Breaking News

Chhattisgarh

विधानसभा अध्यक्ष महंत ने जागरण दूत.जागेश्वर, अभिनंदन ग्रंथ का किया विमोचन

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण, छत्तीसगढ़ी राजभाषा निर्माण एवं छत्तीसगढ़ी पत्रकारिता के पुरोधा जागेश्वर प्रसाद के व्यक्तित्व व कृतित्व पर आधारित अभिनंदन ग्रंथ ‘जागरण दूत-जागेश्वर’ का विमोचन छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत के करकमलों द्वारा किया गया। डॉ. महंत के निवास पर आयोजित इस विमोचन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में डॉ. चरणदास महंत व कार्यक्रम के अध्यक्ष के रूप में पहली छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘कहि देबे संदेश’ के निर्माता निर्देशक मनु नायक के अलावा पूर्व विधायक गुरमुख सिंह होरा, छसपा के अध्यक्ष दाऊ पी. चंद्राकर, प्रखर वक्ता अनिल दूबे व गीतकार रामेश्वर वैष्णव विशेष रूप से उपस्थित थे।

अभिनंदन ग्रंथ ‘जागरण दूत-जागेश्वर’ के विमोचन के उपरांत संपादक रामेश्वर वैष्णव ने कहा कि जागेश्वर का इस साल 75 वां वर्ष पूरा हो गया है। इस अवसर पर हम सभी साहित्यकारों ने सोचा की, उनके जन्मदिन पर एक अभिनंदन ग्रंथ का प्रकाशन किया जाए। जिससे आने वाली‍ पीढ़ियां जागेश्वर के छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण आंदोलन, किसान आंदोलन, छत्तीसगढ़ी राजभाषा निर्माण आंदोलन एवं छत्तीसगढ़ी पत्रकारिता में योगदान को जान पायेंगे। उनका व्यक्तित्व‍ इतना बड़ा है कि किसी एक पुस्तक में समाहित नहीं किया जा सकता, फिर भी कुछ सहयोगी साथी, समाजसेवी और साहित्यकारों के विचार सहित 60 से अधिक लेखों के संग्रह को एक ग्रंथ का रूप दिया गया है। जो कि आप सभी के हाथ में है और हमें उम्मीद है कि यह ग्रंथ आने वाली पीढ़ियों को छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ी और छत्तीसगढि़यों के लिए संघर्ष करने को प्रेरित करेगी। ‘जागरण दूत-जागेश्वर’ छत्तीसगढि़यों के आत्म सम्मान और स्वाभिमान को जाग्रत करने का काम करेगी।

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. चरणदास महंत ने जागेश्वर प्रसाद को बधाई देते हुए कहा कि उनका योगदान अतुलनीय है। आज छत्तीसगढ़ी के लिए हम क्या कर सकते है? कैसे इसको आठवीं अनुसूची में शामिल कराया जाए इसके लिए सब मिलकर प्रयास करेंगे। पूर्व में भी जब मैं लोकसभा में था तब छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची में शामिल कराने का प्रयास किया। यहां से प्रस्ताव भी गया था, किन्तु सपना पूरा नहीं हुआ। चूकि आज सरकार में हैं तो यह हमारी पहली प्राथमिक्ता होगी और आप सभी के सहयोग से निश्चित ही हम छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूचीं में शामिल करायेंगे।

विज्ञप्ति के माध्यम से जयंत साहू ने बताया कि वरिष्ठ साहित्यकार सुधीर शर्मा के मंच संचालन में जागेश्वर प्रसाद के राज्य निर्माण आंदोलन को याद करते हुए पूर्व विधायक धमतरी गुरमुख सिंह होरा, फिल्म निर्माता मनु नायक, किसान नेता अनिल दूबे आदि ने भी अपने-अपने विचार रखे। विमोचन समारोह में वरिष्ठ गीतकार रामेश्वर शर्मा, साहित्यकार चेतन भारती, डॉ. पंचराम सोनी, चंद्रशेखर चकोर, रसिक बिहारी अवधिया, गोविंद धनगर, राजेश चौहान, जयंत साहू, राम पटवा, शशांक खरे, अशोक कश्यप, काविश हैदरी, संजीव दुबे, अशोक ताम्रकार, हरिराम पाल, लाला राम वर्मा, चंद्रप्रकाश साहू व सुश्री ममता अहार सहित अनेक साहित्यकार, पत्रकार उपस्थित थे।

Trend News

देश में चमगादड़ की मिली नई प्रजाति, इस नए रंग से वैज्ञानिक भी हैरान

नई दिल्ली (एजेंसी)। उल्टे लटकते हुए चमगादड़ को एक बार देखने भर से किसी भी इंसान में डर पैदा हो सकता है। पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लेने वाले कोरोना वायरस महामारी के लिए भी इन्हें ही जिम्मेदार माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि चीन में चमगादड़ से मनुष्य में कोविड वायरस आया। हालांकि हम सभी ने अबतक सिर्फ काले रंग के ही चमगादड़ देखे हैं। किसी ने भी इनके रंगीन होने की कल्पना नहीं की होगी, लेकिन अब नारंगी रंग का चमगादड़ मिलने से वैज्ञानिक भी हैरान हैं।

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह चमगादड़ की नई प्रजाति है। वैज्ञानिकों का कहना है कि ना केवल इसका रंग नारंगी है बल्कि यह फ्लकी भी है। साइंटिफिक जर्नल अमेरिकन म्यूजियम नोविटेट्स में वैज्ञानिकों ने इस चमगादड़ को लेकर अपनी स्टडी प्रकाशित की है। इस स्टडी में यह बात सामने आई है कि ये चमगादड़ की एकदम नई प्रजाति है।

अफ्रीकी देश में मिली ये नई प्रजाति

पश्चिमी अफ्रीकी देश गिनी में वैज्ञानिकों को यह नई प्रजाति मिली है। टेक्सास के ऑस्टिन में एक गैर-लाभकारी संगठन बेंट कंजर्वेशन इंटरनेशनल के डायरेक्टर जॉन फ्लैंडर्स ने कहा कि यह एक तरह से जीवन का लक्ष्य था लेकिन मैंने कभी सोचा नहीं था कि यह पूरा होगा। उन्होंने आगे कहा कि वैसे तो हर प्रजाति महत्वपूर्ण होती है लेकिन आप दिलचस्प दिखने वाले प्राणियों के लिए हमेशा तैयार रहते हैं और यह वास्तव में शानदार है।

उन्होंने कहा कि प्रयोगशाला में पहले से नई प्रजातियों को ढूंढने के लिए कोशिश जारी हैं लेकिन जंगल में जाकर इस तरह की नई प्रजाति ढूंढना अपने आप में अलग बात है। न्यूयॉर्क में अमेरिकन म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री में स्तनधारियों की क्यूरेटर नैंसी सीमंस कहती हैं कि यह एक ऐसी चीज है जिसकी हम पहचान नहीं कर सकते।

नई प्रजाति की नर-मादा चमगादड़ ढूंढी

इस चमगादड़ की नई प्रजाति का नाम मायोटिस निंबेन्सिस है और यह गिनी के निम्बा पहाड़ों पर रहते हैं। इस चमगादड़ की सटीक जांच के लिए वैज्ञानिकों ने इस नई प्रजाति के एक नर और एक मादा प्रजाति को भी पकड़ा। आनुवंशिक विश्लेषण से यह सामने आया है कि यह नारंगी चमगादड़ अपने निकटतम रिश्तेदारों से एकदम अलग हैं। इसे नई प्रजाति घोषित करने में यह पहला कदम था। एक तरह से यह काले पंख वाले आम चमगादड़ की तरह दिखता है लेकिन इसके नारंगी रंग ने इसे चर्चित कर दिया है।

Sports

क्रिकेट इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा, जैक वेदरलैंड सिंगल के एक बाॅल पर दो बार हुए रन आउट

सिडनी (एजेंसी)। बिग बैश लीग 2021 में एडिलेड स्ट्रइकर्स और सिडनी थंडर के बीच हुए एक मैच में मजेदार नजारा देखने को मिला। इस मैच के दौरान एडिलेड स्ट्राइकर के ओपनर जैक वेदरलैंड सिंगल बॉल पर दो बार रन आउट हुए। क्रिकेट इतिहास में इस तरह का रन आउट पहली बार हुआ है, जब कोई खिलाड़ी एक ही गेंद पर दो बार रन आउट हुआ हो। यह घटना मैच के 10वें ओवर में हुई, जब वेदरलैंड नॉन स्ट्राइकर एंड पर थे और थंडर के सीमर क्रिस ग्रीन गेंदबाजी कर रहे थे।

क्रिस ग्रीन ने गेंद फेंकी और स्ट्राइकर एंड पर खड़े फिलिप साल्ट ने गेंदबाज की तरफ ही शॉट खेला। गेंद सीधा विकेटों पर जा लगी। इस बीच ग्रीन ने समझदारी दिखाते हुए गेंद पर हाथ लगा दिया था, जिसके बाद नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े जेक वेदरलैंड के खिलाफ रन आउट की अपील हुई।

इससे पहले कि अपील पर फैसला हो पाता, उससे पहले ही फिलिप रन लेने दौड़ पड़े, जबकि वेदर नॉन स्ट्राइकर एंड पर ही खड़े रहे। दरअसल, वेदरलैंड पीछे की तरफ पीठ करके खड़े थे। ऐसे में वह साल्ट के कॉल को देख नहीं पाए। इसके बाद विकेटकीपर सैम बिलिंग्स ने गेंद स्ट्राइकर एंड के विकेटों पर लगा दी और साल्ट के खिलाफ रन आउट की अपील की। मैच में दोनों रनआउट की अपीलों पर तीसरे अंपायर ने रिव्यू किया। रीप्ले में साफ देखा जा सकता था कि गेंद विकेट पर लगने से पहले दोनों ही बल्लेबाज क्रीज से बाहर थे, क्योंकि वेदरलैंड पहले रनआउट हुए थे। इस वजह से फिलिप साल्ट को रन आउट नहीं दिया गया। दरअसल, विकेट गिरने के बाद गेंद डेड घोषित कर दी जाती है। ऐसे में फिलिप का रन मान्य नहीं रह जाता है। वेदरलैंड 31 रन की पारी खेलकर पवेलियन लौट गए।

कमेंटेटर इस रन आउट को देखकर काफी हैरान थे। ब्रेंडन जूलियन ने फॉक्स क्रिकेट के कमेंट्री बॉक्स से कहा, ``जैक वेदरलैंड, वह क्या कर रहे थे? बहुत बुरी रनिंग।`` उन्होंने आगे कहा, ``वेदरलैंड इससे पहले भी रन आउट के काफी करीब थे और इस बार वह रन आउट हो ही गए।``

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर मार्क वॉ ने कहा, ``मुझे लगता है कि उन्हें विकेट के बीच रनिंग पर काम करने की जरूरत है। सच में उन्हें और अधिक ध्यान लगाने की जरूरत है।`` रीप्ले देखने के बाद वॉ ने कहा, ``मैंने ऐसा पहले कभी नहीं देखा।`` स्ट्राइकर्स के कोच और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी जैसन गिलेस्पी ने फॉक्स क्रिकेट से कहा, ``नहीं, यकीनन यह पहला मौका है। हमें लगा कि गेंदबाज की तरफ से है, लेकिन वह दो बार आउट हुए।`` पूर्व पेसर ब्रेट ली ने कहा, ``मैंने पहले कभी किसी को दो बार रन आउट होते हुए नहीं देखा है।``

Astrology

आज का राशिफल सोमवार 25 जनवरी

मेष : पारिवारिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। किया गया पुरुषार्थ सार्थक होगा। आर्थिक मामलों में प्रगति होगी। जीवनसाथी का सहयोग रहेगा। शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में सफलता मिलेगी।

वृषभ : किसी कार्य के संपन्न होने से आपके प्रभाव तथा वर्चस्व में वृद्धि होगी। शासन सत्ता का सहयोग रहेगा। आर्थिक मामलों में प्रगति होगी। रचनात्मक प्रयास फलीभूत होंगे।

मिथुन : रचनात्मक प्रयास सार्थक होंगे। बहुप्रतिक्षित कार्य के संपन्न होने से आत्मबल बढ़ेगा। रिश्तोंमें मजबूती आएगी। किया गया पुरुषार्थ सार्थक होगा। मधुर संबंध बनेंगे।

कर्क : रचनात्मक प्रयास फलीभूत होंगे। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में चल रहा प्रयास फलीभूत होगा। गृह उपयोगी वस्तुओं में वृद्धि होगी।

सिंह : उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। व्यावसायिक प्रयास फलीभूत होगा। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। रिश्तों में मजबूती आएगी। रचनात्मक कार्यों में आशातीत सफलता मिलेगी।

कन्या : किसी कार्य के संपन्न होने से आपके प्रभाव में वृद्धि होगी। सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। धार्मिक और सामाजिक कार्यों में रुचि लेंगे।

तुला : रचनात्मक कायोर्ं में सफलता मिलेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। राजनैतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति होगी। शासन सत्ता से सहयोग मिलेगा।

वृश्चिक : धन, यश, कीर्ति में वृद्धि होगी। निजी संबंध प्रगाढ़ होंगे। व्यर्थ की भागदौड़ रहेगी। शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में आशातीत सफलता मिलेगी। जीविका के क्षेत्र में प्रगति होगी।

धनु : आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। गृह उपयोगी वस्तुओं में वृद्धि होगी। धन, सम्मान की दिशा में अग्रसर होंगे। किया गया पुरुषार्थ सार्थक होगा। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा।

मकर : पारिवारिक दायित्व की पूर्ति होगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। व्यावसायिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी।उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। किसी कार्य के संपन्न होने से आत्मविश्वास बढ़ेगा।

कुंभ : रचनात्मक प्रयास फलीभूत होंगे। स्वास्थ्य के प्रति उदासीन न रहें। चल या अचल संपत्ति में वृद्धि होगी। सामाजिक कार्यों में रुचि लेंगे। आपसी संबंधों में मधुरता आएगी।

मीन : पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा, लेकिन स्वास्थ्य एवं प्रतिष्ठा के प्रति सचेत रहें। व्यावसायिक मामलों में जोखिम न उठाएं। वाणी पर संयम रखें।

Relation

रिश्ते हुए तारतार, बेटे ने अपने ही मां की गला घोटकर हत्या की हत्या

कोंडागांव। ग्राम कौंदकेरा निवासी साठ वर्षीय महिला की हत्या के मामले में बेटा ही निकला हत्यारा है। डीएसपी दीपक मिश्रा के नेतृत्व में 24 घण्टे के भीतर विश्रामपुरी पुलिस ने सुलझाया मामला है।

जानकारी के मुताबिक विश्रामपुरी थाना क्षेत्र के ग्राम कौंदकेरा में एक हत्या का मामला सामने आया है सोमवार सुबह तकरीबन साढ़े दस बजे थाना प्रभारी विश्रामपुरी को दूरभाष के माध्यम से सूचना मिली कि गांव की महिला हेमबाई ठाकुर उम्र लगभग 62 वर्ष की अचानक मृत्यु हो गई है जिसके अंतिम संस्कार हेतु सभी एकत्र हो रहे हैं।

उक्त घटना की सूचना थाना प्रभारी रविशंकर ध्रुव द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई, पुलिस अधीक्षक कोंडागांव सिद्धार्थ तिवारी (आईपीएस) ने मामले को गम्भीरता से संज्ञान लेते हुए तत्काल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंत कुमार साहू के मार्गदर्शन एवं उप पुलिस अधीक्षक दीपक मिश्रा के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन कर मौके पर भेजा।

प्रारंभिक पूछताछ में मृतक महिला के बेटे हरेश ठाकुर उम्र लगभग 30 वर्ष ने समाज के सभी लोगों को अपनी माँ की मृत्यु का कारण अत्यधिक शराब सेवन करना बताया था पुलिस ने भी वहां पहुंचकर देखा कि, समाज के लोग अंतिम संस्कार के लिये इकट्रठे हो रहें थे परन्तु घटना स्थल का निरीक्षण करनें एवं शव परीक्षण बाद समय चक्र पूछने से मृतिका के बेटे हरेश ठाकुर द्वारा पुलिस को संतोषप्रद जवाब न दे पाने पर पुलिस को संदेह हुआ।

हरेश ये बताने की कोशिश कर रहा था कि उसकी मां की प्राकृतिक मृत्यु हुई है इस तरह हरेश घटना को छुपाने की कोशिश कर रहा था। फौरेंसिक टीम ने भी बताया कि मृत्यु सामान्य प्रतीत नहीं हो रहीं है, बाद पुलिस द्वारा आसपास के लोगो से पूछताछ करनें पर पता चला कि मृतिका अत्यधिक शराब का सेवन करती थी व उसका बेटा भी शराब पीने का आदी और आपराधिक प्रवृित्त का था एवं उनके बीच अक्सर लड़ाई झगड़ा होते रहता था।

कड़ाई से पूछताछ करने पर हरेश ठाकुर ने अपना जूर्म कबूल किया और पूरा घटना क्रम बताया कि दिनांक 03.01.21 को दोपहर लगभग 03.00 बजे हरेश ठाकुर का उसकी मां के साथ विवाद हुआ जिससे हरेश ठाकुर तैश में आकर अपनी मां हेमबाई ठाकुर का पटका से गला घोटकर हत्या किया है।

जिससे पुलिस ने आरोपी हरेश के निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त पटका भी जप्त कर लिया, जिसके बाद थाना विश्रामपुरी ने मामले में तत्काल सुसंगत धाराओं में अपराध दर्ज कर आरोपी को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया है।