उनके बदले नए और मज़बूत दांत मिलते हैं और ये नए दांत ज़िंदगीभर हमारे साथ रहते हैं. नए दांत तभी आते हैं, जब पुराने दांत टूट जाएं.

इसी तरह जब कोई व्यक्ति दांत टूटने का सपना देखता है, तो वह उसके जीवन में आनेवाले नए अवसरों की ओर इशारा करता है.

इसके अतिरिक्त यह भी मायने रखता है कि व्यक्ति ने सपना किन परिस्थितियों में देखा है. अगर हम सामान्य रूप से दांत टूटने का सपना देखें, तो दांत टूटने का स्वप्न एक बहुत अच्छा और नवीनता दर्शानेवाला स्वप्न माना गया है. अत: आपने भी यदि सपने में दांत टूटते देखा है, तो डरें नहीं, ये आपके लिए बहुत अच्छा संकेत है.

Relation

पुरुष शादीशुदा महिलाओं की और क्यों आकर्षित होते है, जानिये क्या है कारण ?

शादीशुदा यह बात किसी से छिपी नहीं है कि पुरुषों शादीशुदा महिलाओं की और ज्यादा आकर्षित होते है। शादीशुदा महिलाओं में कुछ बहुत आकर्षक होता है जिसकी और पुरुष बहुत आकर्षित होते है। सिंगल महिलाएं भी खूबसूरत होती हैं, लेकिन वे एक शादीशुदा महिला की भव्यता से मेल नहीं कर सकती है। तो आज हम आपको बताएंगे कि पुरुष शादीशुदा महिलाओं की ओर आकर्षित क्यों होते है।पुरुष शादीशुदा महिलाओं की और क्यों आकर्षित होते है, इसके पीछे है कई कारण। .

महिलाओं में आत्मविश्वास बहुत ज्यादा होता है:
लड़कियों की तुलना में शादीशुदा महिलाओं में अधिक आत्मविश्वास होता है। इसकी वजह से वे पुरुषों को अधिक आकर्षक लगती है। ये ही उनका असली राज है ।

शादीशुदा महिलाओं को ज्यादा अनुभव होता है
सच कहें तो शादीशुदा महिलाओं को लड़कियों से ज्यादा अनुभव होता है जिसकी वजह से वे पुरुषों की मनोविज्ञान और उनकी इच्छा को समझ लेती हैं।

 पुरुषों के साथ असुरक्षित महसूस नहीं करती शादीशुदा महिलाएं
वैसे देखा जाएँ तो युवा लड़कियों की तरह शादीशुदा महिलाएं किसी भी प्रकार की असुरक्षा महसूस नहीं करती है।

 शादीशुदा महिलाएं अच्छी तरह से विकसित होती है:
पुरुषों को आकर्षित करने वाली सबसे पहली बात यह है कि ज्यादातर शादीशुदा महिलाएं पतली नहीं होती है। वे पूरी तरह से विकसित होती है।